कसोल में जाने के लिए अद्भुत जगहें और चीजें (Kasol Best Places in Hindi)

0
2151
kasol himachal pradesh best places in hindi
kasol himachal pradesh best places in hindi

कसोल के बारे में

हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में एक छोटा सा गांव कसोल है। यह बैकपैकर्स और पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय स्थान है। कसोल कई विदेशी पर्यटकों, विशेष रूप से इजरायलियों को आकर्षित करता है। पार्वती नदी के तट पर पार्वती घाटी में यह छोटा सा विचित्र गांव स्थित है।

क्यों जाएँ: ट्रेकिंग, आराम करने,  बैकपैकिंग

आदर्श: मित्र,  एकल यात्री, बैकपैकर्स

सामान्य ज्ञान: कसोल को मिनी इज़राइल भी कहते हैं|

लाने के लिए चीजें: रास्ता स्मोकी बॉब मार्ले टी शर्ट, पहाडी टोपी,  पोंचो, ड्रीम कैचर्स

सर्वोत्तम समय: मई से जून, नवंबर से फरवरी

कसोल के आसपास जाने के लिए सबसे अच्छे स्थान

कसोल पहाड़ियों में एक छोटा सा गांव है, इसलिए यहाँ आप सीमित प्रकार की चीजें कर सकते हैं। कसोल में करने के लिए ट्रेकिंग सबसे लोकप्रिय चीज़ है तो, यहां कुछ अद्भुत जगहें हैं जिन्हें आप कसोल जाकर ट्रेक करना चाहिए।

8. वाइचिन

वाइचिन शायद कसोल के आस-पास के स्थानों तक पहुंचने के लिए सबसे सुंदर और मुश्किल रास्ता है। पूरी ट्रेक एक खड़े पहाड़ पर है जो पक्के तौर से आपको थका देगी। हालांकि, एक बार जब आप वाइचिन पहुंच जाते हैं, तो आपकी सारी परेशानियां पिघल जाएंगी। वाइचिन की सुंदरता अद्वितीय है। सिवाय वाइचिन के रात में आपको कसोल के पास कहीं और स्पष्ट आसमान नहीं दिखाई देगा|

शुरुआती बिंदु: मनाला बांध

क्या लें: गर्म कपड़े, पानी, कैप्स, धूप का चश्मा, वर्षा से बचने के यंत्र,  भारी जूते

ट्रेक से दूरी: 4 कि.मी

समय: 2-4 घंटे

कठिनाई: मुश्किल

यात्रा का सर्वोत्तम समय: अप्रैल से सितंबर

कहां रहें: तंबूओं में

स्थान: नेविगेट करें

7. चालाल

पार्वती घाटी में एक लोकप्रिय पड़ाव है चालाल जोकि एक छोटा सा गांव है। पार्वती नदी के साथ-साथ बढ़ते हुए चालाल पहुंचा जा सकता है| यहाँ कुछ ऐसे कैफे हैं जहां आप स्वादिष्ट इज़राइली भोजन का भी आनंद ले सकते हैं।

शुरुआती बिंदु: कसोल

क्या लें: गर्म कपड़े

ट्रेक की दूरी: 1.5 कि.मी

समय: 30 मिनट

कठिनाई: बहुत आसान

जाने के लिए सबसे अच्छा समय: फरवरी से नवंबर

कहां रहें: गेस्ट हाउस,  तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

और पढ़ें: कसौली | मसूरी

6.मलाणा

हिमाचल का सबसे लोकप्रिय ट्रेक शायद मलाणा ग्राम ट्रेक है। इसकी लोकप्रियता का कारण शायद इस छोटे से गांव के आस-पास के बहुत सारे रहस्य हैं। मलाणा गांव के लोग अलेक्जेंडर के वंशज होने का दावा करते हैं और अपने आपको एक उच्चकोटि की प्रजाति मानते हैं। इस गांव के पास समर्पित और उत्साही लोगों को देने के लिए बहुत कुछ है। आप इस गांव से सुंदर नजारों का भी आनंद ले सकते हैं|

शुरुआती बिंदु: मलााना गांव ट्रेक प्वाइंट

क्या लें: गर्म कपड़े, भारी जूते, पानी

ट्रेक की दूरी: 1.5 कि.मी

समय: 3 घंटे

कठिनाई: आसान

यात्रा का सर्वोत्तम समय: मार्च से जुलाई

कहां रहें: गेस्ट हाउस, तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

5. तोश

पार्वती घाटी के अंत में एक छोटा सा गांव है तोश। जब आप तोश की यात्रा करते हैं तो आप नदियों और घास के मैदानों को पार करते हैं जो आपको शब्दविहीन छोड़ देंगे। आपको यहाँ सुंदर  बर्फ से ढके पहाड़ और हरे-भरे दृश्य भी देखने को मिलेंगे।

शुरुआती बिंदु: बरशैनी

क्या लें: गर्म कपड़े, भारी जूते, पानी, ट्रेकिंग के यंत्र,  कैप/धूप का चश्मा, बारिश से बचाव के यंत्र

ट्रेक की दूरी: 5 कि.मी

समय: 30-45 मिनट

कठिनाई: मध्यम

यात्रा का सर्वोत्तम समय: अप्रैल से अक्टूबर

कहां रहें: गेस्ट हाउस,  होमस्टे,  तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

4. रासोल

पार्वती घाटी के अंदर गहराई से घिरा हुआ रासोल है। यह गांव काफी हद तक वियोजित हो गया है और यदि कोई अकेलेपन और चुप्पी में रहना चाहता है तो उसके लिए यह एकदम सही जगह है। रासोल से आप सर्दी में बर्फीले पहाड़ों के सुंदर दृश्यों का आनंद ले सकते हैं और बर्फ पिघलते समय हरी-भरी घाटियों का भी|

शुरुआती बिंदु: चालाल

क्या लें: गर्म कपड़े, भारी जूते,  पानी,  ट्रेकिंग के यंत्र, कैप/धूप का चश्मा, बारिश से बचाव के यंत्र

ट्रेक की दूरी: 5 कि.मी

समय: 2-4 घंटे

कठिनाई: मध्यम

यात्रा का सर्वोत्तम समय: अप्रैल से अक्टूबर

कहां रहें: गेस्ट हाउस,  होमस्टे,  तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

3. पुल्गा

कसोल के पास एक सुंदर और छोटा गांव है पुल्गा जहाँ पहुंचना आसान है और यहाँ घूमने में भी बहुत मज़ा आता है। आप आसानी से पुल्गा में आगे बढ़ सकते हैं, हालांकि बारिश की वजह से थोड़ी मुश्किलें बढ़ सकती है। यहाँ खूबसूरत छोटे लकड़ी के घर और कैफे हैं जहां आप खा-पी भी सकते हैं और सुखद पर्वतीय हवा का भी आनंद ले सकते हैं।

शुरुआती बिंदु: बरशैनी

क्या लें: गर्म कपड़े,  पानी,  कैप/धूप का चश्मा,  बारिश से बचाव के यंत्र

ट्रेक की दूरी: 1.5 कि.मी

समय: 30-45 मिनट

कठिनाई: बहुत आसान

यात्रा का सबसे अच्छा समय: फरवरी से अक्टूबर

कहां रहें: होमस्टे, तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

2. कालगा

पुल्गा के समान ही एक गांव है कालगा। इस जगह थोरी लीक से हटकर है जहाँ बहुत ही कम घर हैं लेकिन आपकी आंखों को ठंडक देने के लिए पर्याप्त प्राकृतिक सुंदरता है। यदि आप शांति की तलाश में हैं,  तो कलगा सही जगह है।

शुरुआती बिंदु: बरशैनी

क्या लें: गर्म कपड़े,  पानी, कैप/धूप का चश्मा, बारिश से बचाव के यंत्र

ट्रेक की दूरी: 1.5 कि.मी

समय: 30-45 मिनट

कठिनाई: बहुत आसान

यात्रा का सबसे अच्छा समय: फरवरी से अक्टूबर

कहां रहें: होमस्टे,  तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

1. खीरगंगा

यह छोटा सा सुंदर गांव पार्वती घाटी की गोद में स्थित है। गर्म झरनों से सुंदर पहाड़ों तक, खीरगंगा में सब कुछ मिलता है। पार्वती घाटी में खीरगंगा आखिरी गांव है। हरियाली और मनोरम आसमान किसी की भी आंखों के लिए खुशी देने वाला नजारा है।

शुरुआती बिंदु: तोश

क्या लें: गर्म कपड़े,  ट्रेकिंग के यंत्र,  पानी, वर्षा के यंत्र,  ट्रेकिंग जूते

ट्रेक की दूरी: 14 कि.मी

समय: 6-7 घंटे

कठिनाई: मध्यम

यात्रा का सबसे अच्छा समय: मई से जून, सितंबर से अक्टूबर

कहां रहें: गेस्ट हाउस, तम्बू

स्थान: नेविगेट करें

कसोल में करने के लिए अन्य चीजें

जबकि कसोल में बहुत कुछ करने को नहीं है फिर भी आपको एक दिन वहां जरूर बिताना चाहिए और निम्नलिखित चीजें करनी चाहिए।

अच्छा इज़राइली खाना खाएं

कसोल में कई कैफे हैं जहाँ उत्कृष्ट इज़राइली भोजन मिलता है| आप वहां के विभिन्न कैफे और व्यंजनों को जरूर आजमाएं। खाने का समृद्ध स्वाद और विविधता आपको सीधा स्वर्ग का आनन्द देगा|

इन चीज़ों को ना आजमायें: शक्शौका, बुरेका और लेमन केक

खरीदारी करे

कसोल में आप एक शॉपिंग के दीवाने बनकर भी जा सकते हैं। आपको अविश्वसनीय रूप से हिमाचल उत्पादों की एक विस्तृत विविधता मिलेगी वो भी बहुत ही कम कीमतों पर। आप कैप्स, पोंचो और भी बहुत कुछ चीजें खरीद सकते हैं।

मणिकरण साहिब की यात्रा करें

यह सिखों का मंदिर बहुत ही लोकप्रिय है और साल भर पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहता है। निश्चित रूप से आपको इस मंदिर में जाना चाहिए और मंदिर के आध्यात्मिक माहौल में खुद को लीन करना चाहिए।

साहसी बनें

ऐसी कई साहसी गतिविधियां हैं जिन्हें आप कसोल में और उसके आसपास की जगह में भाग ले सकते हैं। कुछ चीजें जिनकी आप कोशिश कर सकते हैं वह है मत्स्य पालन (नग्गर गांव), पर्वतारोहण,  बाइकिंग,  शिविर और अन्य

कसाोल तक कैसे पहुंचे

आप इन तरीकों से कसोल पहुंच सकते हैं: उड़ान,  ट्रेन, बस, ड्राइव करके

निकटतम रेलवे स्टेशन:

पठानकोट (150 कि.मी)

निकटतम हवाई अड्डा:

भुंतर हवाई अड्डा, कुल्लू (31 कि.मी)

फ्लाइट बुक करें और यहाँ से पैसे बचाएं : ईज माय ट्रिप  ऑफर, फ्लाईविडस ऑफर, इक्सिगो ऑफर

निकटतम बस स्टॉप:

भुंतर (कासो तक टैक्सी किराये पर लें)

बुक करें और बचाएं: अभीबस कूपन कोड,  मेरी बस टिकट कूपन कोड

ड्राइव करें:

कसोल तक पहुंचने का सबसे अच्छा तरीका ड्राइविंग करना है। आप अपने रास्ते पर सुंदर पहाड़ों और हरी भरी  घाटियों को देखेंगे। यदि आप अपनी कार नहीं लेना चाहते हैं, तो आप कार किराए पर लें। कार किराए पर लेते समय पैसे बचाने के लिए इन कूपन कोड का उपयोग करें:

एविस कूपन कोड, सावारी कूपन कोड,  ज़ूमकार कूपन कोड

कहाँ रहना चाहिए:

सबसे लोकप्रिय होटल: अल्पाइन,  आसाका लॉज, होटल ग्रीन वैली

इनको चेक करें: बुकिंग.कॉम ऑफर, गोआईबीबो ऑफर , मेक माय ट्रिप ऑफर

कैशकारो की सलाह 

कसोल में करने के लिए ऐसी कई चीजें हैं जिनमे से कुछ चीजें हमे निश्चित रूप से याद रखनी चाहिए:

  • अद्भुत इज़राइली भोजन खाएं|
  • जंगल में घूमें|
  • ट्रेक के लिए जाएँ|
  • पुल्गा यात्रा निश्चित रूप से करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 + 15 =