प्रोटोनिक्स: उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां Protonix in Hindi

protonix fayde nuksan in hindi

प्रोटोनिक्स क्या है?

प्रोटोनिक्स “प्रोटॉन पंप इनहिबिटर” दवाओं के समूह से संबंधित है जिसका उपयोग अम्लता, सीने में जलन, पेट के  अल्सर आदि के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें मुख्य सक्रिय घटक के रूप में पैंटोप्राज़ोल सोडियम होता है। प्रोटोनिक्स टैबलेट के रूप में  (20 मि.ग्रा. और 40 मि.ग्रा.) और इंजेक्शन के रूप में मिलता है। प्रोटोनिक्स का उपयोग निम्न बीमारियों और लक्षणों की रोकथाम, नियंत्रण और उपचार के लिए किया जाता है:

  • गैस्ट्रोसोफेजियल रिफ्लेक्स की बीमारी (जीईआरडी)
  • गैस्ट्रिक अल्सर या पेप्टिक अल्सर
  • ज़ोलिंगर एलिसन सिंड्रोम
  • सीने की जलन
  • इरोसिव एसोफैगिटिस
  • हेलिकोबैक्टर पिलोरी संक्रमण
  • गैस्ट्रिन ट्यूमर से स्त्राव

ऊपर बताये गए उद्देश्यों के इलावा भी प्रोटोनिक्स का उपयोग किया जा सकता है।

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: मेडलाइफ

प्रोटोनिक्स कैसे काम करता है?

  • प्रोटोनिक्स “प्रोटॉन पंप अवरोधक” दवाओं के समूह से संबंधित है जिसे पेप्टिक अल्सर के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।
  • प्रोटोनिक्स गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को रोककर भोजन द्वारा उत्तेजित होने पर सीने की जलन और गैस्ट्रिक अल्सर को को रोकता है।
  • एक सप्ताह के लिए रोजाना दिन में एक बार प्रोटोनिक्स लेने से गैस्ट्रिक एसिड का स्राव 95% तक रुक जाता है|

भारत में प्रोटोनिक्स का मूल्य

48.1 रुपये में 40 मिलीग्राम की 10 गोलियों की स्ट्रिप

और पढो: न्यूरोंटिन के फायदे | नॉरवास्क नॉरवास्क | पैक्सिल पैक्सिल

प्रोटोनिक्स कैसे लें

  • मुंह द्वारा उपयोग करने के लिए यह  टैबलेट के रूप में मिलता है।
  • प्रोटोनिक्स की खुराक और अवधि डॉक्टर द्वारा ही तय की जाती है| इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा या कम ना लें।
  • प्रोटोनिक्स मुंह द्वारा लेने पर अच्छी तरह से अवशोषित होता है| इसे सुबह खाली पेट (भोजन से कम से कम आधा घंटे पहले) लेना चाहिए।
  • प्रोटोनिक्स कैप्सूल को बिना कुचले, चबाये और तोड़े किसी भी तरल पदार्थ के साथ पूरी तरह से निगल लेनान चाहिए।
  • इसकी खुराक को रोजाना एक निश्चित समय पर लेने की सलाह दी जाती है।
  • यदि इंजेक्शन के रूप में इसे लेना हो तो लेने से पहले एलर्जी परीक्षण के बाद एक पेशेवर स्वास्थ्यकर्मी द्वारा ही लगवाना चाहिए| जैसे ही रोगी दवा मुंह द्वारा लेना शुरू करे, इंजेक्शन के रूप में इसे लेना बंद कर देना चाहिए।

प्रोटोनिक्स की सामान्य खुराक

  • प्रोटोनिक्स लेने की अवधि रोगी की स्थिति और दवा के प्रति उसकी प्रारंभिक प्रतिक्रिया के साथ बदलती रहती है।
  • वयस्कों में प्रोटोनिक्स की खुराक रोजाना भोजन से पहले आधे घंटे पहले 40 मि.ग्रा. टैबलेट है| बच्चों और कम गंभीर मामलों में 20 मि.ग्रा. टैबलेट होती है|
  • स्थिति की गंभीरता के अनुसार लक्षणों से राहत पाने के लिए प्रोटोनिक्स को 4 से 8 सप्ताह तक लिया जा सकता है। जो मरीज ठीक नहीं हुए हैं उन्हें 8 सप्ताह का अतिरिक्त कोर्स दिया जा सकता है।
  • गुर्दे और जिगर के मरीजों को सावधानी से और डॉक्टर की देखरेख में इसका इस्तेमाल करना चाहिए।
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

प्रोटोनिक्स से कब बचें

निम्न रोगियों को प्रोटोनिक्स का सावधानी से उपयोग करना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक से एलर्जी वाले मरीज
  • आँतों में अवरोध
  • इलेक्ट्रोलाइट से अशांति वाले मरीज विशेष रूप से मैग्नीशियम, पोटेशियम और कैल्शियम
  • गुर्दे और जिगर की गंभीर बीमारी वाले मरीज़
  • ऑस्टियोपोरोसिस

प्रोटोनिक्स के दुष्प्रभाव

प्रोटोनिक्स से होने वाले आम दुष्प्रभावों में निम्न हो सकते हैं:

  • दस्त
  • सर-दर्द
  • पेट में दर्द
  • पेट फूलना
  • चक्कर आना
  • त्वचा पर लाल चकत्ते
  • इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द
  • हड्डी के फ्रैक्चर की संभावना बढना (जब लंबी अवधि के लिए लिया जाता है)

इसके अलावा कुछ अवांछित प्रभाव भी पैदा हो सकते हैं| ऐसे मामलों में तुरंत चिकित्सा लें|

अंगों पर प्रभाव

जिगर और गुर्दे की गंभीर बीमारी वाले मरीजों को सावधानी से प्रोटोनिक्स का उपयोग करना चाहिए। कुछ मामलों में डॉक्टर ही इसकी खुराक को तय कर सकता है।

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

यदि आपको प्रोटोनिक्स या अन्य प्रोटॉन पंप अवरोधक दवाओं के अवयवों से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर से कहें| इस होने वाली एलर्जी प्रतिक्रिया के लक्षणों में निम्न हो सकते हैं:

  • त्वचा पर चकत्ते या खुजली
  • साँसों की कमी
  • चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन
  • बेहोशी

दवा इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

प्रोटोनिक्स अन्य दवाओं, विटामिन की खुराक, हर्बल उत्पादों के साथ प्रभाव डाल सकता है जिन्हें आप ले रहे हैं। यह आपको हानि पहुंचा सकते हैं| इसलिए हमेशा प्रोटोनिक्स का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक को अपने द्वारा उपयोग किये जाने वाले काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के बारे में सूचित करना चाहिए| सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता लेकिन कुछ महत्वपूर्ण दवाएं नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • इटराकोनाजोल
  • केटाकोनाजोल
  • डायजोक्सिन
  • मथोट्रेक्सेट
  • वारफरिन

 प्रभाव या परिणाम

मुंह द्वारा इसे लेने के बाद प्रोटोनिक्स का प्रभाव 30 मिनट से 1 घंटे के भीतर ही शुरू हो जाता है और 2 से 2.5 घंटे में अपने चरम प्रभाव तक पहुंच जाता है|

और पढो: प्रवास्टैटिन के फायदेप्रिलोसेक के फायदेमिरेलैक्स के फायदे

सामान्य प्रश्न

क्या प्रोटोनिक्स नशे की लत है?

ऐसी किसी प्रवृत्ति की सूचना नहीं मिली है।

क्या शराब के साथ प्रोटोनिक्स ले सकते हैं?

शराब के साथ प्रोटोनिक्स लेने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि शराब के साथ इसे लेने से अम्लता बढ़ जाती है और जिससे प्रोटोनिक्स की शक्ति कम हो जाती है।

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ इसे लेने पर कोई बदलाव नहीं देखा गया।

क्या गर्भवती होने पर प्रोटोनिक्स ले सकते हैं?

प्रोटोनिक्स केवल गर्भावस्था के दौरान तभी लेना चाहिए यदि इसकी आवश्यकता हो। इसलिए यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें|

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान प्रोटोनिक्स ले सकते हैं?

प्रोटोनिक्स मानव स्तन के दूध में उत्सर्जित होने के लिए जाना जाता है इसलिए स्तनपान कराने के दौरान इसे उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती। यदि आप स्तनपान करा रही हैं तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या प्रोटोनिक्स लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

प्रोटोनिक्स का सेवन करने से कुछ रोगियों को चक्कर आना, सिरदर्द, कम सतर्कता जैसे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं| इसलिए इस दवा को लेकर वाहन और भारी मशीनरी चलाने के लिए सलाह नहीं दी जाती|

यदि प्रोटोनिक्स अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

प्रोटोनिक्स को तय की गयी खुराक से ज्यादा या लम्बे समय तक नहीं लिया जाना चाहिए| प्रोटोनिक्स को ज्यादा मात्रा में लेने से विषाक्तता हो सकती है – जैसे कंपकंपी, कम गतिविधि दौरा आदि। इसलिए यदि आपने अधिक खुराक ले ली हो तो तुरंत चिकित्सा लें|

यदि एक्सपायरी हो चुकी प्रोटोनिक्स लें तो क्या होगा?

एक्सपायरी हो चुकी प्रोटोनिक्स की एक खुराक लेने से कोई बड़ा प्रतिकूल प्रभाव नहीं हो सकता लेकिन दवा की शक्ति में कमी आ जाती है। यदि आपने भी इन दवाओं को लम्बे समय तक लिया है तो कृपया अपने चिकित्सक को इस बारे में सूचना दें|

यदि प्रोटोनिक्स की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

जैसे ही आपको याद आये तो भूली हुई खुराक लें। लेकिन यदि दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

भंडारण

  • इसे सीधी गर्मी और नमी से दूर ठंडी और सूखी जगह पर रखें|
  • बच्चों और पालतू जानवरों से इस दवा को दूर रखें।

प्रोटोनिक्स लेते समय टिप्स

प्रोटोनिक्स को बड़ी मात्रा में और लंबी अवधि के लिए उपयोग करने से विशेष रूप से बुजुर्गों में हड्डी के फ्रैक्चर (ऑस्टियोपोरोसिस) का जोखिम बढ़ सकता है।

इसे लंबी अवधि के लिए उपयोग करने से  यह विटामिन-बी 12 के अवशोषण को भी मुश्किल कर सकता है जिससे विटामिन-बी 12 की कमी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 1 =