बीटाडाइन (Betadine in Hindi): उपयोग, फायदे, खुराक, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

0
10163
betadine fayde nuksan in hindi

बीटाडाइन क्या है?

  • इसमें पाया जाने वाला मुख्य घटक पोविडोन आयोडीन है|
  • बीटाडाइन में मौजूद पोविडोन आयोडीन एक एंटीसेप्टिक होता है|
  • एंटीसेप्टिक्स को संक्रमण या पस बनने की संभावना को कम करने के लिए लगाया जाता है|
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: नेटमेड्सप्रैक्टो

बीटाडाइन का उपयोग

इसका प्रयोग जीवाणु, फंगल, वायरल, प्रोटोज़ोल और स्पोर्स संक्रमण के इलाज या रोकथाम के लिए होता है|

आम तौर पर इसका प्रयोग मामूली कटने, छिलने, खरोंच, जलन और छाले आदि पर प्राथमिक चिकित्सा के रूप में किया जाता है

बीटाडाइन कैसे ले?

बीटाडाइन  निम्न रूपों में उपलब्ध होती है:

  • बीटाडाइन® 10% एंटीसेप्टिक समाधान – कट जाना, घाव, खरोंच और जलने पर संक्रमण को रोके और  इलाज करे|
  • बीटाडाइन® 7.5% त्वचा क्लीनर – हाथ धोने, कीटाणुशोधन, बिस्तर पर बैठे मरीजों के लिए नियमित की त्वचा देखभाल और त्वचा की गंध हटाने के लिए है|
  • बीटाडाइन® 5% एंटीसेप्टिक क्रीम – जलने, फटने, कटने, खरोंच, सामान्य त्वचा का संक्रमण के उपचार और पट्टी बदलने पर संक्रमण को नियंत्रित करके संक्रमण से रोकथाम करे|
  • बीटाडाइन® 10% एंटीसेप्टिक मलहम – सामान्य त्वचा संक्रमण का इलाज और इसका प्रयोग मामूली जलन, खरोंच, कटने-फटने और छिलने पर संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता है।
  • बीटाडाइन® 1% ओरल एंटीसेप्टिक समाधान – गले और मुंह में बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करे|
  • बीटाडाइन® 10% एंटीसेप्टिक पेंट – हर्पीस होने की अवस्था में मुंह के अल्सर और ठन्डे घावों का इलाज करके तुरंत सुखाने के लिए|
  • बीटाडाइन® 7.5% फेमिनिन वॉश – बैक्टीरिया, फंगल और प्रोटोजोआ जैसे जीवाणुओं के कारण योनि की खुजली, गंध, निर्वहन और असुविधा से राहत दे|
  • बीटाडाइन® 10% वेजिनल डौच – योनि क्षेत्र की सफाई का समाधान

बीटाडाइन प्रेप ओप्थाल्मिक सोल: 5%

और पढो:बैनोसाइड फोर्टकैल्सीरोलबिल्माकोबाडेक्स फोर्ट

बीटाडाइन  की आम खुराक

वयस्कों के लिए

आँखों की सर्जरी से पहले 1 बार लगायें|

किसी जगह पर लगाने के लिए दिन में 3 बार 7 दिनों तक

किशोरों, बच्चों, शिशुओं और नवजातों के लिए खुराक

सुरक्षा और क्षमता सिद्ध नहीं हुई है।

सावधानियां – बीटाडाइन से कब बचें?

  • यदि आप आयोडीन के प्रति अतिसंवेदनशील हैं|
  • यदि आपको थायराइड है|
  • यदि चोट आंखों के आसपास लगी है (केवल विशेष आंख के लिए उपयोग होने वाली प्रयोग करें)
  • यदि जलने और गुर्दे की समस्या हो|
  • गहरे घावों, पशुओं के काटने और गंभीर रूप से जलने के मामले में उपचार की जरूरत हो|
  • यदि आप गर्भवती हैं|
  • बिना पर्चे के उपयोग ना करें|
  • यदि आप स्तनपान कराने वाली मां हैं|

Also Read in English: About Betadine 

बीटाडाइन के साइड इफेक्ट्स

  • त्वचा पर जलन
  • त्वचा पर लाली
  • थायराइड में असंतुलन
  • चेहरे, त्वचा, होंठ और गले पर सूजन
  • त्वचा का रंग नीला पड़ना
  • गुर्दे के रोग
  • थायरॉयड की समस्या
  • रक्तचाप कम करे
  • आंखों में जलन
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • दस्त

अंगों पर प्रभाव

गुर्दे और थायराइड की समस्या वाले लोग सावधानी से इसका प्रयोग करें|

एलर्जी प्रतिक्रियाओं की

यदि इसके किसी भी तत्व से या आयोडीन से आपको एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को सूचित करें

ड्रग इंटरैक्शन से सावधानी

निम्न दवाओं और उत्पादों के साथ इसका आपसी प्रभाव हो सकता है:

  • बैन्ज़लकोलियम क्लोराइड
  • बुपिवाकाइन लिपोसोमल
  • कोलेजिनेस
  • फाइब्रिन सीलेंट (यदि बीटाडाइन का उपयोग करना हो तो उस जगह को फाइब्रिन सीलेंट लगाने से पहले अच्छी तरह से धोकर सुखा दें)

प्रभाव और परिणाम

त्वचा पर लगाने के तुरंत बाद ही बीटाडाइन का प्रभाव दिखने लगता है।

बीटाडाइन लेते समय टिप्स

गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाएं वैकल्पिकरूप से  क्लोरोक्साइडिन और बेंजालकोनियम क्लोराइड का उपयोग कर सकती हैं|

और पढो:बीटाडाइन मलहमकोलिकाइड ड्रॉप्स | अल्प्रेक्स

बीटाडाइन का भंडारण

इसको कमरे के तापमान पर और सीधे प्रकाश तथा गर्मी से बचाकर भंडार करें|

सामान्य प्रश्न

क्या बीटाडाइन नशे की लत है?

नहीं

क्या मै शराब के साथ बीटाडाइन प्रयोग कर सकता हूँ?

इस बारे में ज्ञान नहीं है।

किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचा जाना चाहिए?

नहीं

क्या गर्भवती होने पर बीटाडाइन का उपयोग कर सकते हैं?

प्रसव के दौरान पॉविडोन आयोडीन जैसे योनि उत्पादों का उपयोग करते पर माता और बच्चे दोनों में ही आयोडीन का अवशोषण पाया गया| गर्भवती महिला और उसके गर्भ के जोखिम के अनुपात का आकलन करने के बाद ही गर्भावस्था में इसका उपयोग करना चाहिए।

क्या बच्चे को स्तनपान करने के दौरान बीटाडाइन प्रयोग कर सकते हैं?

प्रसव के दौरान पोविडोन-आयोडीन के उपयोग की वजह से स्तनपान कर रहे शिशुओं में आयोडीन की अधिकता हो जाती है और इससे क्षणिक हाइपोथायरायडिज्म हो सकता है। इसलिए गर्भवती महिला और गर्भ के जोखिम के  अनुपात का आकलन करने के बाद ही स्तनपान के दौरान इसका प्रयोग करना चाहिए।

क्या मैं बीटाडाइन लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

इस बारे में कृपया अपने चिकित्सक से अपनी चिकित्सा स्थिति की चर्चा करें।

यदि मैं बीटाडाइन का अधिक मात्रा में प्रयोग करूं तो क्या होता है?

इसे तयशुदा मात्र से अधिक नहीं प्रयोग करना चाहिए। अधिक दवा या बार बार दवा लेने से आपके लक्षणों में सुधार के स्थान पर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। मात्रा के बारे में तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यदि मैं एक्सपायरी हो चुकी बीटाडाइन का उपयोग करता हूं तो क्या होगा?

यह दवा काम नहीं करेगी| कृपया अपने चिकित्सक को इसकी सूचना दें| सुरक्षित रहने के लिए सदा एक्सपायरी दवा की जांच करें और बिलकुल भी उपयोग ना करें|

यदि मुझे बीटाडाइन की खुराक याद नहीं रहती तो क्या होता है?

अगर आपको इसकी खुराक याद नही रहती तो यह दवा अच्छी तरह से काम नहीं करती क्योंकि दवा के प्रभावी रूप से काम करने के लिए आपके शरीर में हर समय दवा की निश्चित मात्रा रहनी ही चाहिए। जैसे ही आपको भूली हुई दवा याद आये तुरंत अपनी भूली हुई दवा का उपयोग करें। लेकिन यदि उसके बाद दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

जब बीटाडाइन बनाया गया था?

1914 से 1918 – प्रथम विश्व युद्ध में अलेक्जेंडर फ्लेमिंग ने सैनिकों के घावों में संक्रमण जैस घटनाओं को कम करने के लिए आयोडीन खोजा|

1955 – पोविडोन-आयोडीन सम्पूर्ण रूप से आदर्श आयोडीन कीटाणुशोधक बन गया।

1963 – बीटाडेन® को ट्रेडमार्क के रूप में पंजीकृत किया गया और कई अंतरराष्ट्रीय बाजारों में लॉन्च किया गया|

1969 – बीटाडाइन® एंटीसेप्टिक को अपोलो 11 की किसी भी अंतरिक्ष बैक्टीरिया से सफाई के लिए नासा द्वारा चुना गया, जब यह अंतरिक्ष यान अपनी सवारी खत्म करके उतरा था|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 1 =