spasmonil fayde nuksan in hindi

स्पास्मोनिल   क्या है?

स्पास्मोनिल में मुख्य तत्व के रूप मे डाइसक्लोमाइन 20 मि.ग्रा. और पैरासिटामोल 500 मि.ग्रा. होते हैं। यह एक एंटीस्पाज्मोडिक दवा है जिसका उपयोग आंतों की समस्या के इलाज़ के लिए किया जाता है जिसे आंत्र सिंड्रोम भी कहा जाता है।

स्पास्मोनिल का उपयोग

स्पास्मोनिल का इलाज निम्न के लिए भी प्रयोग किया जाता है:

  • मासिक-धर्म मे दर्द,
  • पेट में दर्द,
  • मांसपेशियों में दर्द
  • जोड़ों मे दर्द;
  • सर्जरी के बाद का दर्द
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: मेडलाइफमाइरा मेडिसिन

स्पास्मोनिल कैसे काम करता है?

स्पास्मोनिल में डाइसक्लोमाइन होता है जो एंटीस्पाज्मोडिक और एंटीकॉलिनर्जिक होता है और यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट की चिकनी मांसपेशियों को राहत देता है।

पेरासिटामोल शरीर में स्वाभाविक रूप से मौजूद चक्रवात-ऑक्सीजन (सीओएक्स) एंजाइमों के प्रभाव को रोककर कुछ रसायनों (प्रोस्टाग्लैंडिन के रूप में जाना जाता है) के उत्पादन में सहायता करते हैं जो चोट की जगह पर दर्द, सूजन और लाली के लिए जिम्मेदार होते हैं।

इस प्रकार सीओएक्स एंजाइमों के प्रभावों को रोकने के साथ प्रोस्टाग्लैंडिन के उत्पादन को भी  रोकता है जो दर्द को आसान बनाता है, त्वचा में खून का प्रवाह, गर्मी की कमी और पसीना बढ़ता है।

भारत में स्पास्मोनिल का मूल्य

  • 22 रुपये मे 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • 5 रुपये मे 10 मि॰ग्रा॰ की 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • स्पास्मोनिल प्लस: 75 रुपये मे 10 गोलियों की स्ट्रिप
  • स्पास्मोनिल फोर्ट सिरप: 6 रुपये 60 मि॰ली॰ सिरप की बोतल
Read More: sibelium uses in hindiserratiopeptidase uses in hindi |
 sporlac ds uses in hindi

स्पास्मोनिल कैसे लें?

स्पास्मोनिल की गोलियां डॉक्टर के निर्देश द्वारा रोजाना दिन मे 3 बार भोजन से पहले पानी के साथ ली जाती हैं।

अच्छे परिणाम पाने के लिए डॉक्टर इस दवा की कम खुराक से शुरू करके धीरे-धीरे खुराक बढ़ाने के निर्देश देता है। इसलिए सावधानीपूर्वक इन निर्देशों का पालन करें।

स्पास्मोनिल की सामान्य खुराक?

स्पास्मोनिल की खुराक और लेने का तरीका चिकित्सक द्वारा निम्न बातों को ध्यान मे रखकर तय किया जाता है:

  • रोगी की आयु और उसके शरीर का वजन
  • रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति और चिकित्सा की स्थिति
  • रोग की गंभीरता
  • पहली खुराक लेने पर प्रतिक्रिया
  • एलर्जी या दवा प्रतिक्रियाओं का इतिहास

बिना डॉक्टर की सहमति के या किसी की भी सिफारिश के इसकी खुराक लंबे समय तक उपयोग न करें।

स्पास्मोनिल से कब बचें?

निम्न स्थितियों में स्पास्मोनिल का उपयोग नहीं करना चाहिए-

  • स्पास्मोनील, डाइसिलक्लोमाइन या पैरासिटामोल से एलर्जी।
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट की अवरोधक बीमारी
  • गंभीर अल्सरेटिव कोलाइटिस
  • रिफ़्लक्स इसोफ़ेगाइटिस
  • तीव्र हेमोरेज में अस्थिर कार्डियोवैस्कुलर स्थिति
  • आंख का रोग
  • मियासथीनिया ग्रेविस
  • 6 महीने से कम उम्र के बच्चे।
  • स्तनपान कराने वाली माताएं

इन रोगियों में भी इसका सावधानी से प्रयोग करें:

  • स्वायत्त न्यूरोपैथी
  • लिवर या गुर्दे की बीमारी
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस
  • अतिगलग्रंथिता
  • रक्तचाप बढ़ना
  • दिल की बीमारी
  • दिल की धड़कन के विकार
  • ज्ञात या संदिग्ध प्रोस्टेट वृद्धि

स्पास्मोनिल के दुष्प्रभाव

  • यदि पर्यावरण का तापमान ज्यादा है तो इस दवा के उपयोग के साथ पसीने की कमी के कारण बुखार और गर्मी का दौरा हो सकता है।
  • इलियोस्टॉमी के रोगियों में (एक शल्य चिकित्सा ऑपरेशन जिसमें एक क्षतिग्रस्त हिस्सा इलियम से हटा दिया जाता है) दस्त एक साइड इफेक्ट के रूप में हो सकता है।
  • स्पास्मोनिल सिरप सूजन या धुंधली दृष्टि का कारण बन सकता है।
  • मनोवैज्ञानिक व्यक्तियों में भी संवेदनशीलता हो सकती है।
  • भ्रम, विचलन, अल्पकालिक स्मृति हानि, कोमा, उफोरिया, चिंता, थकान, अनिद्रा, , और व्यवहार में कमी आना जैसे अनुचित प्रभाव भी हो सकते हैं।
  • शिशुओं में, स्पास्मोनिल सिरप गंभीर श्वसन के लक्षण (सांस लेने में कठिनाई, सांस लेने में कठिनाई, सांस की तकलीफ और श्वसन पतन), फिट आना,चेतना का नुकसान, नाड़ी की दर में उतार-चढ़ाव और कोमा आदि हो सकते हैं।
Read More: surfaz sn uses in hindisupradyn uses in hindicypon syrup uses in hindi

एलर्जी प्रतिक्रियाएँ

इससे होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाओं में निम्न हैं:

विशेष रूप से चेहरे, होंठ और गले पर सूजन और सांस लेने या निगलने में कठिनाई।

अंगों पर प्रभाव

गुर्दे, दिल और जिगर की बीमारियों वाले मरीजों को इसकी कम खुराक की आवश्यकता होती है। ऐसे मरीजों में स्पास्मोनिल का सावधानी से प्रयोग करना चाहिए।

दवा इंटरैक्शन के बारे में सावधानी

सभी इंटरैक्शन करने वाली दवाओं को यहां सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता। इसलिए आपको हमेशा अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं और उत्पादों के बारे मे अपने चिकित्सक को बताना होगा। डॉक्टर की मंजूरी के बिना आपको दवा के नियम कोई फेरबदल नहीं करना चाहिए।

स्पास्मोनिल के साथ प्रभाव डालने वाली कुछ सामान्य दवाओं में निम्न हैं:

अमानटेडिन

एंटीरियथमिक एजेंट, (उदाहरण के लिए क्विनिन)

एंटीथिस्टेमाइंस

एंटीफंगल दवाएं, केटाकोनजोल

एंटीसाइकोटिक एजेंट (उदाहरण के लिए फेनोथियाज़िन)

बेंज़ोडायज़ेपींस

एम॰ए॰ओ अवरोधक

नारकोटिक दर्दनाशक (उदाहरण के लिए मेपरिडाइन)

नाइट्रेट्स और नाइट्राइट्स

अवसादरोधी

प्रभाव या परिणाम

यदि इसकी प्रभावकारिता 2 सप्ताह के भीतर न दिखाई दे तो स्पास्मोनिल लेना बंद कर देना चाहिए।

सामान्य प्रश्न

क्या स्पास्मोनिल नशे की लत है?

ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है।

क्या शराब के साथ स्पास्मोनिल ले सकते हैं?

स्पास्मोनिल के साथ शराब न पिये क्योंकि शराब सूजन को तेज कर देती है।

क्या किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

नहीं।

क्या गर्भवती होने पर स्पास्मोनिल ले सकते हैं?

यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की योजना बना रही हैं तो हमेशा अपने डॉक्टर को सूचित करें। गर्भावस्था के दौरान इस दवा का उपयोग केवल तभी करना चाहिए जब तक इसकी जरूरत ना हो।

क्या बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान स्पास्मोनिल ले सकते हैं?

यदि आप अपने बच्चे को स्तनपान करा रही हैं तो अपने डॉक्टर को सूचित करें। स्पास्मोनिल मानव दूध में उत्सर्जित होता है। इसलिए मां को या तो स्तनपान बंद कर देना चाहिए या दवा को बंद कर देना चाहिए।

क्या स्पास्मोनिल लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

कुछ रोगियों को नींद या चक्कर आ सकते हैं इसलिए इसे ड्राइविंग करते समय सावधानी से इस्तेमाल करना चाहिए।

यदि स्पास्मोनिल अधिक मात्रा में लें तो क्या होता है?

इसे तय की गयी खुराक से ज्यादा नहीं लेना चाहिए। अधिक मात्रा मे या बार बार लेने से लक्षणों में सुधार नहीं होगा बल्कि गंभीर साइड हो सकते हैं।

ज्यादा मात्रा मे इसे लेने के लक्षणों में शामिल है; जी मिचलाना, उल्टी, धुंधली दृष्टि, अभिस्तारण पुतली, गर्म, सूखी त्वचा, चक्कर आना, मुंह की सूखापन, निगलने में कठिनाई, और कंसोलन सहित सी॰एन॰एस उत्तेजना।

यदि एक्सपायरी हो चुकी स्पास्मोनिल खाएं तो क्या होगा?

किसी प्रतिकूल घटना को उत्पन्न करने के लिए एक्सपायरी हो चुकी स्पास्मोनिल की एक खुराक काफी नहीं है। लेकिन यदि आप एक्सपायरी दवा लेने के बाद अस्वस्थ या बीमार महसूस कर रहे हैं तो अपने चिकित्सक से सलाह लें।

यदि स्पास्मोनिल की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होता है?

यदि स्पास्मोनिल की खुराक लेनी ना रहे तो यह दवा अच्छी तरह से काम नहीं करती क्योंकि दवा को प्रभावी रूप से काम करने के लिए आपके शरीर में हर समय दवा की एक निश्चित मात्रा मौजूद होनी चाहिए। इसलिए जैसे ही आपको याद आए तुरंत भूली हुई खुराक लें। लेकिन यदि उसके बाद दूसरी खुराक लेने का समय हो गया हो तो दुगुनी खुराक न लें।

भंडारण

इसे कमरे के तापमान पर 86 एफ॰ (30 सी॰) से नीचे अत्यधिक गर्मी से बचाकर रखें।

स्पास्मोनिल लेते समय टिप्स

स्पास्मोनिल की वजह से गर्मी का स्ट्रोक हो सकता है क्योंकि इसे लेने के दौरान आपको कम पसीना आता है।

बहुत सारे तरल पदार्थ का उपयोग करें और यदि आप हो रहे हैं, तो इसे तुरंत ठंडा करने और आराम करने की कोशिश करें।

📢 Hungry for more deals? Visit CashKaro stores for best cashback deals & online products to save up to ₹15,000 per month. Download the app - Android & iOS to get free ₹25 bonus Cashback!
Previous articleसेराटिओपेप्टीडेज़ (Serratiopeptidase in Hindi): उपयोग, खुराक, मूल्य, साइड इफेक्ट्स, सावधानियां
Next articleSporlac DS in Hindi स्पोरलैक-डीएस: उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 + 14 =