Lemon for Diabetes in Hindi मधुमेह के लिए नींबू: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स

0
209
Lemon for Diabetes in Hindi मधुमेह के लिए नींबू: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स

अपने खट्टेपन और ताज़गी से नींबू किसी भी डिश को स्वादिष्ट बना सकते हैं। सलाद से लेकर चीज़केक तक नींबू ने व्यंजनों में नक्काशी की है। यद्यपि इस फल पर हमारे दिन-प्रतिदिन के जीवन में किसी का ध्यान नहीं जाता लेकिन यह उन पोषक तत्वों और स्वस्थ लाभों से भरा होता है जिनके बारे में आपने कंही सोचा भी नहीं होगा।

नींबू फाइबर, विटामिन-सी और पोटेशियम से भरपूर  होता है। आयुर्वेद मानता है कि सुबह गर्म पानी में नींबू का रस आपके मेटाबोलिज्म को तेज़ करने में मदद करता है| हाल के अध्ययनों से पता चला है कि नींबू मधुमेह को रोकने के लिए बहुत प्रभावी है।

Also read: Mustard Oil For Hair Growth Uses in Hindi | Multani Mitti For Hair Growth in Hindi

Lemon for Diabetes Benefits in Hindi – डायबिटीज के लिए नींबू के फायदे

  1. ब्लड शुगर का स्तर कम करे

शोधों से पता चलता है कि विटामिन-सी को दैनिक रूप से लेने से मधुमेह का खतरा कम हो जाता है। यह मधुमेह के रोगियों के शरीर में ग्लूकोज के स्तर को भी कम करता है। इसमें विटामिन-सी की मात्रा ज्यादा होने की वजह से मधुमेह वाले लोगों को नींबू ज्यादा लेने की सिफारिश की जाती है। यह भी देखा गया है कि जब नींबू को मेटफॉर्मिन जैसी दवाओं के साथ लिया जाता है तो टाइप-2 डायबिटीज का इलाज किया जा सकता है| इसके अलावा यदि विटामिन-सी ज्यादा मात्रा में लिया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए एक गंभीर खतरा पैदा कर सकता है|

  1. उच्च फाइबर सामग्री ग्लूकोज को नियंत्रित करे

मधुमेह के रोगी हृदय रोगों का खतरा उठाते हैं। इस खतरे की वजह से मधुमेह रोगियों के लिए फाइबर लेना  जरूरी हो जाता है। नींबू के रस में 2.4 ग्रा. फाइबर होता है। नींबू जैसे ज्यादा फाइबर वाले खाद्य पदार्थ लेने से ग्लाइसेमिक नियंत्रण में सुधार होता है। नींबू ट्राइग्लिसराइड को नीचे लाने के साथ शरीर की इंसुलिन की जरूरतों को कम करता है। नींबू ग्लाइसेमिक इंडेक्स को कम करते हैं जिससे ब्लड शुगर कम होता है और आप लंबे समय तक भरा हुआ महसूस करते हैं।

  1. पाचन में सहायता करे

मधुमेह पाचन में रूकावट डालता है जिससे यह शरीर की अन्य प्रणालियों को प्रभावित करता है। यह एसिड रिफ्लक्स के कारण पाचन प्रक्रिया को धीमा कर देता है जिससे शरीर में विषैले पदार्थों का निर्माण होता है। आयुर्वेद का मानना ​​है कि शरीर में विष का निर्माण मधुमेह के सिद्धांतों में से एक है। नींबू पानी पाचन प्रक्रिया में सहायता करता है और विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। यदि आप सुबह सबसे पहले एक गिलास पानी और नींबू का रस लेते हैं  तो यह आपके मेटाबोलिज्म को भी प्रभावित करता है।

  1. पोषक तत्वों की जरूरतों को पूरा करने के लिए जरूरी तत्व

जब पोषण की मांगों को पूरा करने के तरीके खोजने की बात आती है तो मधुमेह संघर्ष करता है| चीनी, कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी से भरपूर भोजन का सेवन नहीं किया जा सकता| नींबू कम वसायुक्त और कम कैलोरी वाला भोजन लेते हैं जिसका स्वतंत्र रूप से सेवन किया जा सकता है। इसका उपयोग चीनी से भरे सोडा के बजाय नींबू पानी के रूप में लिया जा सकता है और चीनी से भरी हुई मेयो सलाद ड्रेसिंग के स्थान पर किया जा सकता है।

विटामिन-सी एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सिडेंट है जो शरीर में मुक्त कणों की हानि को कम करता है। यह कोलेन के बनने में मदद करता है और धमनियों की दीवारों की अखंडता बनाए रखता है, जिससे परिसंचरण समस्याएं और आर्टरी की हानि कम होती है। यह तेजी से ब्लड  शुगर, कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड और सूजन के स्तर को कम करने में मदद करता है।

नींबू का पानी पीना इन दिनों केवल एक लालसा ही नहीं है। यह वास्तव में आपके स्वास्थ्य के लिए एक जरूरत बन गया है।

Read more: Ghee For Constipation के फायदे

Lemon for Diabetes Pro tips in Hindi – एक्सपर्ट टिप्स

यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं और अपने दैनिक सेवन में नींबू को शामिल करना चाहते हैं तो अपने आहार में इसे कैसे शामिल किया जाए, इस बारे में पहले डॉक्टर से सलाह लें|

Read more: Ginger For Cold के नुकसान | Neem For Diabetes के नुकसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × four =