हल्दी के फायदे, उपयोग, खुराक और नुकसान (Turmeric in Hindi)

0
3221
हल्दी के फायदे, उपयोग, खुराक और नुकसान

भारतीय व्यंजनों में सबसे महत्पूर्ण मसाला और इस पृथ्वी पर सबसे अच्छी जड़ी बूटी यदि कोई मानी जाती है तो वह शायद हल्दी ही है। विज्ञान में हल्दी (Turmeric) पर ही सबसे ज्यादा अध्ययन किये गए हैं।

हल्दी मिलती है कुरकुमा नाम के पौधे से जोकि भारत और कई दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में मिलता है। इस पौधे की जड़ को सुखाकर और पीसकर हल्दी मिलती है।

Health Benefits of Turmeric in Hindi- हल्दी के स्वास्थ्य संबंधी लाभ

हृदय रोगों से बचाव

हल्दी के एन्टी ऑक्सीडेंट गुण मधुमेह रोगियों में दिल के संरक्षण के लिए जाने जाते है। हल्दी में पाया जाने वाला कुर्कुमिन सीरम कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, जिससे आपके हृदय के स्वास्थ्य में सुधार होता है।

दिमाग के स्वास्थ्य को बढ़ावा

मुक्त कणों के असर को खत्म करने और दिमाग की नसों को नुजसान से बचाने के लिए हल्दी में कुर्कुमिनोइड और शक्तिशाली एन्टी ऑक्सीडेंट होते हैं।

कैंसर से बचाव में मदद

जिन देशों में लोग प्रतिदिन 100 से 200 मिलीग्राम हल्दी का उपयोग करते हैं, उनमे कैंसर की सम्भावनाएं कम होती हैं। कुछ रोगियों को हल्दी देकर अध्ययन किया गया तो उनके ट्यूमर कम होते पाए गए। अन्य लोगों में, प्रतिरक्षा प्रणाली के रसायन जोकि कैंसर के सेल्स को खत्म करते हैं अधिक सक्रिय पाए गए।

मधुमेह का उपचार

वैज्ञानिकों के अनुसार हल्दी खून में शुगर के स्तर को कम करके मधुमेह को होने से रोकने में मदद करती है। हल्दी लेने से इन्सुलिन बनने से रोक में कमी, अग्नाशय में बीटा सेल्स के काम मे सुधार देखा गया है।

पाचन तंत्र के विकार का इलाज

हल्दी में मौजूद कुर्कुमिन आंतों, जिगर और कोलोन में इकठा हो जाता है। ये पाचन क्रिया के विकारों के इलाज़ के लिए महत्वपूर्ण है। हल्दी से पेट मे सूजन और गैस को भी कम किया जा सकता है।

Skin Benefits of Turmeric in Hindi- त्वचा के लिए हल्दी के फायदे

मुहांसों के उपचार के लिए

मुहांसों के उपचार के लिए हल्दी ने कई एन्टी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। मुहांसों के कारण हुई सूजन को इसके एन्टी इंफ्लेमेटरी गुण ठीक करते हैं। तैलीय त्वचा पर हल्दी को फेसपैक या फेस वॉश की तरह भी प्रयोग कर सकते हैं।

झुर्रियों से बचाव

हल्दी ने मेलानिन और झुर्रियां बनने से रोकने के गुण हैं। यह यू वी बी एक्सपोज़र के कारण त्वचा में आये ढीलेपन को भी ठीक करता है।

स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करे

हल्दी स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करने के लिए भी काम करती है। इसमें मौजूद कुर्कुमिन सेल मेम्ब्रेन को बदल देता है और स्ट्रेच मार्क्स खत्म हो जाते हैं।

जलन में आराम

हल्दी अपने एन्टी इंफ्लेमेटरी और एन्टी सेप्टिक गुणों के कारण जलन में आराम देने में सहायता करती है। जलने वाली जगह पर जल्दी का लेप लगाने से सूजन नही होती। आप हल्दी को तेल में मिलाकर उपयोग कर सकते हैं। बस तेल हल्दी के मिश्रण को जली हुई जगह पर लगाइए।

फटी एड़ियों का इलाज

हल्दी के एस्ट्रिजेंट गुण फटी एड़ियों के इलाज़ के लिए भी प्रयोग होते हैं। अरंडी का तेल और नारियल का तेल बराबर मात्रा में लेकर उसमें एक चुटकी हल्दी मिलाएं और इसको फटी एड़ियों पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर ठंडे पानी से धो लें।

Hair Benefits of Turmeric in Hindi- बालों के लिए हल्दी के लाभ

बालों को गिरने से रोके

हल्दी में मौजूद कुर्कुमिन बालों के गिरने की समस्या को हल करता है। हल्दी को बालों पर प्रयोग करना ज़रा भी हानिकारक नही है।

डेन्ड्रफ का इलाज

हल्दी और जैतून का तेल मिलाकर प्रयोग करनेसे डेन्ड्रफ से छुटकारा मिलता है और जड़ें मजबूत होती हैं। बस,शैम्पू करने से पहले इनको बराबर मात्र में मिलाएं और बालों में लगाकर 20 मिनट के लिए छोड़ दें।

Uses of Turmeric in Hindi- हल्दी के उपयोग

हल्दी को आप अपने सलाद में ड्रेसिंग की तरह प्रयोग करके उसको नारंगी-पीला रंग दे सकते हैं।

हल्दी को अनेक तरह के सूप में इस्तेमाल करते हैं। आप हल्दी को छीलकर और बारीक काटकर अपने सूप में मिलाएं।

आप हल्दी को अरंडी के तेल में मिलाकर अपनी त्वचा को डिटॉक्स कर सकते हो। आप इसको मुहांसों पर जेल जैसे और त्वचा के लिए फेस मास्क की तरह भी प्रयोग करें।

Dosage of Turmeric in Hindi- हल्दी की खुराक

1 चम्मच अच्छा सा हल्दी पाउडर लेने में कोई हर्ज नहीं।

शुरुआत एक चौथाई चम्मच से करें और धीरे धीरे बढ़ा लें।

Side Effects of Turmeric in Hindi- हल्दी के नुकसान

गर्भावस्था के दौरान

हल्दी को यदि दवाई की तरह मुह से लिया जाए तो यह मासिक धर्म की गड़बड़ी के साथ गर्भाशय में भी उत्तेजना पैदा करती है जोकि गर्भ के लिए बहुत बड़ा खतरा है।

पेट खराब होने का कारण

हल्दी यदि ज्यादा मात्रा में ली जाए तो पाचन तंत्र के स्वास्थ्य को खराब कर सकती है। कई मामलों में यह ज्यादा पेट मे ज्यादा गैस बनाती है, जिसकी वजह से बेचैनी सी रहती है।

पथरी

कुछ लोगों में इसकी वजह से गुर्दे की पथरी का खतरा बढ़ जाता है। इस लिए गुर्दे की पथरी से ग्रसित लोगों को हल्दी का उपयोग चिकित्सक की सलाह के बिना नही करना चाहिए।

आयरन की कमी

ज्यादा मात्रा में हल्दी लेने से आयरन का अवशोषण रुक जाता है। जिन व्यक्तियों को आयरन की कमी होती है उन्हें सावधानी से हल्दी लेनी चाहिए।

पुरुष बांझपन का कारण

यदि पुरुष हल्दी को मुख के द्वारा ले रहे हैं तो यह टेस्टेरॉन के स्तर को तो कम करती ही है साथ ही शुक्राणुयों की गति को भी कम करती है। इसलिए इस मसाले को ध्यान से प्रयोग करें। बच्चे के लिए कोशिश करने वाले तो सावधानी से इसका प्रयोग करें।

Buying Guide for Turmeric- हल्दी खरीदने के लिए

हल्दी पाउडर के लिए ब्रांड

हल्दी वाला साबुन और हल्दी पाउडर कहाँ खरीदें

हल्दी वाले साबुन के ब्रांड्स

हल्दी के कैप्सूल कहाँ खरीदें

कुछ प्रसिद्ध ब्रांड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 4 =