नीलगिरी इस धरती के सबसे ऊंचे पौधों में से एक है। यह ऑस्ट्रेलिया तथा अन्य उष्णकटिबंधीय और उप-उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में उगता है। नीलगिरी तेल के कई लाभ हैं। इसके लाभों में से एक यह भी है कि यह बालों के विकास में भी सहायता करता है।

कुछ मजेदार तथ्य:

लाखों साल पहले जब होमो सीपियंस पहले ऑस्ट्रेलिया पहुंचे तो उन्होंने भूमि को साफ़ करने और जलाने के लिए आग का इस्तेमाल किया। नीलगिरी में आग प्रतिरोधी गुण होते हैं और इसलिए इसके अस्तित्व में रहने के लिए प्राकृतिक रूप से लाभ होता है। आज ऑस्ट्रेलिया में नीलगिरी के पौधे और पेड़ बहुत आम ही मिलते हैं।

और पढो: लॉरियल हेयर फॉल कण्ट्रोल शैम्पूरंगे हुए बालों के लिए सर्वश्रेष्ठ शैम्पू

नीलगिरी तेल क्या है?

कैसे नीलगिरी आपकी दाढ़ी को बढ़ाने में मदद कर सकता है,इस बारे में बात करेंगे। नीलगिरी के पत्तों को भाप-आसुत विधि (स्टीम-डिस्टिल्ड) से नीलगिरी का तेल बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है| यह एसेंशियल आयल एक प्राकृतिक लेप है और इससे त्वचा, स्वास्थ्य और बालों को कई लाभ हैं।

नीलगिरी तेल की गुण

नीलगिरी के तेल के कुछ गुण हैं जो दाढ़ी के विकास में सहायता करके इसे सही बनाते हैं। जो इस प्रकार हैं:

  • जीवाणुरोधी (एंटी-बैक्टीरियल)
  • संक्रामक-विरोधी (एंटी-इन्फेक्शियस)
  • विषाणु-विरोधी (एंटी-वायरल)
  • एंटी-इंफ्लेमेटरी
  • सड़न रोकने वाली दवा (एंटी-सेप्टिक)
  • उपचार के गुणों वाला
  • प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र और ठंडक देने वाला

दाढ़ी के विकास के लिए नीलगिरी के तेल के लाभ

  • रोमकूपों (फोलिक्लस) को पोषित करे

रोमकूप छोटे छोटे छेद होते हैं जहाँ से आपके बाल निकलते हैं। नीलगिरी एक ऐसा प्राकृतिक लेप है जो इन रोमकूपों को पोषण देकर दाढ़ी के विकास को प्रेरित करता है। यह बालों के विकास को के लिए रोमकूपों के चारों ओर खून का बहाव तेज़ कर देता है।

  • मोटी, चमकदार और मजबूत दाढ़ी दे

नीलगिरी के तेल की कई विशेषताएं हैं जो आपकी दाढ़ी को मोटा, चमकदार और मजबूत बना सकती हैं। लेकिन याद रखें कि इसका अपनी दाढ़ी पर बहुत ज्यादा उपयोग न करें। क्योंकि यह आपकी दाढ़ी को चिकना बना देगा और चमक भी कम कर सकता है। इसे लगाकर कम से कम एक घंटे तक छोड़ दें और फिर धो लें।

और पढो: तिल का तेल
  • दाढ़ी का स्टाइल बनाने में आसानी

अपनी दाढ़ी में तेल लगाने से आप दाढ़ी को आसानी से स्टाइल कर सकते हैं। आपकी दाढ़ी पूरी तरह से नरम हो जाएगी और इसे स्टाइल देना आसान हो जाएगा।

  • सूजन कम करे

नीलगिरी के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा की सूजन को कम करते हैं। जिससे त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार होता है और दाढ़ी का विकास भी तेज़ होता है।

  • दाढ़ी की गंध अच्छी बनाए

नीलगिरी की गंध सुखद और मीठी होती है। दाढ़ी पर इसका उपयोग करने से आपकी दाढ़ी भी सुगंधित हो जाएगी।

  • त्वचा का पोषण करे

नीलगिरी का तेल आपकी दाढ़ी के नीचे की त्वचा का पोषण कर सकता है। इस तेल से दाढ़ी और त्वचा की मालिश करने से खून के दौरे में सुधार होता है और दाढ़ी बढने लगती है।

दाढ़ी के विकास के लिए नीलगिरी तेल का उपयोग कैसे करें?

  • दाढ़ी पर इस तेल को लगाने का सबसे अच्छा समय स्नान के तुरंत बाद होता है|
  • दाढ़ी को थपथपा कर सुखा लें|
  • हथेली पर कुछ बूँदें नीलगिरी के तेल की लें|
  • उंगलियों का उपयोग करके इसे दाढ़ी पर लगायें|
  • खून के बहाव को तेज़ करने के लिए उँगलियों को गोलाकार घुमाते हुए मालिश करें|
  • इस तेल से दाढ़ी के नीचे की त्वचा पर भी मालिश करें|
  • तेल को फैलाने के लिए दाढ़ी को कंघी करें|
  • आप या तो अपनी दाढ़ी में तेल लगाकर छोड़ सकते हैं या फिर इसे 30 मिनट के बाद तौलिये से पोंछ भी सकते हैं
  • अच्छे परिणाम पाने के लिए इसे कम से कम एक सप्ताह तक लगायें|

चेतावनी

अपनी दाढ़ी पर नीलगिरी का तेल लगाने से पहले डॉक्टर से सलाह लें। कुछ लोगों को नीलगिरी के तेल से एलर्जी होती है। इसलिए इसे नियमित रूप से लगाने से पहले पैच परीक्षण करना सबसे सही रहता है।

Previous articleलॉरियल हेयर फॉल कण्ट्रोल शैम्पू (Loreal Hair Fall Control Shampoo in Hindi)– समीक्षा – कैशकरो का विचार
Next articleरूखे बालों के लिए 10 सर्वश्रेष्ठ हर्बल शैंपू (Best Herbal Shampoos For Dry Hair in Hindi)- समीक्षा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 4 =