Health Benefits of Pumpkin in Hindi कद्दू (पम्पकिन) के अनोखे स्वास्थ्य लाभ – पोषण, कैलोरी और उपयोग

0
275
Health Benefits of Pumpkin in Hindi कद्दू (पम्पकिन) के अनोखे स्वास्थ्य लाभ - पोषण, कैलोरी और उपयोग

जब हम कद्दू के बारे में सोचते हैं, तो हमारे दिमाग में आने वाली सभी चीजें हैं हेलोवीन की सजावट और कद्दू। यह मोटा, नारंगी रंग का फल सजावट के एक टुकड़े से ज्यादा है, यह स्वस्थ जीवन जीने में मदद करने के गुणों से भरपूर है। कद्दू के एक छोटे से हिस्से में स्वस्थ फैट, मैग्नीशियम और जिंक की पर्याप्त मात्रा के साथ मूल्यवान पोषक तत्व होते हैं| यह न केवल एक शानदार स्वाद देता है बल्कि बहुत ज्यादा मात्रा में पोषण देकर स्वास्थ्य लाभ देता है।

Also read: Guava in Hindi | Watermelon in Hindi

Pumpkin Useful Information in Hindi – कद्दू के बारे में रोचक तथ्य

  • अंटार्कटिका को छोड़कर हर महाद्वीप पर कद्दू उगाए जाते हैं।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 1.5 बिलियन पाउंड से ज्यादा कद्दू पैदा किया जाता है।
  • यूएसए के कद्दू की 80% से ज्यादा फसल अक्टूबर के महीने में मिलता है।
  • हर कद्दू के अंदर लगभग 500 बीज होते हैं।
  • दुनिया में कद्दू की 45 से भी ज्यादा किस्में हैं।

Pumpkin Benefits and Uses in Hindi – कद्दू के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग

  1. दिल को स्वस्थ रखें

कद्दू और उसके बीज दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। यह एंटी-ऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम, जिंक और फैटी एसिड से भरपूर होने के कारण कद्दू दिल के स्वास्थ्य को अच्छा रखने में मदद करते हैं। कद्दू के बीज के तेल की खुराक ने डायस्टोलिक रक्तचाप को 7% तक कम कर दिया गया और 12 सप्ताह में 16% “अच्छा” एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ा दिया। अवधि।

कैसे उपयोग करें: कुछ ताज़ा कद्दू का रस बनाएं, ब्लेंडर में कुछ कटे हुए कद्दू डालें और सेब का रस मिलाएं। इसे ब्लेंड करें और फ्रूटी कद्दू के जूस का स्वाद लें।

  1. ब्लड शुगर लेवल को कम करे

कद्दू एक बेहतरीन स्वीटनर है जो ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने के लिए संघर्ष कर रहे लोगों के लिए यह काफी फायदेमंद है। चाइना एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के कॉलेज ऑफ फूड साइंस एंड न्यूट्रिशन इंजीनियरिंग ने एक अध्ययन में पाया गया है कि अपने आहार में कद्दू का रस या बीजों के पाउडर को शामिल करने से टाइप-2 मधुमेह से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर के स्तर कम हो जाता है।

कैसे उपयोग करें: अपने लिए सेब और कद्दू का रस बनाएं जो मधुमेह के खतरे को कम करने में मदद करेगा। 2 कप पानी में 350 मि.ली. सेब का रस, 450 मि.ली. कद्दू की प्यूरी ब्लेंड करें। स्वाद के लिए नींबू की कुछ बूँदें मिलाएं| मधुमेह को दूर भगाएं|!

  1. रक्तचाप को नियंत्रित करे

कद्दू फाइबर, पोटेशियम और विटामिन-सी से भरपूर होता है। ये सभी पोषक तत्व रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नेतृत्व में हुए एक अध्ययन, ने पाया है कि उच्च पोटेशियम का सेवन उतना ही महत्वपूर्ण है जितना उच्च रक्तचाप के उपचार के लिए सोडियम का सेवन कम करना।

कैसे उपयोग करें: यदि आप नियमित रूप से कद्दू के व्यंजनों से ऊब गए हैं तो कद्दू केला मिल्कशेक बनाएं जो पोटेशियम का सेवन बड़ी मात्रा में करने में मदद करता है| फ्रोजन केला, कद्दू की प्यूरी और दूध लें, उन्हें एक साथ मिलाएं और स्वाद के लिए इसमें दालचीनी का पाउडर मिलाएं और उच्च रक्तचाप को अलविदा कहें!

  1. पाचन के स्वास्थ्य को बढ़ावा दे

कद्दू फाइबर का एक बड़ा स्रोत है और इसके बीज एकल सेवा में 5.2 ग्रा. फाइबर देते हैं। फाइबर की उच्च मात्रा की वजह से यह पाचन तंत्र को विषाक्त पदार्थों से मुक्त रखने में मदद करता है जो पाचन के  स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है।

कैसे उपयोग करें: यदि अच्छे पाचन को बढ़ावा देना चाहते हैं तो पालक और कद्दू का सलाद बनाएं। स्वाद के लिए इसमें जैतून का तेल और अपने पसंद की सीज़निंग मिला सकते हैं।

  1. कैंसर के खतरे को कम करे

कद्दू से भरपूर आहार पेट, स्तन, फेफड़े, प्रोस्टेट और पेट के कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है। कद्दू के नियमित सेवन से रजोनिवृत्ति के बाद वाली महिलाओं में स्तन कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है।

कैसे उपयोग करें: अपने लिए एक कद्दू की रोटी बनाएं और बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ के लिए इसके अद्भुत स्वाद का मजा लें। कद्दू बनाते समय रोटी बनाने के समान ही प्रक्रिया का पालन करें और पानी या दूध को आधार के रूप में उपयोग करने के बजाय कद्दू प्यूरी का उपयोग करें।

  1. वजन कम करने में मदद करे

यह एंटी-ऑक्सिडेंट और फाइबर से भरपूर होने के कारण कद्दू और कद्दू के बीज तेजी से भरा हुआ महसूस कराते हैं। यह भोजन के कम सेवन में मदद करता है और लंबे समय तक भूख को शांत करने में भी मदद करता है। इनमे फाइबर की उच्च मात्रा होती है, इसलिए शरीर इसे पचाने के लिए और अधिक समय लेता है, जिससे आप भरा हुआ महसूस करते हैं।

कैसे उपयोग करें: कद्दू के बीज लें और इसमें लहसुन, नमक, 2 चम्मच वोस्टरशायर सॉस, 1/2 बड़ा चम्मच मार्जरीन, 1/2 चम्मच नमक मिलाएं। ओवन को प्रीहीट करें और 1 घंटे के लिए बेक करें। जब भी भूख लगे तो कद्दू के बीज खाएं।

  1. नींद में सुधार करे

ट्रिप्टोफैन का सेवन जो एक अमीनो एसिड अच्छी नींद लेने में मदद करता है। कद्दू ट्रिप्टोफैन का एक प्राकृतिक स्रोत है जो नींद को परेशानी से मुक्त बनाने में मदद करता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि रोजाना 1 मि.ग्रा. ट्रिप्टोफैन लेने से नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है|

कैसे इस्तेमाल करें: अच्छी नींद लेने से पहले हर दिन एक चुटकी नमक के साथ कद्दू के बीज का सेवन अनिद्रा को ठीक करने में मदद कर सकता है।

  1. बालों के विकास को बढ़ावा दे

कद्दू एक ऐसा फल है जो बहुत अधिक पोषण मूल्य रखता है| यह जादू का फल बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है। कद्दू और कद्दू के बीजों में एमिनो एसिड होता है जिसे कुकुर्बिटिन के रूप में जाना जाता है जो बालों के विकास में मदद करता है। इसके इलावा इसमें विटामिन-सी होने के कारण बालों को अच्छी बनावट और मात्रा देने में भी मदद करती है।

कैसे इस्तेमाल करें: कद्दू के बीज के तेल और नारियल के तेल में कद्दू का गूदा मिलाकर कद्दू का हेयर मास्क बनाएं। इसे बालों की जड़ों पर लगाएं। इसे गुनगुने पानी से धोएं और बालों को चमकदार होने दें!

  1. इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करे

कद्दू और कद्दू के बीजों का नियमित रूप से सेवन करने से बहुत सारी बीमारियों और वायरल संक्रमणों से लड़ने में मदद मिलती है जो सर्दी, फ्लू, थकान और अन्य बीमारियों का कारण बन सकते हैं। बड़ी मात्रा में एंटी-ऑक्सिडेंट और फाइटोकेमिकल्स की उपस्थिति एक अच्छी प्रतिरक्षा प्रणाली के बनने में मदद करती है।

कैसे इस्तेमाल करें: एक कटोरी हम्मस बनाएं और इसे पिटा ब्रेड के साथ खाएं जो बहुत ही हेल्दी स्नैक है। इस कद्दू की प्यूरी में सीज़निंग डालकर नाश्ते के रूप में बनाया जा सकता है।

  1. गठिया के खतरे को कम करे

कद्दू में बहुत अधिक मात्रा में एंटी-इंफ्लेमेटरी विरोधी गुण होते हैं जो गठिया के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के लिए सबसे अच्छे रूप में जाना जाता है। गठिया हड्डियों के कमजोर होने के कारण होता है जो जोड़ों में दर्द का कारण बनता है। इसलिए कद्दू या कद्दू के बीज का नियमित रूप से सेवन करने से गठिया के खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

कैसे इस्तेमाल करें: रोज रात को सोने से पहले कुछ पके हुए बीजों को मसल लें या रोजाना अपने आहार में कद्दू के बीज के तेल का इस्तेमाल करें। इससे गठिया के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में मदद मिलेगी।

Pumpkin Nutritional Value in Hindi – कद्दू का पोषण मूल्य

एनर्जी 26 किकैल 1%
कार्बोहाइड्रेट 6.50 ग्रा. 5%
प्रोटीन 1.0 ग्रा. 2%
टोटल फैट 0.1 ग्रा. 0.50%
कोलेस्ट्रॉल 0 मि.ग्रा. 0%
फाइबर 0.5 ग्रा. 2%

विटामिन

फोलेट्स 16 μg 4%
नियासिन 0.600 मि.ग्रा. 4%
पैंटोथेनिक एसिड 0.298 मि.ग्रा. 6%
पाइरिडोक्सिन 0.061 मि.ग्रा. 5%
राइबोफ्लेविन 0.110 मि.ग्रा. 8.50%
थियामिन लेब 0.050 मि.ग्रा. 4%
विटामिन-ए 7384 IU 246%
विटामिन-सी 9.0 मि.ग्रा. 15%
विटामिन-ई 1.06 मि.ग्रा. 7%
विटामिन-के 1.1 एमसीजी 1%

इलेक्ट्रोलाइट्स

सोडियम 1 मि.ग्रा. 0.50%
पोटेशियम 340 मि.ग्रा. 7%

खनिज पदार्थ

कैल्शियम 21 मि.ग्रा. 2%
कॉपर 0.127 मि.ग्रा. 14%
आयरन 0.80 मि.ग्रा. 10%
मैग्नीशियम 12 मि.ग्रा. 3%
मैंगनीज 0.125 मि.ग्रा. 0.50%
फास्फोरस 44 मि.ग्रा. 5%
सेलेनियम 0.3 एमसीजी <0.5%
जिंक 0.32 मि.ग्रा. 3%

फाइटो नुट्रीएंट्स

कैरोटीन-α 515 एमसीजी
कैरोटीन-ß 3100 एमसीजी
क्रिप्टो-ज़ैंथिन- 2145 एमसीजी
ल्यूटिन-ज़ेक्सैंथिन 1500 एमसीजी

नोट: यह तालिका प्रति 100 ग्राम कद्दू के पोषक गुणों को दर्शाती है।

Pumpkin Precautions in Hindi – कद्दू का सेवन करते समय खतरे

  • कद्दू के बीजों का ज्यादा सेवन करने से पेट में दर्द हो सकता है।
  • कद्दू या कद्दू के बीजों को उगाने से इसके पोषक तत्व खत्म हो सकते हैं।
  • इसका सेवन गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को नहीं करना चाहिए।
  • यह हाइपोग्लाइकेमिया से पीड़ित लोगों के लिए सही है जो खून में ग्लूकोज के स्तर को कम कर सकता है।
  • यह तय करें कि आप सही मात्रा में कद्दू या कद्दू के बीज खाएं क्योंकि यह ज्यादा मात्रा में वजन बढ़ने का कारण हो सकता है।
  • इसका सेवन उन लोगों को नहीं करना चाहिए जो निम्न रक्तचाप से पीड़ित हैं।
  • मूत्रवर्धक दवाएं लेने वाले लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
Read more: Kiwi ke Nuksan | Papaya के नुकसान

How to Consume Pumpkin in Hindi – कद्दू का सेवन कैसे करें?

कद्दू– इस मोटे फल को कई तरह से खाया जा सकता है, चाहे वह कच्चा हो या पका हो। कद्दू का सेवन करते समय आप कुछ अद्भुत व्यंजन बनाने की कोशिश कर सकते हैं-

  1. कद्दू का हम्म्स

नींबू का रस, ताहिनी, लहसुन और नमक में गार्बनेंज़ो बीन्स और जैतून का तेल मिलाएं और तब तक इसका पेस्ट बनाएं जब तक यह चिकना न हो जाए| अच्छी तरह से ब्लेंड होने पर कद्दू, जीरा और कैने की मिर्च डालें। इस मिश्रण को ठंडा करें और पेठे की रोटी के साथ खाएं।

  1. कद्दू का सूप

एक पैन गरम करें और उसमें थोड़ा सा जैतून का तेल डालें, प्याज को भूनें और एक चुटकी नमक डालें। कद्दू प्यूरी और सब्जी का स्टॉक मिलाएं| इसे 40 मिनट तक उबालें। कद्दू का सूप तैयार है| यदि आप इसमें और स्वाद मिलाना चाहते हैं तो कुछ क्रीम डालें।

  1. कद्दू के पेनकेक्स

पैनकेक का बैटर बनाएं और उसमें एक कप कद्दू प्यूरी डालें। इसे तब तक फेंटें जब तक कि बैटर गाढ़ा न हो जाए। पैनकेक्स को मध्यम आंच पर पकाएं और इसमें कुछ मेपल सिरप डालें या इसमें और स्वाद मिलाने के लिए कुछ नुटेला भी मिला सकते हैं।

  1. कद्दू का सलाद

कुछ कटा हुआ कद्दू क्यूब्स बेक करें और चेरी, टमाटर, प्याज और जैतून के कटोरे में ताजा सलाद बनाएं| इस सामग्री को मिलाएं और इसमें कुछ जैतून का तेल, बाल्समिक सिरका और पनीर मिलाएं| कद्दू का सलाद तैयार है!

  1. कद्दू का जूस

कद्दू के कटे हुए कुछ क्यूब्स छिलके के बिना एक कटा हुआ सेब और नींबू की कुछ बूंदों को ब्लेंड करें। पानी का छींटा देने के लिए आप इसमें कुछ पुदीने की पत्तियां मिला सकते हैं। इसे ताज़ा और स्वस्थ महसूस करने के लिए पियें|

Read more: Coconut Uses in Hindi

Pumpkin Fun Facts in Hindi – कद्दू के बारे में मजेदार तथ्य

  • “कद्दू” शब्द पहली बार परी कथा सिंड्रेला में दिखाया गया था।
  • मॉर्टन, इलिनोइस, “पम्पकिन कैपिटल ऑफ़ द वर्ल्ड” कद्दू का उच्चतम उत्पादक है।
  • वर्ष 2016 में जर्मनी में दुनिया का सबसे भारी कद्दू का वजन 2,600 पाउंड से अधिक था।
  • अब तक के सबसे बड़े कद्दू पाई का वजन 3,699 पाउंड है|
  • कद्दू 90% पानी से बना होता है जो उन्हें कम कैलोरी वाला फल बनाता है।

निष्कर्ष

ऐसे जादुई लाभों के साथ कद्दू के फल को हमेशा स्वस्थ रहने के लिए अपने आहार में शामिल करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + 12 =