Amritarishta ke fayde aur nuksan in Hindi

अमृतारिष्ट(Amritarishta) तरल रूप में मिलने वाली एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें गुडुची, दशमूल, गुरु, श्वेत जीरक, पर्पटक, सप्तपर्ण और अन्य कई आयुर्वेदिक तत्व होते हैं। यह पुराने बुखार के इलाज में मदद करता है। यह हल्का एनाल्जेसिक भी है और यह बुखार के बाद शरीर को विषमुक्त (डीटोक्सिफाई) भी करता है| अमृतारिष्ट खून को साफ़ करटा है और हेमेटोजेनिक टॉनिक की तरह उपयोग किया जाता है। यह बच्चों और वयस्कों में प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है और मौसमी खांसी और ठंड से बचाता है।

Amritarishta Benefits in Hindi- अमृतारिष्ट के फायदे

1. प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करे

अमृतारिष्ट(Amritarishta) एक आयुर्वेदिक तरल है जिसमें एंटी-बैक्टीरिया और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो बच्चों और वयस्कों की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं। आप इसे भोजन के बाद दिन में दो बार 10 से 24 मि.ली. ले सकते हैं।

2. सर्दी और खांसी रोके

अमृतारिष्ट(Amritarishta) मौसमी सर्दी और खांसी का इलाज करता है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह रोगाणुओं और संक्रमण से लड़कर सामान्य सर्दी और खांसी होने से रोकता है। अच्छे परिणाम पाने के लिए आप इसे दिन में दो बार अपने भोजन के बाद ले सकते हैं।

3. मलेरिया का इलाज करे

मलेरिया की वजह से तेज़ बुखार होता है इसलिए इसके लिए उचित दवा, देखभाल और उचित ध्यान की देने की जरूरत होती है। डॉक्टर मलेरिया को ठीक करने के लिए अमृतारिष्ट लेने की सलाह देते हैं क्योंकि यह एक आयुर्वेदिक उपचार है। यह बुखार के बाद शरीर को विषमुक्त (डीटोक्सीफाई) करने में मदद करता है और यह रक्त की नलियों को विकसित करने में भी मदद करता है।

4. पाचन में सुधार करे

अमृतारिष्ट(Amritarishta) पाचन-क्रिया और आँतों के आंदोलनों को नियंत्रित करता है। यदि आपको कब्ज या अन्य पाचन संबंधी समस्या है तो दिन में दो बार अमृतारिष्ट लेने से आप पेट की सभी समस्याओं को ठीक कर सकते हैं।

Amritarishta Uses in Hindi- अमृतारिष्ट का उपयोग

  • खून साफ़ करे
  • खून की कमी (एनीमिया) का इलाज करे
  • आँतों के आंदोलन को नियंत्रित करे
  • मौसमी बुखार का इलाज करे

How To Consume Amritarishta in Hindi- अमृतारिष्ट कैसे लें

  • दिन में दो बार भोजन के बाद अमृतारिष्ट ले सकते हैं
  • किसी भी वयस्क या बच्चे के लिए एक दिन में 10 मि.ली. से 24 मि.ली. तक की मात्रा काफी है|
  • यदि आपका गला खराब है तो आप इसमें शहद मिलाकर भी ले सकते हैं|

Amritarishta Side-Effects in Hindi- अमृतारिष्ट के साइड इफेक्ट्स

अमृतारिष्ट(Amritarishta) 100% प्राकृतिक और आयुर्वेदिक है। इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन अमृतारिष्ट को ज्यादा मात्रा में लेने से पेट में जलन हो सकती है। अमृतारिष्ट लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें|

📢 Hungry for more deals? Visit CashKaro stores for best cashback deals & online products to save up to ₹15,000 per month. Download the app - Android & iOS to get free ₹25 bonus Cashback!
Previous articleतिल का तेल (Sesame Oil in Hindi): लाभ, उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट
Next articleलॉरियल हेयर फॉल कण्ट्रोल शैम्पू (Loreal Hair Fall Control Shampoo in Hindi)– समीक्षा – कैशकरो का विचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + eight =