ibuprofen fayde nuksan in hindi

इबुप्रोफेन क्या है?

इबुप्रोफेन एक एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा है जो दर्द, बुखार सूजन के संकेतों जैसे सूजन और लाली को कम कर देता है।

इबुप्रोफेन का उपयोग

इबुप्रोफेन की गोलियां दर्द से छुटकारा पाने, सूजन को कम करने और जोड़ों, मांसपेशियों और टेंडन को प्रभावित करने वाली स्थितियों में होने वाली सूजन को कम करती हैं|जैसे:

  • संधिशोथ
  • पुराना ऑस्टियआर्थराइटिस
  • तीव्र गठिया
  • एंकिलोज़िंग स्पोंडिलिटिस
  • पीठ दर्द
  • मोच और तनाव
  • नरम ऊतकों की चोटें
  • विस्थापन
  • हड्डी टूटना
  • टेंडोनिटिस
  • बर्साइटिस
  • दांत का दर्द
  • मांसपेशियों का दर्द
  • मासिक धर्म की अवधि में होने वाला दर्द
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: 1 एमजी

इबुप्रोफेन कैसे काम करता है?

इबुप्रोफेन एक दर्दनाशक है जो एंजाइम के बनने को रोकने का काम करता है जिसे साइक्लो-ऑक्सीजनेज कहा जाता है जो प्रोस्टाग्लैंडिन के संश्लेषण में मदद करता है।

शरीर में प्रोस्टाग्लैंडिन का संश्लेषण दर्द, बुखार, सूजन जैसे लक्षणों से जुड़ा होता है। इसलिए इबुप्रोफेन प्रोस्टाग्लैंडिन के संश्लेषण को रोककर सभी लक्षणों (दर्द, सूजन आदि) में रहत देने में सहायता करता है।

भारत में इबुप्रोफेन का मूल्य

31.95 रुपये में 12 गोलियों की स्ट्रिप

 और पढो: ज़िलोरिक टैबलेट |  एमोक्सिसिलिन

इबुप्रोफेन कैसे लें

इबुप्रोफेन 2 रूपों में मिलती है – 200 मि.ग्रा. की गोलियाँ और सिरप

  • इबुप्रोफेन सिरप- इसे उपयोग करने से पहले अच्छी तरह से बोतल को हिला लें| नापने वाले चम्मच का उपयोग करके इसकी खुराक को नापें|
  • इबुप्रोफेन की गोलियों को पूरी तरह से निगलकर लेना चाहिए नाकि तोड़कर, कुचलकर या चबाकर| इन गोलियों को भोजन के बाद तरल पदार्थ के साथ लेना चाहिए।

इबुप्रोफेन की सामान्य खुराक

इस दवा की खुराक डॉक्टर द्वारा निम्न बैटन को ध्यान में रखकर तय की जाती है:

रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति और चिकित्सा की स्थिति

लक्षणों की गंभीरता

पहली खुराक लेने पर प्रतिक्रिया

एलर्जी और दवा प्रतिक्रियाओं का इतिहास

इबुप्रोफेन की गोलियों और निलंबन को दिन में दो या तीन बार डॉक्टर के निर्देशिद्वारा लिया जाता है।

12 साल से कम उम्र के बच्चों को इसे देने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

डॉक्टर से पूछे बिना इसकी खुराक को लंबे समय तक उपयोग न करें।

इबुप्रोफेन से कब बचें?

  • यदि आपको इन दवाओं से एलर्जी है तो इबुप्रोफेन लेने की सलाह नहीं दी जाती| ऐसे मामलों में अस्थमा और खुजली जैसी गंभीर एलर्जी की स्थिति हो सकती है।
  • पेप्टिक अल्सर-पेप्टिक अल्सर से पीड़ित मरीजों में इबुप्रोफेन पेट, कोलन और गुदा में गंभीर सूजन और खून बहने का कारण हो सकती है।
  • इबुप्रोफेन का जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित नवजात बच्चों को नहीं देना चाहिए।
  • अस्थमा से पीड़ित मरीज
  • जिगर के गंभीर रोग से पीड़ित मरीज
  • किडनी के गंभीर रोग से पीड़ित मरीज

इबुप्रोफेन के दुष्प्रभाव

सभी दवाओं के कुछ दुष्प्रभाव होते हैं। लेकिन सभी में ये दुष्प्रभाव संभव नहीं होते| यदि आपको लगे कि आपको भी निम्न में से कोई भी प्रभाव है तो डॉक्टर से सलाह लें-

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • भूख में कमी
  • पेट में दर्द
  • पेट फूलना
  • कब्ज
  • दिल जला
  • दस्त
  • शुष्क मुँह
  • त्वचा के लाल चकत्ते
  • रूखी त्वचा
  • सरदर्द
  • चक्कर आना
 और पढो: डॉक्सीसाइक्लिनमोमेट क्रीममोनोसेफ

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

इससे होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाएं इस प्रकार हैं-

  • त्वचा पर चकत्ते
  • सांस फूलना
  • चेहरे या गर्दन की त्वचा पर विघटन
  • दिल की अनियमित धड़कन
  • चेहरे, गर्दन पर सूजन
  • बेहोशी

अंगों पर प्रभाव

यदि पहले से मौजूद जिगर का रोग हो तो ऐसे मरीजों को सावधानी से और डॉक्टर की देखरेख में इस दवा का उपयोग करना चाहिए।

पेट में अल्सर होने की स्थिति में यह पेट या आंत से होने वाले गंभीर रक्तस्राव का कारण हो सकता है।

दवा इंटरेक्शन के बारे में सावधानी

बड़ी संख्या में दवाओं को एक दूसरे पर प्रभाव डालते देखा गया है| इसलिए रोगी को अपने चिकित्सक को सभी दवाओं और काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के इस्तेमाल के बारे में जरूर सूचित करना चाहिए।

आपको उन हर्बल उत्पादों के बारे में भी सूचित करना चाहिए जिन्हें आप नियमित रूप से ले रहे हैं। अपने डॉक्टर की मंजूरी के बिना दवा की खुराक में कोई बदलाव न करें।

सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता इसलिए इबुप्रोफेन के साथ प्रभाव डालने वाली कुछ सामान्य दवाओं में निम्न भी शामिल हैं-

  • ए.सी.ई अवरोधक
  • एल्डोस्टेरोन विरोधी
  • एलेनड्रोनेट
  • अमीलोरिड
  • एस्पिरिन
  • बीटा अवरोधक
  • ब्रिमोनिडीन
  • कैल्सीनुरिन अवरोधक
  • कैप्टोप्रिल
  • क्लोपीडोग्रेल
  • कोर्टीकोस्टेरोइडस
  • साइक्लोस्पोरिन
  • डालटेप्रिन
  • डाईक्लोफेनाक
  • इनोक्सापरिन
  • फ्लूकोनाज़ोल, कटाकोनाजोल
  • हेपरिन
  • आइबूप्रोफेन
  • लिथियम
  • पाश मूत्रल
  • मथोट्रेक्सेट
  • फेनिंडीन
  • पोटैशियम
  • प्रोस्टाग्लैंडिन अनुरूपताएं
  • रिफैम्पिसिन
  • टेक्रोलिमस
  • थियाजाइड मूत्रवर्धक
  • ट्रियामटेरेन
  • वारफरिन

प्रभाव और परिणाम

यह रोगी की खुराक, उसकी उम्र और समस्या की गंभीरता पर निर्भर करता है।

यह 30 से 60 मिनट में ही अपना पूरा प्रभाव दिखने लगता है फिर धीरे-धीरे दर्द से आराम दिलाता है|

सामान्य प्रश्न

क्या यह दवा नशे की लत है?

इस दवा के आदत बनने की सूचना नहीं है|

क्या शराब के साथ इबुप्रोफेन ले सकते हैं? 

इस दवा का उपयोग करने के दौरान शराब का दैनिक उपयोग करने से पेट में रक्तस्राव का जोखिम बढ़ सकता है।

क्या किसी विशेष खाद्य पदार्थ को लेने से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य पदार्थ के साथ इसे लेने से कोई प्रभाव नही देखा गया|

क्या गर्भवती होने पर इबुप्रोफेन ले सकते हैं?

यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें| गर्भावस्था के पहले और तीसरे चरण के दौरान इसका उपयोग करने से यह भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान इबुप्रोफेन लेने से बचना चाहिए|

क्या स्तनपान के दौरान इबुप्रोफेन ले सकते हैं?

स्तनपान कराने वाली माताओं को इबुप्रोफेन का सावधानी से प्रयोग करना चाहिए|इसकाउपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें|

क्या इबुप्रोफेन लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

इबुप्रोफेन लेने की वजह से चक्कर आना, सिरदर्द, उनींदापन और हल्का सिरदर्द जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं| ऐसे मरीजों को ड्राइव करने से बचना चाहिए।

यदि इबुप्रोफेन अधिक मात्रा में ली जाए तो क्या होगा?

तय की गयी मात्रा से अधिक लेने से इसके हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं और इसके साइड इफेक्ट्स भी बढ़ सकते हैं| जिनमे मतली, उल्टी, पेट की खराबी, आदि प्रमुख है| अधिक मात्रा में इसे लेने की अवस्था में अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें|

यदि एक्सपायरी हो चुकी इबुप्रोफेन खाएं तो क्या होगा?

एक्सक्स्पिरी हो चुकी दवा लेने से हमेशा बचना चाहिए| यदि आपने गलती से ले भी ली हो और आपको कोई असुविधा महसूस हो रही हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ| आपके इलाज में एक्सपायरी हो चुकी दवा उतनी ही शक्तिशाली नहीं होगी इसलिए एक्सपायरी दवा के उपयोग से  बचना चाहिए|

यदि इबुप्रोफेन की खुराक लेनी याद न रहे तो क्या होगा?

यदि आपको खुराक लेनी याद न रहे तो दवा अच्छी तरह से काम नहीं कर सकती है क्योंकि दवा के प्रभावी काम के लिए, आपके शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा मौजूद होनी चाहिए। जैसे ही आपको याद आती है, हमेशा मिस्ड खुराक का उपभोग करें। लेकिन, अगर उसके बाद दूसरी खुराक लेने का समय पहले से ही है – डबल खुराक न लें।

भंडारण

  • इसे कमरे के तापमान पर प्रकाश और नमी से बचाकर रखें|
  • इसे फ्रिज में नहीं रखते|

टिप्स:

  • यदि आपको सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमैटोसस हो|
  • यदि आपको पहले से ही पेप्टिक अल्सर हो तो इसे सतर्कता से इस्तेमाल करें|

यह क्योंकि पेट या आंत में खून बहने का कारण बन सकता है, तो एन.एस.एड्स. को केवल न्यूनतम खुराक पर और सबसे कम समय के लिए निर्धारित किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + twelve =