सिनारिज़िन (Cinnarizine in Hindi): उपयोग, फायदे, खुराक, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

0
8030
cinnarizine fayde nuksan in hindi

सिनारिज़िन क्या है?

  • सिनारिज़िन एंटी-हिस्टामाइन और कैल्शियम चैनल को रोकने वाली दवा है। यह मस्तिष्क तक जाने वाले रक्त प्रवाह को भी बढाती है।
  • यह कैल्शियम चैनलों को रोककर मांसपेशी की चिकनी कोशिकाओं के संकुचन को रोक देती है।
  • यह एंटी-वेस्कोकंस्ट्रिक्टर गतिविधि द्वारा काम करके रक्त के चिपचिपेपन को कम करता है।
  • यह कैल्शियम आयनों का कोशिकाओं में प्रवेश घटाता है और डिपो में उनकी सामग्री कम कर देता है।
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: 1 एमजी | सेवऑनमेडिकल

सिनारिज़िन का उपयोग

  • कान (टिनिटस) में शोर के इलाज में, यादाश्त की कमी
  • क्रैनियोसेरेब्रल (मस्तिष्क) चोटों के बाद ठीक होने की अवधि में
  • माइग्रेन के इलाज के लिए
  • धमनी रोग के लक्षणों की चिकित्सा में
  • मेनिरे की बीमारी में वर्टिगो, टिनिटस, मतली और उल्टी का इलाज करने के लिए
  • मोशन सिकनेस के इलाज के लिए
  • खाद्य एलर्जी का इलाज करने के लिए।

Also Read in English: About Cinnarizine 

सिनारिज़िन कैसे लें?

इस दवा की खुराक और लेने का समय डॉक्टर द्वारा निम्न बातों को ध्यान में रखकर तय किया जाता है:

इसकी खुराक आपकी आयु, चिकित्सा की स्थिति और चिकित्सा के प्रति प्रतिक्रिया पर निर्भर है|

लेने का तरीका – मुंह द्वारा उपयोग कर सकते हैं|

सिनारिज़िन को ज्यादातर भोजन के बाद लेना चाहिए। गोलियों को चूसकर, चबाकर या पूरा ही पानी से निगलकर  ले सकते हैं|

और पढो: साइक्लोपमसाइरा-डीबीटाहिस्टिन

सिनारिज़िन की सामान्य खुराक?

इसकी खुराक हमेशा आपकी हालत पर निर्भर होती है|

वेस्टिबुलर लक्षणों में:

12 साल से अधिक वयस्क, बुजुर्ग और बच्चों में: दिन में तीन बार दो-दो गोलियाँ।

5 से 12 साल के बच्चे: एक-एक टैबलेट दिन में तीन बार।

बताई गयी खुराक से ज्यादा नही लेना चाहिए|

मोशन सिकनेस:

12 साल से अधिक आयु के वयस्क, बुजुर्ग और बच्चे: यदि जरूरत हो तो यात्रा से दो घंटे पहले या एक टैबलेट यात्रा के दौरान।

5-12 साल के बच्चे: यदि जरूरी हो तो यात्रा से दो घंटे पहले एक टैबलेट या आधी टैबलेट।

सावधानियां – सिनारिज़िन से कब बचें?

यदि निम्न समस्याएँ हों तो सिनारिज़िन का उपयोग नहीं करना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक या अन्य एंटी-हिस्टामाइन से एलर्जी होने पर।
  • पोर्फिरिया (एक रक्त विकार) से पीड़ित होने पर|
  • पार्किंसंस रोग से पीड़ित

यदि निम्न स्थितियों में से कोई हो:

  • आंख (ग्लूकोमा) या मिर्गी में दबाव बढ़ा हो|
  • जिगर और गुर्दे की मध्यम से गंभीर समस्या वाले मरीज सावधानी से प्रयोग करें|
  • प्रोस्टेट की समस्या या मूत्र गुजरने में कठिनाई हो रही हो|
  • सिनारिज़िन गोलियों में लैक्टोज होने के कारण गैलेक्टोज की असहिष्णुता से पीड़ित मरीज, लैप लैक्टेज की कमी या ग्लूकोज-गैलेक्टोज मॉलएबस्पशन वाले मरीज इस दवा को लेने से बचें|

सिनारिज़िन के दुष्प्रभाव?

अधिकांश रोगोयों में कोई दुष्प्रभाव नहीं दिखाई देते| इससे होने वाले सबसे आम साइड इफेक्ट्स में उनींदापन और चक्कर आना है| इसके इलावा अन्य दुष्प्रभाव हैं:

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • सरदर्द
  • भूख की कमी, अपमान
  • भार बढ़ना
  • पीलिया
  • हल्की सीढ़ी, बेचैनी
  • शुष्क मुँह
  • पेट दर्द
  • मुंह में सामान्य से अधिक लार
  • पसीना बढना
  • डिप्रेशन
  • बढ़ी हुई हृदय की दर
  • झटके
  • त्वचा पर चकत्ते

अंगों पर प्रभाव

लिवर – जिगर की बीमारी वाले मरीज सिनारिज़िन का उपयोग सावधानी से करें| इसके साइड इफेक्ट के रूप में पीलिया भी हो सकता है।

गुर्दा – गुर्दे की बीमारी से ग्रस्त मरीजों को भी सिनारिज़िन का उपयोग सावधानी से करना चाहिए|

समस्या ज्यादा गंभीर होने पर  खुराक को ठीक ढंग से लेने की भी आवश्यकता होती है|

यदि कोई अन्य लक्षण दिखाई दें तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

यदि इसकी किसी भी सामग्री से एलर्जी हो तो अपने डॉक्टर को बताएं|

सिनारिज़िन एंटी-हिस्टामाइन दवा है इसलिए इससे कुछ एलर्जी हो सकती है। इससे होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं के लक्षणों में निम्न हो सकते हैं:

  • चकत्ते
  • त्वचा की खुजली
  • चेहरे, होंठ, जीभ, या गले की सूजन

ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

सभी परस्पर प्रभाव डालने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध करना मुश्किल है लेकिन सिनारिज़िन निम्न दवाओं और उत्पादों के साथ परस्पर प्रभाव डाल सकती है:

  • शराब
  • सीएनएस अवसाद या ट्राईसाइक्लिक एंटी-देप्रेसेंट

यदि त्वचा की एलर्जी का परीक्षण कराना हो तो 4 दिन पहले से ही इसको लेना बंद कर देना चाहिए|

अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली उन सभी दवाओं और उत्पादों के बारे में अपने चिकित्सक को सूचित करें|

यदि आपको कुछ दवाओं का उपयोग करते समय नींद आती हो जैसे :

  • नींद की गोलियां
  • एलर्जी वाली दवाएं
  • नारकोटिक दर्द की दवा
  • मांसपेशियों को आराम देने वाली दवाएं
  • दौरे पड़ने पर इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं
  • अवसाद के इलाज़ के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाएं
  • एंटी-डिप्रेसेंट दवाएं
  • जिन हर्बल उत्पादों का आप उपयोग कर रहे हैं उनके बारे में भी अपने डॉक्टर को बताएं|
  • बिना अपने डॉक्टर की मंजूरी के दवा में कोई फेर बदल न करें|

प्रभाव और परिणाम

यह इलाज की स्थिति पर निर्भर करते हैं।

लक्षणों को पूरी तरह खत्म करने के लिए डॉक्टर द्वारा बताई गयी पूरी खुराक लें|

और पढो: बेटनोवेट-एनएटारैक्स | सेफपोडोक्सिम प्रोक्सेटिल

सिनारिज़िन का भंडारण

इसे कमरे के तापमान पर और सीधे प्रकाश और गर्मी से बचाकर रखें|

सिनारिज़िन लेते समय टिप्स

यदि सिनारिज़िन का प्रयोग करने के बाद नींद या चक्कर आयें तो भारी मशीनरी ना चलायें और ना ही ड्राइव करें।

सामान्य प्रश्न – सिनारिज़िन के बारे में जाने

क्या सिनारिज़िन नशे की लत है?

नहीं, लेकिन इन दवाइयों पर निर्भर रहने से बचना चाहिए।

क्या शराब के साथ सिनारिज़िन ले सकते हैं?

अल्कोहल के साथ इसे लेने से उनींदापन की समस्या बढ़ जाती है  इसलिए सिनारिज़िन को शराब के साथ ना लेने की सलाह दी जाती है|

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ को लेने से बचना चाहिए?

नहीं

क्या गर्भवती होने पर सिनारिज़िन ली जा सकती है?

गर्भावस्था में सिनारिज़िन लेने से बचना चाहिए। मानव गर्भावस्था के लिए सिनारिज़िन सुरक्षित नहीं है|

यदि गर्भवती होने पर या गर्भवती होने की योजना बनाते समय अपने डॉक्टर को सूचित करें

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान सिनारिज़िन ले सकते हैं?

स्तनपान करने वाली महिलाओं को सिनारिज़िन लेने से बचना चाहिए।

क्या सिनारिज़िन लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

सिनारिज़िन की वजह से उनींदापन हो सकता है इसलिए ड्राइव करते समय और भारी मशीनों को चलाते समय  इसका उपयोग न करें।

यदि सिनारिज़िन अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

सिनारिज़िन को अधिक मात्रा में लेने से यह निम्न का कारण बन सकती है:

  • अतिरिक्त नींद
  • प्रगाढ़ बेहोशी
  • उल्टी
  • अत्यधिक झटकेदार गातिविधि और धीमापन, मांसपेशी की कठोरता, कांपना और बेचैनी जैसी समस्याएं
  • मुंह में सामान्य से अधिक लार
  • जीभ, चेहरे, मुंह, जबड़े या गले या आंखों की असामान्य गतिविधि
  • अंगों और मांसपेशी की कमजोरी
  • दौरे
  • मौत हो जाना

जिन लोगों सिनारिज़िन बहुत अधिक मात्रा में ले लिया है उन्हें तुरंत आपातकालीन उपचार करना चाहिए।

अगर एक्सपायरी हो चुकी सिनारिज़िन लेते हैं तो क्या होता है?

इसकी एक खुराक लेने से कोई बड़ा प्रतिकूल प्रभाव नही हो सकता, बस दवा की शक्ति ही कम हो सकती है|

यदि आपने ऐसी दवा ले ही ली है तो अपने चिकित्सक को सूचित करें|

सुरक्षित रहने के लिए हमेशा एक्सपायरी दवा की जांच करें और इसका उपयोग कभी न करें|

यदि सिनारिज़िन की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

इस दवा के प्रभावी होने के लिए शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा का होना जरूरी है इसलिए जैसे ही भूली हुई दवा याद आये तुरंत उसका उपयोग करें| लेकिन यदि दूसरी खुराक का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक ना लें|

सिनारिज़िन कब बनाया गया था?

1955 में जिन्सेन फार्सुटिका ने पहली बार सिनारिज़िन को संश्लेषित किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 5 =