T-Bact in Hindi टी-बैक्ट: प्रयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

0
2834

T Bact in Hindi टी-बैक्ट: प्रयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स, मूल्य, संरचना और 20 सामान्य प्रश्न

1What is T Bact in Hindi-टी-बैक्ट क्या है?

टी-बैक्ट का उपयोग मुख्य रूप से फोल्लीकुलिटिस (बालों के रोमकूपों के इन्फेक्शन) जैसी स्थितियों को रोकने या इलाज के लिए किया जाता है। इसे लगाने वाली जगह पर जलन होना इसे लगाये जाने की वजह से होने वाला प्रमुख दुष्प्रभाव है। टी-बैक्ट मरहम से एलर्जी के इतिहास के मामले में इससे पूरी तरह से बचना चाहिए।

टी-बैक्ट की संरचना – मुपिरोसिन 20 मि.ग्रा. (2% डब्लू / डब्लू), बेस के रूप में पानी
निर्मित – ग्लाक्सो स्मिथक्लाइन फार्मासुटिकल्स लि.।
प्रिस्क्रिप्शन – केवल पर्चे द्वारा बेचीं जाती है लेकिन यह ओटीसी के रूप में मिलती है।
प्रपत्र – मलहम
मूल्य – 240 रुपये में 15 ग्रा. मलहम की 2% की टयूब
एक्सपायरी – निर्माण की तारीख से 24 महीने तक
दवा का प्रकार – एंटी-बायोटिक

Also Read in English About T Bact


2Uses of T Bact in Hindi-टी-बैक्ट के उपयोग

टी-बैक्ट विभिन्न स्थितियों की रोकथाम और उपचार के लिए उपयोग होता है। यह निम्न के लिए तय है:

  • फुरुनकल: फ्यूरुनकल को फोड़ा के नाम से भी जाना जाता है।
  • ब्रुइज़: का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • फॉलिकुलिटिस: फॉलिकुलिटिस बालों के रोमकूपों  के इन्फेक्शन के मामलों में प्रयोग किया जाता है|
  • घाव: घाव भरने के मामलों में उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह घाव के इन्फेक्शन से बचाता है और घाव भरने को बढ़ावा देता है।
  • इम्पीटिगो: बच्चों (इम्पीटिगो) में इन्फेक्शन के लाल घाव जैसे मामलों में उपयोग किया जाता है।
  • इन्फेक्शन: मेथिसिलिन प्रतिरोधी स्टैफिलोकोकस ऑरियस इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है

3How Does T Bact Work in Hindi-टी-बैक्ट कैसे काम करता है?

  • टी-बैक्ट मलहम में मुपिरोसिन होता है जो कई स्यूडोमोनिक एसिड का मेल होता है।
  • मुपिरोसिन स्टैफिलोकोकस ऑरियस और स्ट्रेप्टोकोकस (ग्राम-पॉजिटिव बैक्टीरिया) में आइसोलेसिल टी-आरएनए सिंथेटेस को विपरीत मोड़ता है, जिसके परिणामस्वरूप प्रोटीन के संश्लेषण का निषेध होता है और बैक्टीरिया की दीवार और डीएनए को भी नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।
  • बैक्टीरियल सेल की कोशिका की दीवार पर प्रोटीन के संश्लेषण और प्रभाव का निषेध करके विनाश की ओर जाता है।
और पढो: सीटोरसेफिक्सिमसिप्रोफ्लोक्सासिन

4How to Take T Bact in Hindi-टी-बैक्ट कैसे लगायें?

  • हमेशा टी-बैक्ट मलहम लगाने से पहले और बाद में हाथ धोएं।
  • इस मलहम की एक पतली परत को प्रभावित क्षेत्र पर लगाना चाहिए और धीरे से मलना चाहिए।
  • सुविधा के अनुसार प्रभावित क्षेत्र को रुई के टुकड़े के साथ ढका जा सकता है|
  • इस मलहम को ज्यादा मात्रा में लगाने से बचें क्योंकि इससे अवांछनीय प्रभाव पैदा हो सकते हैं|
  • रोगी को सलाह दी जाती है कि दवा को कैसे संभालना है, इसकी बेहतर समझ रखने के लिए पैकेज के अंदर लीफलेट को पढना चाहिए।

5Common Dosage for T Bact in Hindi-टी-बैक्ट की सामान्य खुराक

  • चिकित्सक रोगी की आयु, वजन, मानसिक स्थिति, एलर्जी के इतिहास के अनुसार दवा की खुराक तय करता है।
  • इसकी थोड़ी सी मात्रा (लगभग एक मटर का आधा आकार) प्रभावित क्षेत्र पर लगाया जाता है|
  • टी-बैक्ट मलहम दिन में तीन बार लगाया जाता है लेकिन चिकित्सक इसकी खुराक बदल सकता है।
  • इसकी खुराक में बदलाव के लिए हमेशा डॉक्टर से सलाह लेना उचित है।

यदि टी-बैक्ट अधिक मात्रा में लें तो क्या होगा?

टी-बैक्ट मलहम को तय की गयी मात्रा से ज्यादा  न लगायें क्योंकि गंभीर मामलों में इससे लाली, खुजली, दाने, जलन और त्वचा पर गंभीर जलन जैसे दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

यदि टी-बैक्ट की खुराक लेनी याद ना रहे तो क्या होगा?

टी-बैक्ट लगाना भूल जाने की स्थिति में यह  प्रभाव नहीं दिखाता| इसलिए याद आते ही तुरंत इसे लगाना चाहिए। लेकिन यदि दूसरी खुराक लगाने का समय पहले से ही हो गया हो तो दोबारा ना लगायें|

यदि एक्सपायरी टी बैक्ट लगायें तो क्या होगा?

एक्सपायरी टी-बैक्ट के एक बार उपयोग से कोई प्रभाव नहीं होता। लेकिन दवा की प्रभावकारिता कम हो सकती है और ऐसे मामलों में डॉक्टर से सलाह की जानी चाहिए। एक्सपायरी दवा उपयोग करने से परहेज करना ही उचित है।

टी-बैक्ट के प्रभाव की शुरुआत का समय क्या है?

टी-बैक्ट के काम करने की शुरुआत का समय इलाज की स्थिति के अनुसार अलग-अलग हो सकता है।

टी बैक्ट का प्रभाव कब तक रहता है?

इस दवा को अपना प्रभाव दिखाने में 1 से 2 दिन का समय लगता है। इसके लक्षण दुसरे दिन ही गायब होना शुरू कर देते हैं|

और पढो: डैपॉक्सेटिनसेटज़ाइनमेबेक्स

6When to Avoid T Bact in Hindi-टी बैक्ट से कब बचें?

निम्न स्थितियों में टी-बैक्ट न लगायें:

  • जननांग क्षेत्र: टी-बैक्ट का उपयोग जननांग क्षेत्रों में नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि इसका उपयोग केवल बाहरी क्षेत्रों में किया जाता है।
  • एलर्जी/अतिसंवेदनशीलता: टी-बैक्ट या इसकी किसी भी सामग्री से एलर्जी या अतिसंवेदनशीलता के मामलों में।
  • कम उम्र: इसका उपयोग बच्चों में बाल रोग विशेषज्ञ की सलाह के बिना नहीं किया जाना चाहिए।

7Precautions While Taking T Bact in Hindi-टी-बैक्ट लेते समय सावधानियां

  • एलर्जिक रिएक्शन: अगर टी बैक्ट के इस्तेमाल के बाद कोई भी एलर्जी प्रतिक्रिया होती है तो तुरंत चिकित्सीय मदद लें|
  • आंखों के संपर्क से बचें: हमेशा बाहरी जगहों पर दवा लगायें और आंख के संपर्क में लाने से बचें और यदि ऐसा होता है तो चेहरे को ताजे पानी से अच्छी तरह धो लें।
  • खुराक में बदलाव से बचें: जब तक डॉक्टर द्वारा न कहा जाए, तब तक दवा में बदलाव से बचना चाहिए।
  • समय का अंतराल: इस दवा के उपयोग से बचने के लिए इसे दो बार उपयोग करने के बीच में एक निश्चित समय का अंतराल रखना चाहिए, लगभग  दो खुराक के बीच 5 से 10 मिनट का अंतर रखें।

टी-बैक्ट लेते समय चेतावनी

  • टी-बैक्ट का उपयोग किसी अन्य लगाने वाली दवा के साथ करते समय इसे कम से कम 5 से 10 मिनट देर करनी चाहिए।
  • टी-बैक्ट मलहम को अंदर लगाने से बचें।
  • चिकित्सक की सलाह के बिना इसके उपयोग में बदलाव ना करें|
  • बाल रोग विशेषज्ञ द्वारा बताये अनुसार बच्चों में टी-बैक्ट नहीं लगानी चाहिए।

8Side-Effects of T Bact in Hindi-टी-बैक्ट के साइड-इफेक्ट्स

टी-बैक्ट के विभिन्न प्रभावों के लिए उपयोग किए जाने पर साइड इफेक्ट्स निम्न हो सकते हैं:

  • लगाने वाली जगह पर जलन (सामान्य)
  • झुनझुनी (कम सामान्य)
  • दाने (कम सामान्य)
  • खुजली (कम सामान्य)
  • लाली (कम सामान्य)
  • त्वचा का छिलना (दुर्लभ)
  • लंबे समय तक इस्तेमाल से फंगल बढ़ सकती है। (दुर्लभ)

क्या एलर्जी संबंधी प्रतिक्रियाएं हैं जो कि टी बैक्ट से होती हैं?

टी-बैक्ट से होने वाली एलर्जी प्रतिक्रियाएँ हैं:

  • चकत्ते – कम सामान्य
  • खुजली – सामान्य
  • सांस लेने में कठिनाई – कम सामान्य
  • रूखी त्वचा – कम सामान्य

अंगों पर प्रभाव

जिगर और गुर्दे के रोगियों में टी-बैक्ट लगाने से कोई प्रभाव दिखाई नहीं दिए हैं लेकिन इस मलहम का उपयोग शुरू करने से पहले डॉक्टर से उचित सलाह लेनी चाहिए।

9Drug Interactions With T Bact in Hindi-टी-बैक्ट के साथ दवा इंटरैक्शन

टी-बैक्ट लगाने पर व्यक्ति को कुछ दवाओं से  पारस्परिक क्रियाओं से सावधान रहना चाहिए। टी-बैक्ट का सेवन करने पर हमेशा कुछ दवाओं से सावधान रहना चाहिए। टी-बैक्ट का सेवन करते समय हमेशा खाद्य पदार्थों, अन्य दवाओं या लैब परीक्षणों के बारे में जागरूक रहें। हम इन विवरणों का पता लगाते हैं।

1. टी बैक्ट के साथ खाद्य पदार्थ

परहेज करने के लिए कोई विशेष खाद्य पदार्थ नहीं है।

2. टी बैक्ट के साथ दवाएँ

टी-बैक्ट एक लगाने वाली दवा है, इसलिए किसी भी अन्य दवा से इसकी प्रतिक्रिया नहीं होती| जब तक कि किसी अन्य लगाने वाली दवा का उपयोग उस जगह पर ना किया जा रहा हो। इसलिए यह हमेशा सलाह दी जाती है कि रोगी को डॉक्टर के द्वारा उपयोग की जाने वाली सभी दवाओं/उत्पादों के बारे में सूचित करना चाहिए। आपको उन हर्बल उत्पादों के बारे में डॉक्टर को सूचित करना चाहिए जिन्हें आप वर्तमान में उपयोग कर रहे हैं। अपने डॉक्टर की सलाह के बिना कभी भी दवा की खुराक में बदलाव नहीं करना चाहिए।

3. लैब टेस्ट पर टी-बैक्ट का प्रभाव

टी-बैक्ट का किसी भी प्रयोगशाला परीक्षण पर कोई प्रभाव नहीं डालता|

4. टी बैक्ट की पहले से मौजूद स्थितियों या बीमारियों के साथ पारस्परिक क्रिया

एलर्जी प्रतिक्रिया वाले रोगी

क्या शराब के साथ टी-बैक्ट ले सकते हैं?

अल्कोहल लेने और मलहम लगाने के प्रभाव दिखाने की कोई रिपोर्ट नहीं है, लेकिन सुरक्षा उपाय के रूप में शराब लेने से बचना चाहिए।

किसी भी विशेष खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए?

टी-बैक्ट का सेवन करने पर किसी विशेष खाद्य पदार्थ से बचने की जरूरत नहीं है।

क्या गर्भवती होने पर टी-बैक्ट ले सकते हैं?

हाँ, भ्रूण पर इसका कोई बुरा प्रभाव अभी तक नहीं देखा गया लेकिन गर्भवती होने के मामले में डॉक्टर को सूचित किया जाना चाहिए|

क्या बच्चे को स्तनपान कराते समय टी बैक्ट ले सकते हैं?

हाँ, स्तनपान कराने वाली माताओं और शिशु के लिए इसे लगाने से पहले अपने चिकित्सक को सूचित करना उचित है।

क्या टी-बैक्ट को लेने के बाद ड्राइव कर सकते हैं?

हां, टी बैक्ट ड्राइव करने की क्षमता को प्रभावित नहीं करती|


10T Bact Composition, Variant and Price in Hindi-टी बैक्ट की संरचना और मूल्य – खरीदने के लिए गाइड

टी-बैक्ट वेरिएंट टी-बैक्ट सरंचना टी-बैक्ट की कीमत
टी-बैक्ट 5 मि.ग्रा. मलहम मुपीरोसीन 2% डब्लू / डब्लू 47 रूपए में 1 पैक
टी-बैक्ट 15 ग्रा. मलहम मुपीरोसीन 2% डब्लू / डब्लू

 

97.50 रूपए में 1 पैक
इस दवा को खरीदें और 20% छूट प्राप्त करें: मेडलाइफ  | सेवऑनमेडिकल

11Substitutes of T Bact in Hindi-टी बैक्ट के स्थान पर

इसके लिए निम्न दवाएं हैं:

बैक्टिफिक्स 5 ग्राम मरहम:

  • निर्मित – सॉल्विस फार्मा
  • मूल्य – 99 रूपए के 5 मि.ग्रा.

मुपिनेस 5मि.ग्रा. मलहम:

  • निर्मित – सिप्ला
  • मूल्य – 101.5 रूपए की 5 मि.ग्रा.

मुपिनेस 7.5मि.ग्रा. मलहम:

  • निर्मित – सिप्ला
  • मूल्य – 125.95 रूपए में की 7.5 मि.ग्रा.

भंडारण

  • इस दवा को 25 डिग्री सेल्सियस से नीचे ठंडी, सूखी जगह पर 25 डिग्री से नीचे कमरे के तापमान पर रखना चाहिए|
  • दवा को बच्चों की पहुँच से दूर रखें|
  • दवा को फ्रीज़ ना करें|

12FAQs in Hindi-सामान्य प्रश्न

टी-बैक्ट क्या है?

टी-बैक्ट मलहम जीवाणु इन्फेक्शन के उपचार के लिए एंटी-बायोटिक का एक लगाने वाला रूप है। यह मुख्य रूप से मेथिसिलिन प्रतिरोधी स्टैफिलोकोकस ऑरियस (एमआरएसए) इन्फेक्शन और फॉलिकुलिटिस जैसे पॉजिटिव बैक्टीरिया के कारण होने वाले इन्फेक्शन के उपचार के लिए मुख्य रूप से उपयोग किया जाता है। लेकिन यह वायरल और फंगल इन्फेक्शन के खिलाफ अप्रभावी है।

टी-बैक्ट के क्या प्रयोग हैं?

यह मुख्य रूप से मेथिसिलिन प्रतिरोधी स्टैफिलोकोकस ऑरियस (एमआरएसए) के इन्फेक्शन और फोलिकुलिटिस जैसे पॉजिटिव बैक्टीरिया से होने वाले इन्फेक्शन के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है।

टी-बैक्ट के क्या दुष्प्रभाव हैं?

टी बैक्ट के सबसे सामान्य दुष्प्रभाव लगाने वाली जगह पर जलन, झुनझुनी, दाने, खुजली, लालिमा, त्वचा का छिलना, लंबे समय तक उपयोग से फंगल बढना हो सकती है।

टी-बैक्ट कितना प्रभावी है?

टी-बैक्ट अपने एंटीबायोटिक गुणों के कारण दर्द निवारक के रूप में भी प्रभावी है। लेकिन एंटीबायोटिक के रूप में अन्य दवाएं हैं जो बुखार का इलाज करने के लिए उपयोग किए जाने पर बेहतर प्रदर्शन करती हैं।

टी-बैक्ट को परिणाम दिखाने के लिए कितना समय लगता है?

टी-बैक्ट लगाने के पहले सप्ताह के भीतर ही यह अपना प्रभाव दिखाता है लेकिन तब तक लगाना जारी रखना चाहिए जब तक कि डॉक्टर द्वारा रोका न जाए।

क्या टी-बैक्ट को खाली पेट लेना चाहिए?

टी बैक्ट को खली पेट नहीं लेना चाहिए|

क्या टी-बैक्ट मदहोश करता है?

टी-बैक्ट उनींदेपन का कारण नहीं होती|

टी-बैक्ट लगाने के बीच समय का अंतराल क्या होना चाहिए?

टी-बैक्ट की दो खुराकों के बीच कम से कम 5 से 10 मिनट का अंतराल होना चाहिए।

क्या चिकित्सा का कोर्स पूरा करना चाहिए, भले ही ठीक हो जाएँ?

टी-बैक्ट का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के अनुसार कड़ाई से करना चाहिए। बीच में टी-बैक्ट लगाना बंद करने से लक्षण दोबारा वापिस आ सकते हैं|

टी-बैक्ट को कब और कैसे रोकना है, यह डॉक्टर के द्वारा तय किया जाना चाहिए।

क्या टी-बैक्ट मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करता है?

टी-बैक्ट आमतौर पर मासिक धर्म चक्र को प्रभावित नहीं करती क्योंकि यह केवल लगाने  के लिए है लेकिन दवा के उपयोग से पहले हमेशा पहले से मौजूद मासिक धर्म की समस्याओं के मामले में डॉक्टर से सलाह करें।

क्या टी-बैक्ट बच्चों के लिए सुरक्षित है?

एहतियात के तौर पर बच्चों को टी-बैक्ट लगाने से पहले हमेशा बाल रोग विशेषज्ञ से सलाह लें क्योंकि वयस्कों की तुलना में बच्चों की त्वचा ज्यादा संवेदनशील होती है।

क्या टी-बैक्ट लगाने से पहले किसी लक्षण दिखाई देने पर ध्यान देना चाहिए?

टी-बैक्ट से कोई भी एलर्जी का इतिहास, चकत्ते, खुजली या जलन या दवाओं के एक ही वर्ग वाले  लक्षणों के साथ, टी बैक्ट का उपयोग करने से पहले ध्यान रखना चाहिए।

क्या भारत में टी-बैक्ट कानूनी है?

हां, यह भारत में कानूनी है।


डिस्क्लेमर – ऊपर दी गई जानकारी हमारे शोध और ज्ञान के सर्वश्रेष्ठ है। हालांकि, आपको दवा का सेवन करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है।

13लेखक –

Reviewed and Edited by Dr. Pradeep - Clinical Research Coordinator

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 20 =