Benefits, Uses Of Castor Oil For Acne in Hindi मुँहासे का उपचार: लाभ, मुँहासे के लिए कैस्टर आयल के उपयोग, घरेलू उपचार

0
206
Benefits, Uses Of Castor Oil For Acne in Hindi मुँहासे का उपचार: लाभ, मुँहासे के लिए कैस्टर आयल के उपयोग, घरेलू उपचार

Table of Contents

What Is Castor Oil in Hindi – कैस्टर ऑयल क्या है?

कैस्टर ऑयल एक वनस्पति तेल है जोकि रिकिनस कम्युनिस प्लांट के बीजों को ठंडा करके बनाया जाता है। हर साल विभिन्न उपयोगों के लिए 600 से 800 मिलियन पाउंड अरंडी का तेल तैयार किया जाता है। कैस्टर ऑयल के कई फायदे हैं। इसमें रिकिनोइलिक एसिड होता है जो कैस्टर ऑयल को इतना फायदेमंद बनाता है।

Properties Of Castor Oil in Hindi – अरंडी के तेल के गुण

  1. एंटी-इंफ्लेमेटरी

अरंडी का तेल और रिकिनोइलिक एसिड दोनों ही एंटी-इंफ्लेमेटरी हैं इसलिए यह त्वचा के इलाज के लिए बहुत अच्छा है।

  1. एंटी-माइक्रोबियल

इसके रोगाणुरोधी गुण बैक्टीरिया के इन्फेक्शन  से त्वचा की रक्षा करते हैं।

  1. मॉइस्चराइजिंग

कैस्टर ऑयल में ट्राइग्लिसराइड्स होते हैं जिससे त्वचा में नमी होती है। यह सूखी त्वचा के इलाज के लिए आदर्श है।

  1. हाईडरेशन

अरंडी के तेल में विनम्र गुण होते हैं। इसका मतलब यह है कि यह त्वचा को हाइड्रेट रखते हुए त्वचा में हवा से नमी खींचता है।

  1. सफाई

अरंडी के तेल में ट्राइग्लिसराइड्स त्वचा से रोजाना की गंदगी को हटाने में भी मदद करते हैं। यह त्वचा को साफ करने और उसे एक स्पष्ट रूप देने में मदद करता है|

Benefits Of Castor Oil For Acne in Hindi – मुँहासे के लिए अरंडी के तेल के लाभ

  • मुँहासे होने का एक प्राथमिक कारण अतिरिक्त तेल है। कैस्टर ऑयल में आवश्यक फैटी एसिड होते हैं जो अतिरिक्त तेल (सीबम) के उत्पादन को रोककर मुँहासे हैं|
  • अरंडी के तेल में एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण होते हैं जो मुहांसों के फूटने को रोकते हैं|
  • अरंडी के तेल में मौजूद रिकिनोइलिक एसिड मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ता है|
  • अरंडी का तेल साफ करने के लिए छिद्रों में गहराई से प्रवेश करता है। यह मृत त्वचा की कोशिकाओं और अन्य अशुद्धियों को भी दूर करता है जो मुँहासों का कारण बनते हैं|

Side Effects And Precautions in Hindi –साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

  • यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं तो अरंडी के तेल का उपयोग न करें|
  • इसमें एक तैलीय स्थिरता है इसलिए इसे अपनी आंखों के आसपास उपयोग करने से बचें|
  • अरंडी का तेल कपड़ों पर दाग लगा सकता है|
  • इसे अपने मुंह के आसपास इस्तेमाल करने से बचें। इसका सेवन करने से डायरिया हो सकता है|
  • इससे चकत्ते या त्वचा में सूजन हो सकती है। अपने चेहरे पर लगाने से पहले डॉक्टर से सलाह लें या पैच टेस्ट कराएं|
  • आइब्रो के लिए कैस्टर के कई फायदे हैं। लेकिन कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। जब आप अपनी आइब्रो पर अरंडी का तेल लगाते हैं तो सावधान रहें।

How To Use Castor Oil For Fighting Acne Scars in Hindi – मुँहासे के निशान से लड़ने के लिए कैसे अरंडी का तेल का उपयोग करें?

मुँहासे से लड़ने के लिए अरंडी के तेल का उपयोग करने का सबसे लोकप्रिय तरीका इसे लगाना है। एक रुई का बॉल लें और उसमें कैस्टर ऑयल की कुछ बूंदें डालें। फिर धीरे से अपनी त्वचा पर गोलाकार गति में मालिश करें। यह सबसे अच्छा काम तभी करता है जब रात भर इसे लगाया जाता है।

Homemade Castor Oil Recipes in Hindi – अरंडी के तेल से घर के बने व्यंजन

अरंडी का तेल लगाने के विभिन्न तरीके हैं जो मुँहासे को रोकते हैं। यहाँ कोशिश करने के लिए कुछ घर का बना व्यंजन बताये गये हैं।

  1. स्टीम और कैस्टर ऑयल
  • एक बर्तन में पानी उबाल लें|
  • अपने सिर पर एक तौलिया रखें|
  • भाप को अपने रोमछिद्रों को खोलने दें|
  • मुँहासों से इन्फेक्टेड जगह पर अरंडी का तेल लगायें|
  • इसे रात भर छोड़ दें|
  • सुबह एक गीले तौलिए से तेल को साफ करें|
  1. बेकिंग सोडा और कैस्टर ऑयल
  • बेकिंग सोडा और अरंडी के तेल का एक बड़ा चम्मच लें|
  • दोनों को मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें|
  • चेहरा साफ करें और इसे थपथपाएं|
  • इस पेस्ट को मुंहासों से इन्फेक्टेड जगहों पर लगाएं|
  • इसे 5 से 10 मिनट के लिए छोड़ दें|
  • इसे ठन्डे पानी से धो लें|
  • बेकिंग सोडा में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-सेप्टिक गुण होते हैं जो मुहांसों के फूटने से रोकते हैं|
  1. हल्दी और कैस्टर ऑयल
  • एक चम्मच हल्दी लें|
  • इसे अच्छी तरह से अरंडी के तेल के एक चम्मच के साथ मिलाएं|
  • अपना चेहरा साफ करें और इसे थपथपाएं|
  • पेस्ट लगा लें|
  • 5 से 10 मिनट के लिए उसे छोड़ दें|
  • इसे ठन्डे पानी से साफ़ करें|
  • हल्दी में जीवाणुरोधी, एंटीसेप्टिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारते हैं।

11 Important Questions About Castor Oil Answered in Hindi – अरंडी के तेल के बारे में 11 महत्वपूर्ण प्रश्न

क्या कैस्टर ऑयल मुँहासे और मुँहासे के निशान को हटाने के लिए प्रभावी है?

जी हां, कैस्टर ऑयल मुंहासों और मुंहासों के निशान के इलाज के लिए एक उपयोगी उपाय है। इसमें आवश्यक फैटी एसिड जैसे कि रिकिनोइलिक एसिड होता है जो अतिरिक्त तेल के बनने को रोकता है। इसमें एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण होते हैं जो मुंहासों को रोकने में मदद करते हैं।

मुंहासों को साफ करने में अरंडी के तेल को कितना समय लगता है?

मुँहासे और मुँहासे के निशान पर इस तेल के लाभों का अनुभव करने के लिए लगभग 30 दिनों के लिए दिन में दो बार अरंडी का तेल लगाने की सलाह दी जाती है।

क्या जमैका ब्लैक कैस्टर ऑयल चेहरे के मुंहासों का इलाज करता है?

जी हाँ, जमैका ब्लैक कैस्टर ऑयल मुहांसों को हटाने का एक प्राकृतिक और प्रभावी उपचार है। इसमें ओमेगा-9 फैटी एसिड होता है जो मुंहासों को ठीक करने में उपयोगी होता है।

क्या तैलीय त्वचा के लिए मुंहासों के उपचार के लिए कैस्टर ऑयल का उपयोग सुरक्षित है?

यदि तैलीय त्वचा है तो कैस्टर ऑयल का उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती। यह त्वचा पर तेल की मात्रा को बढ़ाता है जिससे मुँहासे को बढ़ावा मिलेगा।

क्या मैं पिग्मेंटेशन और मुँहासे के निशान से छुटकारा पाने के लिए नारियल का तेल और अरंडी का तेल मिला सकते हैं?

नहीं, पिगमेंटेशन और मुंहासों के निशान हटाने के लिए नारियल तेल और अरंडी के तेल को नहीं मिलाना चाहिए। यह मेल त्वचा को हाइड्रेट करने के लिए अच्छा है लेकिन मुँहासे के निशान को कम करने के उद्देश्य से काम नहीं करता है।

सामान्य मुंहासे वाली त्वचा के लिए कौन सा तेल सबसे अच्छा है- जोजोबा, कैस्टर, हेम्प के बीज या आर्गन आयल?

जोजोबा, कैस्टर, हेम्प के बीज और आर्गन आयल मुँहासे वाली त्वचा के उपचार में समान रूप से प्रभावी हैं। वे त्वचा के सीबम के बनने को संतुलित करने में मदद करते हैं| इस प्रकार अतिरिक्त तेल और मुँहासे को रोकते हैं।

क्या कैस्टर ऑयल के कारण मुंहासे हो सकते हैं?

नहीं, अरंडी का तेल मुँहासे के उपचार के लिए एक प्रभावी उपाय है और मुँहासे के विकास में योगदान नहीं करता।

कौन सा एसेंशियल आयल पिंपल्स से छुटकारा पाने में मदद करता है? कौन सा तेल मुँहासे के लिए सबसे अच्छा है?

कैस्टर ऑयल, लैवेंडर ऑयल और टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल मुंहासों को ठीक करने के लिए किया जाता है। इनमें प्राकृतिक तत्व और आवश्यक एसिड शामिल होते हैं, जो पिंपल्स और मुंहासों से लड़ने में उपयोगी होते हैं।

क्या रात भर कैस्टर ऑयल को अपने चेहरे पर लगा कर छोड़ सकते हैं?

हां, कैस्टर ऑयल को रातभर लगाने में कोई नुकसान नहीं है। यह वास्तव में चेहरे पर मुँहासे और मुँहासे के निशान को कम करने के लिए एक उपयोगी चिकित्सा है।

क्या कैस्टर ऑयल मुँहासे वाली त्वचा के लिए सुरक्षित है?

जी हां, कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल मुंहासे वाली त्वचा को ठीक करने के लिए किया जाता है। कैस्टर ऑयल में आवश्यक फैटी एसिड की होने के कारण यह विभिन्न त्वचा रोगों को ठीक करने में सक्षम है।

क्या अरंडी का तेल मुँहासे के निशान को हल्का करता है?

जी हां, कैस्टर ऑयल मुंहासों के निशान के इलाज में बेहद मददगार है। यह मृत त्वचा की कोशिकाओं, धूल, और अशुद्धियों को हटाने के लिए त्वचा में गहराई से प्रवेश करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =