Mustard Oil for Hair Growth in Hindi बालों विकास के लिए सरसों का तेल: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स 

0
368
Mustard Oil for Hair Growth in Hindi बालों विकास के लिए सरसों का तेल: लाभ, उपयोग करने के तरीके और एक्सपर्ट टिप्स 

क्या आपने कभी रॅपन्ज़ेल जैसे लंबे बालों की इच्छा की है? क्या आप जो चाहते हैं उसे पाने के सभी कोशिशें  विफल हो गए हैं? लेकिन क्या आप अभी भी इसके लिए एक और कोशिश करने के लिए तैयार हैं? फिर आप सही जगह पर पहुंचे हैं। आज के लेख में हमारा फोकस सरसों का तेल है। यह साधारण सा किचन का घटक सिर्फ एक तेल नहीं है। आपको हम पर विश्वास नहीं है तो इस लेख को पढ़ें और आप अपना नजरिया बदल देंगे।

सरसों के तेल का उपयोग प्राचीन काल से होता आ रहा  है। घर के कई कामों में इसका उपयोग किया जाता है। यह जानने के लिए पढ़ें कि कैसे यह जादुई औषधि आपके बालों के लिए अद्भुत काम करती है।

Also read: Ginger For Cold ke Nuksan

Mustard Oil for Hair Growth Benefits in Hindi – सरसों के तेल का बालों पर इस्तेमाल करने के फायदे

  1. एंटी-ऑक्सिडेंट और जरूरी खनिजों का पावरहाउस

सरसों का तेल अल्फा फैटी एसिड, विटामिन ए, डी, ई और के जैसे एंटी-ऑक्सिडेंट्स से भरपूर है| जिन बीजों से यह  तेल निकाला जाता है वह सेलेनियम, जिंक और बीटा-कैरोटीन का समृद्ध स्रोत होते हैं|सेलेनियम एक एंटी-ऑक्सिडेंट है जो सेल् को कठोर पर्यावरणीय परिस्थितियों से बचाता है।

  1. बालों के विकास को बढावा दे

सरसों का तेल प्रोटीन से भरा होता है जो बालों के विकास और मजबूत स्वस्थ बालों के रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण होता है। तेल में मौजूद प्रोटीन का भंडार बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है, जिससे वे घने, स्वस्थ और काले हो जाते हैं।

  1. बालों को कंडीशन करे

सरसों का तेल एक अच्छा हेयर कंडीशनर है। इसमें मौजूद अल्फा फैटी एसिड बालों के रोमकूपों में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं और बालों को कंडीशन करते हैं। बालों क विकास को बढ़ावा देने और चमकदार बनाने के लिए, बालों को हाइड्रेट करने के लिए यह अत्यधिक महत्व रखता है। बालों को कंडीशनिंग करने के लिए प्राकृतिक सरसों का तेल बाजार में मिलने वाले किसी भी महंगे उत्पाद को हरा सकता है।

  1. मालिश करना

स्वस्थ स्कैल्पस स्वस्थ बालों की ओर ले जाते हैं। गर्म सरसों के तेल से स्कैल्प की मालिश करने से रक्त संचार बढ़ता है और बालों को बढ़ने में मदद मिलती है। सरसों का तेल सिर की मालिश के लिए एकदम सही है क्योंकि यह मांसपेशियों को आराम देकर नए बालों के लिए रोमकूपों की सहायता करता है।

  1. बालों की समस्याओं का समाधान करे

बालों का गिरना, विभाजन सिरों का खत्म होना, गंजापन, रूसी आदि समस्याओं को सरसों का तेल ठीक करता है। सरसों का तेल वास्तव में बालों की हर समस्या का हल है।

  1. पोषण दे

सरसों का तेल बालों के रोमकूपों को पोषण देने के लिए जाना जाता है। अगर सरसों के तेल से मालिश की जाए तो कुछ महीनों में बाल बाउंसी और चमकदार हो सकते हैं। तेल के उपयोग की कमी को पूरा करने में भी मदद करता है।

  1. असमय सफेद होने वाले बालों से लड़े

मेंहदी के साथ इस्तेमाल करने पर सरसों का तेल सफेद बालों से निपटने में मदद करता है। यह बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से भी रोकता है और बालों को उनके गहरे रंग और मोटाई को बनाए रखने में मदद करता है।

  1. बीटा-कैरोटीन खून के दौरे को नियंत्रित करे

सरसों के तेल में बीटा कैरोटीन स्वस्थ बालों के विकास के लिए सिर की त्वचा में खून के दौरे को नियंत्रित करता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण भी होते हैं जो खोपड़ी के इन्फेक्शन को रोकते हैं।

Read more: Multani Mitti For Hair Growth के फायदे

How to Use Mustard Oil for Hair Growth in Hindi – सरसों के तेल का उपयोग कैसे करें

स्टेप 1

कच्चा सरसों का तेल सीधे ही बालों पर लगाना सुरक्षित है। लेकिन बेहतर परिणाम पाने के लिए आप सरसों के तेल को गर्म कर सकते हैं और लगाने से पहले इसे मध्यम तापमान तक ठंडा कर सकते हैं। तेल को उंगलियों का उपयोग करके खोपड़ी या बालों के रोमकूपों पर मालिश की जाती है। इसे रात भर छोड़ दें।

स्टेप 2

आप पगड़ी चिकित्सा भी कर सकते हैं। एक पैन में थोड़ा सा पानी गर्म करें। तौलिए को पानी में भिगो दें। फिर अतिरिक्त पानी को बाहर निकाल दें। पगड़ी की तरह अपने बालों के चारों ओर तौलिया लपेटें। अगले दिन अपने बालों को माइल्ड शैम्पू से धो लें।

स्टेप 3

सरसों के तेल का उपयोग नारियल के तेल के साथ बराबर मात्रा में मिलाकर लगाया जा सकता है।

Read more: Honey During Pregnancy Uses in Hindi

Mustard Oil for Hair Growth Pro tips in Hindi – एक्सपर्ट टिप्स

  • बाहर कदम रखने से पहले अपने बालों को धोना न भूलें। गंदगी भी तेल से चिपक सकती है और बालों के रोमकूपों को नुकसान पहुंचा सकती है।
  • सरसों के तेल का बार-बार उपयोग खोपड़ी को तैलीय और चिकना बना देता है। अपने बालों की प्राकृतिक उछाल को बहाल करने के लिए हफ्ते दो या तीन बार तेल लगाएं।

तो आप किसका इंतज़ार कर रहे हैं? इस अद्भुत तेल से बालों की कोशिश करें और कुछ ही समय में अपने सुस्त और बेजान बालों को चमकदार और घने बालों में बदल सकते हैं|

Read more: Honey During Pregnancy ke Nuksan | Ginger During Pregnancy ke Nuksan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × one =