Is Garlic Acidic in Hindi क्या लहसुन एसिडिक है? क्या लहसुन एसिडिटी में मदद करता है? 

जब भोजन बहुत मसालेदार और नमकीन होता है तो आप असुविधा और सीने की जलन का अनुभव करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कच्चा लहसुन खाने से आप मौजूदा एसिडिटी से छुटकारा पा सकते हैं। लहसुन भारतीय रसोई में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले मसालों में से एक है जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। यह पाचन तंत्र में अच्छे और बुरे बैक्टीरिया को संतुलित करके  पाचन क्रिया में सुधार करता है। वास्तव में, एविटेना जर्नल ऑफ फाइटोमेडिसिन में प्रकाशित कई अध्ययनों में लहसुन के एंटी-माइक्रोबियल गुणों का वर्णन किया गया है। एसिडिटी के लिए कच्चे लहसुन के फायदे इस प्रकार हैं:

Also read: Is Turmeric Acidic in Hindi

Garlic for Acidity Benefits in Hindi – एसिडिटी के लिए लहसुन के फायदे

यह एक प्राकृतिक एंटी-बैक्टीरियल होने के कारण एह.पाइलोरी बैक्टीरिया को मारता है जोकि सीने की जलन के 90% मामलों का कारण होता है। लेकिन सीने की जलन के दौरान लहसुन ना लेने की सलाह दिए जाने वाले खाद्य पदार्थों में से एक नहीं है। वास्तव में यह उन खाद्य पदार्थों में से एक है जिन्हें लेने से बचा जाता है क्योंकि इससे एसिडिटी बढ़ सकती है। लेकिन यदि इसे दवा के रूप में लिया जाता है तो यह सीने की जलन को कम करने में मदद करता है।

Read more: Fenugreek During Pregnancy के फायदे

How to Take Garlic for Acidity in Hindi – एसिडिटी के लिए लहसुन कैसे लें

एसिडिटी के लक्षणों में सीने में जलन, पेट में दर्द और बेचैनी हो सकती है। इन सभी को कच्चे लहसुन की कलियों के सेवन से कम किया जा सकता है। यहाँ एसिडिटी के लिए लहसुन लेने का तरीका बताया गया है:

  • ताजा लहसुन के बल्ब खरीदें|
  • इसे छीलकर कलियों को बल्बों से अलग करें|
  • इन्हें छोटे छोटे टुकड़ों में काटें और इसे 10 मिनट के लिए पड़ा रहने दें|
  • लहसुन को कच्चा खाएं
  • सीने की जलन और एसिडिटी के मामलों में इससे तुरंत लाभ मिलता है।
  • यदि लहसुन का कच्चा स्वाद पसंद न हो तो आप इसके बाद क्रैकर या कुकी भी ले सकते हैं।
Read more: Guduchi For Weight Loss Uses in Hindi

How to Take Garlic for Acidity Pro tips in Hindi – 

एसिडिटी के लिए लहसुन का उपयोग करते समय एक्सपर्ट टिप्स

कुछ लोगों के लिए लहसुन एक बहुत बड़ा एसिडिटी ट्रिगर हो सकता है। यदि आप किसी भी रूप में लहसुन का सेवन करने के बाद गंभीर सीने की जलन और परेशानी का अनुभव करते हैं तो कोशिश करके  कच्चा लहसुन खाने से बचें।

यदि सीने की जलन और एसिडिटी लंबे समय तक बनी रहती है तो वैकल्पिक उपचार के लिए अपने स्वास्थ्यकर्मी से सलाह लेना सबसे अच्छा होता है।

Read more: Tulsi For Cold के नुकसान
📢 Hungry for more deals? Visit CashKaro stores & online shopping categories to get exclusive coupons and save up to ₹15,000 per month. Download the app - Android & iOS to get free ₹25 bonus Cashback!
Previous articleGuduchi for Weight Loss in Hindi वजन घटाने के लिए गुडुची: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स
Next articleIs Honey Acidic in Hindi क्या शहद एसिडिक है? क्या शहद एसिडिटी में मदद करता है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × four =