Common Cold in Hindi – कॉमन कोल्ड: लक्षण, कारण, डायग्नोसिस और उपचार

0
526

Table of Contents

Common Cold in Hindi - कॉमन कोल्ड: लक्षण, कारण, निदान और उपचार

What is Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड क्या है?

कॉमन कोल्ड इन्फेक्शन का एक मामूली रूप है जिसमें माइक्रोओर्गानिज्म रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट के ऊपरी हिस्से पर अटैक करते हैं। ये लक्षण आम तौर पर दो दिनों के बाद ज्यादा होते हैं जब इन्फेक्शन का कारण बनने वाले माइक्रोओर्गानिज्म के संपर्क के कारण होता है। इससे  नाक, गले, साइनस और लार्यन्क्स जैसे शरीर के अंग प्रभावित होते हैं।

इन लक्षणों में कटने, दर्दनाक गला, बहती नाक के साथ-साथ बुखार और छींकें आदि शामिल हैं। इससे सिरदर्द भी हो सकता है। यह सर्दी ज्यादातर 10 दिन या एक हफ्ते तक रहती है।

यदि लक्षण बदतर हो जाते हैं तो अपने डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें और गंभीर मामलों में यह निमोनिया में बदल सकता है। कॉमन कोल्ड संक्रामक होता है। इसके लिए मध्य कान का इन्फेक्शन, साइनसाइटिस या साइनस की सूजन आदि हो सकती हैं।

शरीर पर वायरस का बाहरी अटैक होता है। राइनो वायरस सबसे आम तनाव है जो सामान्य सर्दी का कारण बनता है।

How does the common cold affect the body in Hindi – कॉमन कोल्ड शरीर को कैसे प्रभावित करता है?

कॉमन कोल्ड में फ्लू जैसे लक्षण हो सकते हैं। रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट बाहरी वायरस के अटैक से गुजरती है। इन लक्षणों में बहती नाक, सांस लेने में तकलीफ आदि शामिल हैं। यह खांसी और थकान के साथ बलगम के बनने को भी आसान करता है।

बुखार शरीर के इम्यून सिस्टम की प्रतिक्रिया के रूप में भी हो सकता है। इसके अन्य लक्षणों में छींकना और घरघराहट हो सकता है। सूक्ष्मजीव आमतौर पर गले के टिश्यूओं और साइनस के नाक के टिश्यूओं को लक्ष्य बनाता है।

What are the causes of Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड के कारण क्या हैं?

  • कॉमन कोल्ड पैदा करने में माइक्रोओर्गनिस्म के 200 उपभेदों में राइनोवायरस सबसे ज्यादा प्रचलित है। यह वायरस मुंह या नाक की कैविटी के द्वारा प्रवेश करता है।
  • इसे सबसे ज्यादा इन्फेक्टेड माना जाता है। यह संपर्क में आने, छींकने या खांसने से फैलताहै।
  • गंदगी और इसके स्रोतों से बचें।
  • सर्दी लगने से परेशान लोगों के संपर्क से बचें। उनकी रोजमर्रा की जरूरी चीजें शेयर करने से बचें।

What are the risk factors in Hindi – कॉमन कोल्ड से खतरे के मुख्य कारक क्या हैं?

कॉमन कोल्ड से खतरे के कारकों के बारे में जानने के लिए नीचे पढ़ें|

  • उम्र: बच्चों को इस वायरस से ज्यादा खतरा होता है। 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में इसके होने की ज्यादा संभावना ज्यादा होती है।
  • इम्युनिटी में कमी: परसिस्टेंट सिंड्रोम प्रतिरक्षा में कमी का कारण हो सकता है। क्योंकि ऑटोइम्यून विकारों के मामले में शरीर अधिक संवेदनशील होता है।
  • सीज़न: लोगों को सर्दियों के दौरान ठंड लगने की संभावना ज्यादा होती है। इस मामले में जलवायु एक महत्वपूर्ण प्रभाव डालती है।
  • धूम्रपान करने वालों के लिए: धूम्रपान करने वालों में सर्दी लगने की संभावना ज्यादा होती है।
  • एक्सपोजर: बीमार लोगों और भीड़-भाड़ वाली जगहों के संपर्क में आने से बचें। यह बंद परिवेश में ज्यादा फैलता है।

What are the symptoms of Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड के लक्षण क्या हैं?

कॉमन कोल्ड के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं।

  • इसके सामान्य लक्षणों में बहती या भरी हुई नाक आदि शामिल हैं। अन्य लक्षण खांसी, शरीर में दर्द, छींकना वगरह हो सकते हैं।
  • इसके साइड इफेक्ट्स में नाक की कैविटी बंद होना शामिल हैं। इससे सिरदर्द, बुखार और थकान हो सकती है।
  • लगातार खाँसी जैसे गंभीर लक्षण निमोनिया में बदल सकते हैं। गले में तेज दर्द होने पर या सांस लेने में तकलीफ हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • यदि आपको 5 दिनों से ज्यादा समय तक बुखार रहता है तो सावधानी बरतें।
  • बच्चों में: शिशुओं में 100.4° ऍफ़ से ज्यादा बुखार होता है तो यह विचार करने वाले लक्षण होते हैं। यदि ये लक्षण लगातार रहते हैं जो उनींदापन या भूख की कमी का कारण बनते हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें।

What is the diagnosis of a common cold in Hindi – इसकी पहचान कैसे होती है?

कॉमन कोल्ड की पहचान निम्नानुसार की जा सकती है।

  • इसकी वजह से ऐसे संकेत और लक्षण हैं जो सामान्य सर्दी से जुड़े होते हैं। यदि यह बैक्टीरियल इन्फेक्शन का मामला है तो इसके लिए छाती की एक्स रे और अन्य टेस्ट्स की जरूरत हो सकती है।
  • आम तौर पर सामान्य सर्दी के संकेतों में बहती नाक, भरी हुई नाक, खाँसी, घरघराहट और शरीर और जोड़ों में दर्द होगा।
  • ऐसे लगातार होने वाले लक्षण निमोनिया में बदल सकते हैं।
  • आम सर्दी अपने प्राकृतिक कोर्स में ही आगे बढती है। ये लक्षण धीरे-धीरे दूर हो जाते हैं| आमतौर पर लोग 7 से 10 दिनों के भीतर ठीक हो जाते हैं। कुछ दुर्लभ मामलों में इसमें ठीक होने के लिए तीन सप्ताह तक का समय लग सकता है।

What are the preventions and control or cure for a common cold in Hindi – इससे रोकथाम और कण्ट्रोल करने के क्या उपाय हैं?

कॉमन कोल्ड के इलाज और इसे फैलने से रोकने के लिए जो उपाय जरूरी हो सकते हैं वे निम्न हो सकते हैं।

  • बाहर से घर लौटने के बाद अपने हाथ और पैर धो लें।
  • दूषित स्रोतों से बचें और जितना हो सके स्ट्रीट फूड से बचें।
  • भीड़-भाड़ वाली जगहों और सर्दी लगे हुए लोगों से बचें।
  • बार बार सैनीटाईजर का उपयोग करें।
  • खाओ, सोओ, ठीक से व्यायाम करो।
  • साफ रहो|

What are the treatment and options for Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड के लिए उपचार के अन्य आप्शन क्या हो सकते हैं?

कॉमन कोल्ड का एलोपैथिक दवा में इलाज ओटीसी मेड है। ओटीसी या काउंटर दवा में ऑर्टिविन जैसे डिकॉन्गेस्टेंट शामिल हैं। यह नाक को सिकोड़ने में मदद कर सकता है। मामूली सिरदर्द को रोकने के लिए डिस्पिरिन जैसे दर्द निवारक भी काउंटर पर मिल जाते हैं। एंटीथिस्टेमाइंस का भी उपयोग किया जा सकता है।

होम्योपैथिक उपचार में घरेलू उपचार शामिल हैं। अदरक का उपयोग जिंजिबरोल के लिए किया जाता है। अन्य उपचारों में गर्म चाय, गर्म दूध, गर्म कॉफी और दही जैसे पेय पदार्थों का उपयोग शामिल है। यह हल्के से मध्यम सिरदर्द से आराम दिलाने में मदद करता है।

बच्चों में, सामान्य सर्दी से लड़ने के लिए आराम और हाइड्रेशन की जरूरत होती है। नमक की गरमी और गर्म स्नान के साथ उचित आहार की जरूरत भी होती है।

What are the lifestyle tips for Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड – लाइफस्टाइल टिप्स

कॉमन कोल्ड के रोगियों के लिए लाइफ स्टाइल टिप्स इस प्रकार हैं।

  • सुक्षजीवों के लिए अपने खतरे को सीमित करें।
  • बीमार लोगों के संपर्क में आने से बचें।
  • पर्याप्त व्यायाम और उचित नींद लें।
  • उचित आहार बनाए रखना जरूरी है। यह शरीर में इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करता है।
  • साफ रहें और हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल अक्सर करें।
  • धूम्रपान ना करें|
  • भीड़ भरे स्थानों या अस्पतालों से बचें।

What is the recommended exercise for Common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड के लिए क्या व्यायाम हैं?

कॉमन कोल्ड के लिए कोई विशेष व्यायाम नहीं हैं। जिसे करने की जरूरत हो| बस नियमित कसरत की जरूरत होती है।

सक्रिय रहना ज्यादा महत्वपूर्ण है। तब ही वायरस पीछे हटेगा| आपका शरीर आम तौर पर अपनी सामान्य स्थिति में लौट आएगा।

What are the interactions with diseases and pregnancy in Hindi – बीमारियों और गर्भावस्था के साथ इसका क्या इंटरेक्शन है?

गर्भवती माताओं को आम तौर पर मौसमी सर्दी आम  होती है। लेकिन काउंटर दवा न लें| भ्रूण पर ऐसी दवाओं के प्रभाव पूरी तरह से मालूम नहीं हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान ऐसी दवाएं लेने से बचना सबसे अच्छा है। सर्दी को स्वाभाविक रूप से चलने दें।

एचआईवी के मरीजों में आम सर्दी कम हो सकती है। जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर से सलाह करें।

What are the common complications of the common cold in Hindi – कॉमन कोल्ड से होने वाली सामान्य मुश्किलें क्या हैं?

  • कॉमन कोल्ड ओटिटिस मीडिया या मध्य कान के इन्फेक्शन का कारण बन सकता है।
  • इससे अस्थमा जैसे श्वसन विकार पैदा हो सकता है।
  • इससे गले में इन्फेक्शन हो सकता है।
  • यह ब्रोंकाइटिस या ब्रोन्कस की सूजन का कारण बन सकता है।
  • गंभीर मामलों में, यह निमोनिया का कारण बन सकता है।
  • यह ब्रोंकियोलाइटिस का कारण बन सकता है।
  • इससे बच्चों में खांसी हो सकती है ।
  • यह रात में अनिद्रा या नींद की कमी पैदा करने में सक्षम है।

FAQs in Hindi – सामान्य प्रश्न

वायरस या बैक्टीरिया के संपर्क में आने के कितने समय बाद सर्दी के लक्षण दिखने लगते हैं?

ये लक्षण सामान्य रूप से 24 से 72 घंटों के भीतर दिखाई देने लगेंगे। लेकिन सर्दी पैदा करने वाला वायरस जल्दी फैलता है। यह इन्फेक्शिएस  भी है। इसलिए सावधानी बरतें।

यदि पहले से ही जुकाम है तो क्या ठंड का मौसम होने से लक्षण बढ़ जाते हैं?

यदि आपको पहले से ही सर्दी लगी है तो आपको बंद और बहती नाक जैसे लक्षण होंगे। लेकिन यह सही नहीं है कि ठंडे देशों में लोदों को सर्दी लगना ज्यादा होता  है। यह आपकी इम्युनिटी और वायरस के संपर्क में आने पर निर्भर करता है।

बार-बार होने वाली सामान्य सर्दी की घटना को कैसे रोकें?

अपने हाथों को अक्सर साबुन और पानी से 20 सेकंड के लिए धोएं और छोटे बच्चों की भी ऐसा करने में मदद करें। यदि साबुन और पानी नहीं है, तो अल्कोहल वाला हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें। सर्दी पैदा करने वाले वायरस आपके हाथों पर रह सकते हैं और नियमित रूप से हाथ धोने से आप बीमार होने से बच सकते हैं।

जुकाम के तुरंत इलाज़ क्या हैं?

सर्दी की तुरंत किये जाने वाले इलाजों में साफ़ रहना, बीमार लोगों के संपर्क से बचना, भोजन और पानी के दूषित स्रोतों से बचना, अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना, सैनिटाइज़र का उपयोग करना आदि शामिल हैं। स्वस्थ आहार बनाए रखें और गर्म पीने वाली चीज़ें लें|

रात के समय ठंड के लक्षण बदतर क्यों हो जाते हैं?

रात में आपके खून में कोर्टिसोल कम होता है। जिस कारण वाइट ब्लड सेल्स इस समय शरीर में इन्फेक्शन का आसानी से पता लगाती हैं और उनसे लड़ते हैं| इसलिए आप रात के दौरान बीमार महसूस करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =