Shatavari Kalpa in Hindi शतावरी कल्प: फायदे, उपयोग, मात्रा और नुकसान

शतावरी कल्प: फायदे, उपयोग, मात्रा और नुकसान

श्तावारी कल्प(Shatavari Kalpa) एक ऐसी आयुर्वेदिक दवाई है जो विशेषकर महिलाओं की प्रजनन प्रणाली के लिए टॉनिक की तरह प्रयोग की जाती है| इसमें गर्मी को कम करने के गुण होते हैं और आयुर्वेद के अनुसार यह वात और पित्त दोष को भी नियंत्रित करती है|

वाइल्ड एस्पराग्स (एस्पराग्स रेसमोसस) को ही शतावरी के नाम से जाना जाता है| इसकी टयूब जैसी जड़ों का उपयोग दवाइयां बनाने के लिए किया जाता है| जड़ों को जमीन से निकालने के बाद सुखाकर और पीसकर शतावरी चूर्ण बनाया जाता है जोकि या तो अकेले या फिर अन्य चीज़ों के साथ मिलाकर प्रयोग करते हैं|

Also See: Punarnavadi Mandoor ke NuksanPunarnavarishta ke Nuksan

1Shatavari Kalpa Composition in Hindi – शतावरी कल्प की रचना

शतावरी कल्प के हर 10 ग्राम में निम्न सामग्री होती है:

  • शतावर (एस्पराग्स रेसमोसस) जड़
  • इलाइची (एलेत्तारिया कार्डमम)
  • चीनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 1 =