Normaxin In Hindi नॉरमैक्सिन टैबलेट्स: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

0
2386

 

Normaxin In Hindi नॉरमैक्सिन टैबलेट्स: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

1What is Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन क्या है?

यह मुख्य रूप से मांसपेशियों की ऐंठन, पेट का दर्द, पेट में ऐंठन जैसी स्थितियों को रोकने या उनके इलाज के लिए उपयोग की जाती हैं| इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा लेने पर इंट्राओकुलर दबाव (आंख के अंदर दबाव) का बढ़ना जैसे दुष्प्रभाव होते हैं। जिगर या गुर्दे की दुर्बलता और जीआई बाधा के मामलों में नॉरमैक्सिन का उपयोग कभी नहीं करना चाहिए।

नॉरमैक्सिन की रचना – क्लोर्डियाज़ेपॉक्साइड 5 मि.ग्रा. + क्लिडिनियम ब्रोमाइड 2.5 मि.ग्रा. + डायसाइक्लोमाइन 10 मि.ग्रा.
निर्मित – सिस्टोपिक लेबोरेटरीज प्राइवेट लिमिटेड
प्रिस्क्रिप्शन – जरूरी नहीं है क्योंकि यह अनुसूची ‘एच’ के अंतर्गत आता है।
रूप – गोलियाँ और कैप्सूल
कीमत – 19.50 रूपए में 10 टैबलेट
एक्सपायरी – बनाए जाने की तारीख से 24 महीने तक
दवा का प्रकार – एंटीस्पास्मोडिक + एंटीकोलिनर्जिक

Also Read in English about Normaxin


2Uses of Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन के उपयोग

नॉरमैक्सिन का उपयोग निम्न स्थितियों को रोकने या उनका इलाज करने के लिए किया जाता है जैसे:

  • ऐंठन: मांसपेशियों की ऐंठन के इलाज के लिए इस्तेमाल किया
  • पेट दर्द: इसे पेट में दर्द के लिए इस्तेमाल किया जाता है|
  • शराबियों के लिए: शराब छोड़ने के लक्षणों के प्रबंधन के लिए शराबियों में उपयोग किया जाता है (जैसा कि नॉर्मैक्सिन सेडेटिव प्रभाव दिखाता है)
  • चिंता: चिंता का प्रबंधन और इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है|
  • आईबीएस: इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है|
  • मेंसुरेशन: मासिक धर्म के दर्द (पीरियड दर्द) के इलाज और प्रबंधन के लिए मासिक धर्म में उपयोग किया जाता है।
  • ऐंठन: पेट और आंतों में ऐंठन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है|
  • जीआई गड़बड़ी: गैस्ट्रिक गतिशीलता गड़बड़ी का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है
और पढो: नेक्सिटो प्लसनिकोटेक्समेट्रोनिडाज़ोल

3How does Normaxin work in Hindi – नॉरमैक्सिन कैसे काम करता है?

  • नॉरमेक्सिन में क्लोर्डीज़ेपॉक्साइड, क्लिडिनियम ब्रोमाइड और डिक्साइक्लोमाइन आदि मुख्य सक्रिय तत्व के रूप में होते हैं।
  • क्लोर्डीज़ेपॉक्साइड एक बेंज़ोडायज़ेपाइन है और यह अपने सेडेटिव गुणों के कारण शांति देने और चिंता को कम करके काम करता है।
  • डायसाइक्लोमाइन एक एंटी स्पैस्मोडिक है जो पेट और आंत की मांसपेशियों को आराम देने का काम करता है।
  • क्लिडिनियम ब्रोमाइड एक एंटी कोलीनर्जिक है जो मांसपेशियों को आराम और स्राव में रूकावट पैदा करके पेट और आंतों में ऐंठन जैसे लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

4How to take Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन कैसे लें?

  • नॉरमैक्सिन आमतौर पर टैबलेट के रूप में मिलती है।
  • इसकी गोलियाँ पानी के साथ और आमतौर पर पानी के साथ भोजन के बाद या भोजन के साथ ली जाती हैं|
  • इस टैबलेट को कभी भी कुचलकर या चबाकर नहीं लेना चाहिए बल्कि पूरे रूप में निगल लेना चाहिए|
  • दो खुराकों के बीच में समान समय का अंतराल होना चाहिए।
  • इस पैक में मौजूद लीफलेट को दवा की बेहतर समझ रखने के लिए अच्छी तरह से पढ़ना चाहिए।
और पढो: नेक्सिटो प्लसनिकोटेक्समेट्रोनिडाज़ोल

5Normaxin Common Dosage in Hindi – नॉरमैक्सिन की सामान्य खुराक

  • चिकित्सक इस दवा की खुराक रोगी की आयु, वजन, मानसिक स्थिति, एलर्जी के इतिहास के अनुसार तय करता है।
  • गर्भवती महिलाओं के लिए इसकी तय की गयी सबसे आम खुराक दिन में 2 से 3 बार 1 गोली है।
  • चिकित्सक की सलाह के बिना लंबे समय तक इसके उपयोग से बचना चाहिए|
  • बच्चों के लिए नॉर्मैक्सिन लेने की सलाह नहीं दी जाती।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना इसकी खुराक में बदलाव से बचना चाहिए

यदि नॉरमैक्सिन ज्यादा मात्रा में लें तो क्या होगा?

किसी भी दवा को ज्यादा मात्रा में लेने से गंभीर दुष्प्रभाव होने की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए इस  दवा की तय की गयी खुराक का सख्ती से पालन करना चाहिए और कोई भी लक्षण दिखाई देने के मामले में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें|

यदि नॉरमैक्सिन की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होगा?

यदि आप इसकी खुराक लेना भूल गये हैं तो जैसे ही आपको याद आये हमेशा अपनी छूटी हुई खुराक लें| लेकिन यदि पहले से ही दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें क्योंकि इससे दवा की अधिकता के कारण दुष्प्रभाव हो सकते हैं|

यदि एक्सपायरी हो चुकी नॉरमैक्सिन लें तो क्या होता है?

एक्सपायरी हो चुकी नॉर्मैक्सिन किसी अवांछनीय प्रभाव को नहीं दिखता। लेकिन किसी को भी एक्सपायरी दवा का सेवन करने से बचना चाहिए।

नॉरमैक्सिन की शुरुआत का समय और प्रभाव क्या है?

ज्यादातर रोगियों को 2 से 3 सप्ताह के भीतर ही लक्षणों में राहत अनुभव होती है।


6When to Avoid Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन से कब बचें?

निम्न स्थितियों में नॉरमैक्सिन का सेवन न करें:

  • एलर्जी: नॉर्मैक्सिन या इसके जैसे किसी भी सक्रिय तत्व से एलर्जी के इतिहास के मामलों में
  • ग्लूकोमा: ग्लूकोमा के रोगियों में
  • गर्भावस्था: गर्भवती या स्तनपान करने वाली महिलाओं के मामलों में
  • मायस्थेनिया ग्रेविस: मायस्थेनिया ग्रेविस जैसे मांसपेशियों के विकार वाले रोगियों में
  • लिवर या किडनी की ख़राबी: मध्यम से गंभीर लिवर या किडनी की ख़राबी वाले रोगियों के मामले में
  • ओब्स्ट्रकशन: गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बाधा और अल्सरेटिव कोलाइटिस वाले रोगियों के मामलों में

7Precautions While Taking Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन लेते समय सावधानियां

  • शराबी: शराबियों में नॉर्मैक्सिन का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।
  • लंबे समय तक उपयोग: जब तक कि डॉक्टर द्वारा कहा गया हो लंबे समय तक इसके उपयोग से बचना चाहिए।
  • सहवर्ती उपयोग: किसी भी अन्य सेडेटिव दवा के उपयोग से बचना चाहिए।

नॉरमैक्सिन लेते समय चेतावनी

  • यह केवल रोग के लक्षणों से आराम दिलाता है। इसलिए गंभीर स्थितियों में आगे के उपचार की जरूरत होती है।
  • नॉर्मैक्सिन को अल्कोहल या सीएनएस डिप्रेसेंट दवाओं से बचना चाहिए।
  • ज्यादातर रात में नॉर्मैक्सिन का सेवन किया जाना चाहिए क्योंकि इससे नींद या उनींदापन हो सकता है।
  • इसकी दो खुराकों के बीच में समान समय का अंतराल होना चाहिए।

8Side-Effects of Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन के साइड-इफेक्ट्स

विभिन्न उपचारों के लिए उपयोग किए जाने वाले नॉरमैक्सिन से जुड़े कुछ दुष्प्रभाव निम्न हैं:

  • सिरदर्द (कम सामान्य)
  • अनिद्रा (सामान्य)
  • चक्कर आना (सामान्य)
  • मुंह सूखना (सामान्य)
  • कब्ज (सामान्य)
  • धुंधली दृष्टि (सामान्य)
  • मतली (सामान्य)
  • भ्रम (सामान्य)
  • कमजोरी (सामान्य)
  • कामेच्छा में कमी (कम सामान्य)
  • बिगड़ा हुआ समन्वय (कम सामान्य)
  • बढ़ा हुआ इंट्राओकुलर प्रेशर (आंख के अंदर दबाव) (कम सामान्य)

क्या नॉरमैक्सिन से कोई एलर्जी प्रतिक्रियाएं हैं?

  • नॉर्मैक्सिन से चकत्ते, सांस लेने में कठिनाई, चेहरे, होंठ और गले में सूजन जैसे लक्षणों में एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण जाना जाता है।
  • ऐसे किसी भी लक्षण के मामले में तत्काल चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

अंगों पर प्रभाव?

  • नॉर्मैक्सिन का उपयोग जिगर या गुर्दे की कमजोरी वाले रोगियों में सावधानी से किया जाना चाहिए।
  • ऐसे मामलों में खुराक में बदलाव की जरूरत होती है।
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की गड़बड़ी या अल्सरेटिव कोलाइटिस के मरीजों को इस दवा से बचना चाहिए।

9Drug Interactions to be Careful About in Hindi – ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

नॉरमैक्सिन का सेवन करने पर कुछ दवाइयों के सेवन से सावधान रहना चाहिए। ये कुछ खाद्य पदार्थों से लेकर अन्य दवाओं तक कुछ परीक्षणों में शामिल हो सकते हैं, जो नॉरमैक्सिन के सेवन के बाद सही नहीं होते। हम निम्न में इन विवरणों का पता लगाते हैं।

  1. नॉरमैक्सिन के साथ खाद्य पदार्थ

किसी विशेष खाद्य पदार्थ से परहेज नहीं किया जाता|

  1. नॉरमैक्सिन के साथ दवाएं

सभी आपस में प्रभाव डालने वाली दवाओं को यहाँ सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता। इसलिए हमेशा यह सलाह दी जाती है कि रोगी को चिकित्सक को अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं के बारे में बताना  चाहिए। उन हर्बल उत्पादों के बारे में भी अपने डॉक्टर को जानकारी देनी चाहिए जिनका आप सेवन कर रहे हैं।

निम्नलिखित दवाओं के साथ आम दवा पारस्परिक क्रिया देखी गई है:

  • एंटासिड (हल्का)
  • अल्कोहल (मध्यम)
  • एस्पिरिन (हल्का)
  • एंटीथिस्टेमाइंस (मध्यम)
  • क्लोज़ापाइन (मध्यम)
  • कैफीन (हल्का)
  • एंटी-डिप्रेसेंट दवाएं (मध्यम)
  1. लैब टेस्ट पर नॉरमैक्सिन का प्रभाव

यह दवा किसी भी प्रयोगशाला परीक्षण को प्रभावित नहीं करती|

  1. पहले से मौजूद बीमारियों के साथ नॉरमैक्सिन का इंटरैक्शन

कोई भी लिवर या किडनी का विकार

क्या अल्कोहल के साथ नॉरमैक्सिन ले सकते हैं?

नहीं, इस दवा के साथ शराब के सेवन से ज्यादा नींद या उनींदापन जैसे दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए नॉर्मैक्सिन के साथ शराब लेने से पहले डॉक्टर से हमेशा सलाह ली जानी चाहिए।

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचने की आवश्यकता नहीं है|

क्या गर्भवती होने पर नॉरमैक्सिन ले सकते हैं?

नहीं, नॉर्मैक्सिन गर्भवती महिलाओं को लेना सुरक्षित नहीं है क्योंकि यह भ्रूण को नुकसान पहुंचाने के लिए जानी जाती है। ऐसे मामलों में डॉक्टर को सूचित करना चाहिए।

क्या बच्चे को स्तनपान कराते समय नॉरमैक्सिन ले सकते हैं?

स्तनपान कराने वाली माताओं को इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से चर्चा जरूर करनी चाहिए क्योंकि शिशु पर इसका प्रभाव हानिकारक हो सकता है।

क्या नॉरमैक्सिन लेने के बाद गाड़ी चला सकते हैं?

नॉरमेक्सिन से चक्कर आना, सिरदर्द आदि हो सकता है। इसलिए इनमें से कोई भी लक्षण होने पर भारी मशीनरी चलाने या ड्राइव करने से बचना चाहिए


10Buyer’s Guide – Normaxin Composition, Variant and Price in Hindi – नॉरमैक्सिन संरचना, विविधता और मूल्य – खरीदने के लिए गाइड

नॉरमैक्सिन वेरिएंट नॉरमैक्सिन कंपोजिशन नॉरमैक्सिन मूल्य
नॉरमैक्सिन एमबी कैप्सूल मेबेरिन 200 मि.ग्रा. 79 रूपए की  10 टेबलेट्स
नॉरमैक्सिन सीसी टैबलेट क्लॉर्डियाज़ेपॉक्साइड 5मि.ग्रा. + क्लिडिनियम ब्रोमाइड 2.5 मि.ग्रा. 27  रूपए की 15 टेबलेट्स
नॉरमैक्सिन आरटी टैबलेट क्लॉर्डियाज़ेपॉक्साइड + क्लिडिनियम ब्रोमाइड + डायक्लोसमिन + रेबेप्राज़ोल 54 रूपए की 10

टेबलेट्स

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: 1 एमजीसेवऑनमेडिकल

11Substitutes of Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन के बदले में

नॉरमैक्सिन के लिए निम्न वैकल्पिक दवाएं हैं:

कोलिनोर्म टैबलेट:  

  • लांसर हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित
  • मूल्य: 45 रूपए

न्यूरोसपस सीडी टैबलेट:

  • इंड-स्विफ्ट लि. द्वारा निर्मित

सिबिस टैबलेट:

  • कैडिला फार्मासुटिकल्स लि. द्वारा निर्मित।
  • मूल्य- 42 रूपए

क्लिराक्स डी टेबलेट:

  • एलीट फार्मा प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित
  • मूल्य- 23 रूपए

भंडारण

  • इस दवा को पर ठंडी और नमी से मुक्त जगह में सीधी धूप और रौशनी से बचाकर रखना चाहिए|
  • दवा को ऐसे स्थान पर रखना चाहिए जहां यह बच्चों की पहुंच से बाहर हो।

12FAQs – 10 Important Questions Answered about Normaxin in Hindi – नॉरमैक्सिन के बारे में 10 महत्वपूर्ण प्रश्न

नॉरमैक्सिन क्या है?

नॉरमेक्सिन एक कॉम्बीनेशन दवा है जिसमें क्लोर्डियाजेपॉक्साइड, क्लिडीनियम ब्रोमाइड और डिक्साइक्लोमाइन जैसे सक्रिय तत्व होते हैं। नॉर्मैक्सिन का उपयोग मुख्य रूप से इसकी एंटीस्पास्मोडिक गुणों के कारण इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम जैसी स्थितियों को रोकने या उनका इलाज करने के लिए किया जाता है।

नॉर्मैक्सिन के क्या उपयोग हैं?

इसके एंटीस्पास्मोडिक गुणों के कारण नॉर्मैक्सिन का उपयोग मुख्य रूप से इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम जैसी स्थितियों को रोकने या उनका इलाज के लिए किया जाता है।

नॉर्मैक्सिन के दुष्प्रभाव क्या हैं?

नॉर्मैक्सिन के सबसे आम दुष्प्रभाव सिरदर्द, नींद आना, चक्कर आना, मुंह का सूखापन और कब्ज हैं|

नॉरमैक्सिन को परिणाम दिखाने के लिए कितना समय लगता है?

नॉरमैक्सिन को अपना प्रभाव दिखाने के लिए लिया जाने वाला समय हर रोगी में अलग होता है। ज्यादातर रोगियों को 2 से 3 सप्ताह के भीतर लक्षणों में आराम का अनुभव होता है।

क्या नॉरमैक्सिन को खाली पेट लेना चाहिए?

दवा के बेहतर अवशोषण के लिए इसे भोजन से आधे घंटे पहले लेना चाहिए।

क्या नॉरमैक्सिन उनींदापन का कारण बनता है?

जी हां, नॉर्मैक्सिन कुछ मामलों में उनींदापन का कारण हो सकती है लेकिन यह हर व्यक्ति में अलग होता है।

नॉरमैक्सिन टैबलेट लेने के बीच में समय का क्या अंतर होना चाहिए?

नॉरमैक्सिन की दो खुराक के बीच कम से कम 4 से 6 घंटे के का अंतराल होना चाहिए|

क्या चिकित्सा का कोर्स पूरा करना चाहिए, भले ही लक्षण ठीक हो जाएँ?

डॉक्टर द्वारा बताए अनुसार ही नॉर्मैक्सिन का सेवन करना चाहिए और लक्षणों की गंभीरता के मामले में तत्काल चिकित्सा सहायता या सलाह लेनी चाहिए और डॉक्टर को यह तय करना चाहिए कि नॉर्मैक्सिन के चक्र को कब और कैसे रोकना है।

क्या नॉरमैक्सिन मासिक धर्म को प्रभावित करता है?

जी, आम तौर पर यह मासिक धर्म चक्र पर प्रभाव नहीं डालता। इस दवा का सेवन करने से पहले मासिक धर्म की समस्याओं के मामले में डॉक्टर से सलाह लें|

क्या नॉरमैक्सिन बच्चों के लिए सुरक्षित है?

6 साल से कम उम्र के बच्चों में नॉर्मैक्सिन को उचित सलाह के बिना नहीं देना चाहिए और इसे देने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह से लेनी चाहिए।

क्या कोई लक्षण हैं जिन पर नॉरमैक्सिन लेने से पहले विचार करना चाहिए?

नॉरमैक्सिन लेने से पहले किसी भी जिगर की विकार, रक्तस्राव के विकार और एलर्जी प्रतिक्रियाओं को ध्यान में रखना चाहिए।

क्या नॉरमैक्सिन भारत में कानूनी है?

हां, यह भारत में कानूनी है।


डिस्क्लेमर – ऊपर दी गई जानकारी हमारे शोध और ज्ञान के सर्वश्रेष्ठ है। हालांकि, आपको दवा का सेवन करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।


 लेखक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − 11 =