Shankhpushpi in Hindi शंखपुष्पी: लाभ, उपयोग, खुराक और साइड इफेक्ट्स

shankhpushpi ke fayde aur nuksan in hindi

शंखपुष्पी(Shankhpushpi) नामक जड़ी-बूटी भारत और बर्मा में उगाई जाती है जिसका जिक्र कई आयुर्वेदिक ग्रंथों में भी पाया जाता है। इसका दूसरा नाम कन्वोलवुलस प्लुरिकालिस है और शंखपुष्पी को ‘मस्तिष्क के टॉनिक’ का उपनाम दिया गया है। यह मस्तिष्क की गतिविधियों को प्रभावित करने के लिए जाना जाता है और यादाश्त को तेज करने में मदद करता है।

Also See: Punarnavadi Mandoor Uses in HindiPunarnavarishta Uses in Hindi

1Shankhpushpi Benefits in Hindi – शंखपुष्पी के लाभ

नींद और हिस्टीरिया का इलाज करे

शंखपुष्पी(Shankhpushpi) को कुछ अन्य जड़ी बूटी के साथ मिलाकर पेस्ट बनाकर प्रयोग किया जाता है। यह नींद और हिस्टीरिया दूर रखने में मदद करता है। इन अन्य जड़ी बूटियों में दुदिया वाच और मीठा कुच आदि शामिल हैं।

मन शांत करे

शंखपुष्पी(Shankhpushpi) सिरदर्द और उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए भी लाभदायक है। ये लक्षण सामान्यत: क्रोध और रक्तचाप की वजह से पैदा होते हैं। शंखपुष्पी इन लक्षणों को शांत होने और आराम दिलाने में मदद करता है।

तंत्रिका तंत्र को मजबूत करे

इसे घी के साथ लेने से यह तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाने का काम करता है| इसे दीर्घायु करने के लिए भी अच्छा माना जाता है।

ठंडक देने वाले पेय के रूप में काम करे

इसे सख्त गर्मी में शरीर में गर्मी और जलन से छुटकारा पाने के लिए ठन्डे पेय के रूप में ले  सकते हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + sixteen =