Caripill in Hindi कैरिपिल: उपयोग, फायदे, खुराक, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

0
4438
caripill fayde nuksan in hindi

Caripill in Hindi – कैरीपिल क्या है?

कैरीपिल में कैरीका पपीता के पत्ते का सत्त (परिवार-कैरेसीएसीई) सक्रिय घटक के रूप में पाया जाता है| यह दो तरह से उपलब्ध है:

  • कैरिपिल टैबलेट – 1100 मि.ग्रा. कैरिका पपीटे के पत्तों का सत्त शामिल है|
  • कैरिपिल सिरप – इसमें प्रति 5 मि.ली. 275 मि.ग्रा. कैरिका पपीते के पत्तों का सत्त होता है|
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें:नेटमेड्स|प्रैक्टो

Caripill Uses in Hindi – कैरिपिल का उपयोग

कैरिपिल का उपयोग आमतौर पर थ्रोम्बोसाइटोपेनिया से पीड़ित मरीजों में प्लेटलेट की गिनती बढ़ाने के लिए किया जाता है । अन्य उपयोगों में निम्न भी शामिल हैं:

  • डेंगू बुखार
  • चिकनगुनिया
  • पेट का अल्सर
  • खट्टी डकार
  • जख्म भरना
  • ऑक्सीडेटिव तनाव
  • पेट सूजन
  • पेट में अल्सर
  • इम्म्युनोमोड्युलेटर

कैरिपिल का इस्तेमाल ऊपर बताये गये अन्य लक्षणों और बीमारियों के उपचार और रोकथाम के लिए भी किया जा सकता है।

Also Read in English: About Caripill 

How Caripill Works in Hindi – कैरिपिल कैसे काम करता है?

कैरीका पपीता में मुख्य घटक पेपेन एंजाइम होता है जो एक प्रोटीलोइटिक एंजाइम (प्रोटीन को तोड़ देता है) है। प्रोटीन के पाचन के इलावा  यह कार्बोहाइड्रेट और वसा के पाचन में भी मदद करता है अर्थात पूरे पाचन में मदद करता है।

यह इंटरलेक्विन-6 के स्राव को प्रेरित करके रक्त में प्लेटलेट गिनती को बढ़ाता है जो जिगर में थ्रोम्बोपोएटिन (प्लेटलेट के उत्पादन में शामिल हार्मोन) के उत्पादन को बढ़कर प्लेटलेट के गठन में वृद्धि करता है।

Read more: Combiflam in hindi|Chymoral in hindi| Aristozyme in hindi

How to Take Caripill in Hindi – कैरिपिल कैसे लें?

कैरिपिल दवा अलग अलग रूपों में मिलती है:

  • कैरिपिल टैबलेट
  • कैरिपिल सिरप

ये दवा काउंटर उत्पाद के रूप में उपलब्ध है लेकिन फिर भी इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए क्योंकि यह दवा विभिन्न व्यक्तियों पर अलग अलग प्रभाव डालती है। इसकी खुराक का रूप बीमारी की उम्र और गंभीरता या डॉक्टर द्वारा बताये अनुसार पर निर्भर करता है। इस दवा को भोजन के साथ या भोजन के तुरंत बाद लेना चाहिए| भोजन के साथ लेने पर यह पेट की परेशानी का कारण हो सकती है। यदि टैबलेट लेना है तो पूरी की पूरी टैबलेट को निगलकर लें, ना तो इसे चबाएं न ही तोड़ें और का ही कुचलकर खाएं| यदि रोजाना एक से ज्यादा  टैबलेट लेनी हो  तो हरेक खुराक के बीच काफी अंतर रखें।

बिना डॉक्टर की सहमति के कभी के भी कहने पर इसकी खुराक को ज्यादा लंबे समय न लें| नहीं तो इसके  सुधरने की बजाय बदतर होने लगेंगे| यदि आपने इसे काउंटर उत्पाद के रूप खरीदा है तो इसे लेने से पहले इसके  पैकेट पर लिखे सभी निर्देश पढ़ें।

Caripill Common Dosage in Hindi – सामान्य खुराक और कैरिपिल कब लें

  • इसकी प्रत्येक गोली में 1100 मि.ग्रा. कैरिका पपीते के पत्तों का सत्त होता है। इसको कम से कम 5 दिनों के लिए दिन में तीन बार या फिर डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए| इस दवा को समान दूरी पर अंतराल पर लेना चाहिय्र| दवा को तब तक जारी रखना चाहिए जब तक कि डेंगू के लक्षण खत्म ना हो जाएँ या जब तक प्लेटलेट गिनती सामान्य तक ना पहुंच जाए। इसके लिए प्लेटलेट गिनती की निगरानी रखनी बहुत आवश्यक है। यदि इसे लेने के बावजूद प्लेटलेट की गिनती में कोई परिवर्तन नहीं दिखाई देता तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करे|
  • बुजुर्ग लोगों के मामले में, कैरीपिल का उनकी कुछ अन्य दवाओं के साथ प्रभाव हो सकता है इसलिए इनका उपयोग उनके चिकित्सा इतिहास के आधार पर किया जाना चाहिए।
  • बच्चों के मामले में कैरीपिल सिरप दिन में 2 से 3 बार 550 मि.ग्रा. (10 मि.ली.) या डॉक्टर की सलाह से दी जा सकती है।

Caripill Precautions in Hindi – सावधानियां – कैरिपिल से कब बचें?

यदि आपको इसके किसी भी घटक से एलर्जी है।

Caripill Side-Effects in Hindi – कैरिपिल के साइड इफेक्ट्स

लाभों के साथ साथ इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। ये दुष्प्रभाव संभव तो हैं लेकिन हमेशा नहीं होते| अधिकतर दुष्प्रभावों में से कुछ निम्न हैं:

  • जी मिचलाना
  • सूजन
  • पेट में दर्द
  • चक्कर आना
  • एलर्जी की प्रतिक्रिया

ऐसे मामलों में तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं|

Caripill Effects on Organs in Hindi – अंगों पर प्रभाव

ऐसा कोई प्रभाव नहीं बताये गये हैं|

Caripill Allergic Reactions in Hindi – एलर्जी प्रतिक्रियाएं

क्या यदि आपको इसके किसी भी तत्व से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को बताएं|

कैरिपिल से एलर्जी होने पर निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं: चकत्ते; खुजली; साँसों की कमी; चेहरे, होंठ, जीभ, या गले की सूजन।

Caripill Drug Interactions in Hindi – ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

इससे इंटरैक्शन करने वाली सभी दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता, लेकिन हमेशा सलाह दी जाती है कि रोगी को अपने डॉक्टर को उन सभी दवाओं, काउंटर उत्पादों और विटामिन की खुराक के बारे में बता देना  चाहिए जिनका आप इस्तेमाल कर रहे हैं:

कैरिपिल के साथ निम्न दवाएं और उत्पाद परस्पर प्रभाव डाल सकते हैं:

  • शराब
  • मेटफॉर्मिन – मेटफॉर्मिन से हाइपोग्लाइसेमिक (चीनी को कम करने) प्रभाव में वृद्धि होती है इसलिए इस प्रकार की दवा की खुराक को बदला देना चाहिए या डॉक्टर से पूछकर दूसरी शक्कर कम करने वाली दवा लेनी चाहिए।
  • ग्लिमेपाइराइड – यह दवा ग्लिमेपाइराइड की हाइपोग्लाइसेमिक गतिविधि को प्रभावित कर सकती है।

Caripill Effects/Results in Hindi – प्रभाव और परिणाम

कैरिपिल लेने के उसी दिन या पहले कुछ दिनों में ही आप ठीक महसूस करना शुरू कर देते हैं| लेकिन को दवा तब तक जारी रखें जब तक डेंगू के लक्षण खत्म ना हो जाएँ या की प्लेटलेट गिनती सामान्य तक ना पहुंच जाए।

Read more: Ascoril in hindi|Ciplox in hindi| Azithral in hindi

Caripill Tips for Taking in Hindi – कैरिपिल लेते समय टिप्स:

यदि इसकी खुराक (दिन में तीन बार से अधिक) को अधिक मात्रा में लेते हैं  तो यह पेट में जलन या सूजन पैदा कर सकती है।

डेंगू के रोगियों में कैरीपिल खून में प्लेटलेट की गिनती को बनाए रखता है लेकिन डेंगू वाले बुखार को नियंत्रित करने के लिए इसे एंटीप्रेट्रिक के साथ लेना चाहिए।

कैरिपिल लेते समय डेंगू और चिकनगुनिया से पीड़ित मरीजों के प्लेटलेट की गिनती को नियमित रूप से निगरानी में रखना चाहिए|

रक्तस्राव के विकार वाले व्यक्तियों को एस्पिरिन जैसे रक्त पतला करने वाली दवाइयों के साथ सावधानी से उपयोग करना चाहिए।

Caripill Storage in Hindi – कैरिपिल का भंडारण

कैरिपिल को कमरे के तापमान पर और सीधे प्रकाश व् गर्मी से दूर रखना चाहिए।

इस दवा को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।

सामान्य प्रश्न – कैरिपिल के बारे में जाने

क्या कैरिपिल नशे की लत है?

ऐसा कोई प्रभाव अभी तक सामने नहीं आया है।

क्या शराब के साथ कैरिपिल ले सकते हैं?

शराब के साथ कैरिपिल लेने से साइड इफेक्ट्स जैसे उनींदापन का खतरा बढ़ जाता है इसलिए कैरिपिल लेने के दौरान शराब का उपयोग नहीं करना चाहिए|

क्या किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ लेने से कोई बदलाव नहीं देखा गया।

क्या गर्भवती होने पर कैरीपिल ले सकते हैं?

गर्भवती महिलाओं को सावधानी से कैरिपिल का उपयोग करना चाहिए। इसको लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर  परामर्श करें| अगर आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बनाते हैं तो हमेशा अपने डॉक्टर को सूचित करें।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान कैरिपिल ली जा सकती है?

स्तनपान के दौरान कैरिपिल लेना पूरी तरह सुरक्षित है। फिर भी स्तनपान के दौरान कैरिपिल लेनी शुरू करने से  पहले बाल रोग विशेषज्ञ से मिलें|

क्या कैरीपिल लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

कैरीपिल लेने के बाद कुछ रोगियों को उनींदापन, चक्कर आना या सिरदर्द की शिकायत हो सकती है, इसलिए ड्राइविंग करने वालों को सावधानी से कैरिपिल का उपयोग करना चाहिए।

यदि कैरीपिल अधिक मात्रा में ले ली हो तो क्या होता है?

इसे तय की गयी मात्रा से अधिक नही लेना चाहिए। अधिक दवा लेना से या बार बार लेने से इसके लक्षणों में सुधार नहीं होता  बल्कि इसके गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसकी खुराक के मामले में तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यदि एक्सपायरी हो चुकी कैरिपिल कहई तो क्या होगा?

यह दवा काम नहीं करेगी और इस बारे में अपने चिकित्सक को सूचित करें। सुरक्षित रहने के लिए हमेशा एक्सपायरी दवा की जांच करके ही उपयोग करें।

यदि कैरीपिल कैप्सूल लेने याद ना रहें तो क्या होता है?

यदि इसकी खुराक लेनी याद नहीं रहती तो यह दवा अच्छी तरह से काम नहीं करती क्योंकि दवा को प्रभावी रूप से काम करने के लिए शरीर में हर समय निश्चित मात्रा मौजूद होना चाहिए। जैसे ही आपको भूली हुई दवा की याद आये तुरंत इसे ले लें| यदि उसके बाद दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

कैरिपिल कब बनाई गयी थी?

यह दवा सन 2015 में माइक्रो लैब्स बेंगलुरू द्वारा लॉन्च की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − nine =