Ciplox TZ in Hindi सिपलॉक्स टीजेड टैबलेट्स: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

0
2599

Table of Contents

Ciplox TZ in Hindi सिपलॉक्स टीजेड टैबलेट्स: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

1What is Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड क्या है?

यह मुख्य रूप से अमीबासिस, योनि और मूत्र पथ के इन्फेक्शन, दस्त जैसे इन्फेक्शन वाली स्थितियों को रोकने या उनके इलाज के लिए उपयोग किया जाता है| इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा लेने पर मायस्थानिया ग्रेविस के दौरे, झटके और तेज़ होना जैसे दुष्प्रभाव होते हैं। जिगर, गुर्दे की बीमारियों या रक्त विकारों के मामलों में सिपलॉक्स टीजेड का उपयोग कभी नहीं करना चाहिए।

सिपलॉक्स टीजेड की रचना – सिप्रोफ्लोक्सासिन 500  मि.ग्रा. + टिनिडाजोल 600 मि.ग्रा.
निर्मित – सिप्ला
प्रिस्क्रिप्शन – जरूरी है क्योंकि यह अनुसूची ‘एच’ के अंतर्गत आता है लेकिन ओटीसी के रूप में भी मिलता है।
रूप – गोलियाँ, ड्रॉप्स और क्रीम
कीमत – 117.19 रूपए में 10 टैबलेट
एक्सपायरी – बनाए जाने की तारीख से 24 महीने तक
दवा का प्रकार – एंटीबायोटिक + एंटीडायरीफाइल

Also Read in English about Ciplox TZ


2Uses of Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड के उपयोग

सिपलॉक्स टीजेड का उपयोग निम्न स्थितियों को रोकने या उनका इलाज करने के लिए किया जाता है जैसे:

  • गोनोरिया: असुरक्षित यौन संबंध के दौरान बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण योनि के गोनोरियल इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • निमोनिया: निमोनिया का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह भी बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • डायरिया: डायरिया के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है जो बैक्टीरिया के इन्फेक्शन के कारण होने का संदेह है।
  • पेचिश: पेट में ऐंठन के साथ दस्त का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • पैरासिटिक इन्फेक्शन: परजीवी के कारण होने वाले इन्फेक्शन के खिलाफ भी उपयोगी है जैसे कि अमीबासिस और जियार्डियासिस।
  • दांतों का इन्फेक्शन: दांतों के इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है क्योंकि ज्यादातर दांतों के इन्फेक्शन एनारोबिक बैक्टीरिया के कारण होते हैं|
  • पेट में इन्फेक्शन: पेट के इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • योनि में इन्फेक्शन: योनि के इन्फेक्शन के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है।
  • पोस्टऑपरेटिव इन्फेक्शन: एनारोबिक इन्फेक्शन को रोकने या ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • यूटीआई: मूत्र पथ के संक्रमण के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।
  • त्वचा और नरम ऊतकों का संक्रमण: त्वचा और नरम ऊतकों के संक्रमण का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है जो बैक्टीरिया के कारण होते हैं|
  • साइनसाइटिस: बैक्टीरिया के कारण होने वाली साइनस की सूजन और इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • अन्य: फेफड़े के फोड़े का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
और पढो:एरिस्टोजीम|एस्कोरिल|एज़िथ्रल 500

3How does Ciplox TZ work in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड कैसे काम करता है?

  • सिपलॉक्स टीजेड में सिप्रोफ्लोक्सासिन और टिनिडाज़ोल मुख्य सक्रिय तत्व के रूप में होते हैं।
  • सिप्रोफ्लोक्सासिन दवाओं के ऑइनोलोन समूह से संबंधित है जो बैक्टीरिया सेल्स के डीएनए के संश्लेषण को रोकने का काम करता है और बैक्टीरिया सेल्स को बढने से रोकता है जिससे उनकी मृत्यु हो जाती है।
  • टिनिडाज़ोल दवाओं के नाइट्रोइमिडाज़ोल समूह से है जो एंटीपैरासिटिक गतिविधि दिखाता है|
  • टिनिडाज़ोल, डीएनए स्ट्रैंड को तोड़ने का काम करता है और जिससे रोगाणुओं के डीएनए को नुकसान पहुंचता है और इन्फेक्शन खत्म हो जाता है|
  • इसलिए सिपलॉक्स टीजेड बैक्टीरियल और एंटीपैरासिटिक दोनों ही प्रकार की गतिविधि दिखाता है।
और पढो:कॉम्बीफ्लैम|कैरीपिल|चिमोरल फोर्ट

4How to take Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड कैसे लें?

  • सिपलॉक्स टीजेड आमतौर पर टैबलेट, ड्रॉप्स और ऑइंटमेंट के रूप में मिलता है।
  • सिपलॉक्स टीजेड टैबलेट को मुंह के द्वारा पानी के साथ या भोजन के बाद लिया जाता है क्योंकि इसे खाली पेट लेने पर दवा के कारण होने वाली किसी भी गैस्ट्रिक जलन को रोकता है।
  • सिपलॉक्स टीजेड टैबलेट को कभी भी चबाना या कुचलना नहीं चाहिए। इसे पूरे रूप में निगल लेना चाहिए।
  • एंटीबायोटिक के खिलाफ प्रतिरोध के बढने को रोकने के लिए और केवल बैक्टीरिया और परजीवी के रूप में जाने जाने वाले इन्फेक्शनस में ही सिपलॉक्स टीजेड लेना चाहिए।
  • इसकी दो खुराक के बीच 8 से 10 घंटे का अंतराल होना चाहिए।
  • दवा की बेहतर समझ रखने के लिए दवा लेने से पहले पैक में मिलने वाले लीफलेट को पढना उचित है।

5Common Dosage for Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड की सामान्य खुराक

  • चिकित्सक इस दवा की खुराक रोगी की आयु, वजन, मानसिक स्थिति, एलर्जी के इतिहास के अनुसार तय करता है।
  • सिपलॉक्स टीजेड की सामान्य वयस्क खुराक दिन में दो बार एक गोली है| इसकी दो खुराक के बीच कम से कम 8 से 10 घंटे का अंतर रखना चाहिए|
  • बच्चों को इस की खुराक देते समय बाल रोग विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए।
  • चिकित्सक की उचित सलाह के बिना खुराक में बदलाव से बचना चाहिए

यदि सिपलॉक्स टीजेड ज्यादा मात्रा में लें तो क्या होगा?

किसी भी दवा को ज्यादा मात्रा में लेने से गंभीर दुष्प्रभाव होने की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए इस  दवा की तय की गयी खुराक का सख्ती से पालन करना चाहिए और कोई भी लक्षण दिखाई देने के मामले में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें|

यदि सिपलॉक्स टीजेड की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होगा?

यदि आप इसकी खुराक लेना भूल गये हैं तो जैसे ही आपको याद आये हमेशा अपनी छूटी हुई खुराक लें| लेकिन यदि पहले से ही दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें क्योंकि इससे दवा की अधिकता के कारण दुष्प्रभाव हो सकते हैं|

यदि एक्सपायरी हो चुकी सिपलॉक्स टीजेड लें तो क्या होता है?

एक्सपायरी हो चुकी सिपलॉक्स टीजेड किसी अवांछनीय प्रभाव को नहीं दिखाती| लेकिन किसी को भी एक्सपायरी दवा का सेवन करने से बचना चाहिए।

सिपलॉक्स टीजेड की शुरुआत का समय और प्रभाव क्या है?

दवा को अपना प्रभाव दिखाने के लिए लिया गया समय उपचार की स्थिति पर निर्भर करता है। दवा को प्रभाव दिखाने के लिए लिया गया समय हर रोगी में अलग हो सकता है।


6When to Avoid Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड से कब बचें?

निम्न स्थितियों में सिपलॉक्स टीजेड का सेवन न करें:

  • एलर्जी: सेफिक्साइम या किसी अन्य दवा से एलर्जी के मामलों में जो सेफलोस्पोरिन वर्ग या पेनिसिलिन या अन्य एंटीबायोटिक दवाओं से संबंधित है।
  • गैस्ट्रिक ब्लीडिंग: गैस्ट्रिक अल्सर वाले रोगियों में रक्तस्राव होने लगता है क्योंकि यह पेट, कोलन या गुदा में सूजन ही रक्तस्राव का कारण बनता है।
  • मिर्गी: मिर्गी के रोगियों को इस दवा से बचना चाहिए क्योंकि सिपलॉक्स टीजेड दौरे को तेज कर सकता है।
  • मायस्थेनिया ग्रेविस: मायस्थेनिया ग्रेविस के मामलों में इस दवा से बचना चाहिए।
  • लीवर / किडनी की कमजोरी: जिगर के रोग और गुर्दे की बीमारी वाले रोगियों के मामलों में। डायलिसिस पर मरीजों को भी इस दवा से बचना चाहिए।

7Precautions While Taking Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड लेते समय सावधानियां

  • साथ ली जाने वाली दवा: टिज़ेनिडीन लेने वाले मरीजों को सिपलॉक्स टीजेड के साथ इसे लेने से बचना चाहिए।
  • लीवर / किडनी के रोग: किडनी या लीवर में कमी वाले रोगियों को डॉक्टर द्वारा खुराक में बदलाव की जरूरत  होती है।
  • खुराक में बदलाव: डॉक्टर की सलाह के बिना खुराक में बदलाव से बचना चाहिए।

सिपलॉक्स टीजेड लेते समय चेतावनी

  • जब तक डॉक्टर द्वारा ना बताया जाए इसके लंबे समय तक उपयोग से बचना चाहिए।
  • दो खुराकों के बीच समान समय का अंतराल होना चाहिए।
  • दवा के प्रभाव से बचने के लिए दवा के साथ बहुत सारा तरल पियें|
  • किसी भी तरह की गैस्ट्रिक जलन को रोकने के लिए हमेशा भोजन के साथ या बाद में ही टैबलेट लें|
  • हमेशा दवा के तय किये गये कोर्स को पूरा करें क्योंकि कोर्स को अधूरा छोड़ने से इन्फेक्शन दोबारा वापिस आ सकता है।

8Side-Effects of Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड के साइड-इफेक्ट्स

विभिन्न उपचारों के लिए उपयोग किए जाने वाले सिपलॉक्स टीजेड से जुड़े कुछ दुष्प्रभाव निम्न हैं:

  • मतली (सामान्य)
  • उल्टी (सामान्य)
  • पेट में दर्द (सामान्य)
  • चक्कर आना (सामान्य)
  • अपच (सामान्य)
  • स्वाद में सनसनी (सामान्य)
  • त्वचा पर लाल चकत्ते (कम सामान्य)
  • फोटो विषाक्तता (प्रकाश के लिए त्वचा की संवेदनशीलता) (कम सामान्य)
  • अवसाद (कम सामान्य)
  • भ्रम (कम सामान्य)
  • बरामदगी (कम सामान्य)
  • ट्रेमर्स (कम सामान्य)
  • एलर्जी प्रतिक्रियाएं (दुर्लभ)
  • टेंडोनाइटिस (कम सामान्य)
  • माईस्थेनिया ग्रेविस का विच्छेदन (दुर्लभ)

क्या सिपलॉक्स टीजेड से कोई एलर्जी प्रतिक्रियाएं हैं?

सिपलॉक्स टीजेड टेबलेट चकत्ते, साँस लेने में कठिनाई, चेहरे, होंठ और गले में सूजन जैसे लक्षणों के साथ साथ एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण जाना जाता है। लक्षणऐसे किसी भी संकेत के मामले में तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

अंगों पर प्रभाव?

  • सिपलॉक्स टीजेड लीवर या किडनी की कमजोरी वाले रोगियों में सावधानी से इस्तेमाल किया जाना चाहिए क्योंकि यह लिवर और किडनी को प्रभावित कर सकता है।
  • यह सेंट्रल नर्वस सिस्टम को डिप्रेशन और भ्रम की वजह से प्रभावित कर सकता है।
  • सिपलॉक्स टीजेड से टेंडनस का टूटना भी हो सकता है।

9Drug Interactions to be Careful About in Hindi – ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

सिपलॉक्स टीजेड का सेवन करने पर कुछ दवाइयों के सेवन से सावधान रहना चाहिए। ये कुछ खाद्य पदार्थों से लेकर अन्य दवाओं तक कुछ परीक्षणों में शामिल हो सकते हैं, जो सिपलॉक्स टीजेड के सेवन के बाद सही नहीं होते। हम निम्न में इन विवरणों का पता लगाते हैं।

  1. सिपलॉक्स टीजेड के साथ खाद्य पदार्थ

कैल्शियम से भरपूर खाने से परहेज करना चाहिए|

  1. सिपलॉक्स टीजेड के साथ दवाएं

सभी आपस में प्रभाव डालने वाली दवाओं को यहाँ सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता। इसलिए हमेशा यह सलाह दी जाती है कि रोगी को चिकित्सक को अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं के बारे में बताना  चाहिए। उन हर्बल उत्पादों के बारे में भी अपने डॉक्टर को जानकारी देनी चाहिए जिनका आप सेवन कर रहे हैं।

निम्नलिखित दवाओं के साथ आम दवा पारस्परिक क्रिया देखी गई है:

  • एंटासिड (मध्यम): एल्युमिनियम / मैग्नीशियम के साथ एंटासिड लेने से 6 घंटे पहले और 2 घंटे बाद सिप्लोक्स टीबी के सेवन से बचें क्योंकि इससे दवा के अवशोषण में देरी होती है।
  • जस्ता, कैल्शियम या मैग्नीशियम युक्त विटामिन या खनिज पूरक (हल्का)
  • वारफरिन (हल्का)
  • कैफीन (मध्यम)
  • थियोफिलाइन (हल्का)
  • टिजानिडिन (गंभीर)
  • फ़िनाइटोइन (मध्यम)
  • केटोकोनाज़ोल (हल्का) की तरह ऐज़ोल एंटिफंगल
  • साइक्लोस्पोरिन (मध्यम)
  1. लैब टेस्ट पर सिपलॉक्स टीजेड का प्रभाव

सिपलॉक्स टीजेड किसी भी लैब टेस्ट पर कोई प्रभाव नहीं डालता|

  1. पहले से मौजूद बीमारियों के साथ सिपलॉक्स टीजेड का इंटरैक्शन

कोई भी लिवर या किडनी का विकार

क्या अल्कोहल के साथ सिपलॉक्स टीजेड ले सकते हैं?

नहीं, इस दवा के साथ शराब के सेवन से ज्यादा डिसुलफिरम प्रतिक्रियाएं (चेहरे की निस्तब्धता, हृदय की दर बढना, प्यास और पोस्टुरल सिंकोप) जैसे दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए सिपलॉक्स टीजेड के साथ शराब लेने से पहले डॉक्टर से हमेशा सलाह ली जानी चाहिए।

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थ लेने से बचने की जरूरत होती है|

क्या गर्भवती होने पर सिपलॉक्स टीजेड ले सकते हैं?

नहीं, सिपलॉक्स टीजेड गर्भवती महिलाओं के लिए लेना सुरक्षित नहीं है क्योंकि यह भ्रूण को नुकसान पहुंचाने के लिए जानी जाती है। ऐसे मामलों में डॉक्टर को सूचित करना चाहिए।

क्या बच्चे को स्तनपान कराते समय सिपलॉक्स टीजेड ले सकते हैं?

स्तनपान कराने वाली माताओं को इसे तभी लेना चाहिए जब जरूरी हो क्योंकि ये माँ के दूध में पास होने के लिए जाना जाता है और बच्चे को नुक्सान पहुंचा सकता है|

क्या सिपलॉक्स टीजेड लेने के बाद गाड़ी चला सकते हैं?

सिपलॉक्स टीजेड से चक्कर आना और उनींदापन आदि हो सकता है। इसलिए इनमें से कोई भी लक्षण होने पर भारी मशीनरी चलाने या ड्राइव करने से बचना चाहिए


10Buyer’s Guide – Ciplox TZ Composition, Variant and Price in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड संरचना, विविधता और मूल्य – खरीदने के लिए गाइड

सिपलॉक्स टीजेड वेरिएंट सिपलॉक्स टीजेड कंपोजिशन सिपलॉक्स टीजेड मूल्य
सिपलॉक्स टीजेड टेबलेट सिप्रोफ्लोक्सासिन 250 मि.ग्रा. +  टिनिडाज़ोल 300 मि.ग्रा. 65.85 रूपए की 10 टेबलेट्स
सिपलॉक्स 2 मि.ग्रा./मि.लि. 100 मि.लि. आईवी सिप्रोफ्लोक्सासिन 200 मि.ग्रा./100 मि.लि. 16.76  रूपए का 1 पैक
सिपलॉक्स टीजेड 500 मि.ग्रा. टैबलेट सिप्रोफ्लोक्सासिन 500 मि.ग्रा. 38.34 रूपए की 10

टेबलेट्स

सिपलॉक्स ओजेड मि.लि. ड्रॉप्स सिप्रोफ्लोक्सासिन 500 मि.ग्रा. + ओर्नीडाजोल 500 मि.ग्रा. 79.50 रूपए की 10

टेबलेट्स

सिपलॉक्स-डी आई/इयर ड्रॉप्स सिप्रोफ्लोक्सासिन 0.3% डब्लू/वी + डेक्सामेथासोन 0.1% डब्लू/वी 16.50  रूपए का 1 पैक
सिपलॉक्स टीजेड आई 5 ग्रा. ऑइंटमेंट सिप्रोफ्लोक्सासिन 0.3% डब्लू/डब्लू 5.70  रूपए का 1 पैक
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें:मेडलाइफ|फार्मइजी

11Substitutes of Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड के बदले में

सिपलॉक्स टीजेड के लिए निम्न वैकल्पिक दवाएं हैं:

माइक्रोफ्लोक्स सीटी टैबलेट: माइक्रो लैब्स लिमिटेड द्वारा निर्मित

  • सरबन टीएन टेबलेट: ब्लू क्रॉस द्वारा निर्मित
  • सिप्रोबिड टीजेड टेबलेट: ज्यडस हेल्थ केयर लि. द्वारा निर्मित
  • सिप्रोलेट ए टेबलेट: डा. रेड्डीज़ लेबोरेट्रीज़ लि. द्वारा निर्मित है।

भंडारण

  • इस दवा को पर ठंडी और नमी से मुक्त जगह में सीधी धूप और रौशनी से बचाकर रखना चाहिए|
  • इस दवा को फ्रीज़ ना करें|
  • दवा को ऐसे स्थान पर रखना चाहिए जहां यह बच्चों की पहुंच से बाहर हो।

12FAQs – 10 Important Questions Answered about Ciplox TZ in Hindi – सिपलॉक्स टीजेड के बारे में 10 महत्वपूर्ण प्रश्न

सिपलॉक्स टीजेड क्या है?

सिपलॉक्स टीजेड एक संयोजन दवा है जिसमें सिप्रोफ्लोक्सासिन और टिनिडाज़ोल मुख्य सक्रिय तत्व के रूप में होते हैं। सिपलॉक्स टीजेड एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-पैरासिटिक गुणों वाला होता है।

इसका उपयोग मुख्य रूप से इन्फेक्टेड दस्त, मूत्र पथ के इन्फेक्शन, योनि के इन्फेक्शन और निमोनिया जैसी स्थितियों के इलाज के लिए किया जाता है।

सिपलॉक्स टीजेड को परिणाम दिखाने के लिए कितना समय लगता है?

सिपलॉक्स टीजेड को का प्रभाव कुछ ही दिनों में दिखने लगता है।

क्या सिपलॉक्स टीजेड को खाली पेट लेना चाहिए?

पेट खराब होने से बचाने के लिए इसे खाली पेट नहीं लेना चाहिए, इसे भोजन के साथ या बाद में लेना चाहिए।

क्या सिपलॉक्स टीजेड उनींदापन का कारण बनता है?

जी हां, सिपलॉक्स टीजेड कुछ मामलों में उनींदापन हो सकता है लेकिन यह हर व्यक्ति में अलग होता है।

सिपलॉक्स टीजेड टैबलेट लेने के बीच में समय का क्या अंतर होना चाहिए?

सिपलॉक्स टीजेड की दो खुराक के बीच कम से कम 8 से 10 घंटे के का अंतराल होना चाहिए|

क्या चिकित्सा का कोर्स पूरा करना चाहिए, भले ही लक्षण ठीक हो जाएँ?

डॉक्टर द्वारा बताए अनुसार ही सिपलॉक्स टीजेड का सेवन करना चाहिए और लक्षणों की गंभीरता के मामले में तत्काल चिकित्सा सहायता या सलाह लेनी चाहिए और डॉक्टर को यह तय करना चाहिए कि सिपलॉक्स टीजेड के चक्र को कब और कैसे रोकना है।

क्या सिपलॉक्स टीजेड मासिक धर्म को प्रभावित करता है?

नहीं, आम तौर पर यह मासिक धर्म चक्र पर प्रभाव नहीं डालता। इस दवा का सेवन करने से पहले मासिक धर्म की समस्याओं के मामले में डॉक्टर से सलाह लें|

क्या सिपलॉक्स टीजेड बच्चों के लिए सुरक्षित है?

बच्चों को सिपलॉक्स टीजेड उचित सलाह के बिना नहीं लेना चाहिए और इसे देने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह से लेनी चाहिए।

क्या कोई लक्षण हैं जिन पर सिपलॉक्स टीजेड लेने से पहले विचार करना चाहिए?

सिपलॉक्स टीजेड लेने से पहले किसी भी प्रकार के जिगर और किडनी के विकार और एलर्जी प्रतिक्रियाओं को ध्यान में रखना चाहिए।

क्या सिपलॉक्स टीजेड भारत में कानूनी है?

हां, यह भारत में कानूनी है।


डिस्क्लेमर – ऊपर दी गई जानकारी हमारे शोध और ज्ञान के सर्वश्रेष्ठ है। हालांकि, आपको दवा का सेवन करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।

13लेखक –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − thirteen =