Triphala Churna in Hindi त्रिफला चूर्ण उर्फ ​​पाउडर: लाभ, उपयोग, खुराक और नुकसान

0
4950
त्रिफला चूर्ण उर्फ ​​पाउडर: लाभ, उपयोग, खुराक और नुकसान

Triphala Churna in Hindi- त्रिफला चूर्ण (पाउडर) क्या है?            

त्रिफला तीन फलों का संयोजन है जिनको सुखाकर और पीसकर त्रिफला चूर्ण बनाया जाता है|

  • आंवला या भारतीय गूसबेरी (एम्बिलिका ओफ्फिसिनालिस)
  • बहेडा या विभीतिका (टर्मिनलिया बेलिरिका)
  • हरड या हरितकी (टर्मिनलिया चेबुला)

यह तीनो फल सुखाये जाते हैं और फिर सही मात्रा में मिलाकर इन्हें ‘त्रिफला’ पूर्ण के रूप में बेचा जाता है। यह मिश्रण में त्वचा, बालों के साथ-साथ पूर्ण स्वास्थ्य के लिए ही फायदेमंद है| हैं।

Properties of Triphala Churna in Hindi- त्रिफला के गुण

  • रेचक
  • एंटी ऑक्सीडेंट
  • एंटी इंफ्लेमेटरी
  • एंटी बैक्टीरियल
  • एंटी वायरल
  • एडाप्टोजेनिक
  • कफ निस्सारक
  • कामिनटिव
  • हेमोग्लोबिन बढ़ाने वाला
  • कैंसर से लड़ने वाले गुण
Also Read: Dabur Honey ke Nuksan | Dabur Shilajit Gold ke Nuksan

Benefits of Triphala Churna in Hindi- त्रिफला के फायदे

श्रेणी फायदे
बालों के लिए बाल गिरने की समस्या को नियंत्रित करे
बालों के लिए डैंड्रफ का उपचार
त्वचा के लिए त्वचा को पुनर्जीवन
त्वचा के लिए डार्क सर्कल का उपचार
त्वचा के लिए एक्जिमा का इलाज़
स्वास्थ्य के लिए पाचन प्रणाली को सुधारे
स्वास्थ्य के लिए डीटाक्स करे
स्वास्थ्य के लिए आंखों की रौशनी बढाये
स्वास्थ्य के लिए खून के दौरे में तेज़ी लाये
स्वास्थ्य के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा
स्वास्थ्य के लिए सूजन ठीक करे
स्वास्थ्य के लिए पोषक तत्वों से भरपूर
स्वास्थ्य के लिए चर्बी को हटाये
स्वास्थ्य के लिए वजन घटाने में मदद करे
स्वास्थ्य के लिए संधि शोथ से लड़े
स्वास्थ्य के लिए रक्तचाप को नियंत्रित करे
स्वास्थ्य के लिए घावों की शीघ्र चिकित्सा
स्वास्थ्य के लिए एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-एलर्जिक
स्वास्थ्य के लिए मधुमेह से लड़े
स्वास्थ्य के लिए मोशन सिकनेस
स्वास्थ्य के लिए बच्चों के लिए अच्छा
स्वास्थ्य के लिए हार्मोनल समस्याओं पर नियन्त्रण
स्वास्थ्य के लिए दुर्गन्ध से मुकाबला

Benefits of Triphala Churna for Hair fall in Hindi- बालों के लिए लाभ

बाल गिरने की समस्या को नियंत्रित करे

त्रिफला पाउडर बाल झड़ने की समस्या का प्राकृतिक इलाज़ है। आप त्रिफला पाउडर और पानी को मिलाकर बने हुए मिश्रण को पी सकते हैं या बालों पर भी लगा सकते हैं| इस चूर्ण की विशेषताएं आपके बालों को नमी देने के साथ साथ बालों को गिरने से बचाती हैं|

डैंड्रफ का उपचार

त्रिफला पाउडर को हेयर मास्क के रूप में बालों पर लगाया जा सकता है जो जड़ों से रूसी का  सफाया कर देता है।

Benefits of Triphala Churna for Skin in Hindi- त्वचा के लिए लाभ

त्वचा को पुनर्जीवन

त्रिफला के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मुहांसों और पिग्मेंटेशन को कम कर सकते हैं। यह अपने  मॉइस्चराइजिंग गुणों के कारण, आपकी त्वचा को दोबारा जीवन प्रदान करके नरम बना देता है।

डार्क सर्कल का उपचार

त्रिफला चूर्ण के पानी से आंखों को साफ़ करने से सूजी हुई आंखों और काले घेरों से राहत मिलती है।

एक्जिमा का इलाज़

त्रिफला का पानी एक्जिमा के लिए एक प्रभावी इलाज है। आप एक्जिमा का उपचार करने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर सीधे ही त्रिफला का पानी लगा सकते हैं।

Benefits of Triphala Churna for Health in Hindi- स्वास्थ्य के लिए लाभ

पाचन प्रणाली को सुधारे

त्रिफला चूर्ण एक रेचक की तरह काम करते हुए आँतों की गतिविधि को नियंत्रित करता है। एक बड़ा चम्मच त्रिफला चूर्ण पानी में मिलाकर लेने से पेट फूलना, यहां तक दस्त जैसी पाचन समस्याओं से छुटकारा दिला सकती है। त्रिफला पेट तो साफ करता ही है इसके इलावा भी पूरे पाचन तंत्र को पोषक तत्व देता है।

डीटाक्स करे

एक गिलास पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर लेने से पूरे शरीर की प्रणाली विषमुक्त हो जाती है| यह त्वचा में एक स्वस्थ उज्ज्वलता जोड़ता है| इस मिश्रण को  बनाने के लिए, दो चम्मच त्रिफला चूर्ण, एक चम्मच कुचली हुई अदरक को गर्म पानी में मिला लें| मिश्रण को रात भर ऐसे ही पड़ा रहने दें और सुबह इतना उबालें कि यह सूखकर आधा  रह जाए| इसे छानकर इसमें निम्बू का रस मिलाएं और प्रयोग करें|

आंखों की रौशनी बढाये

त्रिफला आँखों का स्वास्थ्य बढाने का भी कार्य करता है, जो आँखों की रौशनी को तेज करता है और आंखों को स्वस्थ बनाए रखता है।

खून के दौरे में तेज़ी लाये

त्रिफला चूर्ण का सेवन रक्त कोशिकाओं में खून के बहाव को बढ़ा देता है| त्रिफला चूर्ण के  उपयोग से लाल रक्त कोशिकाओं की गिनती भी बढ़ जाती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा

त्रिफला चूर्ण  पाचन तंत्र की सफाई करके रक्त संचालन को बढ़ावा देता है| शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व और खनिज प्रदान करके शरीर को मजबूत बनाता है जिससे शरीर की समग्र प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा मिलता है।

सूजन ठीक करे

त्रिफला का नियमित उपयोग शरीर में प्रतिरक्षा और पोषक तत्वों के निम्न स्तर की वजह से होने वाली सूजन को कम कर देता है।

पोषक तत्वों से भरपूर

त्रिफला का रस विटामिन और खनिजों में भरपूर होता है। त्रिफला का नियमित रूप से सेवन  आपके शरीर को मजबूत कर सकता है और इसे सबसे ऊँचे स्तर पर ले जाने में भी सक्षम है।

चर्बी को हटाये

त्रिफला शरीर की फालतू चर्बी से छुटकारा पाने में भी मदद करता है और शरीर से विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है।

वजन घटाने में मदद करे

त्रिफला कोलेस्टोकिनिन हार्मोन निकालता है जिसकी वजह से पेट भरा हुआ महसूस होता है| दिन में तीन बार गर्म पानी में एक बड़ा चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर लेने से आप वजन तेज़ी से कम करने के परिणाम देखेंगे|

Also Read: Dalchini Benefits in HindiElaichi Powder ke Nuksan

संधि शोथ से लड़े

त्रिफला में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो गठिया, संधि शोथ और अन्य जोड़ों के दर्दों से आराम दिलाते हैं। इस जड़ी बूटी का पाउडर हड्डियों को अन्य आवश्यक पोषक तत्व भी देता है जो उन्हें मजबूत बनाते हैं| इसके अलावा, त्रिफला शरीर में सूजन पैदा करने वाले बढे हुए यूरिक एसिड को भी हटा देता है

रक्तचाप को नियंत्रित करे

त्रिफला पाउडर रक्त प्रवाह को बढ़ाकर रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी सहायक है| यह  कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियंत्रित करता है। इसकी मौजूद लिनोलिक एसिड उच्च रक्तचाप से लड़कर हृदय की समस्याओं को दूर करता है।

घावों की शीघ्र चिकित्सा

त्रिफला के एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबायल गुण घावों के तुरंत उपचार के लिए बहुत प्रभावी हैं।

एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-एलर्जिक

त्रिफला के एंटी-वायरल गुण मामूली सर्दी से एचआईवी एड्स तक की बीमारियों का इलाज कर सकते हैं। यह चूर्ण उन लोगों द्वारा भी लिया जा सकता है जो किसी भी प्रकार की एलर्जी के प्रति संवेदनशील हैं|

मधुमेह से लड़े

त्रिफला पाउडर में हाइपोग्लाइसेमिक गुण होते हैं जो कोशिकाओं के लिए इंसुलिन को चूसना आसान बना देते है। इसलिए, आप इंसुलिन शॉट्स लिए बिना भी स्वाभाविक रूप से मधुमेह का इलाज कर सकते हैं।

मोशन सिकनेस

जब लोग यात्रा करते समय चक्कर आने और गति कि वजह से बीमार अनुभव करते हैं तो त्रिफला चूर्ण का आधा चम्मच शहद में मिलाकर ले सकते हैं।

बच्चों के लिए अच्छा

जब दूध या शहद में त्रिफला चूर्ण मिलाकर लिया जाए तो कई सामान्य जीवाणुओं और वायरल संक्रमण जैसे सामान्य सर्दी, खांसी और बुखार से आराम मिलता है जिसकी वजह से आम तौर पर बच्चे ही पीड़ित रहते हैं|

हार्मोनल समस्याओं पर नियन्त्रण

अनियमित मास्की चक्र और मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द जैसी समस्याओं को त्रिफला चूर्ण का उपयोग करके ठीक किया जा किया जा सकता है। यह एंडोक्राइन ग्रंथि को नियंत्रित करके थायराइड के स्वास्थ्य को भी बनाए रखकर है। प्रभावी परिणामों के लिए त्रिफला चूर्ण को रात को सोने के ठीक पहले और रात के खाने के कुछ घंटों के बाद लिया जा सकता है।

दुर्गन्ध से मुकाबला

शहद के साथ आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण का उपयोग करने से आप सांस की दुर्गन्ध से छुटकारा पा सकते हैं|

Benefits of Triphala Churna for Skin in Hindi- त्रिफला चूर्ण का उपयोग त्वचा के लिए

चमकती त्वचा के लिए

आप सप्ताह में एक बार त्रिफला मास्क का प्रयोग करके नर्म और चमकदार त्वचा पा सकते हैं।

लगभग 3 चम्मच गर्म तेल में 1 ½ चम्मच त्रिफला पाउडर मिलाएं|

इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगायें|

लगभग 15 मिनट के बाद धो लें

डार्क सर्कल का उपचार

सूजी हुई आँखों और डार्क सर्कल से छुटकारा पाने के लिए पानी में थोड़ी सी मात्रा में चूर्ण मिलाकर अपनी आंखों को धोएं या थोरी देर लगाकर छोड़ दें| इस घरेलू उपचार से थकी हुई  आँखें तुरंत ताज़ा हो जाएँगी|

बालों पर

डैंड्रफ का उपचार

  • 2 चम्मच त्रिफला पाउडर के लगभग 5 चम्मच पानी में मिलाकर पेस्ट बनाएं
  • इस पेस्ट से जड़ों की मालिश करें|
  • लगभग आधे घंटे के बाद पानी से धो लें|

कब्ज का इलाज

  • त्रिफला चूर्ण को एक गिलास गर्म पानी में मिलाएं|
  • इस मिश्रण को रोज़ रात को पियें|
  • इसको पीने के बाद किसी भी प्रकार का भोजन न करें। लेकिन कुछ समय बाद आप पानी पी सकते हैं।
  • त्रिफला को टैबलेट या कैप्सूल किसी भी रूप में खाया जा सकता है।

Dosage of Triphala Churna in Hindi- त्रिफला की खुराक: कितना लेना सुरक्षित है?

ज्यादातर व्यक्ति बिना किसी परेशानी के निम्नलिखित खुराक ले सकते हैं:

  • त्रिफला चूर्ण (पाउडर): 5-10 ग्रा.
  • शहद: 10-20 ग्रा.
  • पानी: 250 मि.ली.

इस मिश्रण को दिन में सिर्फ एक बार लिया जा सकता है।

अधिकतम खुराक: 12 ग्रा. प्रतिदिन विभाजित करके।

साइड इफेक्ट्स और बचाव

  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को त्रिफला चूर्ण लेने से दूर रहना चाहिए
  • एक शिशु को एक चुटकी से ज्यादा न दें क्योंकि जयादा मात्रा में देने से उन्हें दस्त या अपच भी हो सकता है|
  • बताई गयी मात्रा से अधिक त्रिफला चूर्ण लेना शरीर में दस्त और पानी की कमी का कारण बन सकता है

मधुमेह के रोगियों को त्रिफला चूर्ण का उपभोग करने से पहले डॉक्टर से मशवरा जरूर करना चाहिए|

सूजन जैसी समस्या का सामना करने वाले लोगों को इस चूर्ण की हलकी मात्रा लेनी चाहिए क्योंकि इससे पेट फूल भी सकता है|

कहाँ से खरीदें

त्रिफला चूर्ण खरीदने के दौरान पैसे बचाने के लिए आप 1mg ऑफ़र, स्नैपडील ऑफ़र और अमेज़ॅन इंडिया ऑफर्स का प्रयोग कर सकते हैं|

त्रिफला चूर्ण बेचने वाले प्रमुख ब्रांड्स:

  • आर्गेनिक इंडिया
  • बैद्यनाथ
  • मैडरेन हेल्थकेयर
  • फैब इंडिया
  • नेचरज़ आयुर्वेद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − fourteen =