levaquin fayde nuksan in hindi

लेवाक्विन क्या है?

लेवाक्विन भिन्न प्रकार के बैक्टीरिया संक्रमणों के इलाज के लिए प्रयोग किया जाने वाला एक एंटीबायोटिक है| लेवाक्विन सामान्य सर्दी, फ्लू इत्यादि जैसे वायरल संक्रमणों के इलाज के लिए प्रयोग नहीं होता| लेवाक्विन में सक्रिय घटक के रूप में ‘लेवोफ्लोक्सासिन’ होता है जो एंटीबायोटिक दवाओं के “क्विनोलोन” समूह से संबंधित है।

लेवाक्विन का उपयोग

लेवाक्विन को निम्न बीमारियों या लक्षणों के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है:

  • नोसोकोमियल न्यूमोनिया
  • कम्युनिटी द्वारा उपार्जित निमोनिया
  • क्रोनिक ब्रोंकाइटिस
  • तीव्र जीवाणु सिनसीटीस
  • जटिल त्वचा और त्वचा संरचना संक्रमण
  • क्रोनिक जीवाणु प्रोस्टेटाइटिस (प्रोस्टेट ग्रंथि की सूजन)
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण
  • स्त्री रोग संक्रमण
  • तीव्र पायलोनेफ्राइटिस (गुर्दे की सूजन)

ऊपर बताये गए के इलावा अन्य उद्देश्यों के लिए भी इसका उपयोग किया जा सकता है। लेवाक्विन का ज्यादा या अनावश्यक उपयोग एंटीबायोटिक की प्रभावशीलता को कम कर सकता है।

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: नेटमेड्समाइरा मेडिसिन

लेवाक्विन कैसे काम करता है?

  • लेवाक्विन एंटीबायोटिक्स के “क्विनोलोन” समूह से संबंधित है जिसे जीवाणुनाशक भी (जीवाणु हत्या की क्षमता) माना जाता है।
  • यह जीवाणु एंजाइम डी.एन.ए. गिरासे को अवरुद्ध करके बैक्टीरिया को मारता है जो डीएनए (आनुवांशिक सामग्री) के आगे के संश्लेषण को रोककर आगे बढने से रोकता है।

लेवाक्विन कैसे लें

एंटीबायोटिक प्रतिरोध को कम करने और लेवाक्विन की प्रभावशीलता में वृद्धि करने के लिए लेवाक्विन को बैक्टीरिया संस्कृति और संवेदनशीलता के परीक्षणों के आधार पर ही चुना जाना चाहिए।

लेवाक्विन विभिन्न रूपों में मिलता है:

  • गोलियाँ के रूप में (250 मि.ग्रा, 500 मि.ग्रा, 750 मि.ग्रा)
  • सिरप के रूप में (25 मि.ग्रा प्रति एम.एल.)
  • इंजेक्शन के रूप में
  • इसकी खुराक रोगी की व्यक्तिगत जरूरतों, संक्रमण के प्रकार या डॉक्टर की सलाह के अनुसार समायोजित की जाती है|
  • लेवाक्विन की गोलियां मुंह द्वारा लेने पर अच्छी तरह से अवशोषित होती हैं और इन्हें बिना चबाये या तोड़े पानी के साथ सीधे ही निगल लेना चाहिए।
  • भोजन के 2 घंटे पहले या बाद या फिर खाली पेट लेवाक्विन की गोलियां और सिरप लेना बेहतर होता है।
  • अच्छे परिणाम पाने के लिए इसकी शरीर में एक निश्चित मात्रा बनाए रखने के लिए इसे समान समय के अंतराल पर लेना चाहिए।
  • यदि सिरप का उपयोग करना हो तो दवाओं को समान रूप से मिलाने के लिए हर बार उपयोग करने से पहले बोतल को अच्छी तरह से हिला लें| इस दवा को सही मात्रा में लेने के लिए मापने वाले कप का प्रयोग करें।
  • लेवाक्विन लेने के दौरान इसका कोर्स पूरा किए बिना दवा को बीच में नहीं छोड़ना चाहिए| इससे इस दवा की प्रभावकारिता कम हो सकती है|
और पढो: केफ्लेक्स के नुकसान

भारत में लेवाक्विन का मूल्य

  • 00 रुपये में 250 मि.ग्रा की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 00 रुपये में 500 मि.ग्रा की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 00 रुपये में 750 मि.ग्रा की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 27 रुपये में 500 मि.ग्रा 100 मि.ली. आई.एन.एफ.

लेवाक्विन की सामान्य खुराक

लेवाक्विन की खुराक विभिन्न जीवाणु संक्रमणों के साथ बदलती रहती है:

  • नोसोकोमियल न्यूमोनिया – एक दिन में 750 मि.ग्रा. 7 से 14 दिनों के लिए
  • समुदाय-अधिग्रहण निमोनिया – एक दिन में 500 मि.ग्रा. 7 से 14 दिनों के लिए
  • तीव्र बैक्टीरियल साइनसिसिटिस – एक दिन में 500 मि.ग्रा. 10 से 14 दिनों के लिए
  • त्वचा और त्वचा संरचना संक्रमण – एक दिन में 750 मि.ग्रा. 7 से 14 दिनों के लिए
  • जटिल मूत्र पथ संक्रमण – एक दिन में 750 मि.ग्रा. 5 दिनों के लिए
  • पुरानी ब्रोंकाइटिस की तीव्र उत्तेजना – एक दिन में 500 मि.ग्रा. 7 दिनों के लिए
  • क्रोनिक जीवाणु प्रोस्टेटाइटिस – एक दिन में 500 मि.ग्रा. 28 दिनों के लिए

लेवाक्विन कैसे लें?

  • गुर्दे की समस्याओं या डायलिसिस से पीड़ित मरीजों को लेवाक्विन की खुराक बदलने की जरूरत हो सकती है।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना या किसी की भी सलाह से लंबे समय तक इस दवा का उपयोग न करें।
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें|
  • यदि आपने काउंटर उत्पाद के रूप में इसे लिया है तो इस दवा लेने से पहले पैकेट पर लिखे गए सभी निर्देशों को पढ़ें।

लेवाक्विन से कब बचें?

लेवाक्विन का उपयोग निम्न में नहीं करना चाहिए:

  • यदि आपको लेवाक्विन से एलर्जी है|
  • यदि आपको क्विनोलोन परिवार से संबंधित दवाओं से एलर्जी है जैसे लेवोफ्लोक्सासिन, ऑफलोक्सासिन, गैटीफ्लोक्सासिन इत्यादि।
  • मरीजों को कंधे की समस्या का इतिहास हो|
  • मस्तिष्किया ग्रेविस (मस्तिष्क की असामान्य कमजोरी) वाले मरीज़
  • हृदय रोग या लंबे क्यूटी अंतराल वाले मरीज (दिल का विद्युत चक्र)
  • गुर्दे की बीमारी से पीड़ित मरीज या डायलिसिस ले रहे मरीज़
  • जिगर की बीमारियों से पीड़ित मरीज

लेवाक्विन के दुष्प्रभाव

लेवाक्विन से दुष्प्रभाव संभव हैं लेकिन ये सभी मरीजों में नहीं होते| इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स में निम्न हो सकते हैं:

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • खट्टी डकार
  • दस्त
  • चक्कर आना
  • सर-दर्द
  • बदला हुआ स्वाद
  • त्वचा पर लाल चकत्ते

रोगी कुछ और गंभीर साइड इफेक्ट्स की शिकायत कर सकते हैं जैसे कि:

  • टेंडोनिटिस के लक्षण, कंधे टूटना, दर्द, सूजन, जोड़ों के चारों ओर कठोरता
  • क्यूटी अंतराल की लम्बाई (दिल का विद्युत चक्र)
  • फोटोटोक्सिसिटी (त्वचा को प्रकाश की संवेदनशीलता)
  • तंत्रिका के लक्षण: संयम, जलने की उत्तेजना, झुकाव
  • सीजर्स
  • एलर्जी

ऐसे मामलों में, तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें|

और पढो: कीट्रूडा के नुकसानक्रिल ऑयल के नुकसान

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

वैसे तो लेवाक्विन का उपयोग जीवाणु संक्रमण के इलाज के लिए किया जाता है, हालांकि लेवाक्विन से  एलर्जी प्रतिक्रियाएं भी संभव है। इससे होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं के लक्षणों में निम्न हो सकती हैं:

  • थियोफिलाइन
  • एंटी-एसिड्स
  • नाइट्रोफ्यूरन्टाइन
  • वारफरिन
  • डायजोक्सिन
  • टीजानिडाईन
  • फ़िनाइटोइन
  • क्लोज़ापाईन
  • साइक्लोस्पोरिन

लेवाक्विन के साथ इन सभी दवाओं को लेने से साइड इफेक्ट्स की संभावनाएं बढ़ सकती हैं और यह  इन दवाइयों के चिकित्सकीय प्रभाव को प्रभावित कर सकता है।

प्रभाव या परिणाम

लेवाक्विन के प्रभाव को देखने के लिए दवा के उपभोग के लिए लिया गया समय और इसके इच्छित उपयोग पर निर्भर करता है।

इसे लेने के पहले दिन से ही लक्षणों की गंभीरता में कमी दिख सकती है लेकिन यदि लक्षण गायब भी हो जाएँ तो भी दवा का कोर्स पूरा करना चाहिए।

सामान्य प्रश्न

क्या लेवाक्विन नशे की लत है?

ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है।

क्या शराब के साथ लेवाक्विन ले सकते हैं?

लेवाक्विन के साथ शराब लेने के बारे में कोई प्रभाव स्पष्ट नहीं है। इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या किसी खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

  • लेवाक्विन के साथ डेयरी उत्पाद और कैफीन लेने से बचना चाहिए| यदि लेना भी हो तो कम से कम 2 घंटे का अंतर रखना चाहिए|
  • मैग्नीशियम या एल्यूमीनियम एंटी-एसिड्स खाने के कम से कम 2 घंटे पहले या 2 घंटे बाद ही इस दवा को लेना चाहिए|
  • लेवाक्विन लेने वाले मरीजों को अत्यधिक मूत्र के गठन को रोकने के लिए पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहना चाहिए।

क्या गर्भवती होने पर लेवाक्विन ले सकते हैं?

लेवाक्विन गर्भावस्था में उपयोग करने के लिए सही नहीं है। पशु अध्ययन से भ्रूण पर इसके प्रतिकूल प्रभाव दिखाई दिए हैं| लेवाक्विन केवल गर्भावस्था के दौरान तभी लेना चाहिए यदि इससे हानि से ज्यादा लाभ अधिक हों और वेह भी डॉक्टर की सलाह के बाद।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान लेवाक्विन ले सकते हैं?

यदि आप बच्चे को स्तनपान करा रही हैं तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं| लेवाक्विन मानव दूध में गुजरने के लिए जाना जाता है इसलिए स्तनपान कराने वाली माताओं को इससे बचना चाहिए।

क्या लेवाक्विन लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

लेवाक्विन टैबलेट आमतौर पर ड्राइव करने की आपकी क्षमता को प्रभावित नहीं करता लेकिन कुछ रोगियों को चक्कर आना, सतर्कता में कमी साइड इफेक्ट के रूप में हो सकती है| इसलिए भारी मशीनरी और वाहन चलाने के दौरान सावधानी से इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

यदि लेवाक्विन अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

लेवाक्विन तय की गयी मात्रा से ज्यादा नहीं लिया जाना चाहिए। अधिक दवा लेने से आपके लक्षणों में जल्दी सुधार नहीं होगा बल्कि वे गंभीर साइड इफेक्ट्स का कारण हो सकते हैं।

यदि एक्सपायरी हो चुकी लेवाक्विन लें तो क्या होगा?

किसी भी प्रतिकूल घटना को उत्पन्न करने के लिए एक्सपायरी हो चुकी लेवाक्विन की एक खुराक काफी नहीं है| लेकिन यदि आप एक्सपायरी हो चुकी दवा लेने के बाद अस्वस्थ या बीमार महसूस करते हैं तो अपने चिकित्सक से सलाह लें।

यदि लेवाक्विन की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

यदि आपको खुराक लेनी याद ना रहे तो यह दवा अच्छी तरह से काम नहीं करेगी क्योंकि दवा को  प्रभावी रूप से काम करने के लिए आपके शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा मौजूद रहनी  चाहिए। इसलिए जैसे ही आपको याद आये तुरंत अपनी भूली हुई दवा लें लेकिन यदि दूसरी खुराक का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक ना लें|

भंडारण

  • इसे सीधी गर्मी और प्रकाश से दूर रखें।
  • दवा को बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें

लेवाक्विन लेते समय टिप्स

यदि आप लेवाक्विन के उपचार के कुछ दिनों में अच्छा महसूस करना शुरू कर देते हैं तो भी इस दवा को बीच में ना रोकें और उपचार के पूरे कोर्स को पूरा करें। दवा को बीच में रोके जाने पर लक्षण वापस आ सकते हैं या खराब हो सकते हैं।

📢 Hungry for more deals? Visit CashKaro stores for best cashback deals & online products to save up to ₹15,000 per month. Download the app - Android & iOS to get free ₹25 bonus Cashback!
Previous articleक्रिल ऑयल (Krill oil in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां
Next articleलोवेनॉक्स (Lovenox in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =