ऋषिकेश में जाने के लिए आश्चर्यजनक जगहें (Rishikesh Best Places in Hindi)

0
1776
rishikesh-uttarakhand-best-places-in-hindi

rishikesh-uttarakhand-best-places-in-hindi

ऋषिकेश के बारे में

हिमालय की तलहटी पर उत्तराखंड में एक छोटा सा शहर ऋषिकेश है जो हिंदुओं के सबसे पवित्र स्थान और युवाओं के लिए एक लोकप्रिय सप्ताहांत में घूमने की जगह भी है| इसके धार्मिक महत्व के कारण इस क्षेत्र में अल्कोहल और मांसाहारी भोजन मना है। वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव की मेजबानी के लिए भी यह शहर जाना जाता है।

क्यों जाएँ: राफ्टिंग, आराम, साहसिक खेल,  प्राकृतिक सौंदर्य, मंदिर, योग

आदर्श: सप्ताहांत गंतव्य, मित्र, परिवार

सामान्य ज्ञान: ऋषिकेश भगवान विष्णु का नाम है जिसका अनुवाद है ‘संवेदना के भगवान’

लाने के लिए चीजें: बोहो कपड़े, ऊनी वस्त्र, प्रार्थना की घंटियां, हिंदू देवताओं की पीतल की मूर्तियां, खादी और रेशम साड़ी, हस्तशिल्प

यात्रा का सबसे अच्छा समय: पूरे साल, राफ्टिंग के लिए सबसे अच्छा समय सितंबर के अंत में है – मध्य नवंबर और फरवरी – मई

 ऋषिकेश में जाने के लिए जगहें

15. लक्ष्मण झूला और राम झूला

लक्ष्मण झूला एक हिलता हुआ पुल है जो उत्तराखंड और पौरी जिलों को आपस में जोड़ता है। इस पुल का इतिहास है रामायण काल ​​के समय की तारीख से है। ऐसा कहा जाता है कि लक्ष्मण ने इस जूट के पुल से ही गंगा नदी पार कर ली। सदियों बाद  फिर से एक 284 फीट लम्बे पुल का निर्माण उसी स्थान पर किया गया और जब 1924 की बाढ़ में यह बह गया तो  यहां एक निलंबन पुल बनाया गया। राम झूला एक और पुल है जहाँ से शहर का दृश्य सुंदर दिखाई देता है।

दूरी: शहर से 0 कि.मी

अपेक्षित समय: एक घंटे से भी कम

14. नीलकंठ महादेव मंदिर

1330 मीटर की ऊंचाई पर स्थित भगवान शिव को समर्पित  यह मंदिर घने जंगल से घिरा हुआ है और नर-नारायण पर्वत श्रृंखला के पास है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, यह वही जगह है जहां भगवान शिव ने असुर और देवों द्वारा महासागर के मंथन के बाद निकला हुआ जहर पी लिया था|

दूरी: शहर से 32 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

13. स्वर्ग आश्रम

योग प्रेमियों के लिए यह जगह विभिन्न गतिविधियों का केंद्र है। यह आश्रम शिवलिक पहाड़ियों के पास ही स्थित है, जो आवासीय सुविधाओं से युक्त है। आश्रम में पर्यटकों को धर्म और संस्कृति की शिक्षा डी जाती है| प्रवेश शुल्क का भुगतान करके इस आश्रम में घूमा जा सकता  है।

दूरी: इंटर स्टेट बस टर्मिनस आदर्श ग्राम से 3 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

खुलने का समय: 6 बजे से 8 बजे तक

12. बीटल्स आश्रम

1968 में बीटल्स महर्षि महेश योगी नामक एक संत से मिलने आये और उनके अधीन ध्यान का अभ्यास किया। तब से यह आश्रम उनके नाम से लोकप्रिय हो गया – ‘द बीटल्स आश्रम’ हालांकि इस आश्रम को 1997 में बंद कर दिया गया था लेकिन अभी भी यह एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। इस आश्रम को एक संग्रहालय के रूप में फिर से खोलने की बात की जा रही है।

दूरी: लक्ष्मण झूला से 3 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: एक घंटे से भी कम

11. परमार्थ निकेतन आश्रम

, ऋषिकेश का यह सबसे बड़ा आश्रम गंगा नदी के तट पर स्थित है। इस शांत जगह पर दुनिया भर से आने वाले भक्तों के लिए 1000 से ज्यादा कमरे हैं| आश्रम में योग, ध्यान, आध्यात्मिक वर्ग, कीर्तन, गंगा आरती और सत्संग जैसी दैनिक गतिविधियाँ होती हैं।

दूरी: लक्ष्मण झूला से 2.3 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 घंटे या उससे अधिक

10. त्रिवेणी घाट

गंगा, यमुना और सरस्वती नदियों के संगम बिंदु को त्रिवेणी घाट कहा जाता है। सबसे पवित्र घाटों में से एक इस घात के बारे में कहा जाता है कि भक्ति के साथ इसमें डुबकी लेने से मन और आत्मा शुद्ध हो जाते हैं| भक्त सुबह के समय नदी को दूध चढाते हैं और सूर्य नमस्कार करते हैं| शाम को महा आरती के समय यहाँ रोशनी देखने लायक होती है|

दूरी: लक्ष्मण झूला से 16 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

9. ऋषि कुंड

त्रिवेणी घाट से थोड़ी दूरी पर ऋषि कुंड या ऋषि का तालाब में गर्म पानी के झरने हैं जहां आप आराम कर सकते हैं। भगवान राम और सीता का रघुनाथ मंदिर भी बस इसके बगल में ही है। ऐसा कहते हैं कि भगवान राम अपने निर्वासन के दौरान इस तालाब में स्नान करते थे| प्राचीन काल में ऋषि अपनी प्रार्थनाओं से पहले स्नान करने के लिए इस्तेमाल करते थे।

दूरी: लक्ष्मण झूला से 16 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

और पढो:देहरादून|आगरा

8. नीरगढ़ झरना

नीरगढ़ झरना अपने भव्य जल-प्रपात और आसपास के शांत वातावरण के लिए जाना जाता है। प्रकृति प्रेम ने इस जगह की सुंदरता का आनंद लेने के लिए ऊपर की ओर जा सकते हैं।

दूरी: लक्ष्मण झूला से 7.5 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

7. वशिष्ठ गुफा

यह एक प्राचीन गुफा है जहां ऋषि वशिष्ठ ने अपनी पत्नी के साथ कई सालों तक ध्यान किया। पौराणिक कथाओं के अनुसार ऋषि वशिष्ठ भगवान ब्रह्मा के पुत्र थे और सप्तर्षियों (महान सात ऋषि) में से एक थे| 200 कदमों की दूरी पर एक गुफा है और पास में स्वामी पुरुषोत्तमंद आश्रम भी जा सकते हैं।

दूरी: ऋषिकेश से 25 कि.मी

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

6. पीर कलियार शरीफ

सूफी संत अलाउद्दीन अली अहमद सबीर का विश्राम स्थल पीर कलियार शरीफ एक दरगाह है। हरिद्वार के पास कलियारी गांव में स्थित यह हिंदू और मुस्लिम दोनों पर्यटकों को आकर्षित करती है।

दूरी: ऋषिकेश से 46 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

5. नरेंद्र नगर

तेहरी गढ़वाल में स्थित नरेंद्र नगर महाराजा नरेंद्र शाह का शाही महल था जो इस शहर के ऊँचे  जंगलों के बीच स्थित है जो 1919 में अस्तित्व में आया|, जो एक बहुत ही लोकप्रिय स्पा आनंद स्पा भी यहां स्थित है।

दूरी: ऋषिकेश से 20.9 किमी दूर

अपेक्षित समय: आधा दिन

4. कुंजापुरी मंदिर

देवी सती को समर्पित इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि सती की छाती यहां गिरी थी, जबकि बाकी के अवशेष भगवान शिव अपने साथ कैलाश ले गये थे। कुंजापुरी मंदिर नवरात्रि और दशहरा के दौरान बहुत से पर्यटकों को आकर्षित करता है जब यहाँ पर भव्य समारोह आयोजित किए जाते हैं। यहाँ ट्रैकिंग के लिए भी गंगोत्री, स्वर्ग रोहिणी, चौखम्बा और बेंडरपंच जैसी चोटियां हैं|

दूरी: ऋषिकेश से 25 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: 2 – 3 घंटे

3. शिवपुरी

साहस-प्रेमियों के लिए यह एकदम सही जगह है क्योंकि यहाँ पर राफ्टिंग, कैम्पिंग, ट्रेकिंग और फ्लाइंग फॉक्स जैसी विभिन्न गतिविधियां की जा सकती हैं| रोमांच में शामिल होने के साथ साथ यह गंगा के किनारे आराम पाने के लिए एक सुंदर जगह है।

दूरी: ऋषिकेश से 18.6 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: गतिविधियों के आधार पर एक दिन या अधिक

2. कौडियाला

एक खूबसूरत गांव है कौडियाला जहां से आप अपना लगभग 8 घंटे वाला और 36 कि.मी लम्बा  रोमांच से भपूर राफ्टिंग अभियान शुरू कर सकते हैं| इस चुनौतीपूर्ण अभियान में ग्रेड III, IV और V  जैसे नदी रैपिड्स हैं। आप यहां शिविर लगाकर प्रकृति का आनंद ले सकते हैं या फिर वॉलीबॉल, फुटबॉल जैसे खेलों में भाग ले सकते हैं या फिर ट्रेकिंग और पक्षी देखने जा सकते हैं। पर्यटकों को ताजा पका हुआ गांव का भोजन भी परोसा जाता है|

दूरी: ऋषिकेश से 40.8 कि.मी

अपेक्षित समय: गतिविधियों के आधार पर एक दिन या अधिक

1. राजाजी नेशनल पार्क

राजाजी नेशनल पार्क के अंतर्गत शिवालिकआता है लेकिन 1983 में चिल्ला और मोतीचुर वन्यजीव अभयारण्यों को भी इसमें विलय कर दिया गया था। यह बाघ अभयारण्य होने के साथ-साथ पक्षियों और जानवरों की कई प्रजातियों का घर है। यहां एक जंगल सफारी भी है। इस पार्क का नाम सी. राजगोपालाचारी जी के नाम पर रखा गया था जो स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रमुख नेता और स्वतंत्र भारत के दुसरे और अंतिम गवर्नर जनरल थे|

दूरी: ऋषिकेश से 18.4 कि.मी दूर

अपेक्षित समय: आधा दिन

यात्रा के लिए आसपास के स्थान

  • हरिद्वार
  • तेहरी गढ़वाल
  • कानातल
  • मसूरी
  • देहरादून
  • चकराता
  • देवप्रयाग
  • राजाजी राष्ट्रीय उद्यान
  • धनोल्टी
  • चंबा
  • लैंसडाउन

ऋषिकेश कैसे पहुंचे

निकटतम हवाई अड्डा:

देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा, 20.7 कि.मी

उड़ानें बुक करें: एयर विस्तारा, एयरएशिया,  यात्रा.कॉम

निकटतम रेलवे स्टेशन:

हरिद्वार

निकटतम बस स्टॉप:

हरिद्वार

बस बुक करके पैसा बचाएं: रेडबस कूपन,  अभीबस  कूपन

कार किराए पर लें: एविस कूपन, ज़ूमकार कूपन, माइल्स कूपन

ऋषिकेश में कहाँ रहें

गंगा किनारे, 60ज़ ग्रीन हिल्स, सेवेन हेवन इन

होटल बुकिंग पर छूट पायें: अगोड़ा  कूपन, होमवे कूपन, ओयो रूम्स कूपन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 2 =