डीलानटिन (Dilantin in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

Dilantin fayde nuksan in hindi

डीलानटिन क्या है?

डीलानटिन का प्रयोग मिर्गी को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। डीलानटिन की टैबलेट में सक्रिय घटक के रूप में “फेनोइटिन” होता है|

डीलानटिन का उपयोग

डीलानटिन मिर्गी को ठीक करने के लिए प्रयोग किया जाता है। मिर्गी एक ऐसी स्थिति है जहां बार-बार दौरे पड़ते हैं(फिट बैठते हैं)। डीलानटिन मस्तिष्क की सर्जरी के दौरान या उसके बाद होने वाले दौरे को रोकने में भी मदद करता है।

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: नेटमेड्स 

डीलानटिन कैसे काम करता है

डीलानटिन में सक्रिय घटक के रूप में फेनीटोइन होता है।

डीलानटिन एंटी-कॉनवुलसेंट दवाओं के समूह से संबंधित है। ये दवाएं मस्तिष्क के रसायनों को नियमित रूप से काम करने के लिए जानी जाती हैं जो तंत्रिकाओं को संकेत भेजती हैं ताकि दौरे न हों।

डीलानटिन कैसे लें

डीलानटिन निम्न रूपों में मिलती है –

  • गोलियाँ
  • चबाने योग्य गोलियां
  • कैप्सूल
  • सिरप
  • इंजेक्शन
  • डीलानटिन को भोजन के साथ या बिना भी ले सकते हैं| गैस्ट्रिक समस्या वाले मरीजों को इसे तुरंत भोजन के बाद लेना चाहिए|
  • टैबलेट के रूप में लेने के लिए इसे चबाये, तोड़े या कुचले बिना ढेर सारे तरल पदार्थ के साथ पूरी तरह से निगलें।
  • इसे लेने से पहले सिरप की बोतल को ठीक से हिलाएं और मुंह के द्वारा एक चम्मच नापकर खुराक लें।
  • इंजेक्शन के रूप में इसे एक प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मी द्वारा लिया जाना चाहिए|
  • डॉक्टर की सलाह के बिना इसकी खुराक लंबे समय तक उपयोग न करें।
  • अचानक डीलानटिन लेना बंद नहीं करना चाहिए| इसकी खुराक को पहले धीरे-धीरे कम करना चाहिए और फिर बंद करना चाहिए। अचानक दवा को रोकने से लक्षण दोबारा वापिस आ सकते हैं|
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें|
Read More: crestor benefits in hindidulera benefits in hindienbrel benefits in hindi

भारत में डीलानटिन का मूल्य

156.75 रुपये में 100 मिलीग्राम की 100 कैप्सूल की स्ट्रिप

सामान्य खुराक और डीलानटिन कब लें?

  • डीलानटिन की खुराक और उसे लेने का तरीका रोगी की उम्र और उसकी बीमारी के प्रकार या गंभीरता और प्रारंभिक खुराक पर निर्भर करता है।
  • अच्छे परिणाम पाने के लिए खुराक को धीरे-धीरे डॉक्टर द्वारा कम कर दिया जाता है और सबसे कम खुराक को तब तक बनाए रखा जा सकता है जब तक कि बंद करने की सलाह ना दी जाए|
  • बुजुर्गों, जिगर और गुर्दे की बीमारियों वाले मरीजों में इसके खुराक के समायोजन की आवश्यकता होती है।

डीलानटिन से कब बचें?

डीलानटिन का उपयोग निम्न अवस्थाओं में नहीं किया जाना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक से एलर्जी हो
  • जिगर की खराबी वाले मरीज
  • बुजुर्ग रोगी,
  • मधुमेह
  • उद्वेग (पेटिट मल)
  • लिम्फाडेनोपैथी
  • सिस्टेमिक लुपस एर्य्थ्माटोमस
  • पोरफाइरिया
  • हयपोअलबुमिनेमिया
  • अतिसंवेदनशीलता सिंड्रोम
  • स्टीवंस जॉनसन सिंड्रोम
  • टॉक्सिक एपिडर्मल नेक्रोलिसिस

डीलानटिन के साइड इफेक्ट्स

डीलानटिन से कई दुष्प्रभाव पैदा हो सकते हैं लेकिन वे सभी रोगियों में आम नहीं हो सकते| आम तौर पर देखे गए दुष्प्रभाव निम्न हैं:

  • आलस्य
  • चक्कर आना
  • सरदर्द
  • कमजोरी, चलने पर अस्थिरता,
  • समन्वय या प्रतिक्रियाओं में कमी आना
  • अनुपस्थित उदारता,
  • एकाग्रता या भ्रम की कमी
  • बोलने या अस्पष्ट भाषण में परेशानी
  • अनिद्रा या उदासीनता
  • उल्टी अथवा मितली
  • कब्ज
  • खून बहना
  • दर्दभरे या फूले हुए मसूड़े
  • होंठों की मोटाई सहित चेहरे की विशेषताओं में वृद्धि
  • जोड़ों में दर्द
  • खुजली वाली त्वचा
  • महिलाओं में अत्यधिक बालों का बढना
  • यौन गड़बड़ी जैसे दर्दनाक
  • हाथों या पैरों का झुकाव या धुंधलापन
  • स्वाद में बदलाव।

अंगों पर प्रभाव

जिगर और गुर्दे की बीमारी वाले मरीजों को डीलानटिन को सावधानी से और डॉक्टर की सलाह से लेना  चाहिए।

Read More: entresto benefits in hindiepipen benefits in hindi

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

यदि आपको इसके किसी भी तत्व से एलर्जी हो तो डीलानटिन के साथ एलर्जी के निम्न लक्षण हो सकते हैं:

  • लाल चकत्ते
  • सीने में जकड़न
  • खुजली
  • साँसों की कमी
  • चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन

ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

बड़ी संख्या में दवाओं को एक-दूसरे के साथ प्रभाव डालते देखा गया है। इसलिए यह सलाह दी जाती है कि रोगी को अपने चिकित्सक को सभी दवाइयों या काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के प्रयोग  के बारे में हमेशा सूचित करना चाहिए। डीलानटिन के साथ अन्य दवाओं को लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता लेकिन कुछ निम्न हो सकती हैं:

  • शराब
  • डिसुलफिरम
  • दौरे और आवेगों के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली अन्य दवाएं
  • वॉरफरिन
  • सैलिसिलेट्स और ट्रामडोल
  • बेंज़ोडायज़ेपींस
  • सेडेटिवस, ट्रांकुईलिज़र
  • क्लोज़ापाइन, फेनोथियाज़िन
  • अवसाद का इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाएं
  • कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाएं
  • कोर्टिकोस्टेरोइड
  • सिक्लोस्पोरिन
  • कैंसर विरोधी दवाएं
  • हृदय रोगों का इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाएं
  • कुछ एंटीबायोटिक्स और एंटीफंगल दवाएं
  • आइसोनियाज़िड
  • एंटीरेट्रोवाइरल, एचआईवी संक्रमण के इलाज में उपयोग की जाने वाली दवाएं
  • परजीवी कीड़ों के संक्रमण का इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाएं
  • फुरोसेमीड
  • ओमेपराजोल, सुक्रालफेट और सिमेटाईडीन
  • सामान्य एनेस्थेटिक्स और मांसपेशियों में आराम करने वाले
  • मेथाडोन
  • मिथाइलफेनाडेट
  • सेंट जॉन का पौधा
  • एंटी मधुमेह दवाएं
  • फोलिक एसिड और विटामिन डी जैसे कुछ विटामिन
  • थियोफाइलिइन
  • एस्ट्रोजेन, मौखिक गर्भ निरोधक (जन्म नियंत्रण गोलियां) और हार्मोन प्रतिस्थापन चिकित्सा में उपयोग किया जाने वाला एक हार्मोन

इन सभी दवाओं को डीलानटिन के साथ उपयोग करने से इन दवाइयों के चिकित्सीय प्रभाव को प्रभावित कर सकते हैं और साइड इफेक्ट्स की संभावनाओं को भी बढ़ा सकते हैं।

प्रभाव या परिणाम

डीलानटिन की प्रभावकारिता को निर्धारित करने के लिए आमतौर पर 2 से 3 सप्ताह की प्रतीक्षा की जानी चाहिए|

सामान्य प्रश्न

क्या डीलानटिन नशे की लत है?

इसे नशे की लत होने की कोई सूचना नहीं है।

क्या शराब के साथ डीलानटिन ले सकते हैं?

शराब के साथ डीलानटिन लेने से साइड इफेक्ट्स का खतरा बढ़ सकता है और अत्यधिक उनींदापन और अशांति हो सकती है इसलिए डीलानटिन लेने के दौरान शराब का उपयोग ना करें|

क्या किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ लेने से कोई बदलाव नहीं देखा गया।

क्या गर्भवती होने पर डीलानटिन ले सकते हैं?

गर्भावस्था में सावधानी के साथ डीलानटिन का उपयोग करना चाहिए क्योंकि इसका भ्रूण पर प्रतिकूल प्रभाव दिखाई देता है। डीलानटिन नवजात शिशुओं में विसंगतियों का कारण बन सकता है और अन्य हानिकारक दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है| यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर को सूचित करें।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान डीलानटिन ले सकते हैं?

महिलाओं को स्तनपान कराने के दौरान डीलानटिन का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि यह दवा स्तन के दूध में गुजर सकती है और बच्चे पर घातक प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है।

क्या डीलानटिन लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

डीलानटिन लेने के बाद कुछ रोगियों में उनींदापन, चक्कर आना या सिरदर्द आदि हो सकते हैं। इसलिए  भारी मशीनरी या वाहन चलाने के दौरान मरीजों को डीलानटिन का सावधानी से उपयोग करना चाहिए।

यदि डीलानटिन को अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा नहीं लेना चाहिए। दवा अधिक मात्रा में लेने से या बार बार लेने से  आपके लक्षणों में सुधार नहीं होगा। अधिक मात्रा में इसे लेने से सुस्ती, उदासीनता, मांसपेशी में कठोरता, उच्च हृदय गति, बेहद कम रक्तचाप हो सकते हैं जिससे बेहोशी हो सकती है।

यदि एक्सपायरी हो चुकी डीलानटिन खाएं तो क्या होगा?

ऐसी दवा कभी काम नहीं कर सकती इसलिए अपने चिकित्सक को इसके बारे में सूचना दें| सुरक्षित रहने के लिए हमेशा एक्सपायरी दवा की जांच करें और कभी भी इसका उपयोग न करें।

यदि डीलानटिन की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

यदि आपको इसकी खुराक लेनी याद ना रहे तो यह दवा अच्छी तरह से काम नहीं कर सकती क्योंकि दवा के प्रभावी रूप से काम करने के लिए आपके शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा मौजूद होनी चाहिए। इसलिए जैसे ही आपको याद आये  अपनी भूली हुई खुराक का उपयोग करें। लेकिन यदि  अगली खुराक का पहले से ही समय हो गया हो तो दोगुनी खुराक न लें|

भंडारण

इसे कमरे के तापमान पर सीधी गर्मी और प्रकाश से बचाकर रखें|

बच्चों और पालतू जानवरों से इस दवा को दूर रखें।

डीलानटिन लेते समय टिप्स

अचानक ही डीलानटिन के उपयोग बंद नहीं करना चाहिए। इससे लक्षण बिगड़ सकते हैं| इसे मुंह द्वारा लेने के लिए कम मात्रा में लेना चाहिए|

शरीर में लगातार डीलानटिन के स्तर को बनाए रखने के लिए इसे रोजाना एक ही समय पर लेना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + 10 =