अंजीर के 8 एकाधिक फायदे (Figs Benefits & Side Effects in Hindi)

0
7584
anjeer figs ke fayde nuksan benefits side effects in hindi

anjeer figs ke fayde nuksan benefits side effects in hindi

“अंजीर प्रोनोथोकैनिडिन जैसे फेनोलिक यौगिकों का स्रोत हैं। इस पारंपरिक फल के हर हिस्से जैसे फल, जड़ और पत्तियों का उपयोग गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (कोलिक, अपचन, भूख की कमी, और दस्त), श्वसन (पका हुआ गला, खांसी, और ब्रोन्कियल समस्याओं), और कार्डियोवैस्कुलर विकारों के इलाज़ के लिए किया जाता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी स्पासमोडिक गुण हैं|

-फिकस कैरिका एल. (मोरेसेई): फाइटोकैमिस्ट्री, पारंपरिक उपयोग और जैविक क्रियाएँ

शुक्करुल मावा, खैराना हुसैन और इब्राहिम जंतन

पबमेड सेंट्रल, यू.एस. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन

अंजीर क्या हैं?

अंजीर घंटी जैसे नाशपाती के आकार के मीठे, दानेदार फल होते हैं जो फिकस के पेड़ों पर उगते हैं| इनका  वैज्ञानिक नाम फ़िकस कैरिका है जोकि शहतूत की प्रजाति से सम्बन्ध रखते हैं| ये सूखे या भिगोकर दोनों तरह से ही खाने में आसान होते हैं। ये मध्य पूर्व और पश्चिमी एशिया में पाए जाते हैं और पूरा साल बढ़ते रहते हैं। लोग अंजीर के चिकनी और कुरकुरी बनावट का आनंद लेते हैं क्योंकि यह खाद्य बीजों से भरा होता है। इनके त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए कई लाभ हैं। आइये, इस स्वादिष्ट फल से मिलने वाले सभी फायदों पर एक नज़र डालते हैं|

Also Read About: badam|meve|kesar

अंजीर के प्राकृतिक गुण

  • विटामिन ए, सी, ई और के युक्त
  • नियासिन, थियामिन, रिबोफ्लाविन और फोलेट से भरपूर
  • सोडियम और पोटेशियम से समृद्ध
  • कैल्शियम, कॉपर, आयरन, मैग्नीशियम, मैंगनीज, सेलेनियम और जिंक जैसे खनिजों से भरपूर
  • बीटा कैरोटीन और ल्यूटिन युक्त
  • फिनोल, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड से समृद्ध

अंजीर के स्वास्थ्य के लिए लाभ

पाचन प्रणाली को बढ़ावा देना

अंजीर फाइबर से भरे होते हैं जो पाचन स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं| प्रतिदिन  सुबह 2-3 भिगोये हुए अंजीर खाने से दस्त और कब्ज से छुटकारा मिलता है|

दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छा

शरीर में ट्राइग्लिसराइड स्तर को कम करने के साथ साथ घातक हृदय रोगों को रोकने में भी अंजीर का बहुत महत्व है| फिनोल और ओमेगा-3 और 6 जैसे फैटी एसिड की वजह से  दिल और धमनियां स्वस्थ रहती हैं|

कोलेस्ट्रॉल को निम्न करे

पेमेक्टिन के साथ ओमेगा-3, ओमेगा-6 फैटी एसिड की उपस्थिति यह तय करती है कि इसकी वजह से कोलेस्ट्रॉल शरीर से कम हो जाता है। यह शरीर में से कोलेस्ट्रॉल का संकलन कम करते हैं|

एनीमिया का इलाज करे

अंजीर में आयरन का उच्च स्तर शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को ऊँचा करता है। यह एनीमिया को रोकने और ठीक करने में मदद करते है। प्रतिदिन सूखे अंजीर का उपयोग करना  आयरन के स्तर को तेजी से बढाता है।

रक्तचाप कम करे

उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोग इस फल का उपयोग रक्तचाप के स्तर को बनाए रखने या कम करने के लिए कर सकते हैं। अंजीर में पाया जाने वाला फाइबर रक्तचाप के स्तर को नीचे ले आता है जबकि पोटेशियम, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 इसे बनाए रखने में मदद करते है।

यौन स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता को सुधारे

फल में मैग्नीशियम, कैल्शियम, लौह, पोटेशियम, और जिंक होते हैं जो यौन स्वास्थ्य को बढ़ावा देते है। वे एस्ट्रोजन और एंड्रोजन के उत्पादन में वृद्धि करके यौन स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देते हैं|

त्वचा के लिए अंजीर का उपयोग

अंजीर के एंटीऑक्सीडेंट गुण उन्हें त्वचा के लिए अद्वितीय बनाते हैं। यहां इनके कुछ लाभ दिए गये हैं:

  • झुर्रियों को रोकना
  • त्वचा को नरम बनाना
  • त्वचा का पुनर्जन्म

अंजीर को सीधा ऐसे ही खाइए या मसलकर खाइए या त्वचा पर लगाइए, किसी भी तरीके से यह त्वचा के लिए लाभप्रद हैं|

बालों के लिए अंजीर का उपयोग

अंजीर में विटामिन सी, मैग्नीशियम और विटामिन ई होते हैं, ये सभी चीज़ें बालों को बेहतर बनाने के लिए योगदान देती हैं। ये कुछ फायदे हैं जो आपके बाल इन फलों से प्राप्त कर सकते हैं|

  • गहराई तक कंडीशन करे
  • बालों के विकास को बढ़ावा देना

अंजीर को मसलकर इसका पेस्ट बनाकर बालों की जड़ों में लगाने से यह बालों को नरम बनाने और बालों के विकास को गति देने प्रयोग किये जा सकते हैं|

अंजीर का उपयोग कैसे करें

  • 2-3 अंजीर रात भर भिगोकर रखें|
  • सुबह उन्हें खाली पेट खाएं|
  • फिर वह पानी भी पियें पीएं जिसमें उन्हें भिगोया था|
  • अंजीर को सूखा खाकर भी आनंद उठाया जा सकता है|
Also Read About: mungfali|kaju|khubani

साइड इफेक्ट्स और बचाव

अंजीर एकदम प्राकृतिक होते हैं और आपको किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाते, लेकिन इनका अतिरिक्त मात्रा में सेवन करने से जरूर कुछ नुक्सान कुछ हो सकते हैं जिनमें निम्न हैं:

 

  • सूजन – क्योंकि इनकी प्रकृति भारी होती हैं इसलिए पेट में सूजन और दर्द का कारण बन सकते हैं।
  • जिगर और आँतों को हानि – अंजीर के बीज पचाने में मुश्किल हो सकते है जो जिगर और आंतों में रूकावट पैदा कर सकते हैं।
  • कैल्शियम की कमी – अंजीर में मौजूद ऑक्सालेट्स शरीर से कैल्शियम का अवशोषण करने में असक्षम होते हैं|
  • रक्तस्राव – अंजीर प्रकृति में गर्म होने की वजह से रेक्टल और योनि से रक्तस्राव का कारण बन सकते हैं|

ब्लड ग्लूकोस कम करना – ज्यादा अंजीर खाने से ब्लड ग्लूकोस के स्तर में कमी हो सकती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − nine =