Gandhak Rasayan in Hindi गंधक रसायन: लाभ, उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स

Skip to Content

Gandhak Rasayan ke fayde in Hindi

Gandhak Rasayan in Hindi-गंधक रासयन क्या है?

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) एक शक्तिशाली आयुर्वेदिक दवा है जिसका आधार शुद्ध या डिटॉक्सिफाइड सल्फर नाम का खनिज है। यह प्रमुख तत्व के रूप में हर्बल जूस के साथ प्रोसेस होता है। गंधक रसायन एक बहुमुखी दवा है और जिसमे शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं| इसलिए इसका व्यापक प्रभाव पड़ता है जो ढेरों बीमारियों का इलाज करता है।


Gandhak Rasayan Benefits in Hindi-गंधक रासयन के लाभ

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसके विभिन्न स्वास्थ्य लाभ हैं। यह जलन को राहत देने में मदद करता है, पिंपल्स को रोकता है और प्रजनन संबंधी समस्याओं का इलाज करता है| गन्धक रसायन के कुछ सबसे महत्वपूर्ण लाभ देखें:

जलन से आराम दिलाता है

गंधक रसायन स्वास्थ्य की ऐसी स्थिति के लिए अद्भुत काम करता है जहां जलन होती है। इसलिए इससे यूरिनरी ट्रैक्ट के इन्फेक्शन, हाथ और पैर का जलना, त्वचा में खुजली, जीभ जलना आदि से जुड़ी बीमारियों का प्रभावी ढंग से उपचार किया जा सकता है।

हाइव्स और एंजियोडेमा का इलाज़ करे

एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण त्वचा की सतह पर छोटे लाल धब्बे होते हैं जो खुजली और जलन का कारण बनते हैं। गंधक रसायन इनसे बचाव करता है। लेकिन यह अपने आप काम नहीं करता और इसे जसद भस्म और हरिद्रा खंड के साथ मिलकर लेना चाहिए। बदतर हो चुटी एलर्जी प्रतिक्रिया के लिए इसमें गिलोय सत्व, मोती पिष्टी, प्रवाल पिष्टी को मिलाया जा सकता है।

स्केबीज़

खुजली और चकत्ते से संबंधित स्केबीज़ का इलाज गंधक रसायन से ही किया जा सकता है। लेकिन इन्फेक्शन के इलाज के लिए नीम के तेल और हल्दी के पेस्ट को लगाने की भी जरूरत होती है।

फोड़ा फुंसी

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) में खून को साफ़ करने वाले गुण होते हैं। यह रुकावटों को दूर करता है और इन्फ़ेक्तिओन्स बढने से रोकता है। शंख भस्म और पिष्टी के साथ इसका प्रयोग किया जाता है, गंधक रसायन मुँहासे और फुंसियों से छुटकारा पाने में मदद करता है।

दांतों और मसूड़ों की समस्याओं का इलाज करता है

गंधक रसायन पायरिया, दर्दनाक मसूड़ों और मसूड़ों की सूजन और पीरियोडोंटाइटिस के इलाज के लिए भी प्रभावी है।

रेस्पिरेट्री विकार से लड़े

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) के एंटी-बैक्टीरियल गुण श्वसन प्रणाली के बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण सांस लेने की समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं। यह दवा ऊपरी श्वसन पथ के इन्फेक्शन के साथ-साथ राइनो-साइनसिस का भी इलाज करती है।

पुरुषों में प्रजनन संबंधी समस्याओं का इलाज करता है

कभी-कभी सेमिनल तरल पदार्थ में पस बनने के कारण ऑलिगोस्पर्मिया या बांझपन का कारण हो सकता है। गंधक रसायन इस पुरुष समस्या का प्रभावी ढंग से इलाज करता है।

और पढो:  हिमालया बोनिसन |हिमालया ईवकेयर सिरपहिमालय गैसेक्स

Gandhak Rasayan Uses in Hindi-गंधक रसायन के उपयोग

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) में मानव शरीर के लिए असंख्य उपयोग हैं। नीचे गंधक रसायन के विभिन्न उपयोगों को देखें:

एंटी-बैक्टीरियल

गंधक रसायन में महान एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं इसका मतलब है कि यह शरीर में हानिकारक बैक्टीरिया के बढने को दबा सकता है। यह हानिकारक बीमारियों और सूक्ष्मजीवों से दूर रखता है।

एंटी-वायरल

एंटी-वायरल होने के कारण गंधक रसायन शरीर में वायरल इन्फेक्शन के बढने को रोकने में मदद करता है।

एंटी-इंफ्लेमेटरी

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो विभिन्न समस्याओं के कारण होने वाले दर्द और सूजन से आराम देते हैं।

कामोद्दीपक

गंधक रसायन में कामोत्तेजक गुण होते हैं जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन जैसे यौन प्रजनन की समस्याओं को संबोधित करते हैं।

एंटी-पायरेटिक

इसमें एंटी-पायरेटिक गुण होते हैं जो नियमित रूप से लेने पर दर्द और सूजन से आराम मिलने देने में मदद मिलती है।

और पढो: द्राक्षासवग्लूकोज-डीहिमालया अमालाकी

How to use Gandhak Rasayan in Hindi-गंधक रसायन का उपयोग कैसे करें

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) एक महान आयुर्वेदिक दवा है जो कई स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा दिलाती है। इसे दिन में 2 ग्रा. से ज्यादा नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

क्या गंधक रसायन भोजन से पहले या बाद में ली जा सकती है?

आम तौर से गंधक रसायन भोजन के बाद ही ली जाती है। लेकिन अलग अलग व्यक्तियों की अलग-अलग जरूरतें होती हैं इसलिए इसे लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूरी लेनी चाहिए।

क्या गंधक रसायन को खाली पेट लिया जा सकता है?

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) लेने के बारे में डॉक्टर की सलाह लेना  उचित है।

क्या गंधक रसायन को पानी के साथ लिया जा सकता है?

हां, गंधक रसायन को पानी के साथ लिया जा सकता है।


Gandhak Rasayan Dosage in Hindi-गंधक रसायन: खुराक

विभिन्न व्यक्तियों के लिए गंधक रसायन की खुराक अलग होती है। इसलिए अलग अलग स्थितियों और आयु समूहों के लिए इसकी जरूरी खुराक देखें:

  • सप्लीमेंट खुराक – 125 से 250 मि.ग्रा.
  • चिकित्सीय खुराक – 125 से 1000 ग्रा.
  • सबसे सुरक्षित खुराक – 125 से 500 मि.ग्रा.
  • अधिकतम दैनिक खुराक – 2 ग्रा. तक
  • 5 साल तक के बच्चे 250 मि.ग्रा. हर रोज़
  • 5 से 12 वर्ष की आयु 250 मि.ग्रा. – विभाजित खुराक में हर रोज़ 1 ग्रा.
  • वयस्क 1 से 3 ग्रा. हर रोज़ विभाजित खुराक में

Gandhak Rasayan Side-Effects in Hindi-गंधक रसायन के साइड इफ़ेक्ट

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) को 3 ग्रा. से ज्यादा लेने से दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे:

लूज़ मोशन

गंधक रसायन को ज्यादा लेने से ढीला मल और पेट खराब हो सकता है। इसलिए हमेशा जरूरी मात्रा में गंधक रसायन का उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

सूजन

जरूरी मात्रा में गंधक रसायन लेने से सूजन और पेट में ऐंठन हो सकती है।


Harmful Interactions of Gandhak Rasayan in Hindi-गंधक रासयन से हानिकारक इंटरेक्शन

यदि आप पहले से ही कुछ दवाएं ले रहे हैं तो गंधक रसायन लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।


Precautions and Warnings of Gandhak Rasayan in Hindi-गंधक रासयन से सावधानी और चेतावनी

क्या गंधक रसायन को लेने से पहले इसे लिया जा सकता है?

यदि आप गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) ले रहे हैं और इससे आपको  उनींदापन, चक्कर आना, हाइपोटेंशन या सिरदर्द हो रहा  है तो गाड़ी चलाने से पहले गंधक रसायन नहीं लेना चाहिए।

क्या गंधक रसायन  के साथ शराब ली जा सकती है?

नहीं, गंधक रसायन को शराब लेते समय नहीं लेना चाहिए।

क्या गंधक रसायन की लत लग सकती है?

नहीं, गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) की लत नहीं लगती|

क्या गंधक रसायन मदहोश कर सकता है?

यदि इसे लिया जाता है तो गंधक रसायन उनींदेपन का कारण बन सकता है।

क्या गंधक रसायन को ज्यादा मात्रा में ले सकते हैं?

गंधक रसायन को ज्यादा मात्रा में नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे ढीले मल, पेट में ऐंठन और सूजन।


Important Questions About Gandhak Rasayan in Hindi-महत्वपूर्ण सवाल जवाब

त्वचा की जलन के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उपचार क्या है?

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) त्वचा पर होने वाली जलन को ठीक करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सबसे विश्वसनीय आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में से एक है। यह त्वचा को प्रभावित करने वाले विकारों के उपचार में उपयोगी एक लोकप्रिय ब्लड प्योरिफायर है। लेकिन इस दवा को लेने से पहले किसी योग्य आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। अन्य आयुर्वेदिक उपचार जैसे कि एलो वेरा का उपयोग स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से किया जा सकता है।

क्या विटिलिगो (ल्यूकोडर्मा) का कोई इलाज है?

विटिलिगो (ल्यूकोडर्मा) का इलाज आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों की मदद से किया जा सकता है। इस स्थिति को कण्ट्रोल करने और खून की गुणवत्ता में सुधार करने में सहायक कुछ उपाय हैं गंधक रसायन, नवकर्णिक चूर्ण, रिकुमिन जेल, और मंजिष्ठा कैप्सूल।

गंधक रासयन किससे बना है?

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) को गाय के दूध, डिटॉक्सिफाईड घी, गिलोय, हरीतकी, आंवला, विभीत्की, अदरक और भृंगराज से बनाया जाता है।

स्टोरेज

इसे सीधी धूप से दूर एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करने की सलाह दी जाती है।

अपनी हालत में सुधार देखने के लिए मुझे कितने समय तक गंधक रसायन का उपयोग करने की जरूरत होती है?

स्थिति में सुधार के लिए गंधक रसायन को कितने समय तक लेना चाहिए यह जानने के लिए स्वास्थ्य देखभाल चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

गंधक रसायन को दिन में कितनी बार लेने की जरूरत है?

एक दिन में 2 ग्रा. से ज्यादा गंधक रसायन नहीं लेना चाहिए। एक दिन में कितनी बार इसे लिया जाना चाहिए यह जानने के लिए आयुर्वेद विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए।

क्या गंधक रसायन का स्तनपान पर कोई प्रभाव पड़ता है?

स्तनपान करते समय गंधक रसायन लेने से बचना चाहिए।

क्या गंधक रसायन बच्चों के लिए सुरक्षित है?

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) बच्चों को जरूरी खुराक में दिया जा सकता है।

क्या गंधक रसायन का गर्भावस्था पर कोई प्रभाव पड़ता है?

गर्भावस्था में गंधक रसायन न लेने की सलाह दी जाती है।


Buyer’s Guide in Hind-खरीदने के लिए गाइड – मूल्य और कहाँ से खरीदें

आप 1ऍमजी ऑफ़र और मेडलाइफ ऑफ़र का लाभ उठाकर गंधक रसायन खरीद सकते हैं।

डाबर गंधक रसायन (40 गोलियां)

मूल्य:

129 रूपए

बैद्यनाथ गंधक रसायन (40 गोलियाँ)

मूल्य:

81 रूपए


Best Brands to buy in Hindi-ब्रांड जो गंधक रसायन बेचते हैं

  • डाबर
  • बैद्यनाथ
  • झंडु
  • तनसुख
  • उंझा

Research on Gandhak Rasayan in Hindi-गंधक रसायन पर शोध

गंधक रसायन(Gandhak Rasayan) एक एंटी-वायरल एजेंट के रूप में काम करता है जो शरीर के विभिन्न वायरल इन्फेक्शन से बचाता है। एक अध्ययन में कहा गया है कि गंधक रसायन में एंटी-फंगल गुण होते हैं जो विभिन्न रोग पैदा करने वाले एजेंटों से शारीरिक कोशिकाओं की रक्षा करते हैं।


 

📢 Hungry for more deals? Visit CashKaro stores for best cashback deals & online products to save up to ₹15,000 per month. Download the app - Android & iOS to get free ₹25 bonus Cashback!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + eighteen =