साबुन के 8 सर्वश्रेष्ठ विकल्प

साबुन एक उत्पाद है जिसे हम हर रोज़ उपयोग करते हैं यह जानते हुए भी कि उनमे बहुत सारी रासायनिक चीज़ें होती है। यह हमारी एक जरूरत है। साबुन में रासायनिक इमलसिफायर और सर्फेकेंट्स होते हैं जो त्वचा के लिए नुकसानदायक होते हैं। ये सोडियम लॉरेल सल्फेट से बने होते हैं जो त्वचा की प्राकृतिक लिपिड परत को उघाड़ देते हैं और पीएच में रूकावट डालते हैं। विशेष रूप से यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है तो साबुन आपके लिए अच्छा नहीं है। इसलिए साबुन को छोड़कर अन्य विकल्प आजमाने की सलाह दी जाती है। त्वचा की सुरक्षा परतों को प्रभावित किए बिना त्वचा को साफ करने के लिए साबुन के इलावा भी कई विकल्प हैं। ये प्राकृतिक चीज़ें त्वचा के लिए तो स्वस्थ हैं ही साथ ही पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचाती| जोकि साबुन लम्बे समय तक करते हैं|

साबुन के 8 वैकल्पिक उत्पाद:

1. क्ले

मिट्टी या क्ले सीधे रोमछिद्रों से अशुद्धियों को सोखने  के लिए सबसे अच्छी चीज़ है| यह त्वचा की लाली और सूजन को शांत करती और त्वचा को मुँहासों से लड़ने के लिए सही बनाती है। मिट्टी विभिन्न प्रकार की होती हैं और हरेक के पास अपने अद्भुत गुण हैं। आप इसे शुद्ध पानी, गुलाब जल, अन्य हर्बल हाइड्रोसोल, केफिर, दही, कच्चे सेब के सिरके आदि में मिलकर प्रयोग कर सकते हैं।

2. फुल फैट दही

डेयरी वाली चीज़ें त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं क्योंकि ये त्वचा से अतिरिक्त तेल और डेड स्किन सेल्स को हटाने का काम करती हैं। आप दही में अन्य चीज़ों को मिलाकर साबुन की जगह एक शानदार विकल्प के रूप उपयोग कर सकते हैं| यह न केवल त्वचा को साफ कर देगा बल्कि इसे पोषण भी देगा। यदि आपकी त्वचा सूखी है तो इसकी उच्च लैक्टिक एसिड सामग्री के कारण इसमें मिलाने के लिए केफिर को चुनें| यह डेड स्किन सेल्स को निकालकर त्वचा को दोबारा जीवन देगा|

3. मसले हुए फल और सब्जियां

फल और सब्जियां न केवल खाने के लिए फायदेमंद होती हैं बल्कि त्वचा पर भी लगायी जाती हैं| इनमें कुछ ऐसे एंजाइम होते हैं जो साबुन के विकल्प के रूप में या त्वचा पर मास्क के रूप में उपयोग किए जाने पर रोमछिद्रों को गहराई तक साफ कर देते हैं। ककड़ी, केला, एवोकैडो, पपीता, टमाटर, नींबू आदि ऐसे ही कुछ उपयोगी फल और सब्जियां हैं जिनमें से हरेक के कई लाभ हैं| त्वचा पर इनका उपयोग करने से डेड स्किन सेल्स को हटाने में मदद मिलती है और रोमछिद्रों में फंसे हुए सीबम को तोड़ देते हैं|

4. हर्बल बाथ पाउडर

हर्बल बाथ पाउडर का उपयोग त्वचा को साफ रखने, त्वचा की अवांछित स्थिति को रोकने और त्वचा को खुशबूदार करने के लिए सदियों से किया जाता रहा है। जिन लोगों को त्वचा की समस्या होती है उन्हें  साबुन लगाना छोड़कर हर्बल बाथ पाउडर का उपयोग करना चाहिए। यह साबुन का विकल्प आयुर्वेद का फार्मूला है। त्वचा पर इसका बहुत अच्छा परिणाम होता है। यह मुँहासे या एक्जिमा जैसी किसी भी त्वचा की स्थिति को साफ़ या कम कर देता है।

5. संतरे के छिलके का पाउडर

साइट्रस फल त्वचा के लिए वास्तव में अच्छे होते हैं। ऑरेंज के छिलके त्वचा के रंग को चमकीला करते हैं  क्योंकि इसमें त्वचा का रंग हल्का करने के गुण होते हैं| यह लिमोनेन और विटामिन-सी से भरपूर होते हैं  जो कोलेन के बनने और युवा दिखने वाली त्वचा को बढ़ावा देता है। धुप में बस कुछ नारंगी के छिलके सुखाएं और फिर उनका अच्छे से पाउडर बनाने के लिए मिक्सर में पीस लें। शरीर को साफ करने के लिए इन्हें साबुन मुक्त विकल्प के रूप में उपयोग करें। ¼ कप पानी, ठंडी हरी चाय या दूध लगभग ½ कप संतरे के छिलके के पाउडर में मिलाएं और इससे खुद को साफ करें।

6. तेल से सफाई

यदि आपकी त्वचा बहुत सूखी है तो तेल से साफ करने के लिए यह एक साबुन का बेहतर विकल्प है। जब बात त्वचा की देखभाल की आती है तो तिल का तेल और नारियल का तेल सबसे लोकप्रिय विकल्प हैं| बस इन्हें अपने शरीर पर लगायें और 20 मिनट तक इंतज़ार करें। फिर कुनकुने पानी से शॉवर लें| अतिरिक्त तेल को धीरे-धीरे हटाने के लिए वॉशक्लोथ का उपयोग करें। स्नान करने के बाद आपकी त्वचा मुलायम, चिकनी, खुली और मॉइस्चराइज्ड हो जाएगी| 7. दूध

मिस्र की फरोह, क्लियोपेट्रा अकेली ऐसी नहीं है जो त्वचा पर दूध के प्रभावों को जानती थी, हम भी उन्हें जानते हैं। दूध एक प्राकृतिक क्लेंसेर है क्योंकि इसमें लैक्टिक एसिड होता है। यह डेड सेल्स को त्वचा से हटा देता है और उसे नरम, चिकनी और मॉइस्चराइज किया जाता है। हम मिस्र के फरोह नहीं हैं और हर रोज़ इतना दूध भी बर्बाद नहीं कर सकते| इसलिए  हम गर्म पानी का बाथ टब भरकर, इसमें 2 से 4 कप फुल फैट दूध या पाउडर मिल्क मिलाकर दूध के लाभ ले सकते हैं| इसमें 20 मिनट तक खुद को भिगोएं और गंदगी और मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए अपनी त्वचा को धोकर साफ़ करें। परिणाम देखकर आप भी हैरान होंगे।

8. चने और गेहूं का आटा

साबुन की जगह पर यह एक प्राचीन भारतीय विकल्प है और उसके असंख्य लाभ हैं। चने के आटे में प्रोटीन होता है जो त्वचा को फिर से जीवन देता है। गेहूं का आटा गंदगी और मृत त्वचा को हटाकर साफ़ करने का भी काम करता है। इसका पेस्ट बनाएं और इसे अपने शरीर पर लगाकर इसे धो लें। आप इसमें हल्दी पाउडर भी मिला सकते हैं क्योंकि इसमें त्वचा के लिए एंटी-सेप्टिक गुण हैं और चंदन का पाउडर मिलाने से इसके गुण और भी बढ़ जाते हैं| गुलाब जल के साथ इसका पेस्ट बनाकर और उसमे शहद या नींबू का रस को मिलाकर इस वैकल्पिक साबुन को और प्रभावी बनाता है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten − 10 =