Dalchini for Diabetes in Hindi मधुमेह के लिए दालचीनी: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स  

0
345
Dalchini for Diabetes in Hindi मधुमेह के लिए दालचीनी: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स  

दालचीनी का इस्तेमाल अक्सर खाना पकाने और स्वाद के लिए किया जाता है लेकिन यह मधुमेह के इलाज के लिए भी कारगर है। मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से शरीर में इंसुलिन बनने की क्षमता कम हो जाती है जिसके कारण ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है और कार्बोहाइड्रेट का असामान्य मेटाबोलिज्म होता है। दालचीनी ब्लड शुगर पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव डालती है और रोग का प्रबंधन करने में मदद करती है। वास्तव में वेबएमडी पर प्रकाशित एक शोध में पाया गया है कि दालचीनी कोलेस्ट्रॉल में लगभग 18% और ब्लड शुगर  के स्तर में 24% की कटौती करती है। डायबिटीज के लिए दालचीनी के सभी फायदे निम्न हैं।

Also read: Cloves For Toothache in Hindi

Dalchini for Diabetes Benefits in Hindi – दालचीनी के फायदे

  1. खून पर एंटी- क्लॉटिंग प्रभाव डाले

क्लॉटिंग डायबिटीज का एक खतरनाक लक्षण है। खून में थक्के बनना खराब होता है क्योंकि वे खून की नलियों में रूकावट डालते हैं और दिल के दौरे और स्ट्रोक का कारण बनते हैं। आमतौर पर एंटी-कोगुलंट्स खून को पतला करने के लिए जाना जाता है और खून के थक्के बनने की क्षमता को कम करता है। दालचीनी एंटी-क्लॉटिंग में मदद करती है क्योंकि दालचीनी में पाया जाने वाला कोउमारिन एक प्राकृतिक एंटी- कोगुलंट है।

  1. शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढाये

शरीर में मधुमेह के दौरान खतरनाक इन्फेक्शन होने का खतरा होता है क्योंकि यह एक ऑटोइम्यून सिंड्रोम है। प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और इन्फेक्शन से बचने के लिए आप दालचीनी का सेवन कर सकते हैं। दालचीनी एक इम्यून स्टिमयूलेटर के रूप में काम करता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में और खून में प्लेटलेट के एकत्रीकरण और इंफ्लेमेटरी पदार्थों को रोकने में मदद करता है।

  1. इंसुलिन के प्रतिरोध को कम करे

कुछ अध्ययनों से साबित हुआ है कि दालचीनी इंसुलिन के प्रतिरोध को कम कर सकती है जिससे शरीर को ब्लड शुगर के उच्च स्तर से लड़ने में मदद मिल सकती है।

इंसुलिन एक महत्वपूर्ण हार्मोन है जो मेटाबोलिज्म और ऊर्जा का उपयोग करता है। यह खून के बहाव से ब्लड शुगर को आपकी कोशिकाओं तक ले जाने में भी मदद करता है। लेकिन ज्यादातर लोगों में इससे इंसुलिन प्रतिरोध होता है जहां लोग इंसुलिन के प्रभाव के प्रति प्रतिरोधी होते हैं। यह बदले में मेटाबोलिक सिंड्रोम और टाइप-2 मधुमेह जैसी समस्याओं की ओर जाता है।

दालचीनी जहाँ बचाव करती है क्योंकि यह इंसुलिन की संवेदनशीलता को बढ़ाकर इंसुलिन के प्रतिरोध को कम करता है| यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करता है।

  1. ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करे

ऑक्सीडेटिव तनाव कोशिकाओं को हानि पहुंचाता है जो मधुमेह सहित ज्यादातर बीमारियों से जोड़ा गया है। 26 अलग-अलग जड़ी-बूटियों और मसालों में एंटी-ऑक्सिडेंट गुणों की तुलना करने के लिए वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन में दालचीनी दूसरा सबसे ज्यादा एंटी-ऑक्सिडेंट पाया गया था।

एक अन्य अध्ययन के अनुसार 12 सप्ताह तक रोजाना 500 मि.ग्रा. दालचीनी के अर्क का सेवन करने से पूर्व-मधुमेह वाले वयस्कों में ऑक्सीडेटिव तनाव 14% तक कम हो जाता है

  1. ब्लड शुगर कम करे

शोधकर्ताओं ने पाया है कि हर भोजन के साथ चीनी लेने से भोजन के बाद ब्लड शुगर की संभावना कम हो सकती है।

How to Take Dalchini for Diabetes in Hindi – इसे कैसे लें

  • गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी मिलाएं और गुनगुना होने पर इसे पिएं|
  • दूध में दालचीनी का आधा चम्मच मिलाएं या अपने भोजन पर छिड़कें|
Read more: Aloe Vera Juice For Acidity Uses in Hindi | Cloves During Pregnancy Uses in Hindi

Dalchini for Diabetes Pro tips in Hindi – डायबिटीज के लिए दालचीनी लेते समय एक्सपर्ट टिप्स

  • मधुमेह होने पर प्रतिदिन आधा चम्मच से ज्यादा दालचीनी का सेवन न करें|
  • आप अपने डॉक्टर की सलाह के बिना अपने आहार में कुछ भी शामिल न करें|
  • दालचीनी की अधिकता से जिगर की विषाक्तता हो सकती है इसलिए इसके उपयोग को सीमित करना सबसे अच्छा है।

दालचीनी को खून पतला करने सहित ब्लड शुगर को  कम करने का खतरा हो सकता है। इसे लेने से पहले सलाह लेना सबसे अच्छा है।

Also read: Ajwain For Constipation ke Nuksan | Bhringraj Powder For Hair Growth ke Nuksan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 5 =