What Is A Leave In Conditioner in Hindi लीव इन कंडीशनर क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

0
406

What Is A Leave In Conditioner in Hindi लीव इन कंडीशनर क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

लीव-इन कंडीशनर एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसे धुले बालों पर लगाया जाता है और अगली बार धोने तक के लिए छोड़ दें। उनमें हाई लेवल के ह्यूमेक्टेंट्स होते हैं जो बालों में नमी को बनाए रखते हैं। उनके पास अक्सर ग्लिसरीन होता है जो आपके बालों को हाइड्रेटेड और चिकनाई देता है।

इसका इस्तेमाल बालों की एक्स्ट्रा कंडीशनिंग और जरूरी नमी तथा कोमलता को बनाए रखने के लिए किया जाता है।

यह प्रोडक्ट कई तरह से आता है, जैसे लिक्विड, थिक क्रीम, और स्प्रे। कुछ पंप आपके बालों को पोषण और चिकनापन देंगे और साथ में चमकदार भी बनाते हैं।

खोए हुए नमी को पाने और बालों को मैंगैबिलिटी देने के लिए हल्के बालों के बीच सूखे बालों पर हल्के फॉर्मूले का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।


1Why Use It in Hindi – इसका इस्तेमाल क्यों करें?

  • लीव-इन कंडीशनर अधिक नमी देते हैं और दिन के दौरान बालों को हाइड्रेट रखते हैं।
  • ये प्रोडक्ट उन प्रकार के बालों के प्रकार के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं जिनके लिए अधिक नमी की जरूरत होती है।
  • एक लीव-इन कंडीशनर में ह्यूमेक्टेन्ट्स होते हैं जो हाइड्रेट करते हैं और उन्हें अधिक लोचदार बनाते हैं।
  • यह अनियंत्रित (अनरूली) बालों को अधिक ठीक रखता है और साथ ही गांठों को भी मुक्त करता है। यह बालों को अलग करता है, इस तरह यह बालों को कंघी करने में आसान बनाता है और टूटने से रोकता है।
  • लीव-इन कंडीशनर आपके बालों को स्टाइलिंग के लिए अधिक संवेदनशील बनाते हैं।
  • यह बालों को गर्मी से होने वाले नुकसान, क्लोरीन और नमक के पानी के नुकसान से बचाता है।
  • कलर्ड बालों को ठीक करता है और कलर्ड बालों में चमकदार बनाता है।
  • पर्यावरणीय कारकों (इनवायरमेंटल फैक्टर) के कारण उलझे बालों को ठीक रखता है।

2What is the Difference between Leave-In and Rinse-out Hair Conditioners in Hindi – लीव-इन और रिंस-आउट हेयर कंडीशनर के बीच अंतर क्या है?

  • रिंस आउट कंडीशनर को कुछ मिनट के लिए छोड़ दिया जाना चाहिए। रिंस-आउट कंडीशनर पर छोड़ने से आपके बालों को हलका करता है। नमी को बनाए रखने के लिए लीव-इन कंडीशनर को लंबे समय तक छोड़ सकता है।
  • लीव-इन कंडीशनर का इस्तेमाल कम मात्रा में किया जाता है। एक बूंद या मटर के आकार की मात्रा के बराबर।
  • लीव-इन कंडीशनर मुख्य रूप से डिटैंगलर, स्टाइलर और हीट प्रोटेक्टर के रूप में काम करते हैं। रिंस-आउट कंडीशनर आपके बालों में खोए हुए तेल को हटाता है और लच्छेदार बनाता है।
  • रिंस आउट कंडीशनर भारी और मोटे होते हैं। लीव-इन कंडीशनर हल्के होते हैं और जल्दी अवशोषित होते हैं।

3How to Use A Leave-In Conditioner in Hindi – लीव-इन कंडीशनर का इस्तेमाल कैसे करें

  • तौलिया से अपने बालों को अच्छी तरह से सूखाएं।
  • मटर के आकार की मात्रा का इस्तेमाल करें (आपके बालों की लंबाई के आधार पर एक पंप या उससे कम)
  • अपने बालों के सिरों और ड्राय हिस्सों पर प्रोडक्ट को लगाएं।

4Pro Tip in Hindi – प्रो टिप

  • अगर आप लीव-इन कंडीशनर पर स्प्रे का इस्तेमाल करते हैं, तो अपने कपड़ों को खराब होने से बचाने के लिए अपने बालों को तौलिए से स्प्रे करें।
  • बहुत कम प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें।
  • अपने स्कैल्प पर कंडीशनर न छोड़ें।
  • अपने बालों को अलग करने के लिए कंघी करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − ten =