पिस्ता के 15 अद्भुत फायदे (Benefits of Pista Pistachio in Hindi)

pistake fayde nuksan benefits side effects in hindi

पिस्ता क्या है?

पिस्ता दुनिया भर में सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला खाद्य पदार्थ है| पिस्ता अनाकार्डियासी परिवार के पिस्तासिया जीनस से संबंधित माना जाता हैं। पिस्ता के पेड़ को अपनी पहली उपज देने के लिए के लिए 10-12 साल का लम्बा समय लगता है। इसका खाने योग्य हिस्सा इसके फल के बीच में एक बीज के रूप में होता है। पिस्ता पूरे साल ही उपलब्ध रहता है|

पिस्ता के पौष्टिक मूल्य

पिस्ता का बीज पोषक तत्वों और फाइबर आहार का स्त्रोत है| इन छोटे मेवों में लगभग सभी आवश्यक विटामिन, खनिज, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और जरूरी फैटी एसिड होते हैं। अन्य सूखे मेवों की तुलना में पिस्ता में फैट और कैलोरी की मात्रा कम होती है। इनमे अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स, फाइटोस्टेरॉल और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं जैसे कि ओमेगा-6, लिनोलेइक फैटी एसिड और गामा लिनोलेनिक एसिड की कम मात्रा।

Also Read About: meve|khajoor|badam

खनिज पदार्थ युक्त

  • फास्फोरस
  • पोटैशियम
  • कैल्शियम
  • आयरन
  • कॉपर
  • सोडियम
  • जिंक
  • मैगनीशियम
  • विटामिन सामग्री
  • थायमिन
  • राइबोफ्लेविन
  • बीटा कैरोटीन
  • पैंटोथैनिक एसिड
  • नियासिन
  • फोलेट
  • विटामिन ए, बी 6, सी, ई, और के

पिस्ता के कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण के लाभ

कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर की वजह से हृदय रोग होता है| कोलंबिया विश्वविद्यालय में सर्जरी के प्रोफेसर और “डॉ ओज़ शो” के लिए छह बार एमी पुरस्कार विजेता डॉ. मेहमेट ओज़ का दावा है कि पिस्ता में स्वस्थ फैट काफी मात्रा में होता हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर नियंत्रण रखने में मदद करता है|

मधुमेह नियंत्रण में सहयोगी

मधुमेह को रोकने के लिए भी पिस्ता अच्छा होता है। एक ईरानी अध्ययन के अनुसार, पिस्ता का सेवन मधुमेह रोगियों में ग्लाइसेमिक स्तर, रक्तचाप, सूजन और यहां तक ​​कि मोटापे पर भी सकारात्मक रूप से प्रभाव डालता है।

पुरुषों की योनेच्छा में सुधार करे

तुर्की के अंकारा में अतातुर्क टीचिंग एंड रिसर्च अस्पताल द्वारा किए गए अध्ययनों के अनुसार, इस बात का समर्थन किया गया है कि पिस्ता एक एफ़्रोडायसियस के रूप में काम करता है,  इसकी वजह से अंतराष्ट्रीय स्तर पर नपुंसकता कम करने पर महत्वपूर्ण वृद्धि हुई है।

वजन पर नियंत्रण

पिस्ता में अत्यधिक मात्रा में फाइबर होता है जोकि किसी व्यक्ति को लंबे समय तक भरे पेट रखने के लिए काफी होता है| अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया, सैक्रामेंटो में एक आंतरिक चिकित्सा व्यवसायी डॉ थॉमस डब्ल्यू हॉपकिंस के अनुसार, पिस्ता वजन प्रबंधन कार्यक्रम का एक पूर्ण प्रमाण है|

पाचन में सहायता

पिस्ता फाइबर सामग्री से भरा होता है इसलिए पाचन समस्याओं को ठीक करने में भी यह मदद करता है| एक औंस पिस्ता में लगभग 3 ग्राम तक फाइबर आहार होता है।

कैंसर से रोकथाम

पोषण सम्बन्धी परामर्श में 20 से अधिक वर्षों का अनुभव रखने वाले पोषण और डायटेटिक्स विशेषज्ञ डोरिन रोडो के अनुसार  पिस्ता में मौजूद सेलेनियम कैंसर को रोकने में मदद करता है। उन्होंने 49 दाने या 1 औंस पिस्ता लेने की भी  सलाह दी है।

डर्माटाइटिस का इलाज

एक प्रसिद्ध प्राकृतिक तंत्रिका विकृति चिकित्सक माइकल टी.मुरे एनडी  के अनुसार  पिस्ता में ओलेनॉलिक एसिड होते हैं, जोकि एक एंटी-इंफ्लैमेटरी यौगिक है जो ल्यूकोट्रियन बी 4 जिसकी वजह से सूजन होती है, के उत्पादन को दबा देता है, जिसकी वजह त्वचा रोग से निजात मिलती है।

पीलिया का इलाज

हाल के एक अध्ययन में माइकल टी. मुरे एनडी ने जॉर्डनियन लोक औषधि द्वारा किए गए दावों को प्रमाणित करते हुए बताया कि जो लोग पिस्ता का सेवन करते हैं, उनमे एंजाइमों की जिगर को खराब करने वाली हानिकारक गतिविधि जो पीलिया का कारण होती है, के स्तर को कम होते पाया गया है|

सूजन से मुकाबला

आर्थराइटिस फाउंडेशन के अनुसार, पिस्ता में मोनो सैचुरेटेड फैट और प्रोटीन होता है जो सूजन का मुकाबला कर सकता है और चिकित्सकीय उपयोग के लिए भी शक्ति प्रदान करता है|

आंखों के स्वास्थ्य में सुधार

पिस्ता में ल्यूटिन, ज़ीएक्सैंथिन और जिंक होते हैं जो आंखों के स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं।

मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ावा

पिस्ता मस्तिष्क आवृत्तियों को उत्तेजित करके मस्तिष्क की सूजन को रोक सकता हैं। इसके अलावा कैंसर विरोधी दवाओं के सेवन के कारण मस्तिष्क में होने वाली गड़बड़ी को रोकने में भी पिस्ता की मुख्य भूमिका है।

पिस्ता में मौजूद विटामिन ई उम्र बढने के लिए जिम्मेदार संज्ञानात्मक अपघटन को रोकने में सहायक होते हैं|

प्रतिरक्षा प्रणाली में वृद्धि

पिस्ता में पाए जाने वाले विटामिन बी 6 और जिंक प्रतिरक्षा में वृद्धि करने में सहायक है|

एस्ट्रोजन का स्तर बढाये

पिस्ता में निहित फाइटोस्ट्रोजेन एस्ट्रोजेन के स्तर को बढ़ा सकते हैं जिसकी वजह से  मासिक धर्म चक्र और यौन विशेषताओं को नियमित करने में मदद मिलती है।

स्तनपान और गर्भावस्था में सहायक

पोषक तत्वों से भरपूर पिस्ता गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान फायदेमंद हो सकते हैं।

बुढापा विरोधी

पिस्ता में पाया जाने वाला विटामिन ई हानिकारक यू.वी. किरणों से त्वचा की रक्षा करता है और समय से पहले उम्र बढ़ने से बचाता है। पिस्ता में मौजूद कॉपर त्वचा की झुर्रियों और बालों के गिरने से बचाव करता है| इसमें मौजूद विटामिन बी 6 की वजह से त्वचा और बालों में काफी हद तक वृद्धि होती देखी गयी है|

Also Read About: kismis|khubani|akhrot

पिस्ता का भंडारण

आप रसोई की अलमारियों में सील बैग में पिस्ता भंडार कर सकते हैं। ज्यादा लम्बे समय के भंडारण के लिए इसको वायुरोधी डिब्बों में रखा जाना चाहिए या फ्रिज या किसी भी ठंडे भंडारण कंटेनर में रखा जाना चाहिए।

पिस्ता की खुराक: कितना सुरक्षित है?

एक या दो मुट्ठी (1.5 औंस-3 औंस प्रति दिन)

पिस्ता के संभावित नुक्सान

  • वजन बढ़ना
  • भुने हुए पिस्ते की वजह से उच्च रक्तचाप
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकार जैसेकि कब्ज, दस्त और पेट फूलना

कहाँ से खरीदें

आप शुद्ध और 100% प्राकृतिक पिस्ता खरीद सकते हैं और इनका उपयोग करके पैसे भी बचा सकते हैं:

  पिस्ता बेचने वाले प्रमुख ब्रांडस

  • हप्पिलो
  • बोर्जेस
  • ग्लोनट्स
  • गौर्मिया
  • बरटीन्स
  • 133 ब्रांड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − four =