Fenugreek During Pregnancy in Hindi गर्भावस्था के दौरान मेथी: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स  

0
478
Fenugreek During Pregnancy in Hindi गर्भावस्था के दौरान मेथी: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स  

मेथी एक हानिरहित खाद्य पदार्थ है लेकिन गर्भावस्था के दौरान आप जो खाते हैं उसके बारे में आपको अतिरिक्त सतर्क रहना चाहिए।

Fenugreek During Pregnancy Benefits in Hindi – गर्भावस्था के दौरान मेथी खाने के कुछ फायदे इस प्रकार हैं:

  1. गर्भकालीन मधुमेह को रोकता है:

मेथी ब्लड शुगर के स्तर को नियमित करने के लिए जाना जाता है और यह गर्भावस्था के समय मधुमेह होने से रोकती है। पर्यावरण और विकासात्मक विष विज्ञान अनुसंधान प्रयोगशाला, प्राणी विज्ञान विभाग, यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ साइंस, मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर द्वारा लिखे गये एक शोध पत्र में गर्भ और स्तनपान के दौरान मेथी और लहसुन की भूमिका की पूरी तरह से चर्चा की गई है।

  1. प्रसव को आरामदायक बनाए

ज्यादातर महिलाओं को लंबे समय तक प्रसव पीड़ा के बारे में सोचकर दर लगता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एडवांस्ड बायोलॉजिकल एंड बायोमेडिकल रिसर्च में प्रकाशित एक शोध बताता है कि मेथी का सेवन संकुचन को प्रेरित करता है और प्रसव को आसान बनाता है।

  1. स्तनपान को बढ़ावा दे

यह देखा गया है कि जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान मेथी का सेवन करती हैं, उनके स्तन के दूध के बनने में सुधार होता है। टेक्सास टेक यूनिवर्सिटी हेल्थ साइंसेज सेंटर द्वारा किए गए दूध उत्पादन के लिए मेथी के प्रभाव पर एक अध्ययन यह सुझाव देता है कि मेथी सिंथेसिस को नियंत्रित करती है।

  1. स्तन के बढने में मदद करे

गर्भावस्था में हार्मोनल उतार-चढ़ाव कभी-कभी स्तन के बढने वृद्धि का कारण बनता है। बायोजेनेसिस रिसर्च ग्रुप, एग्रेरियन साइंसेज फैकल्टी, यूनिवर्सिटी ऑफ एंटिओक्विया, मेडेलिन, कोलम्बिया के एक अध्ययन के अनुसार मेथी में गैलेक्टोगॉग्स तत्व होते हैं और स्तनों के बढने की ओर जाता है।

Read more: Lemon For Cold के फायदे | Garlic For Diabetes के नुकसान

Fenugreek During Pregnancy Safety in Hindi – क्या मेथी का सेवन करना सुरक्षित है?

कई अन्य खाद्य पदार्थों की तरह मेथी खाने के लिए सुरक्षित है लेकिन केवल मध्यम मात्रा में। इसे ज्यादा  लेने से कुछ मामूली दुष्प्रभाव हो सकते हैं। उनमें से कुछ नीचे चर्चा कर रहे हैं:

  1. गर्भपात का खतरा

गर्भावस्था में मेथी का सेवन संकुचन का कारण बन सकता है। इस कारण प्रसव और गर्भपात भी हो सकता है।

  1. अपच

मेथी के नियमित रूप से लेने से मतली, सूजन या दस्त भी हो सकते हैं।

  1. एलर्जी करे

गर्भावस्था के दौरान मेथी में हाइपरसेंसिटिव प्रतिक्रियाएं होती हैं। यह नाक में जमाव, सूजन, खांसी और घरघराहट का कारण हो सकता है।

How to Use Fenugreek During Pregnancy in Hindi – उपयोग करने के तरीके

गर्भावस्था के दौरान अपने दैनिक आहार में मेथी को शामिल करने के कुछ आसान और मजेदार तरीके यहां बताये गए हैं।

  • एक चम्मच मेथी के बीज को रात भर भिगो दें। ज्यादा लाभ उठाने के लिए सुबह शंखपुष्पी पियें।
  • आप केवल पानी के साथ भी मेथी के बीज निगल सकते हैं।
  • पालक और सलाद के साथ मेथी के पत्तों का सलाद बनाकर लेने से पेट हल्का और ताज़ा करें|
  • इसे ब्रेड स्प्रेड की तरह इस्तेमाल करें! मेथी के दानों को पानी में हल्दी के साथ उबालें। इसका पेस्ट बना लें| टोस्ट या अंडे के साथ इसका मजा लें।
  • गले में खराश और सर्दी से राहत पाने के लिए, गर्म दूध में सौंफ के बीज, मेथी के बीज, धनिया पाउडर और हल्दी को मिलाकर इसका सेवन करें।
Read more: Mustard Oil For Weight Loss Uses in Hindi

Fenugreek During Pregnancy Pro tips in Hindi – एक्सपर्ट टिप्स

दिल्ली की एक पोषण विशेषज्ञ डॉ. रेणु शर्मा का कहना है कि मेथी लेना सुरक्षित माना जाता है बशर्ते कि इसे मॉडरेशन में लिया जाए। मेथी में ब्लड शुगर के स्तर को कम करने की क्षमता होती है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह संकुचन को प्रेरित करती है। अपने आहार में कोई भी बदलाव करने से पहले यह तय करें  कि आप स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें|

Read more: Guduchi For Weight Loss ke Nuksan | Is Honey Acidic ke Nuksan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × four =