Apricot Benefits Side Effects in Hindi खुबानी के लाभ: उपयोग, खुराक, नुक्सान और सावधानियां

0
3560
Apricot Benefits Side Effects in Hindi खुबानी के लाभ: उपयोग, खुराक, नुक्सान और सावधानियां

What is Apricot in Hindi – खुबानी क्या है?

एक छोटा सा (8-12 मीटर) का पेड़ है जो गूदे से भरा, पतले छिलके वाला और एक ही बीज लिए हुए फल पैदा करता है, जिसको खुबानी के रूप में जाना जाता है| उसका रंग आड़ू के रंग के समान होता है। खुबानी उष्णकटिबंधीय महाद्वीप जैसी जलवायु या भूमध्य क्षेत्रों में होती है जहां सर्दियों का मौसम भी काफी ठंडा होता है। इसमें स्वाद मीठा या खट्टा सा होता है।

Apricot Nutritional Properties in Hindi – खुबानी के पौष्टिक गुण

पोषक तत्व प्रकार
विटामिन सी, ई, के

 

खनिज सोडियम, पोटेशियम, सोडियम

 

ऊर्जा 50 किलो कैल

 

कार्बोहाइड्रेट 11 ग्राम

 

वसा 0.4 ग्राम

 

प्रोटीन 1.4 ग्राम

 

फाइबर आहार 2 ग्राम

 

 

और पढ़ें: बादाम|खजूर|अखरोट

Apricot Benefits in Hindi – खुबानी के 6 आश्चर्यजनक लाभ

खुबानी खाने के यह लाभ जरूर पढ़ें:

दिल के लिए अच्छा

खुबानी में एंटी-ऑक्सीडेटिव और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो आपके दिल को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं। यह धमनियों में कोलेस्ट्रॉल की परत बनाने से भी रोकते है। खुबानी दिल के दौरे और हृदयाघात के जोखिम को कम करती है। अपनी पसंद के किसी भी स्वादिष्ट पकवान  में आप खुबानी को मिलाकर या सुबह के नाश्ते में भी ले सकते हैं।

खून साफ़ करे

खुबानी विटामिन और खनिजों में भरपूर होती हैं जो खून से विषैले पदार्थों से साफ़ करने में मदद करती है| यह सर्दी, खांसी और बुखार जैसी कई बीमारियों को शुरू होने से पहले ही रोक देती है| अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए सुबह और शाम स्नैक्स के रूप में नियमित रूप से दिन में दो बार खुबानी खानी चाहिए|

त्वचा चमकदार बनाए

खुबानी में मौजूद विटामिन ई त्वचा में मेलेनिन उत्पादन को कम कर देता है। जिससे त्वचा का रंग साफ़ हो जाता है और त्वचा को खोयी हुई चमक वापिस आ जाती है। अपनी पसंद के किसी भी फेस मास्क में 4-5 खुबानी मिलाएं या खुबानी और दही का पेस्ट बना कर फेस मास्क की तरह प्रयोग करें|

हड्डियों को मजबूत बनाए

खुबानी कैल्शियम और फॉस्फोरस में भरपूर होती है जो आपकी हड्डियों को मजबूती देने के लिए बहुत आवश्यक है| खुबानी हड्डियों के कमजोर होने के कारण होने वाले गठिया के दर्द से भी मुक्त करती है। 6-7 खुबानी सुबह या शाम में आप ले सकते हैं।

पाचन तंत्र में सुधारे

खुबानी फाइबर से भरपूर होती हैं जो आंतों के रास्ते में होने वाली सूजन की वजह से हुई कब्ज से राहत दिलाती हैं| यह आँतों की गतिविधि को नियंत्रित करती है और आपके पाचन तंत्र में भी सुधार करती है। पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाने के लिए आप दिन में दो बार 5-6 खुबानी ले  सकते हैं।

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे

खुबानी में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को जरूरी विटामिन देते हैं। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को स्वस्थ रखकर बुखार, सर्दी, जी मिचलाना इत्यादि से लड़ने के लिए मजबूत बनाती है।

How to Consume Apricot in Hindi – खुबानी का उपयोग कैसे करें

  • दही के साथ खुबानी को मिलाकर एक स्वस्थ सा सुबह का नाश्ता लें|
  • इसे सलाद में भी मिलाया जा सकता है|
  • ब्राउन शुगर या क्रैनबेरी जूस में खुबानी को मिलाएं|
  • दूध के साथ खुबानी ब्लेंड करके फ्रेंच टोस्ट या वाफ्फ्लेस पर लगाकर खाएं|
  • संतरे के रस में खुबानी मिलाएं और संतरे की कैंडी बनाने के लिए इसे फ्रिज में जमा दें|

Apricot Dosage in Hindi – खुराक: कितनी लेनी चाहिए?

दिन में दो बार खुबानी के 500 मिलीग्राम (10-12 टुकड़े) लिए जा सकते हैं।

Apricot Side-effects and Precautions in Hindi – खुबानी के नुकसान और बचाव

खुबानी 100% प्राकृतिक हैं और इसके कोई नुक्सान नहीं है। लेकिन  खुबानी के 700 मिलीग्राम से अधिक खुबानी के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि फाइबर की अधिक मात्रा होने के कारण गैस की समस्या हो सकती है

और पढ़ें:पिस्ता|सूखे मेवे|किशमिश

Apricot Buy Guide in Hindi – खुबानी कहाँ से खरीदें?

इन वेबसाइटों से 100% प्राकृतिक खुबानी खरीदी जा सकती है और पैसे अलग से बचाए जा सकते हैं:

आप खुबानी यहाँ से भी खरीद सकते हैं:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + 16 =