Triphala in Hindi त्रिफला के फायदे:  उपयोग, खुराक और नुकसान

त्रिफला के फायदे:  उपयोग, खुराक और नुकसान

1Triphala in Hindi- त्रिफला क्या है?

संस्कृत में त्रि का अर्थ है तीन और फला का अर्थ है फल । त्रिफला (Triphala) तीन फलों के पाउडर से बना हुआ है:

  • आमलकी
  • विभितीकी
  • हरितिकी

इन तीनों फलों में ही उपचार के अद्वितीय गुण होते हैं और पांच अलग-अलग प्रकार के स्वाद होते हैं (खट्टा, मीठा, नमकीन, कड़वा, तीखा)। ये तीन फल शरीर के तीन दोषों को ठीक करने के लिए जाने जाते है:

  • वात दोष (दिमाग और शरीर में संचार)
  • कफ दोष (शरीर की संरचना और द्रव संतुलन)
  • पित्त दोष (शरीर में पाचन प्रक्रिया पर नियंत्रण)

2Characteristics of Triphala in Hindi- त्रिफला की विशेषताएं

  • प्राकृतिक रेचक
  • एंटी-ऑक्सीडेंट
  • एंटी इंफ्लेमेटरी
  • एंटी बैक्टीरियल
  • एंटी वायरल
  • एडाप्टोगजेन (आपके शरीर को तनाव के अनुकूल बनाए)
  • हीमोग्लोबिन बढाने का काम करे
  • कैंसर से लड़ने के गुणों से युक्त

3Benefits of Triphala in Hindi- त्रिफला के फायदे

पाचन तंत्र स्वस्थ रखे

त्रिफला एक प्राकृतिक रेचक माना जाता है जो आँतों की गतिविधि को नियंत्रित करता है। 1 बड़ा चमचा त्रिफला का पानी के साथ सेवन करने से पाचन क्रिया, दस्त और गैस जैसी पाचन सम्बन्धी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। नेचुरोपैथिक मेडिसिन विभाग, सैन डिएगो विश्वविद्यालय के केट डेनिस्टन  कहते हैं कि त्रिफला का पानी आपके पेट से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर पाचन तंत्र स्वस्थ रखता है।

दृष्टि में सुधार

त्रिफला में दृष्टि को तेज करने की भी शक्ति है और यह आपकी आंख की मांसपेशियों को भी आराम देता है। आप त्रिफला पाउडर को आंख धोने के लिए भी प्रयोग कर सकते हैं। सिरेमिक के  कटोरे में उबले हुए पानी में त्रिफला पाउडर मिलाएं। 2-3  मिनट के लिए इस पानी में अपनी आंखें डुबोएं। आँखें स्वस्थ बनाने के लिए इस प्रक्रिया को 2-3  बार दोहराएं।

खून का बहाव नियंत्रित करे

त्रिफला खून के बहाव में सुधार लाता है और आपके शरीर में रक्त कोशिकाओं की गिनती बढ़ाता है। आप दिन में दो बार त्रिफला चूर्ण या 1 बड़ा चम्मच त्रिफला पाउडर का उपयोग कर सकते हैं।

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देना

त्रिफला रक्त के बहाव में सुधार लाकर पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाता है। त्रिफला में पाए जाने वाले  जरूरी विटामिन और खनिज शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त कर देते और  प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं|

वजन घटाने में मदद

त्रिफला पाचन तंत्र की सफाई करके एडीपोज उत्तकों में से फालतू के फैट के जमाव को रोक देता है| यह क्लोलेक्सटोकिनिन नाम का एक हार्मोन भी छोड़ता है जो आपको भूख महसूस नहीं होने देता| दिन में एक बार 1 बड़ा चम्मच त्रिफला चूर्ण वजन कम करने में आपकी सहायता करने के लिए काफी होता है।

मधुमेह का इलाज करे

त्रिफला चूर्ण या पाउडर कोशिकाओं में इंसुलिन के चूषण को बढ़ा देता है| इंसुलिन शॉट्स लिए बिना यह टाइप-2 मधुमेह का इलाज आसानी से कर देता है।

जोड़ों के दर्द से राहत

त्रिफला में काफी ज्यादा मात्रा में विटामिन और खनिज होते हैं जो हड्डियों को मजबूत करते हैं। यह आपको गठिया, संधि शोथ और अन्य जोड़ों के दर्द से भी राहत दिलाते है। त्रिफला पाउडर का एक बड़ा चमचा दिन में दो बार लेने से हड्डियों को शक्ति मिलती है।

हार्मोनल असंतुलन को कम करे

त्रिफला शरीर में हार्मोन के बहाव और चूषण को भी संतुलित करता है। आयुर्वेद विभाग और योग अनुसंधान, कार्ल्सबाड, के दीपक चोपड़ा का कहना है कि त्रिफला में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो कई स्वास्थ्य समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं| यह मासिक धर्म में पेट में होने वाली ऐंठन को कम तो करता ही है साथ ही नियमित मासिक धर्म चक्र को भी बढ़ावा देता है जो सभी हार्मोन के ठीक से काम करने के लिए बहुत जरूरी है।

स्वास्थ्य के लाभों के लिए त्रिफला का उपयोग

  • एक बड़ा चम्मच त्रिफला चूर्ण एक गिलास पानी में मिलाएं|
  • हर रात सोने से पहले यह मिश्रण पियें|
  • त्रिफला को टैबलेट और कैप्सूल रूप में भी खा सकते हैं|

सावधानी: इस मिश्रण का उपयोग करने के बाद किसी भी प्रकार का भोजन न करें। कुछ समय के बाद पानी पिया जा सकता है|

4Benefits of Triphala for Skin in Hindi- त्वचा के लिए त्रिफला के लाभ

मुँहासे फूटने का इलाज

त्रिफला के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मुँहासे फूटने से होने वाली दिक्कत को कम करते हैं। इसमें आपकी त्वचा को नरम और कोमल बनाने वाले मॉइस्चराइजिंग गुण भी होते है।

एक्जिमा का इलाज

एक्जिमा के कारण होने वाली जलन को त्रिफला से कम किया जा सकता है| आप खुजली और रूखेपन को कम करने के लिए त्रिफला के पानी का प्रयोग कर सकते हैं|

त्वचा के लिए त्रिफला का उपयोग

  • 3 चम्मच त्रिफला पाउडर पानी में मिलाएं|
  • 4-5 मिनट के लिए इस मिश्रण को गर्म करें|
  • इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगायें|
  • 15 मिनट के बाद धो लें|

5Benefits of Triphala for Hair in Hindi- बालों के लिए त्रिफला के लाभ

बालों का झड़ना  कम करे

त्रिफला में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो डैंड्रफ़ से लड़कर बालों को झड़ने से बचाते हैं। बालों की  जड़ों में खुजली से छुटकारा पाने के लिए एक गिलास त्रिफला पानी पीना बेहतर उपाय है या इस पानी को जड़ों पर लगा भी सकते हैं।

डैंड्रफ़ को हटाये

त्रिफला का उपयोग डैंड्रफ़ को कम करने के लिए बालों की जड़ों में भी किया जाता है| जड़ों में पर त्रिफला लगाकर 15-20 मिनट तक छोड़ दें। फिर बालों को अच्छी तरह से शैंपू से साफ़ करें|

6How to Use Triphala for Hair in Hindi- बालों के लिए त्रिफला का उपयोग कैसे करें

  • 2 चम्मच त्रिफला पाउडर और 5 चम्मच पानी मिलाकर एक पेस्ट बनाएं|
  • इस पेस्ट को जड़ों में लगायें|
  • 15-20 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें|
  • फिर बालों को अच्छी तरह से शैम्पू करें|

7Dosage of Triphala- त्रिफला खुराक: कितना लेना चाहिए?

दिन में 10-12 ग्राम त्रिफला पाउडर का सेवन अच्छे परिणाम देने के लिए काफी है।

सावधानी: दिन में 12 ग्रा. से ज्यादा त्रिफला पाउडर का उपयोग नही करना चाहिए| (एक दिन में बस 1 टैबलेट)

साइड इफेक्ट्स और बचाव

  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को त्रिफला लेने से बचना चाहिए क्योंकि इससे गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है|
  • आवश्यकता से अधिक त्रिफला चूर्ण लेने से दस्त और डीहाईडरेशन भी हो सकता है।
  • त्रिफला को नियमित लेना शुरू करने से पहले मधुमेह रोगी डॉक्टर की सलाह अवश्य लें|
  • पेट फूलने की समस्या वाले लोगों को चूर्ण की मात्रा कम लेनी चाहिए नही तो गैस्ट्रिक की समस्या पैदा हो जाती है।

कहॉ से खरीदें

त्रिफला खरीदने के लिए प्रमुख ब्रांड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 2 =