Neem Oil For Face in Hindi चेहरे के लिए नीम का तेल: नीम के तेल के 5 अच्छे इस्तेमाल और फायदे

0
302

Neem Oil ke fayde aur nuksan For Face in Hindi चेहरे के लिए नीम का तेल: नीम के तेल के 5 अच्छे इस्तेमाल और फायदे

अगर आप पुराने जमाने की बात करते हैं, तो नीम के पत्ते स्किन और बालों की परेशानी के लिए एक बेजोड़ उपाय थे। इतने दिनों की तरक्की के बावजूद, नीम अभी भी सेहत और चिकित्सा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

प्रदूषण और पर्यावरणीय कारक आपके चेहरे की स्किन की गुणवत्ता को नुकसान पहुंचाते हैं। नीम के तेल के कई सिद्ध फायदे हैं जो आपकी खूबसूरत स्किन के रास्ते में आने वाली स्किन की जलन से छुटकारा पाने में आपकी मदद करते हैं।


1What is Neem oil in Hindi – नीम का तेल क्या है?

नीम का तेल(Neem Oil)उष्णकटिबंधीय नीम के पेड़ से बीज निकाला जाता है जिसे अज़ादिरछा इंडिका या इंडियन लिलाक कहा जाता है। यह हल्का, गैर-चिकना (नॉन-ग्रीसी) है और लम्बे समय तक रखा जाता है। नीम के तेल में समृद्ध विटामिन और खनिज आपके चेहरे से दाग-धब्बे को हटा देता है। नीम का तेल साफ स्किन दे सकता है जैसे आपने हमेशा सोचा है।


2Natural characteristics of Neem oil in Hindi – नीम के तेल की कुदरती खासियत

  • यह विटामिन (सी, ई) में समृद्ध है
  • इसमें खनिज (कैल्शियम, फॉस्फोरस आदि) हैं
  • इसमें ओमेगा -6, ओमेगा -3 और ओमेगा -9 जैसे दुर्लभ फैटी एसिड होते हैं
  • एंटी बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लैमेंटरी गुण
  • प्राकृतिक मॉइस्चराइजर
  • एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुण
  • एंटी-ऑक्सीडेंट गुण
  • प्राकृतिक कसैलापन
  • एंटी-पायरेटिक और एंटी-हिस्टामाइन गुण

3Benefits Of Neem Oil For Face in Hindi – चेहरे के लिए नीम के तेल के फायदे

कैमिकल प्रोडक्ट के रेगुलर इस्तेमाल से स्किन ख़राब हो जाती है। आपके चेहरे की स्किन की क्वालिटी में सुधार करने में नीम के तेल के बहुत फायदे हैं। यह दाग, काले धब्बे, आपकी आंख के नीचे काले घेरे, मुंहासे, जलन और बहुत कुछ ठीक कर सकता है। आइए चेहरे के लिए नीम के तेल के फायदों पर एक नज़र डालें।

झुर्रियों को हटाता है

नीम के तेल(Neem Oil) में कोशिका पुनर्जनन (रिजनरेशन) के गुण होते हैं जो स्किन की सतह के नीचे रोगजनकों से लड़ते हैं। प्रतिरक्षा बढ़ाने (इम्यून वूस्टिंग) वाले यौगिक आपके चेहरे पर झुर्रियों को रोकते हैं। नीम का तेल बढ़ती उम्र के असर को कम करता है। नीम के तेल का रेगुलर इस्तेमाल आपके चेहरे से फाइन लाइनों को कम करेगा।

हाइड्रेट फेस

ऐसिंसियल फैटी एसिड आपकी स्किन में रिसते हैं और सूखापन के कारण होने वाली दरार को ठीक करते हैं। यह स्किन की परतों के बीच नमी को फंसाता है और आपकी स्किन को हाइड्रेट रखता है। नीम का तेल आपकी स्किन को विटामिन और खनिजों से समृद्ध करता है।

मुंहासों से लड़ता है

एंटी-इंफ्लैमेंटरी गुण आपकी स्किन से मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को हटाते हैं। नीम के तेल में फैटी एसिड आपके चेहरे पर रूखे मुंहासे के निशान को कम करने में मदद करता है। यह सब नहीं है, यह लालपन को हटाता है और स्वस्थ चमकती स्किन बनाता है।

स्किन डिसार्डर का इलाज करता है

एक्जिमा और सोरायसिस जैसे स्किन डिसार्डर आपके चेहरे पर लालिमा और जलन का कारण बनते हैं। विटामिन ई आपकी स्किन की खुजली को दूर करता है। अपने चेहरे को गर्म पानी से धोने के बाद नीम के तेल की कुछ बूंदें लगाएं। बेहतर नतीजों के लिए कम से कम एक महीने तक इसका इस्तेमाल करें।

व्हाइटहेड्स और ब्लैकहेड्स को दूर करता है

नीम के तेल(Neem Oil) का रेगुलर इस्तेमाल व्हाइटहेड्स और ब्लैकहेड्स को रोकता है। बेस्ट नतीजों के लिए अपने रेगुलर मॉइस्चराइजर में नीम के तेल की 2-3 बूंदों का इस्तेमाल करें। अपने ब्लैकहेड्स पर सीधे नीम का तेल न लगाएं। आप इसे अपने फेस पैक के साथ मिला सकते हैं।


4Benefits Of Neem Oil For Face in Hindi – नीम के तेल को अपने चेहरे पर कैसे लगाएं?

  • अपने चेहरे को गर्म पानी से धोएं
  • अपने चेहरे को क्लींजिंग एजेंट से साफ करें
  • एक नरम तौलिए से अपने चेहरे को सुखाएं
  • नीम के तेल की कुछ बूंदें लें
  • इसे अपने मॉइस्चराइज़र (या फेस पैक) के साथ मिलाएं
  • अपने चेहरे पर लगाएं
  • इसे रात के लिए छोड़ दें (फेस पैक के लिए केवल 20 मिनट)

5Side Effects And Precautions in Hindi – साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

नीम के तेल(Neem Oil) का आपकी स्किन पर कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। अगर आपको हाल ही में ब्लड शुगर कंट्रोल में रुकावट पैदा करता है, तो नीम के तेल का इस्तेमाल न करें। सर्जरी के 2 हफ्ते पहले नीम का तेल लगाने से बचें।


6FAQS-Frequently Asked Questions in Hindi – अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

सवाल. सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस के लिए नेचुरल ट्रीटमेंट क्या हैं?

नेचुरल ट्रीटमेंट में शामिल हैं:

  • एप्पल साइडर सिरका – ऐप्पल साइडर सिरका में मौजूद मैलिक एसिड इसे एक असरदार स्किन टोनिंग एजेंट बनाता है और इसे सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस के घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • नारियल तेल – इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल गुण होते हैं जो बीमारी को रोकने में मदद करते हैं।
  • एलोवेरा – यह इम्यून सिस्टम को उत्तेजित करता है और इसमें एंटी-बैक्टीरियल और नाटी-फंगल गुण होते हैं।

सवाल. क्या मैं नीम का तेल सीधे अपने चेहरे पर लगा सकता हूं?

नीम का तेल(Neem Oil) खनिज, विटामिन, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों और एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र से भरपूर होता है जो झुर्रियों को दूर करने में मदद करता है, मुंहासे से लड़ता है और अन्य स्किन डिसार्डर का इलाज करता है। यह सीधे चमकती स्किन के लिए चेहरे पर लगाया जा सकता है।

सवाल. क्या नीम का तेल पिंपल्स के लिए ठीक है?

एंटी इंफ्लैमेंटरी गुण आपकी स्किन में दाना पैदा करने वाले बैक्टीरिया को हटाते हैं। नीम के तेल में फैटी एसिड आपके चेहरे पर जिद्दी दाने के निशान को कम करने में मदद करता है।

सवाल. क्या नीम का तेल स्किन को हल्का कर सकता है?

नीम का तेल(Neem Oil) मुंहासे के निशान और स्किन को हल्का कर सकता है। इसके एंटी इंफ्लैमेंटरी गुण मुंहासे से लड़ते हैं, झुर्रियों को दूर करते हैं और अन्य स्किन डिसार्डर का इलाज करते हैं और आपकी स्किन को चमकदार बनाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 2 =