Grapefruit in Hindi ग्रेपफ्रूट और ग्रेपफ्रूट के रस के 10 लोकप्रिय स्वास्थ्य लाभ: कैलोरी और पोषण

0
252
Grapefruit in Hindi ग्रेपफ्रूट और ग्रेपफ्रूट के रस के 10 लोकप्रिय स्वास्थ्य लाभ: कैलोरी और पोषण

यदि आप मीठे के शौक़ीन हैं लेकिन अपना अतिरिक्त वजन कम करना चाहते हैं तो यहां आपके लिए कुछ अच्छी खबर है! क्या आप जानते हैं कि ग्रेपफ्रूट(Grapefruit) खाने से वजन कम करने में मदद मिल  सकती है| यह साइट्रस फल कड़वे से मीठा तक होता है और इसके कई प्रभावशाली स्वास्थ्य के लाभ होते हैं जिन्हें आप नहीं जानते|

Buy & Save from: Zopnow |  BigBasket Coupon Code

Grapefruit in Hindi – ग्रेपफ्रूट क्या है?

ग्रेपफ्रूट एक हाइब्रिड है जो दो प्रजातियों मीठी नारंगी और पोमेलो के अचानक क्रॉस होने के कारण पैदा हुआ था। यह अम्लीय फल पीले, गुलाबी और लाल रंगों में पाया जाता है। ग्रेपफ्रूट का रस, छिलका और लुगदी भी शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए पोषक लाभ देते हैं| कैलोरी कम करने और  वजन घटाने के लिए ग्रेपफ्रूट का सुरक्षित रूप से प्रयोग किया जा सकता है। ये साइट्रस फल पोषक तत्वों से भरे हुए हैं और विटामिन का एक उच्च स्रोत हैं। एक दिन में ग्रेपफ्रूट के रस का एक गिलास एकदम सही है!

Grapefruit Useful Information in Hindi – ग्रेपफ्रूट के बारे में उपयोगी जानकारी

  • ग्रेपफ्रूट को वनस्पति विज्ञान में एक बेरी के रूप में जाना जाता है।
  • इसे ग्रेपफ्रूट के रूप में नामित किया गया क्योंकि यह ग्रेपफ्रूट के गुच्छे की तरह बढ़ता है।
  • ग्रेपफ्रूट के 100 ग्रा. में विटामिन-सी की दैनिक खुराक का लगभग 60% है।
  • सत्तरवीं सदी के आसपास एशिया में ग्रेपफ्रूट का परिचय दिया गया था।
  • यह अन्य यौगिकों के साथ मिलाकर देने पर फैट के प्रतिशत को कम करने में मदद मिल सकती है।
  • ग्रेपफ्रूट को एलर्जी दवाओं के साथ नहीं मिला सकते|

Grapefruit Benefits in Hindi – ग्रेपफ्रूट के लाभ

  1. वजन घटाने में मदद करे

ग्रेपफ्रूट एक चमत्कारी फल है जो वजन घटाने में सहायता करता है। यह मात्र 52 कैलोरी वाला  फल अपने आहार में शामिल करने के लिए एक अविश्वसनीय रूप से स्वस्थ भोजन है। यह विटामिन-सी और विटामिन-ए का भरपूर स्रोत है जो आपके शरीर को पोषण प्रदान करता है। इसमें 92% पानी होने के कारण इसका सेवन करने से आप भरा हुआ महसूस करने में मदद मिलती है जो बदले में वजन कम करने में मदद करता है।

  1. प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे

ग्रेपफ्रूट उन फलों में से एक है जो विटामिन-सी का भरपूर होता है। इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट्स की बहुत ही उच्च मात्रा होती है जो शरीर को हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस से बचाने में मदद करती है। ग्रेपफ्रूट में विटामिन-ए होने से यह सूजन और अन्य संक्रामक बीमारियों से लड़ने के लिए बहुत ही लाभदायक है। इसलिए बीमारियों के प्रति प्रतिरक्षा का समर्थन करने के लिए और  स्वस्थ रहने के लिए हर रोज़ ग्रेपफ्रूट का सेवन करना चाहिए।

  1. खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करे

ग्रेपफ्रूट विटामिन-सी का एक भरपूर स्रोत है जिसमें एंटी-ऑक्सीडेंट का स्तर उच्च होता है। ये प्राकृतिक यौगिक जब आप अपने आहार में हर दिन लेते हैं तो खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिल सकती है।

लाल ग्रेपफ्रूट को खराब एल.डी.एल कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है जो धमनियों को ढक सकता है।

  1. कैंसर के खतरे को कम करे

इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि ग्रेपफ्रूट एक जादुई फल है! यह विभिन्न विटामिन और खनिजों से  भरपूर है जो मानव शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार कैंसर की कोशिकाओं को बढने से रोकने, नुक्सान हुए डी.एन.ए की मरम्मत में मदद करता है। यह बदले में कैंसर के विकास के खतरे को कम करने में मदद करता है, विशेष रूप से प्रोस्टेट और पंक्रिआटिक   कैंसर।

वर्ष 2013 में “साइट्रस फ्रूट सेवन और स्तन कैंसर जोखिम: एक मात्रात्मक व्यवस्थित समीक्षा” नामक एक अध्ययन के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रीय पुस्तकालय चिकित्सा में प्रकाशित जेजू नेशनल यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन साबित करता है कि साइट्रस फल कैंसर के खतरे को कम करने में मदद कर सकते हैं|

ग्रेपफ्रूट में मौजूद फाइबर का नियमित रूप से सेवन करने पर कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा रुक जाता है।

  1. घावों को जल्दी भरे

विटामिन-सी उन पदार्थों में से एक है जो ऊतकों के स्वस्थ उपचार में सहायक होता है। यह नयी खून की नलियों के विकास को भी बढ़ावा देता है| आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले हरेक ग्रेपफ्रूट में लगभग 72 मि.ग्रा. विटामिन-सी होता है जो विटामिन-सी की दैनिक खुराक का 120% होता है।

इसलिए ग्रेपफ्रूट के रस का एक गिलास या कच्चे ग्रेपफ्रूट का सेवन करने से आपको घावों के बाद सर्जरी से ठीक होने में मदद मिलती है|

  1. ब्लड शुगर का स्तर बनाए रखे

हर रोज एक ग्रेपफ्रूट लेने से इंसुलिन के प्रतिरोध को रोकने में मदद मिलती है जो मधुमेह का कारण बन सकती है। ग्रेपफ्रूट विटामिन और खनिजों में भरपूर है जो ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं। ब्लड शुगर के उच्च स्तर का परिणाम टाइप-2 डायबिटीज हो सकता है|

अमेरिकी वयस्कों में अटलांटा में रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र, हृदय रोग और स्ट्रोक रोकथाम के लिए डिवीजन द्वारा 2011 में प्रकाशित “अमेरिकी वयस्कों के बीच सोडियम और पोटेशियम सेवन और तीसरे राष्ट्रीय स्वास्थ्य और पोषण परीक्षा सर्वेक्षण से संभावित डेटा” के एक अध्ययन ने साबित किया कि पोटेशियम के उच्च स्तर से उच्च रक्तचाप के खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

  1. दिल के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे

ग्रेपफ्रूट विटामिन और खनिजों से भरपूर होता है जो दिल के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए जरूरी होता है। इसमें पोटेशियम और फाइबर जैसे खनिज होते हैं जो दिल को स्वस्थ रखने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। ग्रेपफ्रूट को पर्याप्त मात्रा में लेने से हृदय रोग से संबंधित खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

पोषण विज्ञान विभाग, पर्ड्यू विश्वविद्यालय, 2013 में वेस्ट लाफायेट विभाग द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन से साबित होता है कि पोटेशियम एक ऐसा पदार्थ है जो स्ट्रोक और कोरोनरी हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करता है।

चूंकि ग्रेपफ्रूट में पोटेशियम का एक अच्छा स्तर होता है और यह आपकी दैनिक पोटेशियम की जरूरतों का लगभग 5% प्रदान करता है और यह दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।

  1. शरीर को हाइड्रेट करे

ग्रेपफ्रूट एक चमत्कारी फल है जो कुल वजन का लगभग 88% है। मध्यम आकार के हर आधे ग्रेपफ्रूट में लगभग 118 मि.ली. पानी मौजूद होता है। यदि लंबे समय तक अपने आप को हाइड्रेटेड रखना चाहते हैं तो हर दिन एक ताजा ग्रेपफ्रूट लेना चाहिए|

  1. भूख नियंत्रण में रखे

ग्रेपफ्रूट में फाइबर होता है जो लंबे समय तक आपको भरा हुआ रखने में मदद करता है। मध्यम आकार के ग्रेपफ्रूट के आधे हिस्से में लगभग 2 ग्रा. फाइबर होता है। हर रोज़ ग्रेपफ्रूट का सेवन करने से आपको भरा हुआ रहने में मदद मिलती है और आप बदले में कम खाते हैं|

फाइबर एक ऐसा पदार्थ है जो पाचन दर धीमा करता है और भरे हुए होने की भावना को बढ़ाता है।

  1. रक्तचाप कम करे

मानव शरीर में पोटेशियम के निचले स्तर के कारण रक्तचाप बढ़ जाता है। ग्रेपफ्रूट में पोटेशियम का स्तर ज्यादा होता है जो उच्च रक्तचाप के खतरे को कम करने में मदद मिलती है। यह पोटेशियम की दैनिक खुराक के लिए सबसे शक्तिशाली फलों में से एक है। इसमें मौजूद पोटेशियम के उच्च स्तर से उच्च रक्तचाप के खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

Grapefruit Nutritional Value in Hindi – ग्रेपफ्रूट का पौष्टिक मूल्य

  • विटामिन-सी – 59%
  • पैंटोथेनिक-एसिड – 7%
  • कॉपर – 7%
  • विटामिन-ए – 7%
  • कॉपर- 5%
  • फाइबर- 4%
  • बायोटिन- 4%
  • पोटेशियम- 4%
  • विटामिन-बी – 14%

ग्रेपफ्रूट की यह पोषण सामग्री आधे मध्यम आकार के ग्रेपफ्रूट में 128 ग्रा. होती है। ऐसा कहा जाता है कि हर दिन ग्रेपफ्रूट का सेवन करने से विटामिन-सी 132%, विटामिन-ए का 43%, कैल्शियम का 5% और 3% मैग्नीशियम मिलता है। लेकिन ग्रेपफ्रूट की छोटी सी मात्रा में अन्य कई सहायक विटामिन और खनिज मौजूद होते हैं:

  • विटामिन-ई
  • थियामाईन
  • राइबोफ्लेविन
  • नियासिन
  • फास्फोरस
  • मैंगनीज
  • जस्ता
  • फोलेट

ग्रेपफ्रूट को रोजाना लेने से यह जरूरी पोषक तत्व आपके शरीर को स्वस्थ बना देते हैं|

Grapefruit Risks and Precautions in Hindi – ग्रेपफ्रूट लेते समय खतरे या सावधानियां

  • लिंग के टेढ़ेपन के दोष की दवा लेने के दौरान ग्रेपफ्रूट हानिकारक हो सकता है।
  • यह कैंसर के घावों के प्रभाव को बढ़ा सकता है।
  • ग्रेपफ्रूट को एक बड़ी मात्रा लेने से हार्मोन के स्तर को बढावा मिलता है।
  • ये सामान्य दवाओं के साथ प्रभाव डाल सकते हैं।
  • किडनी की पथरी के बनने को रोकता है|

How to Use Grapefruit in Hindi – ग्रेपफ्रूट का उपयोग कैसे करें?

ग्रेपफ्रूट विभिन्न रंगों में मिलता है लेकिन सबसे अच्छा ढूँढना कभी-कभी परेशानी का कारण बन जाता है। सबसे अच्छा ग्रेपफ्रूट खोजने के लिए यहां एक हैक है! एक पका हुआ ग्रेपफ्रूट कई रंगों में से मिलता है। आपको यह देखना होगा कि फल मोटा और भारी है या नहीं। ग्रेपफ्रूट को थोड़ा निचोड़ कर देखें कि क्या यह मजबूत है। यदि आप जानना चाहते हैं कि ग्रेपफ्रूट का उपयोग कैसे करें तो नीचे देखें।

  1. मेरिनेडस

ग्रेपफ्रूट का रस रोज़ लेने से ऊब गए हों तो ग्रेपफ्रूट के रस को लहसुन, अयस्क, थाइम, काली मिर्च, सोया सॉस और सिलेंटर जैसे सीजन के साथ मिलाकर एक ताजा मेरिनेडस का एक अद्भुत ग्लास बन सके।

  1. सलाद

ग्रेपफ्रूट के सलाद का एक अच्छा सा कटोरा बनाकर खाएं और स्वस्थ हो जाएँ! इस सलाद में  सलाद, थाइम, शतावरी, ब्रोकोली और कटा हुआ ग्रेपफ्रूट मिलाएं| नमक और काली मिर्च के साथ ग्रेपफ्रूट का सलाद तैयार है!

  1. स्मूदी

एक कटोरे में कुछ ताजा ग्रेपफ्रूट का रस और दूध डालें| कुछ वेनिला आइसक्रीम और पुदीने के पत्ते मिलाकर इसमें व्हिस्की मिलाएं| आपकी स्मूदी तैयार है।

  1. आइस पॉपस

एक बर्फ की ट्रे में ताजा तैयार किये गये ग्रेपफ्रूट का रस डालें| इसे कुछ घंटों तक फ्रीज करें और जब भी आपको कुछ मीठा खाने का मन हो तो मुंह में बर्फ के क्यूब्स को रखें|

Grapefruit Fun Facts in Hindi – ग्रेपफ्रूट के बारे में मजेदार तथ्य

  • कभी ग्रेपफ्रूट को “निषिद्ध फल” कहा जाता था।
  • फरवरी को संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रीय ग्रेपफ्रूट के महीने के रूप में जाना जाता है।
  • ग्रेपफ्रूट के पेड़ 25 से 30 फीट तक लम्बे हो सकते हैं।
  • इन साइट्रिक फलों को बारबाडोस के सात आश्चर्यों में से एक के रूप में जाना जाता है।
  • एक ग्रेपफ्रूट का पेड़ लगभग 1500 फल पैदा कर सकता है।
  • ग्रेपफ्रूट शब्द जमैका किसान ने आविष्कार किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 − 1 =