Avipattikar Churna in Hindi अविपत्तिकर चूर्ण: लाभ, उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट

0
62315
Avipattikar Churna ke fayde in Hindi अविपत्तिकर चूर्ण: लाभ, उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट
Avipattikar Churna ke fayde in Hindi अविपत्तिकर चूर्ण: लाभ, उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट

What is Avipattikar Churna in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण क्या है?

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) एक हर्बल दवा है जिसमें अलग अलग प्रकार की जड़ी बूटियां और प्राकृतिक अर्क हैं। यह मुख्य रूप से एसिडिटी, बदहजमी और कब्ज के लिए उपयोग किया जाता है। यह पाचन एंजाइमों के बनने को तेज़ करता है जो पोषक तत्वों को सोखने और आंतों की मूवमेंट में मदद करते हैं। अविपत्तिकर चूर्ण लेकर पाचन संबंधी बीमारी से तुरंत और पक्के तौर पर आराम पा सकते हैं।

इसमें कुछ मुख्य तत्व बहेड़ा, सोंठ पाउडर, काली मिर्च, पीपल, हरितकी, आंवला, तेजपत्ता, लौंग, इलायची, मिश्री आदि हैं।


Avipattikar Churna Benefits in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण के लाभ

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) में शरीर के लिए कई स्वास्थ्य लाभ हैं। आइए अविपत्तिकर चूर्ण के कुछ प्रमुख लाभों की जाँच करें।

पाचन स्वास्थ्य में सुधार करे

अविपत्तिकर चूर्ण लेने से अपच को तुरंत ठीक किया जा सकता है। यह पेट की गड़बड़ी, मतली, खटास, सीने की जलन जैसे सभी लक्षणों को ठीक करता है। नारियल पानी इन समस्याओं के लिए सबसे अच्छा होता है।

क्रॉनिक गैस्ट्राइटिस को कम करता है

पेट की लाइनिंग की सूजन को गैस्ट्रिटिस कहा जाता है। अविपत्तिकर चूर्ण होने से पेट से एसिड को हटाने, सूजन को ठीक करने और पेट में म्यूकस लाइन्ड रूकावट के दोबारा बनने में मदद मिलती है।

गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स बीमारी को रोकता है

गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स रोग एसिड रिफ्लक्स का एक पुराना रूप है जो तब होता है जब पेट की चीज़ें भोजन की नली में वापस आ जाती है। यह भोजन की नली की लाइनिंग को परेशान करती है, जिससे सीने की जलन, गले में जलन, सीने में दर्द, खट्टा स्वाद आदि होता है। अविपत्तिकर चूर्ण इस रिफ्लक्स को रोकने में मदद करता है।

पेशाब को पास करने में कठिनाई की समस्या में मदद करता है

पेशाब को पास करने में कठिनाई कई वजहों से हो सकती है। यदि कारण प्रोस्टेट ना हो तो अविपत्तिकर चूर्ण अपने डियूरेटिक्स गुणों के कारण मदद करता है। यह पेशाब को पास होने को आसान करता है और पेशाब के उचित बहाव को तय करता है।

गुर्दे की पथरी को निकालता है

हाजिपोल याहूद भस्म के साथ-साथ अविपत्तिकर चूर्ण का उपयोग करने से गुर्दे की पथरी को हटाने में मदद मिलती है।

नेफ्राइटिस और नेफ्रोटिक सिंड्रोम के इलाज के लिए प्रभावी है

अविपत्तिकर चूर्ण नेफ्रैटिस और नेफ्रोटिक सिंड्रोम जैसे गुर्दे की बीमारियों के इलाज में मदद करता है। यह किडनी, ग्लोमेरुली, टयूब्लस और इंटेस्टिनल टिश्यू की सूजन को कम करता है। यह खून में यूरिया के स्तर को भी कम करता है और इसे कण्ट्रोल में रखता है।

और पढो: काल्मेघवजन घटाने के लिए गार्सिनिया कंबोगियाहिमालय रुमालय फोर्ट

Avipattikar Churna Uses in Hindi -अविपत्तिकर चूर्ण का उपयोग

एंटासिड

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) एक बेहतरीन एंटासिड है क्योंकि यह पेट की एसिडिटी के प्रभाव को बेअसर करता है। यह सीने की जलन, बदहजमी और पेट की परेशानी को आराम देने में मदद करता है।

एंटी-लिथिएटिक

अविपत्तिकर चूर्ण  को लेने से ऑक्सालेट का जमाव रुक जाता है और कैल्शियम और ऑक्सालेट जैसे साल्ट मूत्र को बाहर निकालने में मदद करता है। इस प्रकार यह मूत्र के रास्ते को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

भूख बढ़ाने वाला

अविपत्तिकर चूर्ण एक बेहतरीन भूख बढ़ाने वाला एजेंट है। अविपत्तिकर चूर्ण को नियमित रूप से लेने पर भूख को बढ़ाने में मदद मिलती है।

एंटीऑक्सीडेंट

यह शरीर में एक एंटी-ऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है जो शरीर से हानिकारक मुक्त कणों को बाहर निकालने में मदद करता है।

एंटी-इंफ्लेमेटरी

अविपत्तिकर चूर्ण में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो दर्द और सूजन से आराम दिलाने में मदद करते हैं।


How to use Avipattikar Churna in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण का उपयोग कैसे करें

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) को लेना सुरक्षित है लेकिन इसकी खुराक दिन में 12 ग्रा. से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इसे ठंडे पानी, नारियल पानी, घी और शहद के साथ लिया जा सकता है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण को भोजन से पहले या भोजन के बाद लिया जा सकता है?

अविपत्तिकर चूर्ण को भोजन से पहले या भोजन के बीच में लेना चाहिए।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण को खाली पेट लिया जा सकता है?

अविपत्तिकर चूर्ण लेते समय डॉक्टर की सलाह लेना उचित है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण को पानी के साथ लिया जा सकता है?

हां, अविपत्तिकर चूर्ण को भोजन से पहले या भोजन के बीच ठंडे पानी के साथ लिया जा सकता है।


Avipattikar Churna Dosage in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण की खुराक

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna)का उपयोग अलग अलग पाचन, मूत्र और गुर्दे की बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। अविपत्तिकर चूर्ण की ज्यादा से ज्यादा खुराक दिन में 12 ग्रा. से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इसे ठंडे पानी, नारियल पानी, घी या शहद के साथ लिया जा सकता है।

बच्चे दिन में 1 से 3 ग्रा.

वयस्क दिन में 3 से 6 ग्रा.

वयस्क 60 साल से ऊपर दिन में 3 ग्रा.

* इस खुराक को दो भागों में बांटकर और दिन में दो बार सेवन लिया जा सकता है|

और पढो:मंजिष्ठअकारकर

Side Effects of Avipattikar Churna in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण के साइड इफ़ेक्ट

हल्का गैसट्रिटिस

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) को ज्यादा मात्रा में लेने से कुछ लोगों में हल्के गैस्ट्रेटिस का कारण हो सकता है। यह ढीले मल के साथ पेट में ऐंठन का कारण हो सकता है।

पानी वाला मल

अविपत्तिकर चूर्ण कुछ लोगों में पानी केवाले मल का कारण हो सकता है। इसलिए अपने डॉक्टर द्वारा बताए अनुसार ही इसकी खुराक लेने की सलाह दी जाती है।

डीहाईडरेशन

यह कुछ लोगों में डीहाईडरेशन का कारण हो सकता है इसलिए अविपत्तिकर चूर्ण को सही मात्रा में लेने की सलाह दी जाती है।

अनकण्ट्रोल ब्लड शुगर का स्तर

अविपत्तिकर चूर्ण में शुगर होती है इसलिए यदि आप शुगर से पीड़ित हैं तो इसका सेवन करने से बचना चाहिए। मधुमेह के लोगों द्वारा अविपत्तिकर चूर्ण लेना अनियंत्रित ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ा सकता है।

माताओं को लेने से बचना चाहिए

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अविपत्तिकर चूर्ण लेने से बचना चाहिए। यह सूजन और गैसट्रिटिस का कारण हो सकता है जो बच्चे को प्रभावित कर सकता है।


Harmful Interactions of Avipattikar Churna in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण का हानिकारक इंटरैक्शन

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) कुछ दवाओं के साथ आपसी प्रभाव डाल सकता है। इसलिए यदि आप कोई दवा ले रहे हैं तो आपको इस दवा को लेने और अविपत्तिकर चूर्ण लेने के बीच आधे घंटे का अंतर रखना होगा।


Precautions And Warnings of Avipattikar Churna in Hindi-अविपत्तिकर चूर्ण से सावधानी और चेतावनी

क्या ड्राइविंग लेने से पहले अविपत्तिकर चूर्ण लिया जा सकता है?

हां, अविपत्तिकर चूर्ण को वाहन चलाने से पहले लिया जा सकता है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण को शराब के साथ लिया जा सकता है?

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) को शराब के साथ नहीं लेना चाहिए क्योंकि यह इस में शामिल कुछ तेज़ जड़ी बूटियों के साथ प्रतिक्रिया कर सकता है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण की लत लग सकती है?

अविपत्तिकर चूर्ण लत नहीं है। लेकिन यदि आपको ऐसा लगता है तो इसे लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण नीरस बना सकता है?

अविपत्तिकर चूर्ण में कोई भी सामग्री नहीं है जो कि मदहोश करती है। इसलिए इसे लेने पर आपको मदहोशी नहीं होगी|

क्या अविपत्तिकर चूर्ण को ज्यादा मात्रा में ले सकते हैं?

नहीं, अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) को ज्यादा मात्रा में नहीं लेना चाहिए क्योंकि इसे लेने से कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं।


12 Important Questions About Avipattikar Churna in Hindi-महत्वपूर्ण प्रश्न

हाइपरसिडिटी और पुरानी कब्ज के लिए कुछ प्रभावी उपाय क्या हैं?

यदि आप हाइपरसिडिटी और पुरानी कब्ज से गुजर रहे हैं तो आपको अविपत्तिकर चूर्ण लेना चाहिए। यह पुरानी गैस्ट्रिटिस और कब्ज के इलाज के लिए एक महान उपाय के रूप में काम करता है।

क्या अपच का कोई आयुर्वेदिक इलाज है?

जी हां, आयुर्वेदिक उपचार गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए एक वरदान है। अपच की समस्या के इलाज के लिए अविपत्तिकर चूर्ण लेना चाहिए।

गैस्ट्राइटिस का सबसे अच्छा इलाज कौन सा है?

अपने पाचन के स्वास्थ्य को सही रखने का सबसे अच्छा तरीका गैस्ट्राइटिस का कारण बनने वाले खाद्य पदार्थों से बचना है। यदि आप गैस्ट्राइटिस का सामना कर रहे हैं तो अविपत्तिकर चूर्ण लेना फायदेमंद हो सकता है। यह पेट से एसिड को हटाने में मदद करता है और सूजन को ठीक करने में मदद करता है।

अविपत्तिकर चूर्ण किस चीज़ से बना है?

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattikar Churna) मिश्री, आंवला, विभीत्की, काली मिर्च, सोंठ, हरी इलायची, मुस्ताक और ऐसे ही अन्य सामग्रियों से बनाया गया है।

स्टोरेज

अविपत्तिकर चूर्ण को ठंडी और सूखी जगह पर रखना चाहिए। इसे सीधे सूर्य के प्रकाश और बच्चों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

अपनी हालत में सुधार देखने तक अविपत्तिकर चूर्ण का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?

अपनी स्थिति का इलाज करने के लिए कितना समय जरूरी है, यह जानने के लिए एक योग्य आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह करनी चाहिए।

अविपत्तिकर चूर्ण को दिन में कितनी बार लेने की जरूरत है?

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattrikar Churna) को दिन में दो बार 12 ग्रा. तक लिया जा सकता है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण का स्तनपान करने पर कोई प्रभाव पड़ता है?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अविपत्तिकर चूर्ण लेना असुरक्षित है। इसलिए  गर्भवती या स्तनपान करने वाली महिला को डॉक्टर की उचित सलाह से ही लेना चाहिए|

अविपत्तिकर चूर्ण बच्चों के लिए सुरक्षित है?

अविपत्तिकर चूर्ण को 12 साल से कम उम्र के बच्चों द्वारा लेने की सलाह नहीं दी जाती।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण का गर्भावस्था पर कोई प्रभाव पड़ता है?

गर्भवती महिलाओं का अविपत्तिकर चूर्ण लेना असुरक्षित है।

क्या अविपत्तिकर चूर्ण में चीनी होती है?

अविपत्तिकर चूर्ण में मिश्री (चीनी) होती है।

अविपत्तिकर चूर्ण का उपयोग किस लिए किया जाता है?

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattrikar Churna) के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह पाचन में सहायता करने में मदद करता है, पुरानी गैस्ट्रिटिस को कम करता है, गुर्दे की पथरी को हटाता है, सूजन को कम करता है|


Buyer’s Guide in Hindi-खरीदने के लिए गाइड – मूल्य और कहाँ से खरीदें

डाबर अविपत्तिकर चूर्ण (60 ग्रा.)

सबसे अच्छी कीमत:

79 रूपए

बैद्यनाथ अविपत्तिकर चूर्ण (120 ग्रा.)

सबसे अच्छी कीमत:

143 रूपए

ब्रांड जो अविपत्तिकर चूर्ण बेचते हैं

  • पतंजलि
  • जीवदया
  • बैद्यनाथ
  • कामधेनु
  • नेचरज़ हर्बल

कहां से खरीदें


अविपत्तिकर चूर्ण पर शोध

अविपत्तिकर चूर्ण(Avipattrikar Churna) अल्सर के इलाज के लिए जाना जाता है और इसमें अल्सर-विरोधी प्रभाव होते हैं। इस तथ्य को चूहों में पेप्टिक अल्सर पर अविपत्तिकर चूर्ण के एंटी-सीक्रेटरी और एंटी-अल्सरेटिव गतिविधियों के नैदानिक मूल्यांकन द्वारा मान्य किया गया है। इस अध्ययन में मूल्यांकन किया गया था कि अविपत्तिकर चूर्ण में एंटी-सीक्रेटरी और एंटी-अल्सरोजेनिक गुण हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − three =