Gokshuradi Guggulu in Hindi गोक्षुरादि गुग्गुलु: लाभ, उपयोग, खुराक, दुष्प्रभाव, मूल्य

0
91205

Table of Contents

What is Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु क्या है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) एक फूल वाला पौधा है जो उत्तरी अफ्रीका, मध्य एशिया और उत्तरी भारत के कई हिस्सों में पाया जाता है। इस पौधे की पत्तियां ट्राइफोलिएट होती हैं और झाड़ी की शाखाएं कांटेदार होती हैं। यह जननांग प्रणाली और मूत्र पथ को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह आयुर्वेदिक दवा शरीर से विषाक्त पदार्थों को खत्म करती है और गुर्दे को दोबारा जीवित करती है।

Check out this article in English - Gokshuradi Guggulu in English

Health Benefits of Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु के स्वास्थ्य लाभ

गुर्दे की पथरी का इलाज़

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) में ऐसे गुण होते हैं जो गुर्दे की पथरी को तोड़ने या उनके आकार को कम करने के लिए कहे जाते हैं ताकि स्वस्थ मूत्र पथ को बनाए रखने में मदद मिल सके।

मूत्र के  बहाव को स्वस्थ करे

यह जीवाणुरोधी गुणों के साथ मूत्र के स्वस्थ प्रवाह को बनाए रखता है और पेशाब करते समय होने वाली जलन को भी कम करता है।

प्रजनन प्रणाली स्वस्थ रखे

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) में स्पर्म के बनने और ओवुलेशन बढ़ाने के लिए जाना जाता है। यदि आप बांझपन की समस्याओं से गुजर रहे हैं तो यह फायदेमंद है| यह शुक्राणुओं की गुणवत्ता में भी सुधार करता है।

मोटापा घटाए

यह एक प्राकृतिक डियूरेटिक है जो मोटापे को ठीक करने के लिए उपयोगी है। यह ताकत को बढ़ाता है फैट को कम करता है।

जोड़ों के दर्द में आराम दे

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)मांसपेशियों को आराम देने में सहायक है। यह जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द को कम करने में उतना ही फायदेमंद है।

मासिक धर्म चक्र को नियमित करे

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)को मासिक धर्म चक्र को नियमित करने के लिए जाना जाता है क्योंकि यह एक यूरिन को उत्तेजित करता है। यह पीकोड और पीकॉस को भी ठीक करता है।

वाइट डिस्चार्ज

यह प्रजनन प्रणाली को स्वस्थ रखने में मदद करता है| यह महिलाओं में वाइट डिस्चार्ज को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

टिश्यू को डिटॉक्सिफाई करता है

त्रिफला के गुणों से युक्त यह आयुर्वेदिक दवा हमारे शरीर में टिश्यूओं को डिटॉक्स करने और उन्हें फिर से जीवित करने में भी अत्यधिक उपयोगी है।

बवासीर

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के साथ गोक्षुरादि गुग्गुलु का उपयोग बवासीर और फिस्टुला को ठीक करने के लिए किया जाता है।

कोलेस्ट्रोल

गुग्गुलु के गुण कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए जाने जाते हैं और ये खून के बहाव को भी कण्ट्रोल करता है।

बिस्तर गीला करने की समस्या

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)मूत्र की समस्याओं को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है जो बदले में बिस्तर गीला करने की समस्याओं में मदद करता है।

गाल ब्लैडर की पथरी कम करे

गुग्गुलु में मौजूद गुण पित्ताशय की पथरी के बनने को रोकने और मूत्र पथ को स्वस्थ रखते हुए उनके आकार को कम करने के लिए जाने जाते हैं|

गठिया का इलाज़ करे

गठिया के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर इसका इस्तेमाल किया जाता है| यह तीव्र गठिया का इलाज करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।

प्रोस्टेट के आकार को बनाए रखता है

गोक्षुरादि गुग्गुलु प्रोस्टेट के आकार और कामकाज को बनाए रखने में मदद करता है।


Uses of Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु के उपयोग

एंटी गाउट

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) शरीर में यूरिक एसिड के लेवल को सामान्य को बनाए रखने में मदद करता है इसलिए गाउट के कारण होने वाले जोड़ों के दर्द को कम करता है।

एनाल्जेसिक एंटीहाइपरटेंसिव

गोक्षुरादि गुग्गुलु एक डियूरेटिक के रूप में काम करता है और शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसलिए उच्च रक्तचाप और गुर्दे की विफलता से पैदा होने वाले वाटर रिटेनशन और विकारों को रोकने में मदद करता है।

एंटीलिथिएटिक

यह मूत्र प्रणाली के कामों को नियमित करने और गुर्दे को दोबारा जीवित करता है| यह आयुर्वेदिक पदार्थ मूत्र करते समय जलन को दूर करने में मदद करता है। यह मूत्र के बहाव को भी कण्ट्रोल करता है और मूत्र पथ के इन्फेक्शन और गुर्दे की पथरी में मदद करता है।

एंटीइंफ्लेमेटरी

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) प्रोस्टेट के स्वास्थ्य ग्रंथि की सूजन को रोकता है। यह प्रोस्टेट के बढने को रोकने के साथ साथ  मूत्राशय के खाली होने को भी तय करता है।

मांसपेशियों, हड्डी और जोड़ों में आराम

गोक्षुरादि गुग्गुलु को ऑस्टियो-आर्थराइटिस के लिए भी प्रयोग किया जाता है। यह मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता है और तरल पदार्थ के बनने में सुधार करता है जो वजन बढ़ाने वाले जोड़ों को मजबूत करता है।


How To Use Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु का उपयोग कैसे करें?

डॉक्टर के पर्चे के आधार पर इसकी 1 से 2 गोलियां दिन में 2 से 3 बार ली जा सकती हैं। यह आम तौर पर आपकी स्थिति के आधार पर मुश्ता, पशनबहेडा, उशीरा या कुछ अन्य आयुर्वेदिक तत्वों के पानी के काढ़े के साथ लिया जाता है।

1. क्या इसे भोजन से पहले या बाद में लिया जा सकता है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) को पानी के साथ या दूध के पहले और बाद में लिया जा सकता है|

2. क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु को खाली पेट लिया जा सकता है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु को भोजन से पहले लिया जा सकता है, लेकिन इसका सेवन कैसे करें इस बारे में अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें|

3. क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु को पानी के साथ लिया जा सकता है?

हां, गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)का सेवन पानी के साथ किया जा सकता है।


Gokshuradi Guggulu Dosage in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु की खुराक

डॉक्टर द्वारा निर्देश दिए जाने के बाद आप गोक्षुरादि गुग्गुलु की खुराक ले सकते हैं। आम तौर पर इसकी 1 टैबलेट सुबह और 1 टैबलेट शाम को ली जा सकती है। इस दवा को 3 ग्रा. से ज्यादा न लें। लेकिन डॉक्टर सलाह दे तो आप सुबह और शाम 2 गोलियां ले सकते हैं।

Read more: gokshura in hindi | hamdard rooh afza

Side Effects of Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु के साइड इफेक्ट्स

रक्तस्राव का कारण हो सकता है: सर्जरी से कम से कम 2 सप्ताह पहले गोक्षुरादि गुग्गुलु को लेने से बचना चाहिए क्योंकि इससे सर्जरी के दौरान और बाद में रक्तस्राव का खतरा बढ़ सकता है। यह रक्तस्राव विकारों वाले लोगों में रक्त के थक्के बनने को धीमा भी कर सकता है।

गैस्ट्रिक जलन: इसकी बहुत ज्यादा खुराक लेने से पेट में दर्द, सिरदर्द, मतली, त्वचा पर चकत्ते, खुजली, हिचकी और दस्त हो सकते हैं।

उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले रोगियों में लक्षण खराब हो सकते हैं: यह उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए उचित नहीं है क्योंकि गुग्गुल शरीर में एस्ट्रोजन को कम कर सकता है और कुछ स्थितियों के बिगड़ने का कारण हो सकता है। थायरॉयड स्थिति वाले लोगों को भी इसके उपयोग से बचना चाहिए।

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताएं इससे बचें: गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को इसे लेने  से बचना चाहिए या इसे डॉक्टर की सलाह से ही लेना चाहिए क्योंकि यह दवा मासिक धर्म के बहाव को बढाने के लिए जानी जाती है।


Harmful Interactions of Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु की हानिकारक इंटरेक्शन

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)कुछ दवाओं के साथ आपस में क्रिया कर सकता है। यदि आप गोक्षुरादि गुग्गुलु का उपयोग शुरू करने से पहले कोई दवा ले रहे हैं तो डॉक्टर से सलाह करना सबसे अच्छा है।


Precautions And Warnings Of Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु लेते समय सावधानियां और चेतावनी

क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु का सेवन ड्राइविंग से पहले कर सकते हैं?

हां, ड्राइविंग से पहले इस का सेवन किया जा सकता है।

क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु का सेवन शराब के साथ किया जा सकता है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) को गुनगुने पानी या दूध के साथ चिकित्सीय देखरेख में लेना चाहिए। इसका सेवन कभी भी शराब के साथ नहीं करना चाहिए।

क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु नशे की लत है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु नशे की लत नहीं है। लेकिन इस दवा को खुद लेने से बचना चाहिए|

क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु मदहोश कर सकता है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu)कुछ लोगों को चक्कर दे सकता है। अपने स्वास्थ्य और शरीर की स्थिति के आधार पर अपने चिकित्सक से इसे लेना सबसे अच्छा है। इस दवा को लेते समय मशीनरी चलाने से बचें क्योंकि इससे आपको उनींदापन महसूस हो सकता है।

क्या गोक्षुरादि गुग्गुलु को अधिक मात्रा में ले सकते हैं?

इस दवा को तय की गयी खुराक से ज्यादा लेने से गंभीर दुष्प्रभाव और विषाक्तता हो सकती है। ऐसे मामले में सीधे डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। इस दवा को किसी ऐसे व्यक्ति को बताने से भी बचना चाहिए जिसके बारे में आपको लगता है कि इसके समान स्वास्थ्य स्थितियाँ हो सकती हैं।

Important Questions About Gokshuradi Guggulu Answered in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु के बारे में महत्वपूर्ण प्रश्न

यह किससे बना है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु के तत्व हैं:

  • गोक्षुरा की जड़
  • मुश्ता की जड़
  • गुग्गुलु की राल
  • विभीतकी का फल
  • हरितकी का फल
  • काली मिर्च
  • पिप्पली का फल
  • आमलकी का फल

भंडारण

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) को कमरे के तापमान पर एक एयरटाइट ग्लास या चीनी मिट्टी के बरतन कंटेनर में रखना चाहिए। इसे गर्मी और धूप से दूर रखना चाहिए और जब तक जरूरी न हो तब तक रखे रहना चाहिए। इस दवा को फेकने के लिए इसे फ्लश नहीं करना चाहिए। इसे बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए।

अपनी हालत में सुधार देखने तक मुझे गोक्षुरादि गुग्गुलु का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?

इस दवा के उपयोग के समय को जानने के लिए एक योग्य स्वास्थ्य चिकित्सक से सलाह लें| विभिन्न स्थितियों के इलाज की समय अवधि अलग होती है।

गोक्षुरादि गुग्गुलु को दिन में कितनी बार लेने की जरूरत है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) का सेवन दिन में दो बार किया जाता है। इसकी खुराक डॉक्टर के सुझाव के आधार पर अलग हो सकती है।

क्या इससे स्तनपान पर कोई प्रभाव पड़ता है?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को गोक्षुरादि गुग्गुलु का सेवन नहीं करना चाहिए। यदि बिल्कुल जरूरी हो तो इसे मेडिकल सुपरविज़न के तहत लेना चाहिए।

क्या यह बच्चों के लिए सुरक्षित है?

नहीं। गोक्षुरादि गुग्गुलु बच्चों को नहीं देना चाहिए।

क्या इसका गर्भावस्था पर कोई प्रभाव पड़ता है?

गर्भवती महिलाओं को गोक्षुरादि गुग्गुलु नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे मासिक धर्म को बढ़ावा मिलता है।

क्या इसमें चीनी होती है?

गोक्षुरादि गुग्गुलु(gokshuradi guggulu) की रस गुण यानि जीभ पर इसका स्वाद कसैला और तीखा होने के साथ मीठा भी हो जाता है। लेकिन इसमें चीनी नहीं हो सकती।

गुर्दे की पथरी से आराम पाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली विभिन्न आयुर्वेदिक दवाएं क्या हैं?

कई आयुर्वेदिक दवाएं हैं जो गुर्दे की पथरी के इलाज़ के लिए तय की गयी हैं। इनमें से कुछ में चंदनादि चूर्ण, चंदनासव, पुन्नारवृष्टि, पंच तृणमूल कषाय, वंगा भस्म, चन्द्रप्रभा वटी, गोक्षुरादि गुग्गलु और बृहदादि कषायम शामिल हैं।

यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करने के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा कौन सी है?

यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के लिए किशोर गुग्गुलु, पुनर्नवा गुग्गुलु, गोक्षुरादि गुग्गुलु और अमृतसरी गुग्गुलु जैसी आयुर्वेदिक दवाओं का उपयोग किया जा सकता है।

क्या गोक्षुरा प्रोस्टेटाइटिस को कम करने में मदद करता है?

हां, यह प्रोस्टेटाइटिस के इलाज़ के लिए बेहद उपयोगी है। लेकिन अच्छे परिणामों के लिए इसे चंद्रप्रभा वटी के साथ लेना चाहिए।


Buyers Guide, Price and Where to Buy Gokshuradi Guggulu in Hindi – खरीदने के लिए गाइड – मूल्य और गोक्षुरादि गुग्गुलु कहाँ से खरीदें

विशिष्ट तथ्यगोक्षुरादि गुग्गुलु मूल्य
जैन गोक्षुरादि गुग्गुलु – 80 गोलियाँ (2 का पैक)220 रुपये
डाबर गोक्षुरादि गुग्गुलु – 40 गोलियाँ (2 का पैक)130 रूपए
कपिवा गोक्षुरादि गुग्गुलु – 80 गोलियाँ162 रूपए
नागार्जुन हर्बल केयर गोक्षुरादि गुग्गुलु – 60 गोलियाँ210 रूपए
श्री श्री तत्वा गोक्षुरादि गुग्गुलु 500 मिलीग्राम – 30 गोलियाँ50 रूपए

गोक्षुरादि गुग्गुलु कहाँ से खरीदें?

कुछ पॉपुलर ब्रांड्स


Research on Gokshuradi Guggulu in Hindi – गोक्षुरादि गुग्गुलु पर शोध

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ फ़ार्मास्यूटिकल रिसर्च एंड एनालिसिस ने गोक्षुरादि गुग्गुलु के फार्माकोग्नॉस्टिक एंड फाइटोकेमिकल इवैल्यूएशन को पब्लिश किया जिसने यह नतीजा निकाला कि यह पॉलीहर्बल आयुर्वेदिक फार्मूला मधुमेह के प्रबंधन के लिए प्रभावी है। यह गुर्दे के स्वास्थ्य और मधुमेह के कारण होने वाली अन्य कठिनाइयों को भी सपोर्ट करता है।

Read more: elaichi in hindielaichi powder in hindi | ghee in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + 11 =