Karela in Hindi करेला: फायदे, उपयोग, मात्रा और नुक्सान

करेला: फायदे, उपयोग, मात्रा और नुक्सान

करेला (Karela) या बिटर-गौर्ड (मोमोर्डिका-चरैंटिया) एक उष्णकटिबंधीय और उप-उष्णकटिबंधीय बेल है जो कुकुर्बिटेसा परिवार से सम्बन्ध रखती है। इसको कड़वा नींबू, कड़वा कवाश या बालसम नाशपाती जैसे नामों से भी पुकारा जाता है, क्योंकि यह बहुत ही कड़वा बेल है जो एशिया, अफ्रीका और कैरीबियाई में फलता है। इसी बेल का ही यह एक खाद्य फल है जिसे खाया तो जाता ही है साथ ही इसे अन्य लाभों के लिए प्रयोग किया जाता है।

Nutrient Composition of Karela in Hindi- करेले के पोषक तत्वों की संरचना

करेला या बिटर गौर्ड विटामिनो, खनिजों, इलेक्ट्रोलाइट्स के इलावा फाइटो-पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है|

विटामिन इलेक्ट्रोलाइट्स खनिज फाइटो-पोषक तत्व मुख्य कंपोजिट्स
फ़ोलेटस सोडियम जिंक बीटा-कैरोटीन कार्बोहाइड्रेट
नियासिन पोटेशियम मैंगनीज अल्फा-कैरोटीन प्रोटीन
विटामिन सी मैग्नीशियम ल्यूटिन-जेएक्सैंथिन फैट
विटामिन ए आयरन आहार फाइबर
पैंटोथेनिक एसिड कैल्शियम
राइबोफ्लेविन कॉपर
पायरिडोक्सिन
थायमिन

Benefits of Karela for Hair in Hindi- बालों के लिए करेले के फायदे

1. चमक बढाये

करेला आपके बालों की प्राकृतिक चमक बढाता है। ताज़े करेले का गाढ़ा रस और दही मिलाकर बालों में लगाएँ और कुछ समय बाद पानी से धो लें| यह चिकित्सा आपके बालों को चमकदार बना देगी|

2. डैंड्रफ़ का इलाज करे

डैंड्रफ़ को करेले से प्रभावी ढंग से ठीक किया जा सकता है। करेले के रस और जीरे को मिलाकर बनाए गये पैक को बालों पर लगायें| प्रतिदिन  इस पैक का प्रयोग करके आप जिद्दी डैंड्रफ़ से छुटकारा पा सकते हैं।

3. बालों के झड़ने से छुटकारा

करेले का रस और चीनी को मिलाकर लगाने से बालों के झड़ने की समस्या का समाधान हो सकता है|

4. सूखे और उलझे हुए बालों का इलाज करे

एक कप करेले का गाढ़ा रस अपने बालों पर लगाकर इसे थोड़ी देर के लिए ऐसे ही छोड़ दें| 15 मिनट के बाद धो लें और आप अपने बालों को नर्म, चमकीले और सुलझा हुआ पाएंगे|

5. असमय सफेद होने वाले बालों को बचाए

करेले का जूस हर 10 दिन के अन्तराल पर बालों में लगाने से समय से पहले सफेद होने वाले बालों से बचा जा सकता है|

6. तैलीय बालों का इलाज

करेले के रस को सेब के सिरके में मिलाकर लगाने से यह बालों की जड़ों से निकलने वाले फालतू के तेल को चूस लेता है|

Benefits of Karela for Skin in Hindi- त्वचा के लिए करेले के लाभ

1. त्वचा की चमक बढाये

करेला प्राकृतिक रूप से खून को साफ़ करता है| करेले के रस का नियमित प्रयोग त्वचा को मुहांसों और झाइयों से मुक्त एवं चमकदार बनाता है|

2. त्वचा के रोगों से छुटकारा दिलाये

करेले के रस का नियमित रूप से सेवन करना एक्जिमा और सोरायसिस जैसे त्वचा के संक्रमण से निजात दिला सकता है| एथलीट फुट जैसे फंगल इन्फेक्शन के साथ साथ रिंगवर्म जैसे संक्रमण के प्रभावी इलाज के लिए भी करेले का उपयोग किया जा सकता है|

3. असमय आने वाले बुढ़ापे को रोके

करेले में मौजूद विटामिन सी एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करते हैं और मुक्त कणों से मुकाबला करने में हमारी सहायता करते हैं| करेले का सेवन झुरियों और त्वचा पर आने वाली हल्की रेखाओं के साथ साथ नुकसानदायक सूर्य की यू.वी. किरणों से भी रक्षा करता है|

4. घाव भरने की प्रक्रिया को तेज़ करे

करेला खून जमने की प्रक्रिया को तेज़ करके घावों को जल्दी भरने में मदद करता है और संक्रमण को भी रोक देता है|

यह एचआईवी जैसे बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण से लड़ने में भी सहायक होता है| इंटरनेशनल जर्नल ऑफ माइक्रोबायोलॉजी कि एक रिपोर्ट के अनुसार करेले को दालचीनी, चावल, चोलमुग्रा (हाइडनोकार्पस विइटियानस) और काली मिर्च के साथ मिलाकर लेने से यह घावों और अल्सर को ठीक कर देता है|

Health Benefits of Karela in Hindi- करेले के स्वास्थ्य के लिए लाभ

1. श्वसन संबधी रोगों का समाधान

दमा, सर्दी और खांसी जैसे सांस सम्बन्धी मुद्दों में करेले का ताज़ा रस लेने से समाधान हो सकता है|

2. जिगर की बीमारियों से निपटे

प्रतिदिन एक गिलास करेले का रस लेने से जिगर की बीमारियों से निपटा जा सकता है|

3. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करे

करेले के पत्तों या फल को लगातार पानी में उबालकर लेने से यह संक्रमण से बचाकर प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है|

4. मधुमेह का इलाज करे

इन्सुलिन का स्तर निम्न होने की वजह से सेल्स खून में से चीनी को सोख नही पाते, यही टाइप 2 डायबिटीज का मुख्य कारण है| करेले में पाए जाने वाले रसायन इन्सुलिन का स्तर ऊँचा करके खून में से चीनी सोखने की क्षमता बढ़ा देते हैं, जिससे कि ब्लड शुगर का स्तर कम हो जाता है|

जर्नल ऑफ़ एथनोफार्मेकोलोजी के अनुसार 100 से भी ज्यादा रिसर्च से यह पता चला है कि करेले का उपयोग मधुमेह और उससे होने वाली दिक्कतों को ठीक करने में मदद करता है|

5. कब्ज़ का इलाज

करेले में फाइबर की मात्रा अत्यधिक होने की वजह से ये कब्ज को दूर और ठीक करता है|

6. गुर्दे और मूत्राशय को सही रखे

करेला गुर्दे और मूत्राशय के कामों को बढ़ावा देने के साथ साथ गुर्दे की पथरी से भी लड़ता है।

7. दिल के लिए अच्छा

करेला बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है जो बाद में धमनियों की दीवारों को जाम कर देता है और फिर  दिल के दौरे का कारण बन जाता है। यह खून में शुगर के स्तर को भी बनाए रखता है जो दिल को स्वस्थ बनाए रखने में भी सहायक करता है।

8. कैंसर से लड़े

कैंसर कि कोशिकाओं को आगे बढने से रोकने के लिए करेला मदद करता है| हांगकांग विश्वविद्यालय में बायोमेडिकल साइंसेज के एक स्कूल ने करेले में 20 से भी अधिक ऐसे सक्रिय यौगिक पाए हैं जो एंटी-ट्यूमर गुणों से युक्त हैं|

9. वजन घटाए

करेले में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जोकि पाचन क्रिया में सुधार लाकर वजन घटाने में मदद क्र सकते हैं| करेला एक कम कैलोरी वाली सब्जी है जोकि पानी से बनी होती है जिसकी वजह से भूख दब जाती है|

10. ऊर्जा के स्तर में सुधार

यदि करेले का रस रोजाना लिया जाए तो उर्जा के स्तर को बढ़ाने के साथ साथ हमारी सहनशक्ति को भी सुधार देता है|

11. रक्त शोधक

करेले के एंटीमाइक्रोबायल और एंटीऑक्सीडेंट गुण खून से विषैले पदार्थों को निकलके खून को शुद्ध कर देते हैं जिससे मुँहासे, चकत्ते, छालरोग जैसी त्वचा की कई बीमारियाँ ठीक हो सकती हैं और खून का बहाव सही होता है|

How to Use Karela in Hindi- करेले का प्रयोग कैसे करें

1. त्वचा के लिए

करेला एक प्राकृतिक रक्त शोधक है| पोषक तत्वों से भरपूर यह भोजन लेने पर त्वचा चमकदार और स्वस्थ तो बनती ही है| आप इस पोषक करेले को खाकर अपनी त्वचा में निखार ला सकते हैं|

2. बालों के लिए

रूखी और खुजली वाली जड़ों का इलाज

3. रूखेपन के लिए

  • सूखी हुई जड़ों पर ताज़ा करेले का टुकड़ा रगड़ें और जड़ों की मालिश करें|
  • थोड़ी देर बाद पानी से धो लें|

4. खुजली के लिए

  • करेले और केला या एवोकाडो को मिलाकर हेयर मास्क बनाएं|
  • जड़ों पर इसको लगायें|
  • खुजली वाली जड़ों से छुटकारा पाने के लिए हफ्ते में कम से कम एक बार लगाएँ|

Dosage of Karela – करेले की मात्रा: कितना लेना सुरक्षित है?

रोजाना 2 करेले से ज्यादा नही लेना चाहिए|

नुक्सान और बचाव

  • गर्भवती महिलाओं को करेला खाने से पहले ध्यान रखना चाहिए| इस सब्जी में रेचक गुण होते हैं जिसकी वजह से प्रसव संकुचन, योनि रक्तस्राव और गर्भपात की सम्भावना हो सकती है|
  • करेले के रस का ज्यादा सेवन करने से जी मिचलाना और पेट में दर्द भी हो सकती है|
  • मधुमेह के रोगियों को करेला लेने से पहले डॉक्टर की राय जरूर लेनी चाहिए| मधुमेह के रोगी जोकि हाइपोग्लाइसेमिक दवाइयां लेते हैं यदि वे करेले के रस का सेवन कर रहे हैं तो उनको अपनी दवाइयां बदलने की जरूरत पड़ सकती है|

कहाँ से खरीदें

आप करेला खरीदने के लिए बिग बास्केट कूपन और 1 mg कूपन का इस्तेमाल करके पैसे बचा सकते हैं|

प्रमुख ब्रांड्स जो करेले का जूस बेचते हैं

  • गुड केयर फार्मा प्राइवेट लि.
  • अपोलो फार्मेसी
  • बेसिक आयुर्वेद
  • बैद्यनाथ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 3 =