नेक्सियम क्या है?

नेक्सियम “प्रोटॉन पंप इनहिबिटर” दवाओं के समूह से संबंधित है जिसका उपयोग अम्लता, सीने में जलन, पेट के  अल्सर आदि के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें मुख्य सक्रिय घटक के रूप में एसोमेप्राज़ोल मैग्नीशियम होता है। यह एंटरिक लेपित कैप्सूल के रूप में  (20 मि.ग्रा. और 40 मि.ग्रा.) मिलता है। निम्न बीमारियों और लक्षणों की रोकथाम, नियंत्रण और उपचार के लिए नेक्सियम का उपयोग किया जाता है:

  • गैस्ट्रोसोफेजियल रिफ्लेक्स की बीमारी (जीईआरडी)
  • गैस्ट्रिक अल्सर या पेप्टिक अल्सर
  • ज़ोलिंगर एलिसन सिंड्रोम
  • सीने की जलन
  • इरोसिव एसोफैगिटिस
  • हेलिकोबैक्टर पिलोरी संक्रमण
  • गैस्ट्रिन ट्यूमर से स्त्राव

ऊपर बताये गए उद्देश्यों के इलावा भी नेक्सियम का उपयोग किया जा सकता है।

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: मेडलाइफ  | प्रैक्टो

नेक्सियम कैसे काम करता है

  • नेक्सियम “प्रोटॉन पंप अवरोधक” दवाओं के समूह से संबंधित है जिसे पेप्टिक अल्सर के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।
  • नेक्सियम गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को रोककर भोजन द्वारा उत्तेजित होने पर सीने की जलन और गैस्ट्रिक अल्सर को को रोकता है।
  • एक सप्ताह के लिए रोजाना दिन में एक बार नेक्सियम लेने से 24 घंटे गैस्ट्रिक एसिड का स्राव 80 से 98% तक रुक जाता है|

नेक्सियम कैसे लें

  • मुंह द्वारा उपयोग करने के लिए यह  कैप्सूल के रूप में मिलता है।
  • नेक्सियम की खुराक और अवधि डॉक्टर द्वारा ही तय की जाती है| इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा या कम ना लें।
  • नेक्सियम मुंह द्वारा लेने पर अच्छी तरह से अवशोषित होता है| इसे सुबह खाली पेट (भोजन से कम से कम आधा घंटे पहले) लेना चाहिए।
  • नेक्सियम कैप्सूल को बिना कुचले, चबाये और तोड़े किसी भी तरल पदार्थ के साथ पूरी तरह से निगल लेनान चाहिए।
  • इसकी खुराक को रोजाना एक निश्चित समय पर लेने की सलाह दी जाती है।
और पढो: लोवेनॉक्स के फायदेमेक्लिज़िन के फायदे

नेक्सियम की सामान्य खुराक

  • नेक्सियम लेने की अवधि रोगी की स्थिति और दवा के प्रति उसकी प्रारंभिक प्रतिक्रिया के साथ बदलती रहती है।
  • वयस्कों में नेक्सियम की खुराक गैस्ट्रिक अल्सर के लिए रोजाना एक बार, अम्लता और सीने की जलन के लिए 40 मि.ग्रा. कैप्सूल को भोजन के आधे घंटे पहले दिन में एक बार 20 से 40 मि.ग्रा. है।
  • स्थिति की गंभीरता के अनुसार लक्षणों से राहत पाने के लिए नेक्सियम को 4 से 8 सप्ताह तक लिया जा सकता है। जो मरीज ठीक नहीं हुए हैं उन्हें 8 सप्ताह का अतिरिक्त कोर्स दिया जा सकता है।
  • गुर्दे और जिगर के मरीजों को सावधानी से और डॉक्टर की देखरेख में इसका इस्तेमाल करना चाहिए।
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

नेक्सियम से कब बचें

निम्न रोगियों को नेक्सियम का सावधानी से उपयोग करना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक से एलर्जी वाले मरीज
  • आँतों में अवरोध
  • इलेक्ट्रोलाइट से अशांति वाले मरीज विशेष रूप से मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम
  • गुर्दे और जिगर की गंभीर बीमारी वाले मरीज़
  • विटामिन-बी 12 की कमी वाले मरीज
  • ऑस्टियोपोरोसिस

नेक्सियम के दुष्प्रभाव:

नेक्सियम से होने वाले आम दुष्प्रभावों में निम्न हो सकते हैं:

  • दस्त
  • सर-दर्द
  • पेट में दर्द
  • पेट फूलना
  • चक्कर आना
  • त्वचा पर लाल चकत्ते
  • जोड़ों का दर्द
  • हड्डी के फ्रैक्चर की संभावना बढना (जब लंबी अवधि के लिए लिया जाता है)

इसके अलावा कुछ अवांछित प्रभाव भी पैदा हो सकते हैं| ऐसे मामलों में तुरंत चिकित्सा लें|

अंगों पर प्रभाव

जिगर और गुर्दे की गंभीर बीमारी वाले मरीजों को सावधानी से नेक्सियम का उपयोग करना चाहिए। कुछ मामलों में डॉक्टर ही इसकी खुराक को तय कर सकता है।

और पढो: इनवोकाना के फायदेम्यूकेनेक्स के फायदेमाइर्बेट्रीर के फायदे

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

यदि आपको नेक्सियम या अन्य प्रोटॉन पंप अवरोधक दवाओं के अवयवों से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर से कहें| इस होने वाली एलर्जी प्रतिक्रिया के लक्षणों में निम्न हो सकते हैं:

  • त्वचा पर चकत्ते या खुजली
  • साँसों की कमी
  • चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन
  • बेहोशी

दवा इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

नेक्सियम अन्य दवाओं, विटामिन की खुराक, हर्बल उत्पादों के साथ प्रभाव डाल सकता है जिन्हें आप ले रहे हैं। यह आपको हानि पहुंचा सकते हैं| इसलिए हमेशा नेक्सियम का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक को अपने द्वारा उपयोग किये जाने वाले काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के बारे में सूचित करना चाहिए| सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता लेकिन कुछ महत्वपूर्ण दवाएं नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • इटराकोनाजोल
  • केटाकोनाजोल
  • डायजोक्सिन
  • मथोट्रेक्सेट
  • वारफरिन
  • क्लोपिडोग्रेल
  • डायजोक्सिन
  • फ़िनाइटोइन

प्रभाव या परिणाम

मुंह द्वारा इसे लेने के बाद नेक्सियम का प्रभाव 30 मिनट से 1 घंटे के भीतर ही शुरू हो जाता है और 2 से 2.5 घंटे में अपने चरम प्रभाव तक पहुंच जाता है|

सामान्य प्रश्न

क्या नेक्सियम नशे की लत है?

ऐसी किसी प्रवृत्ति की सूचना नहीं मिली है।

क्या शराब के साथ नेक्सियम ले सकते हैं?

शराब के साथ नेक्सियम लेने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि शराब के साथ इसे लेने से अम्लता बढ़ जाती है और जिससे नेक्सियम की शक्ति कम हो जाती है।

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ इसे लेने पर कोई बदलाव नहीं देखा गया।

क्या गर्भवती होने पर नेक्सियम ले सकते हैं?

नेक्सियम केवल गर्भावस्था के दौरान तभी लेना चाहिए यदि इसकी आवश्यकता हो। इसलिए यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें|

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान नेक्सियम ले सकते हैं?

नेक्सियम मानव स्तन के दूध में उत्सर्जित होने के लिए जाना जाता है इसलिए स्तनपान कराने के दौरान इसे उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती। यदि आप स्तनपान करा रही हैं तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या नेक्सियम लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

नेक्सियम का सेवन करने से कुछ रोगियों को चक्कर आना, सिरदर्द, कम सतर्कता जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं| इसलिए इस दवा को लेकर वाहन और भारी मशीनरी चलाने के लिए सलाह नहीं दी जाती|

यदि नेक्सियम अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

नेक्सियम को तय की गयी खुराक से ज्यादा या लम्बे समय तक नहीं लिया जाना चाहिए| नेक्सियम को ज्यादा मात्रा में लेने से विषाक्तता हो सकती है – जैसे कंपकंपी, कम गतिविधि दौरा आदि। इसलिए यदि आपने अधिक खुराक ले ली हो तो तुरंत चिकित्सा लें|

यदि एक्सपायरी हो चुकी नेक्सियम लें तो क्या होगा?

एक्सपायरी हो चुकी नेक्सियम की एक खुराक लेने से कोई बड़ा प्रतिकूल प्रभाव नहीं हो सकता लेकिन दवा की शक्ति में कमी आ जाती है। यदि आपने भी इन दवाओं को लम्बे समय तक लिया है तो कृपया अपने चिकित्सक को इस बारे में सूचना दें|

यदि नेक्सियम की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

जैसे ही आपको याद आये तो भूली हुई खुराक लें। लेकिन यदि दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

भंडारण

  • इसे सीधी गर्मी और नमी से दूर ठंडी और सूखी जगह पर रखें|
  • बच्चों और पालतू जानवरों से इस दवा को दूर रखें।

नेक्सियम लेते समय टिप्स:

नेक्सियम को बड़ी मात्रा में और लंबी अवधि के लिए उपयोग करने से विशेष रूप से बुजुर्गों में हड्डी के फ्रैक्चर (ऑस्टियोपोरोसिस) का जोखिम बढ़ सकता है।

इसे लंबी अवधि के लिए उपयोग करने से  यह विटामिन-बी 12 के अवशोषण को भी मुश्किल कर सकता है जिससे विटामिन-बी 12 की कमी हो सकती है।

Previous articleमाइरबेटरी (Myrbetriq in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां
Next articleनॉरवास्क (Norvasc in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − one =