Remylin D Tablet in Hindi रिमाइलिन डी कैप्सूल: प्रयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

0
2044

Remylin D Tablet in Hindi रिमाइलिन डी कैप्सूल: प्रयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना

1What is Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी क्या है?

रिमाइलिन डी मुख्य रूप से न्यूरोपैथिस और विभिन्न प्रकार के एनीमिया जैसे मेगालोब्लास्टिक एनीमिया और विटामिन बी 12 की कमी के कारण होने वाले  एनीमिया को रोकने या उसका  इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है| पेट फूलना और भूख न लगना इसकी ज्यादा खुराक से होने वाले दुष्प्रभावों में से एक हैं। जिगर या गुर्दे की हानि के रोगियों और और थायरॉयड विकार वाले रोगियों के मामले में पूरी तरह से इससे बचना चाहिए।

रिमाइलिन डी की संरचना – विटामिन बी12 1500 ऍमसीजी + विटामिन बी9 1.5 मि.ग्रा. + विटामिन बी6 3 मि.ग्रा. + विटामिन डी3 1000 आईयू + अल्फा लिपोइक एसिड 100 मि.ग्रा.
निर्मित – एरिस
प्रिस्क्रिप्शन – जरूरी नहीं (ओटीसी के रूप में मिलता है)
प्रपत्र – गोलियाँ
मूल्य – 146.41 रुपये में 10 टेबलेट
एक्सपायरी – निर्माण की तारीख से 24 महीने तक
दवा का प्रकार – मल्टीविटामिन

Also read in English about Remylin D


2Uses of Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी के उपयोग

रिमाइलिन डी विभिन्न स्थितियों की रोकथाम और उपचार के लिए उपयोग होता है। यह निम्न के लिए तय है:

  • मेगालोब्लास्टिक एनीमिया (विटामिन बी 12 और बी 9 की कमी) जैसे एनीमिया का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • पेर्निशियस एनीमिया: विटामिन बी 12 की कमी का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है|
  • मानसिक विकार: मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ डिप्रेशन से संबंधित कुछ शर्तों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।
  • खराब आहार सेवन: खराब आहार के सेवन या भोजन के खराब अवशोषण का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है जैसे कि पुरानी शराब या बुजुर्ग रोगियों के मामले में।
  • विटामिन की कमी: विटामिन डी की कमी से पैदा हुई स्थितियों का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है क्योंकि यह शरीर में कैल्शियम के स्तर को प्रभावित करता है।
  • कोलेस्ट्रॉल की समस्या: कोलेस्ट्रॉल के ज्यादा स्तर का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • न्यूरोपैथिस: डायबिटीज और पेरिफेरल न्यूरोपैथी के मामलों में मधुमेह मेलेटस (मधुमेह न्यूरोपैथी), अल्कोहल न्यूरोपैथी के मामलों में विभिन्न प्रकार के न्यूरोपैथियों के इलाज के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  • सीवीएस रोग: कार्डियोवास्कुलर सिस्टम (हृदय रोगों) जैसे रोगों के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है।

3How does Remylin D work in Hindi – रिमाइलिन डी कैसे काम करता है?

  • यह शरीर को उचित मात्रा में जरूरी पोषक तत्व देकर काम करता है।
  • रिमाइलिन डी में विटामिन बी 12, विटामिन बी 9, अल्फा लिपोइक एसिड, विटामिन बी 6 और विटामिन डी 3 सक्रिय सामग्री के रूप में होते हैं|
  • विटामिन बी 12 मुख्य तत्व के रूप में काम करता है और रेड ब्लड सेल्स के बनने में मदद करके प्रोटीन की सामान्य संश्लेषण प्रक्रिया को बनाए रखता है, तंत्रिका कोशिकाओं की अखंडता की रक्षा करता है और न्यूरोपैथी को रोकता या ठीक करता है।
  • फोलिक एसिड (विटामिन बी 9) शरीर के सामान्य कार्यों को बनाए रखने में मदद करता है और एनीमिया को रोकता है।
  • विटामिन डी 3 शरीर के अंदर कैल्शियम के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है|
  • विटामिन बी 6 तंत्रिका कोशिका के कामों को सामान्य बनाए रखने और उन्हें नुकसान से बचाने में मदद करता है।
  • अल्फा लिपोइक एसिड प्रकृति में एंटी ऑक्सीडेंट है और ये ऑक्सीडेटिव तनाव से हानि के खिलाफ शरीर की कोशिकाओं की रक्षा करते हैं।
Read More: Rantac 150 Uses in HindiRegestrone Uses in HindiRazo D Uses in Hindi

4 How to take Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी कैसे लें?

  • यह मुख्य रूप से गोलियों के रूप में मिलता है।
  • गैस्ट्रिक समस्याओं वाले रोगियों को इस दवा के को भोजन के साथ या बाद में पानी से लिया जा सकता है।
  • रिमाइलिन डी कैप्सूल को कभी भी चबाया या कुचला नहीं जाना चाहिए। इसे पूरे रूप में निगल लेना चाहिए।
  • अपनी सुविधा के अनुसार दवा कि खुराक में कोई फेर बदल न करें|
  • दवा की बेहतर समझ रखने के लिए दवा लेने से पहले पैक में मौजूद लीफलेट को पढना चाहिए|

5 Common Dosage for Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी की सामान्य खुराक

  • इसकी खुराक चिकित्सक रोगी की आयु, वजन, मानसिक स्थिति, एलर्जी के इतिहास के अनुसार तय करता है।
  • इसकी सामान्य वयस्क खुराक दिन में एक कैप्सूल दिन में दो बार या डॉक्टर के बताये अनुसार है|
  • वयस्क की खुराक: स्थिति की गंभीरता के आधार पर डॉक्टर द्वारा एक गोली हर रोज़ और कुछ मामलों में दिन में दो बार इसे लें|
  • बच्चे: बच्चों को बाल रोग चिकित्सक की सलाह से इसकी खुराक दें|
  • दवा को समान समय के अंतराल पर ही लेना चाहिए ताकि दवा की एक निश्चित मात्रा शरीर में हमेशा मौजूद रहे|

यदि रिमाइलिन डी अधिक मात्रा में लें तो क्या होगा?

इसे डॉक्टर द्वारा तय की गयी खुराक के अनुसार ही लेना चाहिए। इसे ज्यादा मात्रा में लेने से साइड इफ़ेक्ट जैसे मिचली, उल्टी आदि हो सकते हैं| इसलिए डॉक्टर या प्रशिक्षित मेडिकल स्टाफ से तुरंत सलाह लें|

यदि रिमाइलिन डी की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होगा?

रिमाइलिन डी को हमेशा तय समय के अनुसार ही लेना चाहिए| हमेशा याद रखकर इसे लेने की कोशिश करें। लेकिन यदि पहले से ही दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो भूली हुई खुराक लेने से बचें क्योंकि इससे दवा की विषाक्तता बढ़ सकती है।

यदि एक्सपायरी रिमाइलिन डी खाएं तो क्या होगा?

एक्सपायरी रिमाइलिन डी कैप्सूल किसी भी प्रभाव का कारण नहीं होते लेकिन एक्सपायरी दवा का सेवन करने से बचना उचित है क्योंकि एक्सपायरी दवा का सेवन करने के बाद किसी भी लक्षण के मामले में तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ|

रिमाइलिन डी से ठीक होने का समय क्या है?

रोगी रिमाइलिन डी थेरेपी के पहले 3 महीने के भीतर ही ठीक महसूस होने लगता है।

रिमाइलिन डी का प्रभाव कब तक रहता है?

  • इसके प्रभाव को दिखाने के लिए दवा द्वारा लिया गया समय हर व्यक्ति में अलग होता है।
  • डॉक्टर द्वारा बताई गई दवा की खुराक का सभी लक्षणों के पूरी तरह खत्म होने तक कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए|

6When to Avoid Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी से कब बचें?

निम्न स्थितियों में रिमाइलिन डी का सेवन न करें

  • लिवर / किडनी के विकार: मध्यम से गंभीर लिवर और किडनी की शिथिलता या बीमारियों के मामलों में डॉक्टर से सलाह करने पर ही रिमाइलिन डी का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • थायराइड विकार: थायराइड की समस्या में रेमिलिन डी लेने से बचना चाहिए।
  • कैल्शियम का उच्च स्तर: कैल्शियम के उच्च स्तर वाले रोगियों के मामलों में इससे बचना चाहिए।
  • कार्डिएक अरीथमिअस: कार्डियक अतालता के रोगियों के को भी इससे बचा जाना चाहिए।
  • रेमीलिन डी लेते समय सावधानियां:
  • लंबे समय तक उपयोग: जब तक डॉक्टर द्वारा न कहा जाए तब तक इसे ज्यादा समय तक उपयोग न करें।
  • एलर्जी की प्रतिक्रिया: यदि रेमिलिन डी लेने के बाद एलर्जी की प्रतिक्रिया होती है तो तुरंत डॉक्टर या प्रशिक्षित मेडिकल स्टाफ को सूचित करें|
  • खुराक में बदलाव से बचें: जब तक डॉक्टर द्वारा न कहा जाए तब तक दवा में बदलाव से बचना चाहिए।
  • साथ प्रयोग किये जाने वाले प्रोडक्ट: इसे अन्य पोषक तत्वों की खुराक के साथ न लें|

7Precautions While Taking Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी लेते समय चेतावनी

  • डायबिटिक न्यूरोपैथी के मामलों में रेमिलिन डी को अन्य एंटी-डायबिटिक दवाओं के साथ बिना किसी बदलाव के डॉक्टर द्वारा तय किया जाना चाहिए।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना खुराक में बदलाव न करें।
  • रिमाइलिन डी को हमेशा डॉक्टर द्वारा तय किये अनुसार ही लिया जाना चाहिए।

8Side-Effects of Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी के साइड-इफेक्ट्स

रिमाइलिन डी के विभिन्न प्रभावों के लिए उपयोग किए जाने वाले साइड इफेक्ट्स निम्न हो सकते हैं:

  • अतिसार (सामान्य)
  • मतली (सामान्य)
  • कमजोरी (सामान्य)
  • त्वचा पर चकत्ते (कम सामान्य)
  • पेट फूलना (सामान्य)
  • भूख की हानि (सामान्य)
  • एलर्जी प्रतिक्रियाएं (कम सामान्य)
  • पेट दर्द (कम सामान्य)

कौन सी एलर्जी संबंधी प्रतिक्रियाएं हैं जो कि रिमाइलिन डी से होती हैं?

रिमाइलिन डी से होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं में निम्न हो सकते हैं:

  • चकत्ते (कम सामान्य)
  • साँस लेने में कठिनाई (कम सामान्य)
  • चेहरे, होंठ, मुंह, जीभ और गले की सूजन (कम सामान्य)

अंगों पर प्रभाव

किसी भी अंग पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। लेकिन जिगर और गुर्दे की कमजोरी वाले रोगियों में इस दवा का उपयोग करते समय सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि अधिकांश दवाएं इन अंगों के माध्यम से उत्सर्जित होती हैं।


9Drug Interactions to be Careful About in Hindi – रिमाइलिन डी के साथ दवा इंटरैक्शन

सभी इंटरैक्शन वाली दवाओं को यहाँ सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता। इसलिए हमेशा यह सलाह दी जाती है कि रिमाइलिन डी का सेवन करने करने के दौरान कुछ सावधानियों का ध्यान रखें। रिमाइलिन डी का सेवन करते समय हमेशा खाद्य पदार्थों, अन्य दवाओं या लैब परीक्षणों के बारे में जागरूक रहें।

1. रिमाइलिन डी के साथ खाद्य पदार्थ

परहेज करने के लिए कोई विशेष खाद्य पदार्थ नहीं है।

2. रिमाइलिन डी के साथ दवाएँ

सभी इंटरैक्शन वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता। इसलिए हमेशा यह सलाह दी जाती है कि रोगी को अपने चिकित्सक को अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं या उत्पादों के बारे में सूचित करना चाहिए। डॉक्टर को उन सभी हर्बल उत्पादों के बारे में भी सूचित करना चाहिए जिन्हें आप ले रहे हैं। अपने डॉक्टर की सलाह के बिना कभी भी दवा की खुराक में बदलाव नहीं करना चाहिए।

निम्नलिखित दवा इंटरैक्शन के अपने प्रभाव और परिणाम हैं, जिन्हें हल्के या गंभीर के रूप में पहचाना जाता है:

  • अल्कोहल (हल्के): शराब विटामिन बी 12 के अवशोषण में देरी कर सकती है
  • कार्बामेज़ापाइन (हल्का)
  • क्लोरेमफेनिकॉल (हल्का)
  • फ़्यूरोसेमाइड (मध्यम)
  • आइसोनियाज़िड (हल्का)
  • कोलिसिन (हल्का)
  • बार्बिटुरेट्स (मध्यम)
  • आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड (हल्का)

3. लैब टेस्ट पर रिमाइलिन डी का प्रभाव

यह किसी भी लैब टेस्ट के परिणामों को प्रभावित नहीं करता। किसी भी प्रयोगशाला जांच के लिए जाने से पहले उपचार चिकित्सक से सलाह करें।

4. रिमाइलिन डी की पहले से मौजूद स्थितियों या बीमारियों के साथ पारस्परिक क्रिया

मध्यम से गंभीर लिवर और थायरॉयड विकार

क्या शराब के साथ रिमाइलिन डी ले सकते हैं?

नहीं, क्योंकि इन कैप्सूल के साथ शराब लेना विटामिन बी12 के सोखने में रूकावट डाल सकता है। इसके साथ शराब लेने से पहले डॉक्टर से हमेशा सलाह लेनी चाहिए।

किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी विशेष खाद्य पदार्थ से कोई परहेज नहीं है।

क्या गर्भवती होने पर रिमाइलिन डी ले सकते हैं?

नहीं, गर्भावस्था के दौरान रिमाइलिन डी को तब तक नहीं लेना  चाहिए जब तक डॉक्टर द्वारा सलाह न दी जाए क्योंकि पशु अध्ययन में इसे भ्रूण पर प्रतिकूल प्रभाव देखे गये है इसलिए यदि आप गर्भवती हैं तो इसे लेने से पहले डॉक्टर को हमेशा सूचित करना चाहिए|

क्या बच्चे को स्तनपान कराते समय रिमाइलिन डी ले सकते हैं?

स्तनपान कराने वाली माताओं के मामले में रिमाइलिन डी का उपयोग सावधानी से करना चाहिए| लेकिन इस दवा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर को सूचित करना उचित है।

क्या रिमाइलिन डी को लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

हां, रिमाइलिन डी से कुछ रोगियों को उनींदापन और चक्कर आना आदि हो सकते हैं इसलिए ऐसे मामलों में भारी मशीनरी चलाने या गाडी चलाने से बचने की सलाह दी जाती है।

Read More: renerve plus uses in hindirevital uses in hindirifagut uses in hindi

10Buyer’s Guide, Remylin D Composition, Variant and Price in Hindi – रिमाइलिन डी की संरचना और मूल्य – खरीदने के लिए गाइड

रिमाइलिन डी वेरिएंट रिमाइलिन डी सरंचना रिमाइलिन डी की कीमत
रिमाइलिन टेबलेट

विटामिन बी12 1500 ऍमसीजी + विटामिन बी9 1.5 मि.ग्रा. + विटामिन बी6 3 मि.ग्रा. + विटामिन डी3 1000 आईयू + अल्फा लिपोइक एसिड 100 मि.ग्रा.

 

142.41 रूपए की 10 टेबलेट

11Substitutes of Remylin D in Hindi – रिमाइलिन डी के स्थान पर

इसके लिए निम्न दवाएं हैं:

  • नर्वज़ टेबलेट: इनटास फार्मासुटिकल्स लि. द्वारा निर्मित
  • हैप्पी तंत्रिका टैबलेट: वासु ऑर्गेनिक्स द्वारा निर्मित
  • होमो 16 डी टैबलेट: सिनसान द्वारा निर्मित।
  • नर्विटॉप टेबलेट: जेरिको लाइफसाइंसज़ लि. द्वारा निर्मित।

भंडारण

  • इस दवा को 25 डिग्री सेल्सियस से नीचे ठंडी, सूखी जगह पर सीधे गर्मी और धूप से दूर रखा जाना चाहिए|
  • दवा को बच्चों की पहुँच से दूर रखें|

12FAQs 10 Questions Answered about Remylin D in Hindi – रिमाइलिन के बारे में 10 महत्वपूर्ण प्रश्न

रिमाइलिन डी क्या है?

रेमिलिन डी सभी जरूरी पोषक तत्वों के साथ शरीर को समृद्ध करने के लिए एक मल्टीविटामिन (पोषण संबंधी सूत्रीकरण) है।

इसका उपयोग उन मामलों में किया जाता है जहां इसके मुख्य तत्व विटामिन की जरूरत होती है।

रिमाइलिन डी को परिणाम दिखाने के लिए कितना समय लगता है?

इसे शुरू करने के 3 महीने के अंदर ही रिमाइलिन डी अपना असर दिखाना शुरू कर देती है।

क्या रिमाइलिन डी को खाली पेट लेना चाहिए?

रिमाइलिन डी को ज्यादातर भोजन के बाद या लिया जाना चाहिए नाकि इसे खाली पेट लें| क्योंकि इससे दवा के बेहतर परिणाम दिखते है और दवा का बेहतर अवशोषण होता है|

क्या रिमाइलिन डी मदहोश करता है?

नहीं, कुछ दुर्लभ मामलों में रिमाइलिन डी उनींदेपन का कारण हो सकता है लेकिन यह हर व्यक्ति में अलग अलग होता है।

रिमाइलिन डी की खुराक लेने के बीच क्या समय अंतराल होना चाहिए?

रिमाइलिन डी की दो खुराकों के बीच कम से कम 6 घंटे का अंतराल होना चाहिए।

क्या चिकित्सा का कोर्स पूरा करना चाहिए, भले ही ठीक हो जाएँ?

रिमाइलिन डी का सेवन डॉक्टर द्वारा बताये अनुसार किया जाना चाहिए और लक्षणों की कोई भी गंभीरता होने पर तत्काल चिकित्सीय सहायता लेनी चाहिए।डॉक्टर को ही यह तय करने देना चाहिए कि दवा को कब लेना है और कब बंद करना है|

क्या रिमाइलिन डी मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करता है?

नहीं, यह आम तौर पर मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करता लेकिन दवा का सेवन करने से पहले मौजूद मासिक धर्म की समस्याओं के मामले में डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

क्या रिमाइलिन डी बच्चों के लिए सुरक्षित है?

बच्चों को रिमाइलिन डी देने की सलाह नहीं दी जाती। इसे देने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ से उचित सलाह लेना जरूरी है।

क्या रिमाइलिन डी लेने से पहले कोई लक्षण दिखाई देने चाहिए?

किसी भी प्रकार के जिगर के विकार, थाइरोइड के विकार और कार्डियक अर्रीथमिअस में रिमाइलिन डी लेने से पहले ध्यान देना चाहिए।

क्या भारत में रिमाइलिन डी कानूनी है?

उत्तर: हां, यह भारत में कानूनी है।


डिस्क्लेमर – ऊपर दी गई जानकारी हमारे शोध और ज्ञान के सर्वश्रेष्ठ है। हालांकि, आपको दवा का सेवन करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।

13लेखक –