rifagut fayde nuksan in hindi

rifagut fayde nuksan in hindi

Rifagut in Hindi – रिफागट क्या है?

रिफागट मुख्य रूप से आंतों (आंत) के संक्रमण और इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।

रिफागट का मुखी सक्रिय घटक रिफाक्सिमिन है। यह 200 मि॰ग्रा॰, 400 मि॰ग्रा॰ और 550 मि॰ग्रा॰ शक्ति की टैबलेट रूप में आता है।

रिफागट के विभिन्न रूप:

  • रिफागट 400
  • रिफागट 550
  • रिफागट 200
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: 1 एमजीप्रैक्टो

Rifagut Uses in Hindi – रिफागट का उपयोग

रिफागट को निम्न बीमारियों या लक्षणों के उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है:

  • दस्त
  • हेपेटिक एन्सेफेलोपैथी (गंभीर जिगर की बीमारी के कारण मस्तिष्क के कार्य में गिरावट)
  • इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम
  • आंतों में जीवाणु संक्रमण

इसका उपयोग ऊपर बताए गए उद्देश्यों के इलावा भी किया जा सकता है। पर रिफागट टैबलेट का अत्यधिक या अनावश्यक उपयोग एंटीबायोटिक की प्रभावशीलता में कमी ला सकता है।

How Rifagut Works in Hindi – रिफागट कैसे काम करता है

रिफागट में सक्रिय घटक के रूप में रिफाक्सिमिन है जो एक एंटीबायोटिक है और जीवाणु आर॰एन॰ए (परमाणु सामग्री) के संश्लेषण और जीवाणु विकास को रोकता है।

Rifagut Price in India in Hindi – भारत में रिफागट का मूल्य

  • 137 रुपये मे 200 मि॰ग्रा॰ की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 260 रुपये मे 400 मि॰ग्रा॰ की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 328 रुपये मे 550 मि॰ग्रा॰ की 10 गोलियों की स्ट्रिप
Read More: rantac 150 in hindiregestrone in hindiremylin d in hindi

How to Take Rifagut in Hindi – रिफागट कैसे लें

  • एंटीबायोटिक प्रतिरोध को कम करने और रिफागट की प्रभावशीलता को बढ़ाने के लिए रिफागट समेत सभी जीवाणुरोधी उपचारों को बैक्टीरिया की संस्कृति और संवेदनशीलता परीक्षण के आधार पर ही चुनना चाहिए।
  • खुराक का नियम रोगी की व्यक्तिगत जरूरतों, संक्रमण के प्रकार या डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही समायोजित करना चाहिए।
  • रिफागट की गोलियां मुंह द्वारा लेने से अच्छी तरह से अवशोषित होती हैं लेकिन इन्हे चबाये या इसे तोड़ने के बिना सीधे एक बार में निगल लेना चाहिए।
  • रिफागट की टैबलेट भोजन के साथ या बिना भी ली जा सकती है।
  • अच्छे परिणाम पाने के लिए शरीर में दवा की मात्रा को बनाए रखने के लिए इसे समान समय के पर अंतराल पर लेना चाहिए।
  • रिफागट लेने के दौरान पाठ्यक्रम को पूरा किए बिना दवा को बीच में नहीं छोड़ना चाहिए। इससे दवा की प्रभावकारिता कम हो सकती है।

Rifagut Common Dosage in Hindi – रिफागट की सामान्य खुराक

चिकित्सक द्वारा इस दवा की खुराक का निर्णय निम्न पर आधारित होता है:

  • रोगी की आयु और उसके शरीर का वजन
  • रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति और चिकित्सा की स्थिति
  • रोग की गंभीरता
  • पहली खुराक लेने पर प्रतिक्रिया
  • दस्त के लिए सबसे अधिक तय की गयी खुराक 200 मि॰ग्रा॰ की टैबलेट दिन में तीन बार तीन दिनों के लिए है।
  • हेपेटिक एन्सेफेलोपैथी वाले मरीजों के लिए 550 मि॰ग्रा॰ की टैबलेट दिन में दो बार है।
  • 18 वर्षों से कम उम्र के बच्चों में रिफागट लेना सुरक्शित नहीं है। बच्चों के लिए इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।
  • गुर्दे और जिगर की समस्याओं वाले मरीजों में रिफागट की खुराक को बदलने की जरूरत हो सकती है।
  • डॉक्टर की सहमति के बिना या किसी की भी सिफारिश से दवा का लंबे या अधिक समय तक उपयोग न करें।
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ।

Rifagut Precautions in Hindi – रिफागट से कब बचें?

रिफागट टैबलेट का उपयोग निम्न अवस्था मे ना करें:

  • यदि आपको रिफागट से एलर्जी हो
  • जिगर की बीमारियों वाले मरीज
  • दस्त जो ई कोली (बैक्टीरिया) के कारण नहीं होते
  • क्लॉस्ट्रिडियम डिफिसाइल (बैक्टीरिया) से जुड़े दस्त
  • रिफागट से दवा का प्रतिरोध

Rifagut Side-Effects in Hindi – रिफागट के दुष्प्रभाव

इसके साइड इफेक्ट्स संभव हैं लेकिन हमेशा सभी मरीजों में नहीं होते हैं। आमतौर पर इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स में निम्न हो सकते हैं:

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • पेट में दर्द
  • चक्कर आना
  • हरे या काले रंग का मल
  • पेट खराब होना
  • सूजन
  • थकान
  • अनिद्रा
  • सरदर्द
  • उलझन

कुछ रोगियों को रिफागट से एलर्जी भी हो सकती है। ऐसे मामलों में तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें।

Read More: razo d in hindirenerve plus in hindirevital in hindi

Rifagut Allergic Reactions in Hindi – एलर्जी प्रतिक्रियाएँ

यद्यपि रिफागट का उपयोग जीवाणु संक्रमण के इलाज के लिए होता है लेकिन रिफागट से एलर्जी प्रतिक्रिया भी हो सकती है। इससे होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं के लक्षणों में नीम हो सकते हैं:

  • त्वचा पर चकत्ते या खुजली
  • विशेष रूप से चेहरे, होंठ और गले पर सूजन
  • सांस लेने या निगलने में कठिनाई
  • बेहोशी।

Rifagut Effects on Organs in Hindi – अंगों पर प्रभाव

जिगर की बीमारियों वाले मरीजों में इसकी कम खुराक की आवश्यकता होती है। ऐसे मरीजों को रिफागट को सावधानी से और डॉक्टर के निर्देशानुसार ही लेना चाहिए।

Rifagut Drug Interactions in Hindi – दवा इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

इंटरैक्शन करने वाली सभी दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता इसलिए आपको हमेशा अपने द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सभी दवाओं के बारे मे अपने चिकित्सक को सूचित करना चाहिए।

रिफागट के साथ प्रभाव डालने वाली कुछ सामान्य दवाओं में हैं:

  • गर्भनिरोधक गोली
  • मिडजोन
  • साइक्लोस्पोरिन
  • वारफरिन
  • प्रोपनोलोल
  • केतकोनाज़ोल
  • पैंटोप्रजोल

इन सभी दवाओं का रिफागट के साथ उपयोग करने से साइड इफेक्ट्स की संभावनाएं बढ़ सकती हैं और इस दवा के चिकित्सीय प्रभाव को भी प्रभावित कर सकती हैं।

Rifagut Effects/Results in Hindi – प्रभाव और परिणाम

कुछ रोगियों को पहले दिन से ही लक्षण कम होने दिख सकते हैं, लेकिन यदि लक्षण गायब हो भी गए हों तो भी दवा का कोर्स पूरा करना चाहिए।

सामान्य प्रश्न

क्या रिफागट नशे की लत है?

ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है।

क्या शराब के साथ रिफागट ले सकते हैं?

रिफागट के साथ शराब लेने के बारे मे प्रभाव स्पष्ट नहीं है। इसलिए पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ इसे लेने पर कोई प्रभाव नहीं देखे गए।

क्या गर्भवती होने पर रिफागट ले सकते हैं?

गर्भावस्था में रिफागट का उपयोग उपयुक्त नहीं है। पशु अध्ययन मे भ्रूण पर इसके प्रतिकूल प्रभाव दिखाई दिये हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान रिफागट लेने से बचें।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान रिफागट ले सकते हैं?

ऐसी अवस्था मे अपने डॉक्टर को सूचित करें। रिफागट के मानव दूध में उत्सर्जित होने के बारे मे प्रभाव ज्ञात नहीं है, इसलिए इसे स्तनपान कराने वाली माताओं को इसे लेना टालना चाहिए।

क्या रिफागट लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

रिफागट टैबलेट आपकी ड्राइव करने की क्षमता को प्रभावित नहीं करता लेकिन कुछ रोगियों को चक्कर आना, सतर्कता में कमी आदि हो सकते हैं है। ऐसे मामलों में भारी मशीनरी चलाने और वाहन चलाने के दौरान सावधानी बरतनी चाहिए।

यदि रिफागट ज्यादा मात्रा में लें तो क्या होगा?

रिफागट को तय की गयी मात्रा से अधिक नहीं लेना चाहिए। अधिक या बार बार इसे लेने से आपके लक्षणों में जल्दी सुधार नहीं होगा बल्कि यह हानिकारक साइड इफेक्ट्स का कारण बन सकता है।

यदि एक्सपायरी हो चुकी रिफागट लें तो क्या होगा?

किसी भी प्रतिकूल घटना को पैदा करने के लिए एक्सपायरी हो चुकी रिफागट टैबलेट की एक खुराक काफी नहीं है। लेकिन यदि आप अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो कृपया अपने चिकित्सक से सलाह लें।

यदि रिफागट की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होगा?

यदि आपको इसकी खुराक लेनी याद ना रहे तो दवा अच्छी तरह से काम नहीं करेगी क्योंकि दवा के प्रभावी रूप से काम करने के लिए शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा मौजूद होनी चाहिए। इसलिए जैसे ही आपको याद आए तुरंत अपनी भूली हुई खुराक का उपयोग करें। लेकिन यदि अगली खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

भंडारण

  • इसे सीधे प्रकाश और गर्मी से बचाकर रखें।
  • दवा को बच्चों और पालतू जानवरों से भी दूर रखें।

रिफागट लेते समय टिप्स

  • रिफागट का उपयोग केवल ई कोलाई बैक्टीरिया के कारण होने वाले दस्त के लिए ही किया जाना चाहिए। इसका उपयोग अन्य सूक्ष्मजीवों के कारण होने वाले दस्त, बुखार या खून वाले दस्त में नहीं करना चाहिए।

यदि आप रिफागट के इलाज के कुछ दिनों में ही बेहतर महसूस करने लगें तो भी आप कोर्स पूरा किए बिना दवा के बीच में ना रोकें नहीं तो तो लक्षण वापस आ सकते हैं या खराब हो सकते हैं।

Previous articleRevital in Hindi रिवाइटल: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न
Next articleSibelium 10 Mg Tablet in Hindi – सिबेलियम टैबलेट्स: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 5 =