रिस्पर्डल: उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां Risperdal in Hindi

0
798
risperdal fayde nuksan in hindi

रिस्पर्डल क्या है?

रिस्पर्डल टैबलेट में सक्रिय घटक के रूप में “सक्रिय राइपरिडोन” होता है|

रिस्पर्डल कैसे काम करता है?

रिस्पर्डल निम्न लक्षणों के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है –

  • स्किज़ोफ्रेनिया का उपचार।
  • द्विध्रुवीय विकार से जुड़े तीव्र मैनिक या मिश्रित एपिसोड का उपचार
  • ऑटिस्टिक डिसऑर्डर से जुड़े चिड़चिडेपन का उपचार

रिस्पर्डल इन स्थितियों से जुड़े मस्तिष्क के रासायनिक असंतुलन को ठीक करने में भी मदद करता है।

इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: 1 एमजीप्रैक्टो

रिस्पर्डल कैसे लें

रिस्पर्डल निम्नलिखित रूपों में मिलती है –

गोलियाँ – 0.25 मि.ग्रा. , 0.5 मि.ग्रा , 1 मि.ग्रा., 2 मि.ग्रा., 3 मि.ग्रा., 4 मि.ग्रा., 6 मि.ग्रा.

मौखिक रूप से गोलियों को 0.5 मि.ग्रा., 1 मि.ग्रा, 2 मि.ग्रा. विघटित करना

सिरप: – 30 मि.ग्रा. की बोतल 1 मि.ग्रा. प्रति  एम.एल. के साथ

इंट्रामस्क्यूलर प्रशासन के लिए रिस्पिरिडोन इंजेक्शन – 25 मि.ग्रा. की शीशी प्रति किट, 37.5 मि.ग्रा. की शीशी प्रति किट, 50 मि.ग्रा. की शीशी प्रति किट

  • मौखिक रूप रिस्पर्डल को भोजन के साथ या बिना भी ले सकते हैं| गैस्ट्रिक दुष्प्रभाव वाले मरीज इसे तुरंत भोजन के बाद ले सकते हैं|
  • इस टैबलेट को चबाये, तोड़े और कुचले बिना तरल पदार्थ के साथ पूरी तरह से निगल लेना चाहिए|
  • इसे डॉक्टर की सहमति के बिना लंबे समय तक उपयोग न करें।
  • अचानक से रिस्पर्डल लेना बंद नहीं करना चाहिए|इसकी खुराक को धीरे-धीरे कम करते हुए बंद करना चाहिए। अचानक दवा को रोकने से यह लक्षणों की वापसी का कारण बन सकता है।
  • लक्षणों में सुधार या बदतर होने के मामले में तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ|

भारत में रिस्पर्डल का मूल्य

  • 150 रुपये में 2 मि.ग्रा. की 30 गोलियों का पैकेट
  • 80 रुपये में 2 मि.ग्रा की 10 गोलियों का पैकेट
  • 50 रुपये में 4 मि.ग्रा की 30 गोलियों का पैकेट
  • रिस्पर्डल कॉनसटा 8180 रुपये में 2 मि.ली. की 50 मि.ग्रा इंजेक्शन की शीशी
Read More: Symbicort in HindiSynthyroid in HindiRemicade in Hindi

सामान्य खुराक और रिस्पर्डल कब लें

  • रिस्पर्डल की खुराक रोगी की उम्र और बीमारी के प्रकार या गंभीरता और प्रारंभिक खुराक लेने पर उसकी प्रतिक्रिया पर निर्भर करता है।
  • स्किज़ोफ्रेनिया में रिस्पर्डल की सामान्य मात्रा रोजाना दिन में एक या दो बार होती है। इसको शुरुआत में प्रति दिन 2 मि.ग्रा लें, लेकिन बाद में इसे प्रतिदिन 4 से 8 मि.ग्रा तक बढ़ा सकते हैं।
  • द्विध्रुवीय उन्माद में रिस्पर्डल की प्रारंभिक मात्रा प्रतिदिन 2 मि.ग्रा से 3 मि.ग्रा है।
  • मनचाहे परिणाम प्राप्त हो जाने के बाद इसकी खुराक धीरे-धीरे डॉक्टर कम कर देता है|
  • बुजुर्गों, जिगर और गुर्दे के मरीजों में इसकी खुराक के समायोजन की जरूरत होती है।

रिस्पर्डल से कब बचें?

रिस्पर्डल का उपयोग निम्न में सावधानी से करना चाहिए:

  • इसके किसी भी घटक से एलर्जी हो
  • उच्च या कम रक्तचाप वाली दिल या रक्त वाहिकाओं की समस्याएं
  • यदि दिल की समस्याएं हैं जैसे अनियमित हृदय गति, दिल की गतिविधि में असामान्यताएं या ऐसी दवाओं का उपयोग जो दिल की गतिविधि को बदल दे
  • आघात
  • निर्जलीकरण
  • गुर्दे या जिगर की समस्याएं
  • पार्किंसंस रोग
  • पागलपन
  • मिर्गी के दौरे
  • बेचैनी
  • इंट्राऑपरेटिव आईरिस सिंड्रोम
  • आत्महत्या का विचार
  • रक्त में पोटेशियम का कम स्तर
  • रक्त शर्करा का निम्न स्तर
  • स्तन कैंसर
  • पिट्यूटरी ग्रंथि की बीमारी
  • मधुमेह
  • टारडिव डिस्केनेसिया
  • न्यूरोलेप्टिक मालिग्नेंट सिंड्रोम
  • रक्त के थक्के का पारिवारिक इतिहास।
  • सफेद रक्त कोशिका की कम गिनती

रिस्पर्डल के दुष्प्रभाव

रिस्पर्डल से कई दुष्प्रभाव पैदा हो सकते हैं लेकिन वे सभी मरीजों में नहीं हो सकते| आम तौर पर देखे गए दुष्प्रभाव निम्न हो सकते हैं:

  • आलस्य
  • चक्कर आना
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • नींद, सिरदर्द, कांपना,
  • ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई
  • चिंता जैसे व्यवहारिक परिवर्तन
  • पैरों में मांसपेशी की कठोरता
  • भार बढ़ना
  • अपचन, मतली, पेट दर्द, कब्ज
  • अत्यधिक प्यास लगना
  • लगातार पेशाब आना
  • आँतों में अवरोध
  • स्तन के दूध का असामान्य स्राव
  • स्तन में सूजन
  • अनियमित मासिक चक्र
  • जीभ, चेहरे, मुंह, जबड़े, बाहों, पैरों की अनैच्छिक गतिविधियों

अंगों पर प्रभाव

जिगर और गुर्दे की बीमारी वाले मरीजों को सावधानी से और डॉक्टर की सलाह से रिस्पर्डल को लेना चाहिए।

Read More: Seroquel in HindiSingulair in HindiReglan in Hindi

एलर्जी प्रतिक्रियाएं

यदि आपको इसके किसी भी तत्व से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर से कहें। रिस्पर्डल से एलर्जी होने पर निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

  • लाल चकत्ते
  • सीने में जकड़न
  • खुजली
  • साँसों की कमी
  • चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन।

ड्रग इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

रिस्पर्डल को अन्य दवाओं, विटामिन की खुराक, हर्बल उत्पादों के साथ लेने से प्रभाव डाल सकता है जिनका आप लम्बे समय से उपयोग कर रहे हैं। इसलिए हमेशा अपने चिकित्सक को रिस्पर्डल का उपयोग करने से पहले अपने द्वारा इस्तेमाल की जाने वाले काउंटर उत्पादों या विटामिन की खुराक के बारे में सूचित करना चाहिए| सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता, कुछ महत्वपूर्ण इंटरैक्शन वाली दवाएं नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • शराब
  • फ्रुसेमाईड की तरह मूत्रवर्धक
  • नींद की गोलियाँ,
  • दर्द-नाशक,
  • एंटीथिस्टेमाइंस
  • एंटीबायोटिक दवाएं जैसे कि रैफैम्पिसिन
  • कार्बामाज़ेपाइन, मिर्गी या ट्राइगेमिनल न्यूरेलिया के लिए उपयोग की जाने वाली दवा
  • एंटी-फंगल जैसे इट्राकोनाज़ोल और केटोकोनाज़ोल
  • पार्किन्सन रोग या कंपकंपी के इलाज वाली दवाएं
  • मिर्गी का इलाज करने वाली दवाएं
  • अवसाद, आतंक विकार, चिंता या जुनूनी-बाध्यकारी विकार का इलाज करने वाली दवाएं
  • दिल या रक्तचाप वाली दवाएं
  • मासिक धर्म संबंधी डिस्पोरिक विकार के इलाज वाली दवाएं
  • मानसिक बीमारी या मनोवैज्ञानिक स्थितियों का इलाज करने वाली दवाएं
  • गंभीर मतली और उल्टी से छुटकारा पाने वाली दवाएं।

इन सभी दवाओं का उपयोग रिस्पर्डल के साथ करने से यह इन दवाइयों के चिकित्सीय प्रभाव को प्रभावित कर सकता है और साइड इफेक्ट्स की संभावनाओं को भी बढ़ा सकता है।

प्रभाव या परिणाम

रिस्पर्डल की प्रभावकारिता को निर्धारित करने के लिए 4 से 6 सप्ताह तक इंतज़ार करने की सलाह दी जाती है। लेकिन कुछ रोगियों में लक्षणों के सुधार में 16 से 20 सप्ताह तक का समय लग सकता है।

सामान्य प्रश्न

क्या रिस्पर्डल नशे की लत है?

रिस्पर्डल नशे की लत नहीं है लेकिन  इन दवाइयों पर निर्भरता से बचना चाहिए।

क्या शराब के साथ रिस्पर्डल ले सकते हैं?

रिस्पर्डल लेने के साथ शराब लेने की सलाह नहीं दी जाती क्योंकि इससे अत्यधिक उनींदापन और अशांति जैसे प्रतिकूल प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है इसलिए रिस्पर्डल लेने के दौरान शराब का लेने की सलाह नहीं दी जाती|

क्या किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

किसी भी खाद्य उत्पाद के साथ इसे लेने पर कोई बदलाव नहीं देखा गया। इसके साथ मध्यम आहार खाने की कोशिश करें क्योंकि रिस्पर्डल वजन बढ़ाने का कारण हो सकता है।

क्या गर्भवती होने पर रिस्पर्डल ले सकते हैं?

रिस्पर्डल को गर्भावस्था के दौरान ही लेने से यह भ्रूण पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है|इसलिए यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान रिस्पर्डल ले सकते हैं?

रिस्पर्डल मानव स्तन के दूध में उत्सर्जित के लिए जाना जाता है और बच्चे पर घातक प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है| इसलिए स्तनपान कराने से बचें और पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

क्या रिस्पर्डल लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

रिस्पर्डल का सेवन करने से सी.एन.एस. साइड इफेक्ट्स जैसे उनींदापन, चक्कर आना या सिरदर्द आदि हो सकते हैं| इसलिए इस दवा को लेने के दौरान वाहन और भारी मशीनरी चलाने की सलाह नहीं दी जाती|

यदि रिस्पर्डल अधिक मात्रा में लें तो क्या होगा?

रिस्पर्डल अधिक मात्रा में लेने से सुस्ती, उदासीनता, मांसपेशियों की कठोरता, उच्च हृदय गति, बेहद कम रक्तचाप आदि हो सकता है जिससे बेहोशी हो सकती है|

यदि एक्सपायरी हो चुकी रिस्पर्डल लें तो क्या होगा?

एक्सपायरी हो चुकी रिस्पर्डल की एक खुराक लेने से कोई बड़ा प्रतिकूल प्रभाव नहीं होता लेकिन समय के साथ दवा की शक्ति में कमी आ जाती है। यदि आपने ऐसी दवा का प्रयोग लम्बे समय तक किया है तो अपने चिकित्सक को इसके बारे में सूचित करें।

यदि रिस्पर्डल की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

जैसे ही आपको याद आये तुरंत अपनी भूली हुई खुराक लें। लेकिन यदि दूसरी खुराक का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

भंडारण

  • इसे सीधी गर्मी और नमी से दूर ठंडी और सूखी जगह पर रखें|
  • बच्चों और पालतू जानवरों से इन दवाओं को दूर रखें।

रिस्पर्डल लेते समय टिप्स

अचानक से ही रिस्पर्डल का उपयोग बंद नहीं करना चाहिए। इससे लक्षण बिगड़ सकते हैं|

पूर्व-रजोनिवृत्ति वाली महिलाओं को यदि रिस्पर्डल लेने के दौरान 6 महीने से अधिक समय तक मासिक धर्म नहीं  हुआ है तो डॉक्टर को सूचित करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 + nineteen =